इंदिरा रसोई योजना | मात्र 08 रुपये में मिलेगा भरपेट खाना | आवेदन प्रक्रिया | पात्रता

 

|| राजस्थान इंदिरा रसोई योजना | Indira Rasoi Yojana | इंदिरा रसोई स्कीम | How to get the benefit of the scheme  || गरीब वर्ग के लोगों को समय पर खाना उपलव्ध करवाने के लिए राजस्थान सरकार ने इंदिरा रसोई योजना को लागु किया है। इस योजना से लोगों भरपेट खाना कम कीमत पर उपलव्ध होगा। क्या है ये योजना और कैसे मिलेगा योजना का लाभ आइए जानते हैं।         

                                Indira Rasoi

Rajasthan Indira Rasoi Yojana

कोरोना वायरस के वढते प्रकोप से गरीब लोगों को खाना प्रयाप्त मात्रा में नहीं मिल रहा है। ऐसी परिस्थति में गरीव वर्ग के लोगों के पास न तो रोजगार है और न ही कोई आय का दूसरा साधन्। जिससे परिवार को काफी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। उनकी इस परेशानी को दूर करने के लिए राजस्थान सरकार ने गरीव लोगों को भरपेट खाना उपलव्ध करवाने के लिए 100 करोड रुपये की लागत से राज्य में इंदिरा रसोई योजना को शुरु करने की मंजूरी दी है।

योजना के अनुसार राज्य के 213 नगर निकाय क्षेत्रों में 358 इन्दिरा रसोई संचालित होंगी। जिसमें प्रतिदिन 1.34 लाख व्यक्ति तथा प्रति वर्ष 4.87 करोड़ लोगों को लाभान्वित किया जाएगा। 20 अगस्त से प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों में इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत CM दवारा कर दी गई है। 

योजना के तहत जरुरतमंद और गरीव लोगों को दो वक्त का खाना और नाश्ता उपलव्ध करवाया जाएगा। जिसमें लाभार्थीयों को स्थायी रसोई में खाना परोसा जाएगा, जहां खाना खाने की भी व्यवस्था की गई है। योजना के जरिए नगर पालिका क्षेत्र में 02, नगर परिषद क्षेत्र में 05 और नगर निगम क्षेत्रों 08 रसोई घर की स्थापना की गई है, जहां एक साथ कई लोग भोजन कर सकेगें । योजना के संचालन में स्थानीय गैर सरकारी संगठनों की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी एवं सूचना प्रौद्योगिकी की सहायता से प्रभावी तरीके से निगरानी होगी, ताकि योजना को सुचारु रुप से चलाया जा सके। योजना के जरिए जरूरतमंद लोगों को शुद्ध पौष्टिक भोजन रियायती दर से उपलब्ध कराया जाएगा, और इसकी कीमत भी कम रखी गई है, जिसमें मात्र 8 रुपये में लाभार्थीयों को शुद्ध पौष्टिक भोजन दिया जाएगा। ताकि राज्य में कोरोना बिमारी से कोई भी गरीब भुखा नहीं रहे। 

क्यों शुरु की गई इंदिरा रसोई योजना

COVID-19 के चलते गरीव लोगों के जीवन स्तर को वेहतर वनाने और उन्हें तीन वक्त का पोषिटक खाना उपलव्ध करवाने के लिए इंदिरा रसोई योजना को शुरु किया गया है। ताकि कोरोना संकट काल के दौरान किसी गरीव की खाने को लेकर मौत न हो। अधिकतर मौते राज्य में कोरोना से तो हो ही रही हैं, पर खाना न मिलने से भी कई मौते हुई हैं। इस योजना से मरत्यु दर में भी कमी आएगी और लोगों को 3 वक्त का भोजन समय पर मिलेगा।                     

योजना का अवलोकन

योजना का नाम इंदिरा रसोई योजना
किसके दवारा शुरू की गई राजस्थान सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के गरीब लोग
प्रदान की जाने वाली सहायता स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन मुहैया करवाना 
भोजन की प्रति थाली मात्र 08 रूपए
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट

indirarasoi.rajasthan.gov.in

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना बजट 2022-23

योजना के जरिए 2022-23 के बजट मे घोषणा की गई है, कि हर साल इस योजना के लिए 250 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रावधान है। जिसके तहत अनुदान के लिए 50% राशि नगर निकायों को देय राज्य वित्त आयोग अनुदान और बची 50% प्रथमतया मुख्यमंत्री सहायता कोष से या आवश्यकता होने पर अन्य मदों से पूरी की जाएगी| सरकार द्वारा हर रसोई को आधारभूत संरचना के लिए 5 लाख रुपए और हर रसोई के आवर्ती संरचना के लिए 3 लाख रुपए हर साल प्रदान किए जाएंगे। राज्य में जो रसोईया अच्छा काम करेगी, उन्हें जिला संभाग, राज्य स्तर पर 15 अगस्त और 26 जनवरी पर 15 लाख से भी अधिक राशि के नगद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र के रुप मे सम्मानित किया जाएगा|

