दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना 2021 | Mid Day Meal : आवेदन प्रक्रिया

 

|| Delhi Mid Day Meal Yojana | मुख्यमंत्री मिड डे मील राशन योजना | Delhi Mid Day Meal Ration Kit Scheme | पात्रता & विशेषताएँ | Application Process ||

दिल्ली के मुख्यमंत्री दवारा बच्चों के कल्याण के लिए कई योजनाओ को चलाया गया है| लेकिन हाल ही मे एक नई योजना को दिल्ली सरकार दवारा मंजूरी दी गई है, जिसका नाम है – दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना| इस योजना के माध्यम से सरकारी स्कूलो के छात्र-छात्राओ को राशन किट प्रदान की जाती है| इस सुविधा लाभ कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद होने पर छात्रों के अभिभावकों को प्रदान किया जाता है| ताकि उन्हे इस सकंट की घड़ी मे राशन की समस्या का सामना न करना पडे| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके लिए आवेदन प्रक्रिया क्या होगी| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आरटीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना के वारे मे|

Delhi Mid Day Meal Yojana

Delhi Mid Day Meal Ration Kit Yojana

दिल्ली सरकार दवारा स्कूली छात्रो को राशन की सुविधा उपलव्ध करवाने के लिए मिड डे मील राशन किट योजना को शुरू किया गया है| जिसके जरिये 8 लाख सरकारी स्कूलो के छात्र-छात्राओ को राशन किट प्रदान की जाएगी, जिससे कि सरकारी स्कूलों में मिलने वाला मिड डे मील का लाभ राशन किट के रूप में दिया जाएगा| यह देश की पहली योजना है, जब-तक स्कूलों में ताले लगे रहेंगे तब-तक दिल्ली मिड डे मील योजना के जरिये अभिभावकों को राशन मिलता रहेगा| दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा मिड डे मील राशन किट अभिभावकों को आवंटित करनी शुरू कर दी गई है। छात्रों के अभिभावक मिड डे मील राशन किट को सरकारी स्कूलों से प्राप्त कर सकते हैं|

योजना के तहत मिलने वाला राशन

  • दिल्ली मिड डे मील योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली राशन किट में प्राइमरी क्लास के लिए 20 किलो अनाज (गेहूं, चावल, दाल) और तेल शामिल होंगे।
  • इसके अलावा अपर प्राइमरी के लिए राशन में 30 किलो अनाज (गेहूं, चावल, दाल) और तेल को शामिल किया गया है।
  • इस योजना को अगले 6 महीने के लिए लागु किया गया है, जिसके अंतर्गत 6 महीने के राशन की किट लाभार्थीयों को एक साथ प्रदान कर दी जाएगी।

योजना को शुरू करने के मुख्य तथ्य

  • दिल्ली सरकार द्वारा सरकारी स्कूलों में छात्रों को मिड डे मील निशुल्क प्रदान किया जाता था। लेकिन कोरोना वायरस के चलते स्कूलो को बंद करना पडा है, जिससे छात्रों को मिड डे मील आवंटित करना संभव नहीं हो पा रहा था। उनकी इस परेशानी को दूर करने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा सरकारी स्कूल के छात्रों के अभिभावक के बैंक खातों में पैसे भी ट्रांसफर किये जा रहे थे।
  • लेकिन अब योजना मे परिवर्तन करते हुए दिल्ली सरकार द्वारा ये फैसला लिया गया है कि अब लाभार्थीयों को राशन प्रदान किया जायेगा। ये राशन सरकारी स्कूली छात्रों के अभिभावकों को राशन किट के रूप मे प्रदान होगा| राशन किट उसी स्कूल से प्रदान की जाएगी, जिसमे अभिभावक का बच्चा पढाई कर रहा है।

दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना के मुख्य पहलु

हमारे देश में बहुत से ऐसे छात्र-छात्राएँ हैं, जो सरकारी स्कूलों से मिड डे मील प्राप्त करते हैं। जिन छात्रों के परिवारों की आर्थिक स्थिति कमज़ोर होती है, उन्ही के बच्चों को मिड डे मील प्रदान किया जाता था। ऐसी स्थिति में कई छात्रों को एक समय का खाना मिलने से अभिभावकों के घर के राशन की बचत होती थी। इसी समस्या को देखते हुए दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना को चलाया गया है। जिसके अंतर्गत स्कूल में ताले लगे होने के बावजूद भी घर तक पढ़ने वाले छात्रों के अभिभवकों तक योजना का लाभ पहुचाया जा रहा है|

दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना का मुख्य उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य दिल्ली में रहने वाले सरकारी स्कूलो के छात्र- छात्राओं के अभिभावकों को राशन किट प्रदान करना है|

मिड डे मील राशन किट योजना के लिए पात्रता

  • दिल्ली के स्थायी निवासी
  • सरकारी स्कूलो मे पढ्ने वाले छात्र-छात्राएँ
  • प्राइमरी क्लास / अपर प्राइमरी

मिड डे मील राशन किट योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • छात्र की स्कूल आईडी प्रूफ
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

Delhi Mid Day Meal scheme

दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना के लाभ

  • मिड डे मील राशन किट योजना का लाभ दिल्ली के सरकारी स्कूलो मे पढ्ने वाले वच्चों को प्रदान किया जाएगा|
  • योजना के जरिये जरिये 8 लाख सरकारी स्कूलो के छात्र-छात्राओ को राशन किट प्रदान की जाएगी|
  • राशन सरकारी स्कूली छात्रों के अभिभावकों को राशन किट के रूप मे प्रदान किया जाएगा|
  • जिसमे से प्राइमरी क्लास के लिए 20 किलो अनाज (गेहूं, चावल, दाल) और तेल शामिल होंगे।
  • जव्कि अपर प्राइमरी के लिए राशन में 30 किलो अनाज (गेहूं, चावल, दाल) और तेल को शामिल किया गया है।
  • आगे आने वाले 06 महीनों तक लाभार्थीयों को इस योजना का लाभ मिलता रहेगा|
  • पात्र लाभार्थीयों को इस योजना का लाभ उसी स्कूल से प्रदान की जाएगा, जिसमे अभिभावक का बच्चा पढाई कर रहा है।
  • ये फ़ैसला दिल्ली सरकार दवारा कोरोना वायरस के चलते स्कूल बन्द होने पर लिया गया है|

 

दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना की मुख्य विशेषताएँ

  • छात्र-छात्राओ के घर पर पहुंचाया जाएगा राशन
  • छात्रो को मिलेगा मुफ्त राशन
  • कोरोना वायरस के चलते जिन परिवारों की आर्थिक सीथति कमज़ोर होने से उन्हे समय पर खाना नहीं मिल रहा था, ये योजना उन परिवारों के लिए कारगार सावित रहेगी|
  • स्कूल बंद होने पर भी राशन लाभार्थीयों को मिलता रहेगा|
  • इस योजना से बच्चों की पढाई के साथ-साथ उनके स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा गया है|

दिल्ली मिड डे मील राशन किट योजना के लिए कैसे करें आवेदन

  • जो लाभार्थी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हे राशन उसी स्कूल से प्रदान किया जाएगा, जिसमे अभिभावक का बच्चा पढाई कर रहा है।
  • छात्र के माता-पिता के पास बच्चे का आईडी प्रूफ होना चाहिए| उसको चेक करके ही स्कूल दवारा पात्र लाभार्थी को राशन दिया जाएगा|
  • ये राशन प्राइमरी क्लास व अपर प्राइमरी क्लास के छात्र-छात्राओ के अभिभावको को प्रदान होगा|

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!