मुख्यमंत्री शोध प्रोत्साहन योजना 2022 | आवेदन प्रोसेस | पात्रता व विशेषताऐं

 

|| Himachal Pradesh Shodh Protsahan Yojana | HP शोध प्रोत्साहन योजना | Shodh Protsahan Yojana Registration Process || हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा शोधार्थी युवाओं के कल्याण के लिए शोध प्रोत्साहन योजना को लागु किया गया है| इस योजना के माध्यम से प्रदेश मे शोध करने वाले छात्रों को सरकार दवारा आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी और विभिन्न क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शोध के लिए युवाओं को प्रेरित किया जा सकेगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – मुख्यमंत्री शोध प्रोत्साहन योजना  के वारे मे |

Shodh Protsahan Yojana

Mukhyamantri Shodh Protsahan Yojana

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी की अध्यक्षता मे शोध को बढ़ावा देने लिए शोध प्रोत्साहन योजना को शुरू किया गया है| इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के शोधार्थी युवाओं को पंजीकरण की तारीख से 3 सालों तक हर महीने 3000/- रूपए (हर साल ₹36000 ) की प्रोत्साहन राशि के रूप में फेलोशिप प्रदान की जाएगी। इससे प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शोध कार्य मे लगे युवाओं को उनके प्रयास व शोध कार्य हेतु प्रोत्साहित करने मे मदद मिलेगी। यह योजना राज्य में शोध छात्रों को शोध करते समय आने वाली आर्थिक विपदा से बचाएगी| जिससे शोधार्थी चिंता मुक्त होकर शोध कार्य पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकेंगे । आपको वता दे इस योजना के जरिए लगभग 1200 से भी अधिक शोधार्थियों को फेलोशिप प्रदान की जाएगी और योजना मे होने वाला सारा खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश BC सखी योजना

योजना का अवलोकन

योजना का नाम शोध प्रोत्साहन योजना
किसके दवारा शुरू की गई हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के शोध करने वाले छात्र
प्रदान की जाने वाली सहायता गुणवत्तापूर्ण शोध के लिए युवाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करना
सहायता राशि 3000/- रूपए प्रतिमाह (36000/- साल) के हिसाब से 3 वर्षों तक
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन व ऑफ़लाइन

प्रमुख बिन्दु

  • मुख्यमंत्रीजी ने अपने बजट भाषण के दौरान इस योजना को शुरू करने की मंजूरी दी थी| जिसमे उन्होंने कहा था कि – इस योजना से प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला, सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी, उद्योन एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी, कृषि विश्वविद्यालय‌ पालमपुर सहित लगभग 1200 से भी अधिक शोधार्थियों को इसका लाभ मिलेगा। 
  • योजना के तहत लगभग 680 योग्य शोध छात्रों की सूची राज्य सरकार को अनुमोदन के लिए भेज भी ‌दी गई है। 
  • राज्य सरकार इस योजना के तहत पंजीकृत होने वाले सभी शोध छात्रों के पंजीकरण तिथि से 3 साल तक प्रदान की जाने वाली 3000/- रूपए की फेलोशिप का खर्चा खुद उठाएगी।

Shodh Protsahan

 

शोध प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य शोध करने वाले छात्रों को राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शोध करने एवं नवाचार करते रहने के लिए प्रोत्साहित करना है और इन छात्रों को इस कार्य के लिए पंजीकरण तिथि से लेकर 3 सालों तक फेलोशिप प्रदान करना है। यह फेलोशिप पात्र लाभार्थीयों को 3000/- रुपए प्रतिमाह एवं ₹36000 वार्षिक प्रदान की जाएगी।

हिमाचल प्रदेश पर्वत धारा योजना 

HP शोध प्रोत्साहन योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को हिमाचल प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • लाभार्थी शोध छात्र होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • मोबाइल नम्वर

हिमाचल शोध प्रोत्साहन योजना के लाभ

  • शोध प्रोत्साहन योजना का लाभ हिमाचल प्रदेश के शोध छात्रो को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के जरिए शोधार्थियों को पंजीकरण की तिथि से अगले 3 सालों तक आर्थिक लाभ प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के लिए पंजीकृत शोधार्थियों को वार्षिक ₹36000 यानी 3000 /- रूपए प्रतिमाह की आर्थिक सहायता फेलोशिप के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला, सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी, उद्योन एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी, कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर सहित लगभग 1200 से भी अधिक शोधार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे|
  • राज्य के 680 पात्र शोधार्थियों को लाभ देने के लिए उनकी सूची सरकार को भेज दी गई है, उसके बाद इस सूची की जांच की जाएगी| फिर योजना के अंतर्गत मिलने वाला लाभ पात्र लाभार्थी को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना से प्रोत्साहित होकर छात्रों में शोध के प्रति अभिरुचि एवं नए-नए नवाचार उत्पन्न होंगे।

हिमाचल प्रदेश स्वावलंबन योजना

योजना की मुख्य विशेषताऐं

  • शोध को बढ़ावा देना
  • विभिन्न क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शोध के लिए युवाओं को प्रेरित करना
  • क्षेत्र की समस्या को समझना और उनके हल के लिए उपाय खोजना
  • पात्र लाभार्थीयों को सरकार दवारा इस कार्य के लिए आर्थिक मदद प्रदान करना
  • इस योजना से लाभार्थी आत्म-निर्भर व सशकत वनेगे|

हिमाचल प्रदेश शोध प्रोत्साहन योजना के लिए कैसे करे आवेदन

जो लाभार्थी योजना के अंतर्गत ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे थोड़ा इंतजार करना होगा| अभी योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है| जैसे ही योजना के सवन्ध मे आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी, तो हम आपको तुरंत सूचित कर देंगे|  

शा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on October 30, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!