ई-जनगणना 2022-23 | ऑनलाइन आवेदन | E- Census एप्लीकेशन फॉर्म | जनगणना लिस्ट

|| E- Janganana Scheme | ई-जनगणना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | E- Census Application Form &  Application Status | Janaganana New List ||

 

डिजिटल माध्यम से जनगणना करने के लिए भारत सरकार दवारा ई-जनगणना योजना को लागू किया गया है| जिसके माध्यम से सरकार द्वारा जनगणना को अब नई तकनीक से जोड़ा जाएगा, ताकि सरकारी कर्मचारियों को जनगणना करने के लिए घर-घर जाने की आवश्यकता न पडे| देश के नागरिक खुद अपने स्मार्टफोन के जरिये जनगणना कर सकेंगे। इससे उनके समय और पैसे दोनों की बचत होगी तथा प्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी। कैसे मिलेगा इस सुविधा का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – ई-जनगणना के वारे मे|

E- janganana

E- janganana | E- Census

भारत सरकार द्वारा जनगणना करने की तकनीक को डिजिटल वनाया गया है। जिसके अंतर्गत जनगणना ई-मोड के जरिए की जाएगी, जिससे 100 फीसदी सटीक गणना होगी| साल 2024 तक प्रत्येक जन्म और मृत्यु को जनगणना से जोडा जाएगा। जिससे जनगणना का काम ऑटोमेटिक तरीके से अपडेट हो सकेगा| जनगणना करने के लिए सरकार द्वारा एक सॉफ्टवेयर को लॉन्च किया जाएगा। डिजिटल माध्यम से जनगणना करने से अगले 25 वर्षों तक के लिए योजनाएँ बनाई जा सकेंगी। भारत में प्रत्येक 10 साल में जनगणना की जाती है। आखिरी बार ये जनगणना 2011 में की गई थी। अगली जनगणना 2021 में की जानी थी, लेकिन कोरोनावायरस के कारण यह कार्य न हो सका। सरकार द्वारा ई जनगणना करने की घोषणा असम में डायरेक्टरेट ऑफ सेंसस ऑपरेशन बिल्डिंग का उद्घाटन करते समय गृह मंत्री अमित शाह जी द्वारा की गई। जिसमे सरकार द्वारा विभिन्न सरकारी विभागों से इस जनगणना के कार्य में मदद ली जाएगी। ताकि देश के लगभग 50% नागरिक मोबाइल के माध्यम से खुद सवाल का जवाब दे सकेंगे। जिससे जनगणना करने में आसानी होगी।

मुख्य पहलु

जैसा की गृहमंत्री अमित शाह ने बताया कि इसमें जन्म से लेकर मृत्यु तक की तारीख जनगणना से जोड़ दी जाएगी| बच्चे के जन्म के  साथ ही तारीख जनगणना कार्यालय में दर्ज हो जाएगी| उसके बाद बच्चे के 18 साल का होने पर उसे ऑटोमैटिकली वोट का अधिकार मिल जाएगा और मृत्यु के साथ ही उसकी प्रोफाइल को बंद कर दिया जाएगा| साल 2024 तक हर जन्म और मृत्यु का पंजीकरण ई-सेंसस में कर दिया जाएगा| यानी देश की जनगणना अपने आप अपडेट हो जाएगी| अमित शाह ने बताया कि अगर कोई व्यकित किसी दूसरे शहर में रहने के लिए घर खरीदता है तो ऑटोमैटिकली उसको उस शहर में वोट का अधिकार मिल जाएगा| साथ ही उसे अन्य सुविधाओं के लिए भी सरकारी विभागों में भागदौड़ करने की जरूरत नहीं पड़ेगी|

ई-जनगणना का अवलोकन

योजना का नाम ई-जनगणना
किसके दवारा शुरू की गई गृहमंत्री अमित शाह जी दवारा
लाभार्थी देश के नागरिक
प्रदान की जाने वाली सहायता डिजिटल माध्यम से जनगणना करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट censusindia.gov.in

ई-जनगणना का उद्देश्य

ई जनगणना का मुख्य उद्देश्य डिजिटल माध्यम से जनगणना कराना है| देश में जनगणना प्रक्रिया के डिजिटल होने से अगली जनगणना की कवायद के दौरान 100 फीसदी सटीक गणना की जा सकेगी|

ई-जनगणना के लिए पात्रता

  • आवेदक को देश का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • सभी वर्ग के लोग इस सुविधा का लाभ लेने के लिए पात्र हैं|

जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी आदि।
E- janganana scheme
ई-जनगणना के लाभ
  • गृह मंत्री अमित शाह द्वारा ई-जनगणना की शुरुआत की गई है|
  • ई-जनगणना के जरिये भारत सरकार द्वारा जनगणना को अब नई तकनीक से जोड़ा जाएगा।
  • अब सरकार द्वारा ई जनगणना डिजिटल रूप से की जाएगी।
  • जिसमे बच्चे के जन्म से लेकर उसकी मृत्यु का सारा रिकार्ड शामिल होगा|
  • ई जनगणना मे 2024 तक प्रत्येक जन्म और मृत्यु को जनगणना से जोडा जाएगा|
  • जिससे जनगणना करने का कार्य ऑटोमेटिक तरीके से अपडेट हो जाएगा।
  • जनगणना करने के लिए सरकार द्वारा एक सॉफ्टवेयर लॉन्च किया जाएगा।
  • डिजिटल माध्यम से जनगणना करने से अगले 25 वर्षों तक के लिए विशेष नीतियां बनाई जा सकेंगी।
  • अगली जनगणना ई-जनगणना होगी, जिसके तहत पूर्ण जनगणना की जा सकेगी, जोकि शत-प्रतिशत सही होगी|
  • सरकार द्वारा विभिन्न सरकारी विभागों से इस जनगणना के कार्य में मदद ली जाएगी।
  • देश के नागरिक खुद अपने स्मार्टफोन के जरिये जनगणना कर सकेंगे।
E- Census की मुख्य विशेषताएँ
  • 100 प्रतिशत परफेक्ट जनगणना करना
  • देश के आगामी 25 साल के विकास का खाका तैयार करना|
  • आधुनिक तकनीक के माध्यम से सांइटिफिक, सटीक और बहुआयामी बनाया जाना|
  • डाटा के विश्लेषण की सारी व्यवस्था को सुनिश्चित करना|
ई-जनगणना के लिए कैसे करे आवेदन

जो लाभार्थी योजना के अंतर्गत ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड के जरिये आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे अभी थोड़ा इंतजार करना होगा| अभी योजना की घोषणा की गई है| जैसे ही योजना के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी तो हम आपको तुरंत सूचित कर देंगे|

 

अधिक जानकारी लाभार्थी यहां से प्राप्त कर सकते हैंClick Here

 

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

error: Content is protected !!