गोबर-धन योजना 2021 | sbm.gov.in/Gobardhan | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

गोबर धन योजना ऑनलाइन आवेदन | Gobar Dhan Scheme | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | Application Form | Apply Online

गांव में रहने वालों किसानो की आय मे सुधार करने और बायोगैस की बिक्री बढ़ाने के लिए गोबर धन योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए गांव को स्वच्छ बनाया जाएगा। किसान खुद ही अपनी खाद को बनाने मे सक्षम होगें जिससे वे अपनी कृषि प्रणाली को मजबूत बनाएगें। इस योजना में जैविक कूड़े का इस्तेमाल कर खाद और अन्य चीजों का उत्पादन करने के लिए पशुओं के मल, और खेतों में होने वाले कूड़े को कम्पोस्ट, बायो गैस, बायो एनर्जी में बदला जाएगा। कैसे मिलेगा योजना का लाभ और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – गोबर-धन योजना 2021 के वारे मे। 

gobar dhan logo

गोबर-धन योजना | GOBAR- Dhan Yojana

 

देश के किसानो की आय मे वढोतरी करने और प्रदूषण मे कमी लाने के लिए गोबर-धन योजना को शुरु किया गया है। जिसके तहत सरकार द्वारा देश में हर राज्य के हर जिले से एक एक गाँव का चयन किया जाएगा। उसके बाद वहां के किसानों से केंद्र सरकार दवारा गोबर तथा फसल के भूसे को इक्कठा किया जाएगा फिर उस भूसे और गोबर के जरिये बायो गैस,कम्पोस्ट का निर्माण होगा। प्रत्येक ज़िले में एक क्लस्टर का निर्माण करने के लिए करीव 700 क्लस्टर्स स्थापित किये जायेगे। जिससे ग्रामीण क्षेत्रो में स्वच्छता देखने को मिलेगी और पशुओं व अन्य प्रकार के जैविक अपशिष्ट से अतिरिक्त आय को अर्जित कर ऊर्जा उत्पन्न होगी। इसके अलावा किसानों और उनके परिवारों को आर्थिक व संसाधन लाभ प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों 60 व 40 के अनुपात से फंड भी उपलब्ध करवाएगी। इस योजना से किसान अपने खेतों जहरीली दवाइयों का छिड़काव न करके जैविक खाद और उर्वरक का इस्तेमाल अधिक करेगें जिससे उनकी फसलो की पैदावार वढेगी और उनकी आर्थिक सिथति में भी सुधार होगा। इस योजना को गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना के नाम से भी जाना जाता है। योजना का लाभ लाभार्थीयों को ऑनलाइन आवेदन करके प्राप्त होगा।      

प्रमुख तथ्य | Key facts

गोबर-धन योजना किसानों की आय बढ़ाने में काफी हद तक कारगार साबित हो रही है| वर्ष 2012 में की गई 19वीं पशुधन जनगणना के अनुसार भारत में मवेशियों की जनसंख्या 30 करोड़ है, जिससे देश में प्रतिदिन लगभग 30 लाख टन गोबर प्राप्त होता है| सरकार ने इस योजना द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता देने के साथ-साथ उनको आर्थिक तौर पर आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य भी निर्धारित किया है।  अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन के मुताबिक गोबर का सही ढंग से अगर इस्तेमाल किया जाए तो करीब 15 लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिलेगें। इससे गांव में स्वच्छता बढ़ेगी और कुल मिलाकर गांव पशु आरोग्य होगा। इसके साथ-साथ उसकी उत्पादकता में भी इजाफा होगा।

उद्देश्य | An Objective

योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो की आय मे सुधार कर उनके दवारा खेतों में खतरनाक जहरीली दवाइयों के छिडकाव को रोकना है और कारखानों से निकलने वाले धुंए से वढ रहे प्रदूषण मे कमी लाना है। 