Indira Rasoi Yojana

प्रमुख बिन्दु 

  • इंदिरा रसोई योजना के जरिए 01 समय के लिए प्रति थाली पर 25 रुएपे का खर्च आता है जिसके लिए लाभार्थी को एक वक्त की थाली के लिए मात्र 8 रूपए ही देने होते हैं, और इसके लिए राज्य सरकार द्वारा प्रति थाली के लिए 17 रूपए का भुगतान किया जाता है।
  • आपको वता दें कि इससे पहले इस योजना के के लिए प्रति थाली पर 20 रूपए खर्च किए जाते थे जिसमें लाभार्थी दवारा 8 रुपए और 12 रूपए राज्य सरकार द्वारा दिए जाते थे।
  • इस योजना के तहत इंदिरा रसोइयों का संचालन NGO द्वारा किया जाता है और राज्य में जिला स्तर पर योजना की जिम्मेदारी जिला कलेक्टर को दी गई है।
  • जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय समन्वय और मॉनिटरिंग समिति द्वारा रसोई चलाने के लिए NGO का चयन करेगी|
  • इस योजना का सारा काम पेपर लेस किया जाएगा। जिसके लिए इंदिरा रसोई वेब पोर्टल को विकसित होगा|
  • नगर निकायों द्वारा भोजन की गुणवत्ता पर निगरानी रखने के लिए हर महीने कम से कम 2 बार इंदिरा रसोइयों का निरीक्षण करेंगे और निरीक्षण रिपोर्ट मोबाइल ऐप के माध्यम से प्रेषित की जाएगी|
  • राजस्थान संपर्क पोर्टल के माध्यम से योजना के पात्र लाभार्थियों से दूरभाषा पर निरंतर फीडबैक भी ली जाएगी|
  • इस योजना पर हर वर्ष 100 रुपए खर्च किए जाते थे। लेकिन अब आने वाले समय में ओर नई रसोइयों का संचालन किया गया है, जिसके लिए 2022-23 के बजट में रसोई योजना के लिए 250 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है|

योजना के जरिए मात्र 8 रूपए में मिलेगा भोजन 

राज्य के गरीब जरूरतमंद लोगों को राजस्थान इंदिरा रसोई योजना के माध्यम से 02 समय दोपहर और रात का भोजन खिलवाया जाएगा। जिसमे से एक समय के भोजन के‌ लिए लाभार्थी को मात्र 8 रूपए का ही भुगतान करना होगा। दोपहर का भोजन सुबह 8:30 बजे से दोपहर 1 बजे तक और रात का भोजन शाम 5:00 बजे से 8:00 बजे तक उपलब्ध होगा। भोजन की थाली में 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 250 ग्राम चपाती और आचार दिया जाएगा|

योजना के लिए पेपरलेस ‌काम किया जाएगा 

राजस्थान सरकार द्वारा इंदिरा रसोई योजना के तहत पेपर लेस काम किया जाएगा। जिसके लिए इंदिरा रसोई वेब पोर्टल को विकसित होगा। इस वेबसाइट पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके लाभार्थियों के वास्तविक फोटो को अपलोड किया जाएगा। इसके साथ ही लाभार्थियों के मोबाइल पर मैसेज और स्टेट कॉल सेंटर से लाभार्थियों से फीडबैक भी ली जाएगी। रसोई एजेंसी द्वारा आधार ऑथेंटिकेशन की प्रक्रिया से ऑनलाइन इनवॉइस जनरेशन और ऑनलाइन भुगतान की व्यवस्था की जाएगी। सरकार ने नगर निकायों द्वारा भोजन की गुणवत्ता पर निगरानी रखने के लिए हर महीने कम से कम 2 बार इंदिरा रसोइयों का निरीक्षण करने के लिए निरीक्षण रिपोर्ट मोबाइल ऐप के माध्यम से ऑनलाइन प्रेषित की जाएगी। जिसके लिए आईटी आधारित प्रक्रिया की मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस विभाग के दवारा भी प्रशंसा की गई है।

