Updated : Jun 20, 2020 in Yojana

आश्रित परिवार सरकारी नौकरी योजना | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ

विदेशों में मरने वाले आश्रित परिवारों को मिलेगी सरकारी नौकरी | Dependent families who die abroad will get government jobs  

 

हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अथवा विदेशों में होने वाली आतंकवादी घटनाओं में मारे जाने वालों के आश्रितों के लिए नई योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत विदेशों में मारे जाने वाले सैन्य, अर्धसैनिक तथा पुलिस जवानों और अधिकारियों के परिवारों के लडके या लडकी को राज्य सरकार दवारा सरकारी नौकरी दी जाएगी। ये नौकरी करुणामूलक आधार पर मिलेगी। इसके अलावा प्रदेश से संबंध रखने वाले सामान्य नागरिकों को भी इसका लाभ मिलेगा। इस योजना से मारे गए परिवारों को आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पडेगा। इस योजना से आश्रित परिवारों को नौकरी मिलने पर उन्हें वे हर सुविधा मिलेगी, जो सैन्य, अर्धसैनिक तथा पुलिस जवानों और अधिकारियों को मिलती थी। इसके साथ ही धर्मशाला में कल्याण भवन को भारतीय पूर्व सैनिक लीग को लीज पर देने की भी स्वीकृति मिल गई है।

 

उद्देश्य | An Objective 

इस योजना का मुख्य उद्देश्य विदेशों में आतंकवादी घटना में मरने वालों के आश्रितों को राज्य सरकार दवारा सरकारी नौकरी उपलव्ध करवाना है।

पात्रता | Eligibility

  • हिमाचल प्रदेश के स्थायी निवासी
  • विदेशों में आतंकवादी घटना में शहीद होने वाले जवानों के परिवार
  • राज्य सरकार दवारा इन परिवारों को सरकारी नौकरी उपलव्ध करवाना

लाभ | Benefits

  • आश्रित परिवार सरकारी नौकरी योजना का लाभ हिमाचल प्रदेश के विदेशों में हुए शहीद जवानों के आश्रितों को मिलेगा।
  • इस योजना के तहत विदेशों में शहीद हुए जवानों के परिवारों को राज्य सरकार दवारा स्थायी और सरकारी नौकरी मिलेगी।
  • इस योजना से इन परिवारों को अब आर्थिक तंगी का शिकार नहीं होना पडेगा।
  • इस योजना से जवानों को मिल रही सारी सुविधाएं आश्रित परिवारों को प्राप्त होगीं।
  • राज्य सरकार दवारा इन परिवारों का विशेष ध्यान रखा जाएगा।

प्रमुख विशेषताएं | Major features

  • आश्रित परिवारों का आर्थिक पक्ष मजूवत होगा
  • स्थायी नौकरी मिलेगी
  • वे सारी सुविधाएं मिलेगी, जो जवानों को मिलती थी।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!