Updated : Aug 06, 2020 in Yojana

अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना | पूरी जानकारी | कैसे करें आवेदन

बिहार अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना | Bihar Apni kyaari Apni Thali Yojana  | लाभ / उद्देश्य / पात्रता / विशेषताएं | How to apply

 

बिहार सरकार दवारा कोरोना काल के दौरान राज्य के स्थायी निवासियों को आत्म-निर्भर वनाने और अपने घर में सबिजयां उगाकर आमदनी को वढाने के साथ-साथ स्वास्थय का ध्यान रखने के लिए अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना को पूरे राज्य में लागु कर दिया गया है। क्या है ये योजना और कैसे मिलेगा योजना का लाभ और आवेदन कैसे किया जाएगा। इसके लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना के वारे में।                                 

अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना | Apni kyaari Apni Thali Yojana

 

बिहार सरकार दवारा आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को खेती के गुर सिखाने, सब्जियों का उत्पादन आंगनबाडी केंद्रो में करवाने के लिए और गर्भवती महिलाओं तथा बच्चों में कुपोषण की समस्या को दूर करने के लिए अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत राज्य में सभी जिलों के 23000 आंगनबाड़ी केन्द्रों में केन्द्र के परिसर में जमीन उपलब्ध होने पर इसका व्यापक स्तर पर विस्तार किया जाएगा। जिसके लिए ICDS ने योजना के लिए जमीन के रकबे के अनुसार खेती का मॉडल तैयार करने की जिम्मेवारी बिहार कृषि विश्वविद्यालय को दी है और जिस पर कार्य करने के लिए विश्वविद्यालय दवारा मॉडल भी तैयार कर लिया गया है। जिसमें सेविकाओं और सहायिकाओं को खेती के गुर सिखाए जाएगें। जिस पर विश्वविद्यालय का प्रसार करने के लिए  शिक्षा संभाग ऑनलाइन कार्य करेगी। योजना फिलहाल 04 जिलों में चल रही है। जहां पर महिलाओं और बच्चों को किसान रेडिया के माध्यम से जागरूक किया जाता है। खगड़िया के 40, नालंदा के 25 और पूर्णिया के 50 केन्द्रों में सब्जियों का उत्पादन किया जा रहा है। इसी बात का ध्यान रखते हुए अब 23000 केन्द्रों में अलग-अलग मॉडल की खेती की जाएगी। 04 जिलों में आंगनबाड़ी केन्द्रों के बच्चो के स्वास्थय का ध्यान रखते हुए उन्हें मशरुम जैसी पौस्टिक सब्जी खाने में दी जा रही है और उन्हें टेकहोम राशन में भी मशरूम दिया जाता है। बिहार कृषि विश्वविद्यालय के सौजन्य से ICDS की यह योजना कुपोषण दूर करने का मूल मंत्र बन गई है। इसके अलावा धातृ महिलाओं को भी आसपास की उपजी सब्जियां दी जाती हैं। योजना की खास बात यह है कि इन पोषक तत्वों वाली सब्जियों का उत्पादन आंगनबाड़ी केन्द्रों में ही किया जाएगा।

अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना का आंकड़ा | Apni kyaari – figure of Apni Thali Yojana

  • 115 केन्द्रों पर सब्जी उत्पादन होगा।
  • आंगनवाडी के 23000 केन्द्रों में विस्तार किया जाएगा।
  • राज्य के 38 जिलों में योजना को चलाया जाएगा।
  • बिहार कृषि विश्वविद्यालय (BAU) दवारा योजना को चलाने के लिए 20 मॉडल तैयार किए गए हैं। 

उद्देश्य | An Objective

अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना का मुख्य उद्देश्य अपने घर के नजदीक एक छोटी सी क्यारी का विकास कर परिवार की थाली को हर दिन रंगीन वनाना है।       

पात्रता | Eligibility

  • बिहार राज्य के स्थायी निवासी
  • आंगनबाडी कार्यकर्ता
  • सभी वर्ग के लोग  

लाभ | Benefits

  • अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना का लाभ बिहार राज्य के स्थायी लोगों को मिलेगा।
  • योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाएं और वच्चों के स्वास्थय का ध्यान रखने के लिए उन्हें पोष्टिक आहार दिया जाएगा।
  • योजना के मुताविक आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को खेती के गुर भी सिखाए जाएगें।
  • इसके अलावा सब्जियों का उत्पादन आंगनबाडी केंद्रो में ही करवाया जाएगा।
  • घर के बगल में खाली पड़ी जमीन पर किचन गार्डन के जरिए लोग सब्जी उगा कर अपनी आय में सुधार करेगें।
  • इस योजना से लोगों को घर पर ही हरी सब्जी उपलब्ध होगी।   
  • इससे आंगनवाडी कार्यकर्ताओं के मान-सम्मान में वढोतरी होगी।
  • ये योजना लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर वनाएगी।              
  • योजना को गति प्रदान करने के लिए 23000 केन्द्रों में अलग-अलग मॉडल की खेती की जाएगी।  

विशेषताएं | Features

  • कोरोना काल के दौरान मिलेगी सहायता
  • लोगों को सबिज लेने के लिए अब मार्केट नहीं जाना पडेगा।
  • इससे लोग खुद की जरूरत को पूरा करेगें
  • वच्चों और गर्भवती महिलाओ को मिलेगा पोष्टिक आहार
  • आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को खेती के गुर सिखाने से वे आत्म-निर्भर वनेगी 

अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना के लिए कैसे करें आवेदन | how to apply for Apni kyaari Apni Thali Yojana  

  • अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के घर के पास खाली जमीन होनी चाहिए।
  • अब आपको सबिजयां उगाने के लिए आंगनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा सहायता उपलव्ध करवाई जाएगी।
  • जिसमें आपको वताया जाएगा कि कौन से मौसम में कौन सी सब्जि लगाना फायदेमद होगा।
  • मौसम के अनुसार आप सबिज उगाकर कोरोना काल के दौरान अपनी आय को वढा सकते हैं।
  • इन सबिज्यों को आप मार्केट मे अच्छे भाव मे वेचकर परिवार की आर्थिक दशा में सुधार कर सकते हैं।
  • ये योजना आपके लिए बिजनेस की तरह कार्य करेगी जो आपको आगे वढने में प्रेरित करेगी।                   
  • इस तरह आपको अपनी क्यारी- अपनी थाली योजना का लाभ मिल जाएगा।   

 आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरुर करें।                    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!