उद्देश्य 

इंदिरा रसोई योजना का मुख्य उद्देश्य गरीव और जरुरतमंद लोगों को भरपेट खाना उपलव्ध करवाना है, ताकि राज्य में कोरोना काल के दौरान उत्पन्न हो रही भुखमरी जैसी समस्या को दूर किया जा सके।

पात्रता 

  • राजस्थान राज्य के स्थायी निवासी
  • गरीब और जरुरतमंद लोग
  • कोरोना काल के दौरान बेरोजगार हुए लोग जिन्हें समय पर भोजन नहीं मिल रहा।

लाभ 

  • इंदिरा रसोई योजना का लाभ राजस्थान के गरीब लोगों को मिलेगा।
  • योजना के जरिए राज्य के सभी गरीब और जरुरतमंद लोगो को भरपेट खाना मिलेगा।
  • प्रदेश के सभी 213 नगरीय निकायों में 358 रसोइयों का संचालन किया जाएगा।
  • लोगों को शुद्ध पौष्टिक भोजन रियायती दर से उपलब्ध कराया जाएगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए मात्र 8 रुपये में जरुरतमंदो को पौष्टिक और भरपेट भोजन मिलेगा।
  • योजना के माध्यम से लोगों को दो वक्त का खाना और नाश्ता उपलव्ध होगा।
  • लोगों को योजना का लाभ उपलव्ध करवाने के लिए नगर पालिका क्षेत्र में 02, नगर परिषद क्षेत्र में 05 और नगर निगम क्षेत्रों 08 रसोई घर की स्थापना की गई है, जहां पर भारी संख्या में लोग भोजन कर सकते हैं ।
  • योजना की आईटी आधारित मॉनिटरिंग की जाएगी. लाभार्थी को कूपन लेते ही मोबाइल पर एसएमएस से सूचना मिल जाएगी।
  • मोबाइल एप और CCTV से रसइयों की निगरानी की जाएगी|
  • भोजन के उपरांत भुगतान राशी को काफी कम रखा गया है, ताकि ज्यादा से ज्यादा लाभार्थी योजना का लाभ ले सकें।      
  • योजना के लिए राजस्थान सरकार ने 100 करोड रुपये खर्च किए हैं। 
  • योजना के जरिए हर साल 4 करोड़ 87 लाख लोगों को भोजन उपलव्ध होगा।
  • रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, अस्पताल, चौखटी जैसे स्थानों पर रसोइयां खोली जाएंगी जहां लोगों की अधिक उपस्थिति रहती है. भोजन में प्रति थाली 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 250 ग्राम चपाती और अचार का मेन्यू निर्धारित होगा।
  • योजना के माध्यम से कोई भी लाभार्थी भुखा नहीं सोएगा।               

विशेषताएं 

  • गरीब और जरुरतमंद लोगों को मिलेगा 03 वक्त का पोष्टिक खाना
  • लाभार्थीयों को भोजन न मिलने की परेशानी दूर होगी
  • जीवन स्तर में सुधार होगा
  • भोजन के मुल्य को कम रखा गया है।
  • राज्य में भुखमरी जैसी समस्या खत्म होगी।             

इंदिरा रसोई योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया 

  • पात्र लाभार्थी को अपने क्षेत्र मे वहाँ पे जाना होगा, जहाँ पे रसोइयों का संचालन किया गया है|
  • यहाँ पे आने के बाद लाभार्थीयों को योजना के अंतर्गत 8 रूपए मे खाना प्रदान किया जाएगा|
  • इस तरह लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे|

योजना के संवध में पूछे जाने वाले सवाल | Questions asked about the scheme

Q.1 इंदिरा रसोई योजना का लाभ किसे मिलेगा?

Ans. गरीब और जरुरतमंद लोगों को मिलेगा योजना का लाभ 

Q.2 किस राज्य में इंदिरा रसोई योजना को शुरु किया गया है?

Ans. राजस्थान में  

Q.3 लोगों को कितने वक्त का खाना मिलेगा?

Ans. लाभार्थीयों को योजना के जरिए दो वक्त का खाना और नाश्ता उपलव्ध होगा।        

Q.4. इंदिरा रसोई योजना के लिए सरकार ने कितनी धन राशी खर्च की है?

Ans. 100 करोड रुपये    

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।       

Last Updated on September 19, 2022 by Abinash

Leave a Comment

error: Content is protected !!