Updated : Aug 12, 2020 in Yojana

किसान रेल योजना | रेल रूट/ ऑनलाइन बुकिंग | पंजीकरण प्रक्रिया | पूरी जानकारी

किसान रेल योजना 2020 | Kisan Rail Yojana 2020 | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | Complete Information | कैसे करें आवेदन

 

किसानों की सामग्री को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार दवारा वडी योजना को लागु किया गया है। जिसका नाम है – किसान रेल योजना । इसके माध्यम से किसानों की सामग्री को खराब होने से पहले ही मंडियो तक पहुंचाकर उन्हे आत्म-निर्भर वनाया जाएगा। इससे सामग्री को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने में आसानी होगी। इस योजना से किसानों को क्या लाभ पहुंचेगे और आवेदन कैसे किया जाएगा। इसके लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – किसान रेल योजना 2020 के वारे में।                     

किसान रेल योजना | Kisan Rail Yojana

भारत सरकार दवारा किसानों की दशा में सुधार कर और उनकी आय में वढोतरी करने के लिए सब्जी, फल या अन्य कृषि उत्पादों को खराब होने से पहले उनके गंतव्य स्थान अथवा मंडियों तक पहुंचाने के लिए किसान रेल योजना को शुरु किया गया है। जिसके तहत किसानों की सुविधा को देखते हुए भारतीय रेलवे द्वारा फल और सब्जियों के माल वाहन के लिए रेलगाडियों को चलाया जा रहा है। योजना के मुताविक सबसे पहले रेलगाड़ी महाराष्ट्र के देवलाली से होकर बिहार के दानापुर के बीच चलायी जाएगी। किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए 7 अगस्त को पहली ट्रैन चलाई गई है । यह ट्रेन सुबह 11 बजे महाराष्ट्र के देवलाली स्टेशन से रवाना होते हुए बिहार के दानापुर स्टेशन तक जाएगी। किसान रेल इन दो स्टेशनों के बीच लगभग 1519 किमी का सफर लगभग 32 घंटे में पूरा करेगी। ये विशेष ट्रेन 30 अगस्त तक हर शुक्रवार को देवलाली से दानापुर के लिए रवाना होगी और जिसे हर रविवार को दानापुर से देवलाली के लिए चलाया जाएगा। इससे ट्रेन से महाराट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार के किसानों को लाभ पहुंचेगा । ये योजना PPP (व्यक्तिगत निजी भागीदारी) के लिए काफी महत्वपूर्ण है, इससे शीत भंडारण के साथ-साथ किसान उपज के परिवहन की भी अच्छी व्यवस्था की जाएगी और किसान रेल द्वारा उत्पादों को सशक्त तक पहुंचाने का काम सुविधा जनक होगा।  योजना के माध्यम से किसान रेल को साप्ताहिक आधार पर चालू किया जाएगा। इस रेल के चलने से किसानों की राह आसान होगी और उनकी उपज नष्ट होने से बचेगी । इससे किसानों को आर्थिक लाभ पहुंचेगा और उनकी आय में भी सुधार होगा।

उद्देश्य | An Objective

किसान रेल योजना का मुख्य उद्देश्य किसान रेल के जरिए सब्जी, फल या अन्य कृषि उत्पादों को खराब होने से पहले किसानों के गंतव्य स्थान अथवा मंडियों तक पहुंचाना है।

पात्रता | Eligibility

  • देश के स्थायी निवासी
  • किसान वर्ग 

किसान रेल रूट मार्ग | Kisan Rail Route way

किसान रेल जिन मार्ग़ो से होकर गुजरेगी, उनके स्थान का विवरण इस प्रकार है-       

  1. देवलाली
  2. नासिक रोड
  3. मनमाड
  4. जलगाँव
  5. भुसावल
  6. बुरहानपुर
  7. खंडवा
  8. इटारसी
  9. जबलपुर
  10. सतना
  11. कटनी
  12. मानिकपुर
  13. प्रयागराज
  14. पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर
  15. बक्सर
  16. दानापुर

किसान रेल का प्रति टन किराया | Kisan Rail fare per ton

किसान रेल योजना 2020 का लाभ लेने के लिए किसान वर्ग को फल, सब्जियां, दूध आदि सभी वस्तुओ को अपने गंत्वय स्थान तक पहुंचाने के लिए प्रति टन के हिसाब से किराए का भुगतान करना होगा । किराया कितना होगा आइए जानते हैं  –

  • नासिक रोड / देवलाली से दानापुर 4001/- रुपये प्रति टन
  • मनमाड से दानापुर के लिए 3849/- रुपये प्रति टन
  • जलगाँव से दानापुर 3513/- रुपये प्रति टन
  • भुसावल से दानापुर 3459/- रुपए प्रति टन
  • बुरहानपुर से दानापुर 3323/- रुपए प्रति टन
  • खंडवा से दानापुर 3148/- रुपये प्रति टन

लाभ | Benefits

  • किसान रेल योजना का लाभ देश के किसान भाइयों को होगा।
  • योजना के जरिए अब सब्जी, फल या अन्य कृषि उत्पाद जैसी सामग्री खराब होने से पहले ही किसानों के गंत्व्य स्थान पर रेल के दवारा पहुंचाई जाएगी।
  • इस योजना से एक स्थान से दूसरे स्थान तक सामान को रेल के दवारा पहुंचाया जाएगा।
  • अब किसानों के उत्पाद जैसी सामग्री खराब नहीं होगी, दूसरा उनकी आर्थिक दशा में सुधार आएगा।  
  • किसानों और व्यापारियों को किसान रेल मार्ग पर पड़ने वाले सभी स्टॉपेज से लोडिंग, अनोदिंग की भी अनुमति प्रदान होगी ।
  • इससे समय की भी वचत होगी।         
  • किसानों की आय में वढोतरी होगी।    

विशेषताएं | Features

  • किसानों की सामग्री को खराब होने से पहले रेल के माध्यम से मंडियो तक पहुंचाना
  • सामान को लाने-जाने में आसानी
  • किसानों को आत्म-निर्भर वनाना
  • आर्थिक पक्ष को मजबूती प्रदान कर आय में सुधार करना                    

प्रमुख विन्दु | Key Point

  • किसान रेल के चलने से फल और सब्जी की उपज का 50% बचाया जा सकेगा।
  • किसान रेल के चलने से किसानों की राह आसान होगी और उनकी उपज नष्ट होने से बचेगी तथा उन्हें सही कीमत प्राप्त होगी।
  • सप्ताह में दो बार यह ट्रेन 64 घंटे में 33,38 किलोमीटर का सफर तय करेगी।
  • चार राज्यों से होकर गुजरने वाली ये स्पेशल ट्रेन बिहार, मध्य प्रदेश, यूपी और महाराष्ट्र तक जाएगी।
  • इस योजना के मुताविक कोल्ड स्टोरेज के साथ-साथ किसान उपज के परिवहन की भी अच्छी व्यवस्था होगी|
  • किसानों को योजना का लाभ पहुंचाने के लिए रेल किराया उनकी सुविधा के अनुसार रखा गया है।  

किसान रेल योजना 2020 ऑनलाइन बुकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया | Registration procedure for online booking of Kisan Rail Yojana 2020

  • किसान रेल योजना 2020 ऑनलाइन बुकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के लिए लाभार्थी को थोडा इंतजार करना होगा। जैसे ही योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरु होगी। तव लाभार्थी घर बैठे ही ऑनलाइन आवेदन कर योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • अधिक जानकारी लाभार्थी को दिए गए लिंक से प्राप्त हो जाएगी।       

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के माध्यम से सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।            

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!