Dec 22, 2020 Yojana

[COVID-19] शिशु मुद्रा लोन योजना | udyamimitra.in | कैसे करें आवेदन | पूरी जानकारी

प्रधानमंत्री शिशु मुद्रा लोन योजना | Shishu Mudra Loan Scheme | उद्देश्य \ लाभ \ पात्रता \ दस्तावेज | How to apply for Shishu Mudra Loan Scheme

 

कोरोना वायरस/ लॉकडाउन के चलते भारत सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपये का एक राहत पैकेज घोषित किया है, जिसमें कोरोना संकट के बीच छोटे कारोबारियों को प्रोत्साहन देने के लिए शिशु मुद्रा लोन योजना को शुरु किया गया है। इस योजना से संकटकाल के समय में इन कारोबारियों की आर्थिक दशा में सुधार होगा। क्या है ये योजना आइए जानते हैं।

शिशु मुद्रा लोन योजना | Shishu Mudra Loan Scheme

 

वित्त मंत्री सीतारमण दवारा छोटे स्तर के व्यापारियों को राहत देने के लिए शिशु मुद्रा लोन योजना को शुरु करने की घोषणा की है। इस योजना के तहत छोटे व्यापारियों को लोन दिया जाएगा। जिसमें लाभार्थी 50,000 रुपये तक कर्ज लेकर अपना काम-काज शुरु कर सकते हैं। इसके अलावा उन्हें 02 फीसदी की छूट भी मिलेगी। उनमें से 03 करोड़ लोग 12 महीने तक ब्याज दर का फायदा ले सकते हैं। ये लोन कोई भी व्यक्ति दुकान खोलने, रेहड़ी-पटरी पर कारोबार करने जैसे छोटे काम के लिए बैंक से ले सकता है। इस योजना के लिए 1500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। ये धनराशी मोदी सरकार दवारा वहन की जाएगी। मुद्रा शिशु लोन के तहत 1.62 लाख करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज दिया गया है। जिसमें वडे कारोबारियों को फिलहाल कोई मदद नहीं मिलेगी। मुद्रा योजना के तहत सरकार 03 चरणों में लोन दे रही है। शिशु लोन, किशोर लोन और तरुण लोन। शिशु लोन के जरिए 50,000 रुपये की राशी लोन के तौर पर मिलती है, जव्कि किशोर लोन के तहत 50,000 से 05 लाख तक की राशी लोन के दवारा मिलती है और तरुण लोन के दवारा 5 लाख से 10 लाख तक का लोन मिलता है। लोन के जरिए मिलने वाली इस राशी से लाभार्थी अपना बिजनेस शुरु कर आर्थिक सिथति को मजबूत कर सकते हैं।

कहां से मिलेगा शिशु मुद्रा लोन | Where to get Shishu Mudra loan

Commercial Banks, RRBs, Small Finance Banks, MFIs and NBFCs आदि बैकों से लाभार्थीयों को शिशु मुद्रा लोन मिलेगा। जहां पर बिना गारंटी के साथ आसानी से लोन दिया जाता है।

द्देश्य | An Objective

शिशु मुद्रा लोन योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे कारोबारियों को लोन उपलव्ध करवाना है, ताकि वह खुद का विजनेस शुरु कर सकें।

पात्रता | Eligibility

  • दुकान खोलने,
  • रेहड़ी-पटरी वाले
  • छोटा-मोटा काम काजकरने वाले
  • छोटे व्यापारी

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक स्टेटमेंट /पासबुक
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • रजिस्टड मोवाइल नम्वर

लाभ | Benefits

  • शिशु मुद्रा लोन योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी देश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • दुकान खोलने, रेहड़ी-पटरी पर कारोबार करने या छोटे काम काज करने वाले लाभार्थी इस योजना का लाभ लेगें।
  • इस योजना के जरिए छोटे कारोबारियों को 50000 रुपये तक का लोन मिलेगा।
  • लोन के तोर पर मिलने वाली धनराशी लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
  • इस योजना से लाभार्थीयों का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • बिना गांरटी के साथ लाभार्थीयों को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • लोन के दवारा लाभार्थी खुद का व्यापार कर सकता है।
  • लाभार्थीयों को 02 फीसदी की छूट भी मिलेगी।
  • इस योजना के जरिए लाभार्थी 02 साल तक ब्याज दर का फायदा ले सकते हैं।
  • इस योजना को चलाने के लिए सरकार दवारा 1500 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
  • इस योजना से लाभार्थीयों को 1.62 लाख करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज दिया गया है।

शिशु मुद्रा लोन योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Shishu Mudra Loan Scheme

  • शिशु मुद्रा लोन योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी अधिकारिक वेव्साइट पे जांए।
  • अब आपको शिशु मुद्रा लोन योजना लिंक की खोज करनी है।
  • उसके बाद आपको दिए गए लिंक पर किल्क कर इस योजना का आवेदन फार्म भरना है।
  • आपको इसमें दी गई सारी जानकारी भरने के वाद दिए गए दस्तावेज अपलोड करने हैं।
  • सारी प्रकिया होने के वाद आपको सवमिट बटन पे किल्क कर देना है।
  • यहां किल्क करते ही आपके दवारा इस योजना के लिए आवेदन कर दिया जाएगा।
  • उसके बाद आपके खाते में लोन की राशी ट्रांसफर कर दी जाएगी, और आपको इस योजना का लाभ मिल जाएगा।
  • अगर लाभार्थी को फार्म भरने में कोई दिक्क्त आ रही है तो वह Commercial Banks, RRBs, Small Finance Banks, MFIs and NBFCs आदि बैकों में जाकर इस योजना का लाभ ले सकता है।    

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!