जल-प्रदाय योजना | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश जल-प्रदाय योजना | Madhya Pradesh Water Supply Scheme

 

मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे दवारा 24 जनवरी 2020 को जल-प्रदाय योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत 22 गाँवों में ग्रामीणों को घर-घर नल से जल की सुविधा प्राप्त होगी। 21 करोड 85 लाख रुपये की लागत से इन गांवो में रहने वाले लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा। इस योजना की जल-प्रदाय क्षमता 2.5 एमएलडी होगी। जिससे राज्य में ग्रामीण पेयजल समस्या का शत-प्रतिशत समाधान सुनिश्चित होगा। इस योजना से ग्रामीणों को 10% जन-भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी और राज्य सरकार दवारा 90% आर्थिक सहयोग दिया जाएगा। अति कम जल वाले गाँवों में सिंगल फेज को दुरुस्त किया जायेगा, और जिन गाँवों में बोर खनन से जल-स्रोत नीचे चले गए हैं, वहाँ एक हजार फीट तक बोर खनन करवाया जाएगा, जिससे पानी की वढ रही समस्या को खत्म किया जाएगा। ताकि ग्रामीण लोगों को प्रयाप्त मात्रा में स्वच्छ पानी मिले।   

जल-प्रदाय योजना को शुरु करने की जरुरत क्यों पडी | Why there was a need to start water supply scheme

जनसंख्या वृद्धि, औधोगिकीकरण के कारण प्रत्येक व्यक्ति के लिये उपलब्ध पेयजल की मात्रा लगातार कम हो रही है, जहाँ एक ओर पानी की मांग लगातार बढ़ रही है वहीँ दूसरी ओर प्रदूषण और मिलावट के कारण उपयोग किये जाने वाले जल संसाधनों की गुणवत्ता भी तेजी से घटती जा रही है। साथ ही भूमिगत जल का स्तर तेजी से गिरता जा रहा है ऐसी सिथति में पानी की कमी की पूर्ति करने के लिये जल-प्रदाय योजना को शुरु किया गया है।

उद्देश्य | An Objective

जल-प्रदाय योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल की सुविधा को उपलब्ध करवाना है।

पात्रता | Eligibility

  • मध्य प्रदेश के स्थायी निवासी
  • ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की पहुंच न होना
  • लोगों को शुद्द पानी न मिलना ।

लाभ | Benefits

  • जल-प्रदाय योजना का लाभ मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को प्राप्त होगा।
  • इस योजना से राज्य में वढ रही पानी की समस्या से निजात मिलेगी।
  • ग्रामीणों को घर-घर नल से जल की सुविधा दी जाएगी।
  • राज्य के 22 गाँवों में ग्रामीणों को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।
  • इस योजना को सुचारु रुप से चलाने के लिए 21 करोड 85 लाख रुपये खर्च होगें।
  • इस योजना के लिए राज्य सरकार दवारा 90% आर्थिक सहयोग दिया जाएगा।
  • जहां पर जल-स्रोत नीचे चले गए हैं, वहाँ एक हजार फीट तक बोर खनन करवाए जाएगें।
  • लोगों को शुद्द जल उपलव्ध होगा।
  • बिमारी का खतरा कम होगा।
  • इस योजना से अब लोगों को पानी के लिए लंवी-लंवी लाइनों में नहीं लगना पडेगा।
  • इस योजना से पानी की अहमियत को समझा जाएगा।   

पानी की समस्या से कैसे वचें | How to avoid water problem

राज्य सरकार दवारा पानी की समस्या से निजात पाने के लिए जल-प्रदाय योजना को तो शुरु कर दिया गया है, लेकिन इसके लिए सव लोगों की भागीदारी होना जरुरी है। अगर हर व्यकित पानी की अहमियत को समझेगा तो कहीं भी पानी की समस्या नहीं होगी। हर व्यकित को पानी उपलव्ध होगा। कैसे करें इस समस्या का समाधान आइए जानते हैं –

  • पानी का उपयोग उतना करें, जितनी आपको जरुरत है।
  • सब्जियां-फल किसी बर्तन में धोएं
  • हैंड-पंप का प्रयोग करें
  • जो भी पानी बर्वाद करता है उसे रोकें
  • वृक्षा रोपण करें
  • जल आपूर्ति के पानी को अपना पानी समझे
  • जल जागरूकता अभियान में हिस्सा लें ।

निष्कर्ष | The conclusion

पानी-पानी करते हम सब ना करते पानी का सही उपयोग,
जीवन को है अगर सुखमय बनाना तो ना करे पानी का दुरुपयोग।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Last Updated on January 25, 2020 by Abinash