पात्रता | Eligibility

  • देश के स्थायी निवासी
  • ग्रामीण क्षेत्रो मे रहने वाले किसान वर्ग

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

gobar dhan scheme

लाभ | Benefits

  • योजना का लाभ देश के ग्रामीण क्षेत्रो मे रहने वाले किसान भाइयो को मिलेगा।
  • योजना के जरिए पशुओं के मल, खेतों के ठोस अपशिष्ट पदार्थ जैसे कि भूसा , पत्ते इत्यादि को कंपोस्ट, बायोगैस और बायो सीएनजी बनाने के लिए उपयोग किया जायेगा।
  • किसानो से उनके पशुओ का गोबर और खेतो के ठोस अपशिष्ट पदार्थो को खरीदकर बायोगैस में परिवर्तित किया जायेगा।
  • गांव के किसान अपने खेतों में इस ठोस कचरे और गोबर का उपयोग करेगें।
  • ग्रामीण क्षेत्रो में गोबर से बायोगैस प्लांट व्यक्तिगत, सामुदायिक, सेल्फ हेल्प ग्रुप व गोशाला जैसे NGO के स्तर पर स्थापित किए जाएगें।
  • इस योजना से किसानो दवारा अपने खेतों में खतरनाक जहरीली दवाइयों का छिडकाव नहीं किया जाएगा। 
  • इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रो मे स्वच्छता देखने को मिलेगी और किसान जागरुक होगें।
  • महिलाए घर में जैविक इधन का इस्तेमाल करके स्वच्छ खाना बना सकेगी।
  • गाँवो को खुले में शौच से मुक्त कराना है, ताकि गाँव में स्वच्छता बनी रहें ।
  • गोबर-धन योजना को केंद्र सरकार व राज्य सरकार की और से संचालित किया गया है।
  • योजना को शुरु करने के लिए देश के 115 जिलों की सूचि तैयार की गई है।
  • केंद्र सरकार दवारा गांवों में विभिन्न स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र खोलने, ग्रामीण व्यापार केंद्रों के लिए बुनियादी ढांचे में सुधार, गांवों और शहरों के बीच बेहतर संपर्क और उच्च शिक्षा के लिए केंद्र बनाए जाने का भी प्रावधान रखा गया है।
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी घर बैठे ही ऑनलाइन आवेदन कर सकेगें।

विशेषताएं | Features

  • किसानो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • फसलों में जहरीली दवाइयों के छिड़काव को रोकना
  • जैविक खाद और उर्वरक का इस्तेमाल करके फसल की पैदावार मे वढोतरी लाना
  • महिलाओं को रसोई गैस की उपलब्धता में आसानी होगी
  • योजना को स्वच्छ भारत मिशन के तहत जोडा गया है। 
  • हर परिवार स्वस्थ रहेगा।
  • ग्रामीण क्षेत्रो का विकास होगा।
  • किसानो की आय मे होगी वढोतरी
  • वायु प्रदूषण मे कमी आएगी

गोबर-धन योजना के लिए आवेदन कैसे करें | How to apply for Gobar Dhan Scheme

gobar dhan registration

  • अब आपको आवेदन करने के लिए रजिस्ट्रेशन बटन पे किल्क करना है। 
  • यहां किल्क करने के बाद आप अगले पेज मे आ जाओगे।

gobar dhan registration 2

  • आपको इस पेज मे दी गई सारी जानकारी भरनी होगी।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको अंत मे सबमिट बटन पे किल्क कर देना है।
  • यहां किल्क करने के बाद आपके दवारा योजना के लिए पंजीकरण सफलतापूर्वक कर दिया जाएगा।

लॉगिन कैसे करें | How to login

gobar dhan login

  • यहां आपको लॉगिन वाले बटन पे किल्क करना है। 
  • लॉगिन बटन पे किल्क करते ही आप अगले पेज मे आ जाओगे।

gobar dhan login2        

  • यहां आपको User Name / Password/ capcha code भरने के बाद लॉगिन कर देना है।
  • इस तरह आपके दवारा लॉगिन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!