HP खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

|| खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना | Himachal Pradesh Food Processing enterprise Yojana | Apply Online | Application Form ||

हिमाचल प्रदेश की महिलाओं को स्वावल्ंवी वनाने के लिए राज्य मे खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना को लागू किया गया है| जिसके माध्यम से महिलाओं के आर्थिक पक्ष मे सुधार लाने के लिए सरकार दवारा वित्तिय सहायता दी जाती है, ताकि इन महिलाओं को रोजगार प्राप्त करने मे मदद मिल सके | कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – HP खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना के वारे मे|

HP Food Processing enterprise Yojana

 

Himachal Pradesh Food Processing Enterprise Yojana

हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा राज्य की महिलाओं के जीवन स्तर को वेहतर वनाने और उन्हे रोजगार से जोड़ने के लिए खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना को शुरू किया गया है| स्वयं सहायता समूह के जरिये आचार, चटनी, मुरब्बा बनाने वाली तकरीवन 01 लाख महिलाओं को प्रधानमंत्री खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना से जोड़ा जाएगा। इस योजना से एक तरफ तो बागवानों व किसानों को उनके फलों से आचार चटनी और मुरब्बा बनेगा और दूसरी तरफ महिलाएं आर्थिक रूप से मजबूत वनेगी। इस योजना से जुड़ने से पात्र महिलाओं को 40-40 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। जिससे इन महिलाओं को बेहतर रोजगार मिलेगा, और ये दूसरो को भी रोजगार से जोड़ने के लिए प्रेरित करेंगी|

योजना के मुख्य पहलु

खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को जोड़ने के लिए 02 विभागों उद्योग और ग्रामीण विकास विभाग को मिलकर कार्य करने का जिम्मा दिया गया है। स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है, ताकि उन्हे रोजगार उपलव्ध करवाया जा सके| योजना का लाभ देने के लिए इन प्रशिक्षित महिलाओं को आर्थिक मदद दी जाएगी। जिसमे से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 10,000/- रुपये रिवाल्विंग फंड दिया जाएगा|

ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत प्रदेश में महिलाओं को स्वाबलंबी बनाने के लिए सरकार दवारा 28000 स्वयं सहायता समूह बनाए गए हैं। इन स्वयं सहायता समूह से 2.70 लाख महिलाएं जुड़ी हुई हैं। ये महिलाएं बांस से बने उत्पादों के अलावा, चील की पत्तियों से सजावटी सामान, हस्त शिल्प व हथकरघा उद्योग का काम कर रही हैं| जिसके चलते इन्होने आपकी आर्थिक सीथति को वेहतर वना लिया है|

खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना का अवलोकन  

योजना का नाम मुख्यमंत्री खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना
किसके दवारा शुरू की गई हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य की महिलाएं
प्रदान की जाने वाली सहायता महिलाओं को रोजगार से जोडने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट

Click Here

योजना के जरिये महिलाओं को दी जाएगी ट्रेनिंग

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को फूड प्रोसेसिंग के माध्यम से मार्च 2022 तक स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। जिसके तहत आचार, चटनी व फूड प्रोसेसिंग का काम करने वाली महिलाओं को स्वावलंबी बनाकर उनकी आय में वृद्धि की जाएगी। इन महिलाओं की सालाना आय को 01 लाख रुपए तक पहुंचाने के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत उन्हे प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। जिसमे से आर्थिक मदद मिलने से ये महिलाएं मशीनें व अन्य उपकरण खरीद सकेंगी और वे बेरोजगार लोगो को भी रोजगार से जोडेगी|  

HP खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना का मुख्य उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की महिलाओं को रोजगार से जोडकर उनके आर्थिक पक्ष को मजबूत करना है|

खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना के लिए पात्रता

  • हिमाचल प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • स्वयं सहायता समूह की महिलाएँ
  • आचार, चटनी व अन्य उत्पाद वनाने वाली महिलाएँ
  • परिवार की वार्षिक आय 30,000 रूपए से कम होनी चाहिए|

खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

HP Food Processing enterprise Yojana

खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना के लाभ
  • खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना का लाभ हिमाचल प्रदेश राज्य की स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को प्रदान किया जाएगा|
  • योजना के जरिये आचार, चटनी, मुरब्बा बनाने वाली तकरीवन 01 लाख महिलाओं को प्रधानमंत्री खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना से जोड़ा जाएगा।
  • महिलाओं को 40-40 हजार रुपये की आर्थिक सहायता सरकार दवारा प्रदान की जाएगी|
  • इसके अलावा स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 10,000/- रुपये रिवाल्विंग फंड भी प्रदान किया जाएगा|
  • महिलाओं को मिलने वाली आर्थिक सहायता से वे मशीनें व अन्य अन्य उपकरण खरीद सकेंगी|
  • इस योजना से महिलाओं की आर्थिक सीथति वेहतर वनेगी|
  • योजना का लाभ देने के लिए पात्र महिलाओं की सालाना आय को 01 लाख रुपए तक पहुंचाई जाएगी|
  • रोजगार पाने के लिए इन महिलाओं को निशुल्क प्रशिक्षण भी दिया जाएगा|
  • ये महिलाएँ राज्य मे वेरोजगार नागरिको को भी रोजगार से जोड़ने का कार्य करेंगी|
खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना की मुख्य विशेषताएं
  • राज्य की महिलाओं को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • महिलाओं को रोजगार से जोड़ना
  • आय मे सुधार लाना|
  • महिलाओं को रोजगार मिलने से राज्य क्वे वेरोजगार नागरिको को भी रोजगार से जोड़ना|
  • वेरोजगारी दर मे कमी लाना|
  • महिलाओं के अधिकारो की रक्षा करना|
  • महिलाओं की प्रगति के लिए सरकार दवारा हर सम्भव सहायता प्रदान करना|
खाद्य प्रसंस्करण उद्यम योजना के लिए कैसे करें आवेदन
  • सवसे पहले पात्र लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पे जाना होगा| 
  • उसके बाद आपको योजना के लिंक की खोज करनी है|
  • अब आपको दिए गए लिंक पे किलक करना है|
  • उसके बाद आपके सामने योजना का आवेदन फार्म खुलके आएगा|
  • जिसमे आपको दी गई सारी जानकारी दर्ज करनी होगी|
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको अंत मे सबमिट के वटन पे किलक कर देना है|
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करें|

Last Updated on May 8, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!