Dec 30, 2020 Yojana

[COVID-19] जॉब इंश्योरेंस योजना | पूरी जानकारी | कैसे करें आवेदन

लॉकडाउन जॉब इंश्योरेंस योजना | Job insurance Yojana | जॉब इंश्योरेंस | Job Insurance: Coverage, Claim & Renewal | आवेदन कैसे करें

 

लॉकडाउन के चलते नौकरी जाने पर लाभार्थी को आर्थिक सुविधा उपलव्ध करवाने के लिए जॉब इंश्योरेंस योजना को शुरु किया गया है। इस योजना से अब लाभार्थी को कोरोना संकट के समय में पैसे की दिक्कत का सामना नहीं करना पडेगा। सारी जानकारी जानने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – जॉब इंश्योरेंस योजना के वारे में।         

जॉब इंश्योरेंस योजना | Job insurance Yojana

 

कोरोना वायरस के चलते भारत में अधिकांश लोग ऐसे हैं, जिन्हें नौकरी जाने का डर स्ता रहा है या कुछ की तो नौकरी भी चली गई है। इस बुरे बक्त में लोगों को अपना जीवन यापन करना जैसे घर के खर्चे, वच्चों की फीस, बिमारी के चलते मा-बाप के लिए दवाइयों में होने वाला खर्चों से परिवार को संभालना मुशिकल हो सकता है। इस सिथति से निपटने के लिए कुछ कंपनियां हैं जो आपको Job Insurance Policy ऑफर करती हैं। यह पॉलिसी मुश्किल वक्त में आपकी मदद कर सकती हैं। इस पॉलिसी के दवारा  ग्राहक और उसके परिवार को कुछ समय के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान की जाती है, ये सुरक्षा उस समय प्रदान होती है जब आप नौकरी खो चुके होते हैं। इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको बीमें की शर्तें पूरी करनी चाहिए। यह पॉलिसी अलग से ग्राहक को नहीं मिलती है, जो कि मुख्य पॉलिसी के साथ राइडर या एड ऑन कवर के तहत लाभार्थी को दी जाती है। यह सामान्य तौर पर हेल्थ इंश्योरेंस या होम इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ आती है। इस योजना से आपके इंश्योरेंस कराने के 05 वर्ष के भीतर ही नौकरी जाने की स्थिति में बीमा कंपनी EMI का भुगतान करेगी। इतना ही नहीं योजना के तहत कंपनी आपकी 03 से 04 EMI की किस्ते भी चुकाती है।  ये तब तक आपकी सहायता करेगी जब तक आपको नई नौकरी नहीं मिल जाती।  

       

उद्देश्य | An Objective

जॉब इंश्योरेंस योजना का मुख्य उद्देश्य लाभार्थी को नौकरी चले जाने पर आर्थिक सुरक्षा उपलव्ध करवाना है, ताकि वे घर के खर्चे उठाने में सक्षम वन सके।               

जॉब इंश्योरेंस पॉलिसी प्लान में क्या कवर होगा | What will be covered in a job insurance policy plan

  • रोजगार से समाप्ति
  • अस्थायी निलंबन

पात्रता | Eligibility

  • लाभार्थी देश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इसका लाभ सभी वर्ग के लोगों को मिलेगा।
  • जॉब इंश्योरेंस लेने के लिए आवेदक के पास सैलरी के तौर पर आय होनी चाहिए।    
  • लाभार्थी जहां काम करता है, वह नौकरी रजिस्टड होनी चाहिए।
  • नौकरी चले जाने पर पॉलिसी धारक को बीमा कंपनी को सूचना देनी होगी
  • नौकरी न होने का प्रमाण पत्रभी बीमा कंपनी को देना होगा।           

नौकरी बीमा पॉलिसी के तहत आव्श्यक दस्तावेज प्रस्तुत किए जाने चाहिए |  Necessary documents must be submitted under the job insurance policy

  • Claim Form (duly filled and signed)
  • Documents providing reasons for job loss
  • Employment termination letter from the employer
  • Salary Slip of last 3 months
  • Form 16
  • Employer’s details (contact number, email ID, etc.)
  • Copy of policy document
  • ID Proof of claimant
  • Age Proof of claimant
  • Other documents asked by the insurance company

किन परिसिथतियों में मिलेगी वित्तिय सहायता | In which circumstances will financial assistance

  • किसी दुर्घटना होने पर,
  • बीमारी या विकलांगता के कारण
  • आपातकाल/ COVID-19 की सिथति में नौकरी जाने पर   

क्लेम की प्रक्रिया | Claim process

  • नौकरी चले जाने पर, पॉलिसी धारक को बीमा कंपनी को लिखित में सूचित करना होता है|
  • लाभार्थी को नौकरी न होने का प्रमाण भी देना होता है।
  • पॉलिसी धारक को दूसरे सपोर्टिंग डॉक्यूमेंट भी सब्मिट करने होते हैं।
  • अगर सारी प्रक्रिया सही होती है, तो बीमा कंपनी दवारा क्लेम की राशि का भुगतान किया जाता है।

