Updated : Aug 09, 2020 in Yojana

मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना | पूरी जानकारी | कैसे करें आवेदन

हरियाणा दूध उपहार योजना | Haryana Dudh Uphar Yojana | दूध उपहार योजना | Dudh Uphar Yojana | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | How to apply 

 

हरियाणा सरकार दवारा गर्भवती महिलाओं, बच्चों और स्तनपान करवाने वाली माताओं के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना को लागु करने की घोषणा की गई है। योजना के जरिए लाभार्थीयों के घर पर आंगनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा दूध पहुंचाया जाएगा। क्या है ये योजना, कैसे मिलेगा लाभ और आवेदन कैसे किया जाएगा। इसके लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना के वारे में।                                     

मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना | Mukhyamantri Dudh Uphar Yojana

 

हरियाणा सरकार दवारा बच्चों और माताओं के स्वास्थय में सुधार करने के लिए मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना को शुरु करने की घोषणा की गई है। योजना का लाभ राज्य की गर्भवती महिलाओं, बच्चों और स्तनपान करवाने वाली माताओं को मिलेगा। योजना के तहत आँगनवाड़ी केंद्रों में आने वाले लाभार्थीयों को सप्ताह में छह दिन, 200 मिली0 प्रति दिन फोर्टिफाईड स्किम्ड मिल्क पाऊडर दिया जाएगा। यह दूध छह प्रकार का होगा। जो चॉकलेट, गुलाब, इलाईची, वनीला, प्लेन तथा बटरस्कॉच आदि फ्लेवर में उपलव्ध होगा। इस योजना से 1-6 वर्ष के लगभग 9.03 लाख बच्चे तथा 2.95 लाख गर्भवती और दूध पिलाने वाली माताओं को लाभ पहुंचेगा । यह फोर्टिफाईड दूध वर्ष में कम से कम 300 दिन वितरित किया जायेगा। इससे लाभार्थीयों के स्वास्थ्य में सुधार आएगा और उन्हें रोगों से लडने की शकित मिलेगी। लाभार्थीयों के लिए इस योजना को फ्री चलाया जा रहा है। ताकि गरीब वर्ग भी योजना का लाभ ले सके। इस योजना को राज्य के सभी आंगनवाडी केद्रो में चलाया जाएगा। इन केंद्रो में काम करने वाली कार्यकर्ता ग्रामीण स्तर पर लाभार्थियों को घर-घर जाकर फोर्टिफाइड फ्लेवर्ड स्किम्ड मिल्क पाउडर वितरित करेंगी । इस योजना से राज्य में कुपोषण जैसी महामारी को रोकने में सहायता मिलेगी और लाभार्थीयों को गुणवत्ता युक्त दूध मिलने से उन्में विटामिन की कमी को भी पूरा किया जाएगा।      

     

उद्देश्य | An Objective

मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का मुख्य उद्देश्य आंगनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा घर घर जाकर फोर्टिफाइड फ्लेवर्ड स्किम्ड मिल्क पाउडर को वितरित करना है। ताकि गर्भवती महिलाओं, बच्चों और स्तनपान करवाने वाली माताओं के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाए।     

पात्रता | Eligibility

  • हरियाणा राज्य के स्थायी निवासी
  • गर्भवती महिलाएं, बच्चे और स्तनपान करवाने वाली माताएं

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नम्वर     

लाभ | Benefits

  • मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का लाभ हरियाणा राज्य के स्थायी लोगों को प्राप्त होगा।
  • योजना का लाभ विशेष तौर पर राज्य की गर्भवती महिलाओं, बच्चों और स्तनपान करवाने वाली माताओं को मिलेगा।
  • ये सुविधा आंगनवाडी केद्रों में उपलव्ध होगी।
  • योजना के जरिए आंगनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा घर घर जाकर मिल्क पाउडर को वितरित किया जाएगा।
  • लाभार्थीयों को ये सुविधा सप्ताह में 06 दिन मिलेगी।
  • लाभार्थीयों को 200 मिली0 प्रति दिन के हिसाव से दूध उपलव्ध करवाया जाएगा ।
  • ये दूध 06 फ्लेवर में (चॉकलेट, गुलाब, इलाईची, वनीला, प्लेन तथा बटरस्कॉच) उपलव्ध होगा।  
  • ये दूध लाभार्थीयों को 300 दिन वितरित किया जायेगा।
  • इस योजना से 1-6 वर्ष के 9.03 लाख बच्चे तथा 2.95 लाख गर्भवती और दूध पिलाने वाली माताओं के स्वास्थय में सुधार आएगा।

विशेषताएं | Features 

  • आगंनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा घर-घर जाकर दूध वितरित करना           
  • गुणवत्ता दूध मिलने से स्वास्थ्य स्तर में होगा सुधार
  • रोगों से लडने में मिलेगी सहायता                   

मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Mukhyamantri Dudh Uphar Yojana

  • मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का लाभ लेने के लिए आंगनवाडी कार्यकर्ता घर-घर जाकर दूध को वितरित करेंगी।
  • आंगनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा अपने रिकार्ड के लिए लाभार्थी से थोडी सी जानकारी ली जाएगी। जैसे – आवेदक का नाम/ पता / आयु / मोबाइल नम्वर्। 
  • कागजी कार्यवाही और रजिस्टर पर नाम दर्ज करने के बाद लाभार्थी को दूध दिया जाएगा।
  • इस तरह लाभार्थी को मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना का लाभ मिल जाएगा।           

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।      

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!