इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना 2021 | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

|| Indira Gandhi Shehri Credit Card Yojana | मुख्यमंत्री इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना | Rajasthan Indira Gandhi Shehri Credit Card Scheme | Indira Gandhi Shehri Credit Card Scheme Apply Online | Application Form ||

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी दवारा राज्य मे कोविड के चलते वेरोजगार हुए लोगो को रोजगार से जोड़ने के लिए इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना को लागू किया गया है| जिसके माध्यम से पात्र लाभार्थीयों को व्यवसाय स्थापित करने के लिए ऋण दिया जाता है| कैसे मिलेगा योजना का लाभ, योजन के लिए कौन-कौन पात्र हैं और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के वारे मे|  

 Indira Gandhi Shehri Credit Card Yojana

 

Indira Gandhi Shehri Credit Card Yojana

राजस्थान सरकार दवारा राज्य मे COVID-19 के चलते वेरोजगारी दर मे कमी लाने के और स्वरोजगार को वढावा देने के लिए इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना को शुरू किया गया है| जिसके अंतर्गत कोरोनावायरस संक्रमण के कारण राज्य मे बेरोजगार हुए छोटे व्यापारियों, वेंडर्स थड़ी ठेला व्यापारियों एवं असंगठित क्षेत्र में सेवाएं प्रदान करने वाले लोगो को बिजनेस को आगे वढ़ाने के लिए सरकार दवारा 50000/- रूपये तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। योजना की खास बात यह है की ये ऋण ब्याज मुक्त होगा| जिससे कि छोटे व्यापारी आर्थिक संकट का सामना कर सकेगे और बेरोजगार युवाओं को आर्थिक संबल प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा योजना के माध्यम से लॉकडाउन के कारण अनौपचारिक व्यापार पर पढ़े दुष्प्रभाव को कम करने मे भी मदद मिलेगी|

योजना के मुख्य पहलु

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना 1 वर्ष तक लागू रहेगी। जिसके लिए पात्र लाभार्थी को ऋण प्राप्त करने के लिए किसी प्रकार की गारंटी देने की आवश्यकता नहीं होगी| ऋण के लिए मॉनिटोरियम की अवधि 3 महीने निर्धारित की गई है और लाभार्थी को ऋण का भुगतान 12 महीने की अवधि के अंदर करना होगा। इस योजना के लिए 31 मार्च 2022 तक आवेदन किया जा सकता है।

 Indira Gandhi Shehri Credit Card scheme

योजना का कार्यान्वयन

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के कार्यान्वयन के लिए ULB की ओर से एक Authorized Municipal Commissioner / EO or other representative की अध्यक्षता में एक स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया जाएगा। यह स्क्रीनिंग कमेटी लोन को जारी करने का काम करेगी। इस कमेटी में जिला लीड मैनेजर, जिला उद्योग केंद्र के प्रतिनिधि, बैंक के वरिष्ठ ब्रांच मैनेजर सदस्य होंगे। इसके अलावा ULB की ओर से अधिकृत प्रतिनिधि या डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट ऑफिसर भी इस कमेटी के संयोजक होंगे। कमेटी द्वारा प्राप्त हुए आवेदनों की जांच एवं भौतिक सत्यापन किया जाएगा। उसके बाद ही पात्र लाभार्थियों को ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। लाभार्थीयों की सुविधा के लिए वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप को भी विकसित किया जाएगा। सभी शहरी क्षेत्र के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछड़े वर्ग के लोगो के लिए योजना का कार्यान्वयन अनुजा निगम द्वारा किया जाएगा।

योजना नोडल अधिकारी एवं भुगतान प्रक्रिया

जिले में इस योजना का नोडल अधिकारी जिला कलेक्टर होगा और उपखंड अधिकारी द्वारा लाभार्थियों का सत्यापन किया जाएगा। योजना के माध्यम से आने वाला खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। जिसमे लाभार्थी द्वारा क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के माध्यम से ऋण राशि की निकासी एक या एक से ज्यादा किस्तों में 31 मार्च 2022 तक की जा सकेगी। इस ऋण की राशि का भुगतान चौथे से 15 महीने में 12 सामान किस्तों में किया जाएगा। जिसमे से लगभग 5 लाख नागरिकों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। लाभार्थियों की पहचान जिला स्तर पर स्थानीय शहरी संकाय द्वारा वेंडर को जारी किए गए प्रमाण पत्र के आधार पर की जाएगी।

