हरियाणा खेल नर्सरी योजना 2022-23 | Khel Nursery Yojana ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

|| Khel Nursery Yojana | हरियाणा खेल नर्सरी योजना | Haryana Khel Nursery Yojana Application Form Download | Khel Nursery Scheme Online Registration ||

हरियाणा सरकार दवारा राज्य मे युवाओ को खेल के प्रति प्रोत्साहित करके और आत्म-निर्भर वनाने के लिए हरियाणा खेल नर्सरी योजना को लागू किया गया है| जिसके अंतर्गत खेलो को वढावा दिया जाएगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – हरियाणा खेल नर्सरी योजना के वारे मे|

1

Haryana Khel Nursery Yojana

हरियाणा सरकार दवारा राज्य मे खेलो को वढावा देने के लिए खेल नर्सरी योजना को शुरू किया गया है| जिसके जरिये सरकारी, निजी शिक्षण संस्थानों और निजी खेल संस्थानों में खेल नर्सरी की शुरुआत की जाएगी। इस योजना से ग्रास रूट लेवल पर खेल प्रतिभाओं को उभारा जाएगा। जिससे खेल प्रतिभाओं को जमीनी स्तर पर उभरने का मौका मिलेगा और ओलंपिक, एशियाई व राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल खेलों के लिए खेल नर्सरी को खोला जाएगा| 

योजना के मुख्य पहलु

हरियाणा के खिलाडिय़ों ने अपनी खेल प्रतिभा से प्रदेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक नई पहचान दी है। जिससे खेल शक्ति को और अधिक सशक्त बनाने तथा नई खेल प्रतिभाओं को उभारने के लिए राज्य सरकार सदैव प्रयासरत है। ऐसे युवा जिनके भीतर मेडल लाने की योग्यता है, हरियाणा सरकार उन तक खुद पहुंच रही है ताकि प्रदेश में खेल से जुड़े संसाधनों का विस्तार किया जा सके|

खेल नर्सरी योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

Khel Nursery Yojana

Khel Nursery Yojana online

Khel Nursery Yojana application form

  • आपको ये फार्म डाउनलोड करके इसका प्रिंट आउट लेना होगा|
  • अब आपको इस फार्म मे दी गई सारी जानकारी भरनी होगी|
  • उसके बाद आपको जरूरी दस्तावेज भी अटैच करने होंगे|
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको अंत मे ये फार्म सवन्धित कार्यालय मे जाकर जमा करवा देना है|
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आपके दवारा योजना के अंतर्गत आवेदन कर दिया जाएगा|

हरियाणा खेल नर्सरी योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में खेल को बढ़ावा देकर जमीनी स्तर पर खेल प्रतिभाओं को तैयार करना है।

खेल नर्सरी योजना के लिए पात्रता

  • हरियाणा राज्य के स्थायी निवासी
  • छात्र-छात्राएँ
  • सरकारी हाई स्कूल और सीनियर सेकेंडरी स्कूल आवेदन करने के लिए भी पात्र होंगे|
  • एक स्कूल को 02 खेल नर्सरी से अधिक आवंटित नहीं किया जाएगा।
  • स्कूल आवंटित स्पोर्ट्स नर्सरी को 8 से 19 वर्ष की आयु वर्ग में जिला खेल और युवा मामलों के अधिकारी (DSYAO) की देखरेख में छात्रों के लिए खेल व शारीरिक योग्यता परीक्षा / खेल परीक्षा आयोजित की जाती है।
  • खेल नर्सरी ओलंपिक खेलों, एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों और राष्ट्रीय खेलों व संबंधित पैरा टूर्नामेंट में खेले जाने वाले खेल विषयों में खोली जाएंगी|
  • छात्रों को छात्रवृत्ति/आहार राशि के लिए पात्र होने के लिए महीने में कम से कम 22 दिनों के लिए खेल नर्सरी में कोचिंग सत्र में भाग लेना अनिवार्य होगा।

हरियाणा खेल नर्सरी योजना के लिए जरुरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

खेल नर्सरी योजना के लाभ

  • खेल नर्सरी योजना के माध्यम से हरियाणा मे खेलो को वढावा मिलेगा|
  • जमीनी स्तर पर खेल प्रतिभाओं को तैयार किया जाएगा|
  • खेल शक्ति को और अधिक सशक्त वनाया जाएगा|
  • युवाओ को अपने कौशल निखारने मे मदद मिलेगी|
  • खेल से जुड़े संसाधनों का विस्तार होगा|
  • प्रदेश में 1100 खेल नर्सरियां खोली जाएंगी|
  • प्रत्येक नर्सरी में न्यूनतम 20 तथा अधिकतम 25 खिलाड़ी होंगे।
  • ओलंपिक, एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल खेलों के लिए खेल नर्सरी स्थापित की जाएगी।

2

हरियाणा खेल नर्सरी योजना के लिए नियम व शर्तें

हरियाणा खेल नर्सरी योजना के लिए निम्नलिखित नियम और शर्तों को लागू किया गया है, जिसकी जानकारी इस प्रकार है-

