सघन इंद्रधनुश टीकाकरण योजना | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ

सघन इंद्रधनुश टीकाकरण योजना | Intensive Inderdhanush Vaccination Scheme

 

मध्य प्रदेश सघन इंद्रधनुश टीकाकरण योजना को दिंसवर 2019 से शुरु किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान चार चरणों में आयोजित होगा। जिसमें प्रथम चरण 2 से 12 दिसंबर तक, द्वितीय चरण 6 से 16 जनवरी तक चलेगा। तृतीय चरण 3 से 13 फरवरी तक और चतुर्थ चरण 2 से 12 मार्च तक चलेगा। इस योजना में 5 वर्ष तक आयु के सभी बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को हेड काउंट सर्वे उपरांत चिन्हित कर पूर्ण टीकाकृत किया जाएगा। 2 वर्ष तक के बच्चों एवं गर्भवती माताएं जिन्हें टीकाकरण कार्यक्रम अंतर्गत टीकाकृत नहीं किया गया था अथवा वे छूट गये थे उन्हें भी इस अभियान के दायरे में लाया जाएगा। अभियान का प्रचार-प्रसार ग्राम स्तर तक आशा कार्यकर्ता के माध्यम से नारे लेखन, रैली, जनप्रतिनिधि की बैठक, ग्रुप बैठक, महिला बैठकों के द्वारा आम जन को सूचित कर किया जाएगा । जिले के शहरी क्षेत्र में 34 सत्र एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 748 सत्र लगाकर गर्भवती माताओं को इस अभियान से जोडा जाएगा। प्रदेश के 52 जिलों में इस अभियान को चलाया गया है।

उद्देश्य | An Objective

राष्ट्रीय सघन मिशन इंद्रधनुष योजना का मुख्य उद्देश्य टीकाकरण से वंचित एवं पूर्ण टीकाकरण से छूटे बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को चिह्नित कर उन्हे इस योजना का लाभ देना है।

महत्वपूर्ण डाउनलोड | Important Download

पात्रता | Eligibility

  • मध्य प्रदेश के स्थायी निवासी
  • 5 वर्ष तक आयु के बच्चे तथा गर्भवती महिलाएं
  • टीकाकरण कार्यक्रम अंतर्गत जो छूट गए थे (गर्भवती महिलाएं एवं वच्चे‌)
  • आशा कार्यकर्ताओं दवारा अभियान का प्रचार

लाभ | Benefits

  • राष्टीय सघन मिशन इंद्रधनुष योजना मध्य प्रदेश के लोगों के लिए शुरु की गई है।
  • इस योजना का लाभ गर्भवती महिलाओं और 5 वर्ष तक आयु के वच्चों जो मिलेगा।
  • इस योजना के तहत प्रदेश में टीकाकरण की सुविधा उपलव्ध होगी।
  • जो गर्भवती महिलाएं और वच्चे इस योजना से वंचित रह गए थे, उन्हे भी इस योजना में शामिल कर लाभ मिलेगा।
  • इसा योजना के लिए आशा कार्यकर्ता दवारा घर-घर जाकर इस योजना के वारे में अवगत करवाया जाएगा।
  • इस योजना के तहत महिलाओं और वच्चों के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा जाएगा।
  • इस योजना के लिए तीन स्तरीय कंट्रोल रुम स्थापित किए जाएगें।
  • जिला ब्लॉक एवं सेक्टर पर एक-एक कम्प्यूटर आपरेटर तथा एक स्वास्थ्य विभाग का कर्मचारी रहेगा।
  • इस योजना के तहत स्वास्थ्य केंद्रो पर सभी टीके मुफ्त उपलव्ध होगें।
  • सभी को 7 टीके लगाए जाएंगे। गर्भवती महिलाओं को टीटी-1, 2 और टीटी-बी और बच्चों को पोलियो, खसरा, डिप्थीरिया, रूबेला, टिटनेस, काली खांसी और टीबी से बचाने के टीके लगाए जाएंगे।
  • इस योजना के लिए 10-10 दिन अभियान के तहत टीकाकरण किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत कोई भी बच्चा और गर्भवती महिलाएं टीकाकरण अभियान से वंचित नहीं होगा।      
  • इस योजना के लिए अभियान चार चरणों में आयोजित होगा, जो 2 दिसंवर से लेकर 12 मार्च तक चलेगा।

प्रमुख विशेषताएं | Major features

  • बिमारियों से वचाना
  • शिविर और अभियान के माध्यम से
  • समय-समय पर होगी स्वास्थ्य जांच
  • घर-घर जाकर लोगों को जागरुक करना
  • आंगनवाडी कार्यकर्ताओं दवारा रिकार्ड जारी करना
  • गर्भवती महिलाओं और वच्चों को टीकाकरण की सुविधा देना
  • स्वास्थ्य केंद्रो पर सभी टीके मुफ्त उपलव्ध होगें।

सघन इंद्रधनुश टीकाकरण योजना के लिए आवेदन कैसे करें | How to apply for Intensive Inderdhanush Vaccination Scheme

  • राष्ट्रीय सघन मिशन इंद्रधनुष योजना के लिए प्रदेश में शिविर और अभियान चलाए जाएगें।
  • आंगनवाडी कार्यकर्ता घर-घर जाकर इस अभियान को लोगों तक पहुंचाएगी।
  • हर घर का रिकार्ड जारी किया जाएगा।
  • जहां पे गर्भवती महिलाएं और में 5 वर्ष तक आयु के वच्चे होगें उन्हें टीकाकृत किया जाएगा।
  • समय-समय टीकाकृत होने से महिलाओं और वच्चों के स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाएगा।
  • गर्भवती महिलाओं को टीटी-1, 2 और टीटी-बी और बच्चों को पोलियो, खसरा, डिप्थीरिया, रूबेला, टिटनेस, काली खांसी और टीबी से बचाने के टीके लगेगें। ताकि भविष्य में उन्हे इन बिमारियों का शिकार न होना पडे।
  • यह अभियान चार चरणों में आयोजित होगा। जो 2 दिसंवर से 12 मार्च तक चलेगा।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। अगर आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!