व्यवसाय को पुनर्स्थापित किया जा सकेगा

COVID-19 के चलते राज्य मे बेरोजगार हुए युवाओं को आर्थिक सहायता प्रदान कर उन्हे रोजगार से जोड़ा जाएगा। जिससे कि वह अपने व्यवसाय को पुनर्स्थापित कर सकेंगे| योजना के माध्यम से शहरी क्षेत्र में स्वरोजगार के अवसर को वढावा मिलेगा और प्रदेश की बेरोजगारी दर में भी गिरावट आएगी। जिससे प्रदेश के नागरिकों को रोजगार के लिए अब भटकना नहीं पडेगा|

ऋण उपलव्ध करवाने वाले बैंक

  • अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक,
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक,
  • लघु वित्त बैंक,
  • सहकारी बैंक
  • गैर बैंकिंग वित्त कंपनी

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना ऋण विवरण

  • ऋण राशि – 50,000/- रूपये (ब्याज मुक्त ऋण)
  • मॉनिटोरियम की अवधि – 3 महीने
  • ऋण भुगतान की अवधि – 12 महीने
  • राशि का भुगतान – 4 से 15 महीने में 12 सामान किस्तों में किया जाएगा।
  • ऋण की राशि की निकासी – क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के माध्यम से
  • निकासी की सीमा – एक या एक से ज्यादा किस्तों में 31 मार्च 2022 तक की जा सकती है।

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य कोरोना वायरस के चलते बेरोजगार हुए नागरिको को व्यवसाय स्थापित करने के लिए राज्य सरकार दवारा आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाना है|

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के लाभार्थी

  • कुम्हार
  • हेयर ड्रेसर
  • रिक्शावाला
  • दर्जी
  • धोबी
  • रंग पेंट करने वाले
  • खाती मोची
  • मिस्त्री
  • नल बिजली की मरम्मत करने वाले आदि

Indira Gandhi Shehri Credit Card Yojana के लिए पात्रता

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आवेदक की परिवार की मासिक आय 50000/- रूपये या फिर इससे कम होनी चाहिए।
  • वह सभी छोटे व्यापारी जिनको शहरी निकाय द्वारा प्रमाण पत्र या पहचान पत्र दिया गया है वे भी योजना के लिए पात्र है।
  • सर्वे में छूटे व्यापारी या टाउन वेंडिंग कमेटी के सिफारिश पत्र वाले लाभार्थी वंडर भी योजना के लिए पात्र होंगे।
  • इसके अलावा सर्वे के दौरान चयनित विक्रेताओं को भी योजना का लाभ मिलेगा| (जिनको प्रमाण पत्र या पहचान पत्र जारी नहीं हुआ है|)

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के लाभ

  • इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ राजस्थान राज्य के उन नागरिको को मिलेगा, जो कोविड महामारी के चलते बेरोजगार हो गए हैं|
  • योजना के जरिये लाभार्थीयों को ₹50000 तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • लाभार्थीयों को दिया जाने वाला ऋण सीधे उनके बैंक खाते मे जमाँ किया जाएगा|
  • ऋण प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को किसी भी प्रकार की गारंटी देने की आवश्यकता नहीं होगी|
  • योजना के अंतर्गत प्रदान किए जाने वाला ऋण पूरी तरह से ब्याज मुक्त होगा।
  • इस योजना के लिए 31 मार्च 2022 तक आवेदन किया जा सकेगा।
  • जिले में इस योजना के लिए नोडल अधिकारी जिला कलेक्टर होगा।
  • उपखंड अधिकारी द्वारा पात्र लाभार्थियों का सत्यापन किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत आने वाला सारा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • योजना के लिए क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के माध्यम से ऋण की राशि की निकासी की जा सकेगी|
  • 5 लाख लाभार्थियों को इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के माध्यम से पहले आओ पहले पाओ के आधार पर लोन दिया जाएगा।
  • कोविड के चलते व्यापार पर पड़े दुष्प्रभाव को भी इस योजना के माध्यम से कम किया जा सकेगा|
  • योजना का लाभ पात्र लाभार्थीयों को ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड के जरिये प्राप्त होगा|

Indira Gandhi Shehri Credit Card Yojana की मुख्य विशेषताएं

  • कोविड के चलते बेरोजगार हुए लोगो को रोजगार से जोड़ना
  • पात्र लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • व्यवसाय स्थापित करने के लिए सरकार दवारा पात्र नागरिको को ऋण उपलव्ध करवाना
  • राज्य मे बेरोजगारी दर मे कमी लाना
  • योजना के चलते अब बेरोजगार हुए लोगो को नौकरी के लिए भटकना नहीं पडेगा|

इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के लिए कैसे करें आवेदन

जो लाभार्थी योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे थोड़ा इंतजार करना होगा| अभी योजना की शुरुआत की गई है| जैसे ही योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी, तो हम आपको तुरंत सूचित कर देगें|

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।  

error: Content is protected !!