विशेषताएं | Features

  • संकट के समय में लाभार्थी को आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाना
  • नौकरी चली जाने पर परिवार पर आने वाले आर्थिक संकट को खत्म करना
  • होम लोन का बोझ कम करना   
  • लाभार्थी को 03 से 04 महीने की अबधी तक वित्त्य सहायता देना है, जब तक व्यक्ति दूसरी नौकरी की तलाश करने में सक्षम हो जाए।

लाभ | Benefits

  • जॉब इंश्योरेंस योजना का लाभ उस समय दिया जाता है, जब लाभार्थी की नौकरी चली जाती है।
  • नौकरी जाने के बाद लाभार्थी को इस योजना के जरिए कुछ समय तक वित्तिय सहायता उपलव्ध करवाई जाती है।
  • इस योजना से लाभार्थी नौकरी जाने पर दूसरी नौकरी तलाश कर सकता है।       
  • इस योजना का लाभ उसे दिया जाता है जिस लाभार्थी का रिकोर्ड बैंकों अच्छा है।
  • नौकरी जाने पर लाभार्थी का आर्थिक बोझ खत्म होगा।
  • इस योजना का लाभ लाभार्थी को तभी मिलेगा जब वह अपने दस्तावेज के अलावा सारी प्रक्रिया को पूरा करता है।                             

इन कारणों से नौकरी जाने पर नहीं मिलेगा लाभ | Due to these reasons, you will not get any benefit from going to job

कुछ हालात या कारण ऐसे होते हैं जब नौकरी जाने पर इस बीमे का फायदा लाभार्थी को नहीं मिलता है। इनमें से कुछ हैं खराब प्रदर्शन, बेईमानी, धोखाधड़ी आदि। साथ ही स्वैच्छिक रिटायरमेंट पर या अस्थायी कॉन्ट्रेक्ट वालों को भी इसका फायदा नहीं मिलेगा।

महत्वपूर्ण जानकारी | Important information

  • अधिकतर कंपनियां जॉब इंश्योरेंस को अन्य बीमा पॉलिसी के साथ एडऑन के तौर पर मुहैया कराती हैं।
  • कंपनियां बीमा प्रीमियम का निर्धारण नियोक्ता के जॉब और कंपनी को देखते हुए करती हैं, जिस सेक्टर में जॉब जाने का खतरा अधिक होता है, उस सेक्टर के लिए प्रीमियम अधिक होगा।
  • आपकी कंपनी नौकरी से निकालने का प्रूफ नहीं देती है तो आप क्लेम नहीं ले सकेंगे, इसलिए बीमा कराने से पहले पता करें कि आपकी कंपनी प्रूफ देगी या नहीं।
  • होम लोन इंश्योरेंस का प्रीमियम लोन की रकम, अवधि, लोन लेने वाले व्यक्ति की आयु और आय के अनुसार तय की जाती है।
  • होम लोन इंश्योरेंस के लिए मनी बैक प्लान न लें, क्योंकि ये काफी मंहगा पड़ता है और इसमें होम लोन पर पूरी तरह से बीमा कवर शामिल नहीं होता है।

जॉब इंश्योरेंस पॉलिसी का ऑफर करने वाली कंपनियां | Companies offering job insurance policy

  • HDFC Ergo का होम सुरक्षा प्लान।
  • Royal Sundaram का सेफ लोन शील्ड  प्लान।
  • ICICI का सिक्योर माइंड प्लान।
  • ICICI Prudential 1194 रुपये के प्रीमियम पर 50 लाख का होम लोन बीमा कवर करती है,  जिसमें स्वाथ्य बीमा भी शामिल है।
  • ICICI Prudential की दूसरी पॉलिसी लाइफ में 466 रुपये हर माह के प्रीमियम पर 50 लाख का होम लोन की सुविधा देती है।

जॉब इंश्योरेंस योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for a job insurance scheme

  • जॉब इंश्योरेंस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी उस बैंक में जाएं जहां पर Job Insurance की सुविधा उपलव्ध है।
  • अब आपको वैंक कर्मचारी को आव्श्यक दस्तावेज जमा करवाने हैं और जहां आप काम करते हैं, वहां का नौकरी न होने का प्रमाण पत्र भी देना होगा।
  • उसके बाद कर्मचारी इस योजना का फार्म भरेगा।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद जॉब इंश्योरेंस योजना का फार्म बैंक में जमा कर दिया जाएगा।
  • इस तरह फार्म भरवाने के बाद आपको इस योजना का लाभ मिल जाएगा।     

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!