  • स्कूल में खेल का मैदान/कोर्ट/हॉल और खेल की अन्य सुविधाएं होनी चाहिए जिसके लिए खेल नर्सरी का आवेदन किया जाता है।
  • परीक्षा के आधार पर नर्सरी के लिए स्कूल द्वारा 25 छात्रों का चयन किया जाएगा|
  • इसके अलावा 25 छात्रों का चयन करके उन्हे प्रतीक्षा सूची में रखा जाएगा। यदि कोई प्रशिक्षु किसी कारणवश किसी भी समय नर्सरी छोड़ता है तो परिणामी रिक्ति को वरिष्ठता क्रम में प्रतीक्षा सूची से भरा जाएगा। अगर किसी भी समय छात्र-प्रशिक्षुओं की संख्या 20 से कम हो जाती है तब नर्सरी को बंद कर दिया जाएगा।
  • स्कूल द्वारा नियमित रूप से खिलाड़ियों और कोचों की उपस्थिति दर्ज की जाएगी।
  • स्कूल दवारा चयनित प्रशिक्षुओं/खिलाड़ियों को खेल किट प्रदान की जाएगी|
  • खिलाड़ियों को ड्रग्स और असामाजिक गतिविधियों से खुद को दूर रखना होगा।
  • DSYAO नियमित रूप से नर्सरी का निरीक्षण और निगरानी करेगा।
  • DSYAO द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि नर्सरी नियम और शर्तों के अनुसार चलाई जा रही है और योजना के अनुसार ही धनराशि खर्च की जाती है।
  • खेल विभाग दवारा किसी भी उल्लंघन के मामले में छात्रवृत्ति और/ मानदेय वापस लेने का अधिकार सुरक्षित रखा जाएगा|

हरियाणा खेल नर्सरी योजना में छात्रवृत्ति/आहार राशि विवरण

हरियाणा खेल नर्सरी योजना के तहत छात्रों को छात्रवृत्ति/आहार राशि का भुगतान निम्नानुसार किया जाएगा, जिसका विवरण इस प्रकार है –

  • रु. 1500/- प्रति माह प्रति खिलाड़ी 8-14 आयु वर्ग मे।
  • रु. 2000/- प्रति माह 15-19 वर्ष आयु वर्ग में प्रति खिलाड़ी।

छात्र-प्रशिक्षुओं को छात्रवृत्ति/आहार राशि का भुगतान DSYAO द्वारा उनके बैंक खातों में मासिक आधार पर, छात्र के नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि, आधार संख्या के बारे में जानकारी प्रस्तुत करने पर किया जाएगा।

खेल नर्सरी योजना के तहत कोचों को दिया जाने वाला मानदेय

हरियाणा खेल नर्सरी योजना के तहत कोचों को मानदेय निम्नानुसार दिया जाएगा:-

  • NIS पटियाला या NIS, पटियाला के समकक्ष युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी संस्थान से कोचिंग डिप्लोमा धारकों के लिए 25000 रुपये प्रति माह|
  • P.Ed, D.P.Ed, MA (शारीरिक शिक्षा) या कोचिंग में NIS सर्टिफिकेट कोर्स के लिए 20000 रुपये प्रति माह। इस मामले में, व्यक्ति को संबंधित खेल में राष्ट्रीय खिलाड़ी भी होना चाहिए।
  • कोच को मानदेय का भुगतान स्कूल द्वारा उनके बैंक खाते में किया जाएगा। तत्पश्चात, मानदेय के भुगतान के संबंध में कोच से प्राप्त रसीद के साथ, स्कूल द्वारा एक आवेदन जमा करने पर, DSYAO द्वारा स्कूल के खाते में इसकी प्रतिपूर्ति की जाएगी।

हरियाणा खेल नर्सरी योजना में कोच चयन

कोच का चयन स्कूल द्वारा किया जाएगा। चयनित कोच की योग्यता स्कूल द्वारा संबंधित DSYA से जांची जाएगी। DSYAO की जिम्मेदारी केवल यह सुनिश्चित करने की होगी कि नियम और शर्तों में उल्लिखित योग्यता के अनुसार स्कूल द्वारा केवल योग्य कोच की ही नियुक्ति की जाए।

खेल उपकरण/उपभोग्य सामग्रियों पर व्यय की प्रतिपूर्ति का विवरण

खेल उपकरण/उपभोग्य सामग्रियों पर 1.00 लाख रु. प्रति वर्ष की राशि स्कूल को प्रतिपूर्ति की जाएगी। जिसमे खरीद की निगरानी उपायुक्त/या उनके प्रतिनिधि द्वारा की जाएगी और स्कूल द्वारा स्वीकृत खेल में खेल उपकरण/उपभोग्य सामग्रियों पर होने वाले खर्च का भुगतान DSYAO द्वारा स्कूल के बैंक खाते में वस्तुओं के भौतिक सत्यापन और वाउचर की जांच के बाद, स्कूल द्वारा इस संबंध में एक आवेदन जमा करने पर की जाएगी।

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करें|

Last Updated on June 21, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!