Aug 14, 2020 COVID-19

मुख्यमंत्री श्रमिक योजना | बेरोजगारों को मिलेगा रोजगार | कैसे करें आवेदन

मुख्यमंत्री श्रमिक योजना | Mukhyamantri Shramik yojana | मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना | Jharkhand Shramik Rojgar Yojana | शहरी रोजगार मंजूरी फॉर कामगार योजना | How to apply

 

COVID-19 के चलते बेरोजगार हुए झारखंड राज्य के श्रमिकों को रोजगार दिलवाने के लिए मुख्यमंत्री श्रमिक योजना को लागु करने की घोषणा की गई है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थीयों को अपने शहर में ही रोजगार मिलेगा। सारी जानकारी जानने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा, तो आइए जानते हैं – मुख्यमंत्री श्रमिक योजना के वारे में।                          

मुख्यमंत्री श्रमिक योजना | Chief minister Shramik Yojana

 

कोरोना वायरस के चलते देश में बेरोजगारी जैसी समस्या उत्पन्न हो गई है, इसका सवसे ज्यदा प्रभाव दूसरे राज्यों में काम कर रहे मजदूरों पर पढ रहा है। जिससे उनके पास काम न होने से परिवार को काफी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। ऐसे में उनको दो वक्त की रोटी भी नसीव नहीं हो रही। उनकी इस परेशानी को देखते हुए देश के अलग-अलग हिस्सों से झारखंड लोटे मजदूरों को रोजगार उपलव्ध करवाने के लिए राज्य सरकार दवारा मुख्यमंत्री श्रमिक योजना को शुरु करने की घोषणा की है। इस योजना को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या के दिन शुरु किया जाएगा।जिसके तहत राज्य में अकुशल श्रमिकों को शहरी क्षेत्रों में रोजगार की गारंटी देने के लिए योजना तैयार की गई है। जिसमें झारखंड के शहरों में निवास करने वाले 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के अकुशल श्रमिकों को एक साल में 100 दिनों के रोजगार की गारंटी मिलेगी और 15 दिनों में ही लाभार्थी को काम मिल जाएगा। योजना के मुताविक लाभार्थीयों को अपने ही वार्ड या शहर में काम दिया जाएगा ताकि शहरों से होने वाले मजदूरों के पलायन को रोका जा सके। अगर किसी लाभार्थी को आवेदन देने के 15 दिन के अंदर काम नहीं मिलता है तो उसे बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। यह भत्ता पहले महीने में न्यूनतम मजदूरी का एक चौथाई, दूसरे महीने में न्यूनतम मजदूरी का आधा और तीसरे माह से न्यूनतम मजदूरी के बराबर दिया मिलेगा। केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी मनरेगा योजना की तर्ज पर यह योजना शुरु की जा रही है, जिसमें शहरी श्रमिकों को काम उपलब्ध कराने की जिम्मेवारी नगर निकायों को दी गई है । उनके जरिए ही लाभार्थीयों को रोजगार उपलव्ध होगा। रोजगार मिलने से लाभार्थीयों की आर्थिक दिक्कत भी दूर होगी, जिससे उन्हें परिवार की आर्थिक परेशानियों को दूर करने में मदद मिलेगी और कोरोना काल के दौरान उत्पन्न हो रही परेशानियों का सामना नहीं करना पडेगा।  

उद्देश्य | An Objective

मुख्यमंत्री श्रमिक योजना का मुख्य उद्देश्य COVCID-19 के चलते बेरोजगार हो चुके श्रमिकों को अपने ही बार्डों में रोजगार उपलव्ध करवाना है।

पात्रता | Eligibility

  • झारखंड राज्य के स्थायी निवासी
  • श्रमिक वर्ग
  • श्रमिक के पास अगर मनरेगा जॉब कार्ड है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा 

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

आयु सीमा | Age Range

  • न्युनतम 18 वर्ष
  • अधिकतम 35+      

योजना के जरिए श्रमिकों को मिलने वाली सुविधाएं | Facilities provided to workers through the scheme 

मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना के तहत लाभार्थीयों को कई प्रकार की सुविधाएं भी मिलेगी। ऐसे में उनकी सिथति को वेहतर वनाने के लिए श्रमिकों के लिए कार्यस्थल पर शुद्ध पीने का पानी और प्राथमिक चिकित्सा के साजो-सामान की सारी व्यवस्था उपलब्ध होगी। यदि महिला कामगार कार्यस्थल पर कार्य कर रही हैं तो वहां उनके बच्चों को रखने की भी पूरी तैयारी की गई है, ताकि बच्चों का पालन-पोषण उनके कामकाजी बनने में बाधा न उत्पन्न कर सके , जिससे उनका काम-काज सही तरिके से चल सके।   

लाभ | Benefits

  • मुख्यमंत्री श्रमिक योजना का लाभ बेरोजगार हो चुके श्रमिक वर्ग़ को मिलेगा।
  • योजना के जरिए लाभार्थीयों को उनके शहर में ही रोजगार उपलव्ध होगा।
  • लाभार्थी को योजना के जरिए 100 दिनों के रोजगार की गारंटी भी मिलती है।
  • राज्य में श्रमिक मजदूरों के जॉब कार्ड वनाए जाएगें, जिसमें पंजीकृत मजदूरों को ही योजना का लाभ मिलेगा।      
  • अगर योजना के जरिए किसी लाभार्थी को रोजगार नहीं मिलता है तो उसे सरकार दवारा वेरोजगारी भत्ता मिलेगा।
  • इस योजना से राज्य में वढ रही बेरोजगारी जैसी समस्या दूर होगी।
  • लाभार्थी का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • परिवार की सिथति में सुधार होगा।
  • इस योजना के चलते अब श्रमिकों को रोजगार पाने के लिए भटकना नहीं पडेगा।
  • मानरेगा योजना की तरह ही राज्य में मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना का लाभ लाभार्थीयों को मिलेगा।

मुख्यमंत्री श्रमिक योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Chief minister Shramik Yojana

NOTE: मुख्यमंत्री श्रमिक योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन होगी। अभी योजना के संवध में ही सरकार दवारा जानकारी दी गई है, उसके लिए वेव्साइट भी जल्द लॉंच की जाएगी, तव लाभार्थी घर वैठे ही आवेदन कर सकेगें। जब तक साइट को लॉंच नहीं किया जाता, तव तक लाभार्थी ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते हैं। उसके लिए आवेदन इस तरह किया जा सकता है :-

  • मुख्यमंत्री श्रमिक योजना के लिए लाभार्थीयों को आवेदन करने के लिए नगर निगम में जाना है।
  • अब आपको वहां का कर्मचारी मुख्यमंत्री श्रमिक योजना का आवेदन फार्म भरने के लिए देगा।
  • आपको इसमें गई सारी जानकारी भरने के साथ आव्श्यक दस्तावेज भी जमा करवाने हैं।
  • उसके बाद निगम दवारा लाभार्थीयों के जॉब कार्ड वनाए जाएगें, जिसमें लाभार्थीयों को पंजीकृत किया जाएगा।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद लाभार्थी को 15 दिन के भीतर काम के लिए फोन आ जाएगा। 
  • अगर लाभार्थी को आवेदन करने के वाद भी रोजगार नहीं मिलता है तो नगर निगम दवारा उस श्रमिक को बेरोजगारी भत्ता देगा।
  • इस तरह श्रमिकों को योजना का लाभ मिल जाएगा।                      

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!