scheme

Apr 11, 2021 Yojana

निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म | पात्रता | पूरी जानकारी `

|| राजस्थान फ्री ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना |  Nishulk Tractor evam krishi yantra yojana | मुख्यमंत्री निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना | Rajasthan Nishulk Tractor evam krishi yantra Scheme | निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना पात्रता | Apply Online | Helpline Number ||

राजस्थान राज्य के किसानो की सिथति मे सुधार करने और उन्हे सशक्त वनाने के लिए निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना को लागु किया गया है। जिसके माध्यम से किसानो को राज्य सरकार दवारा खेती करने के लिए फ्री मे उपकरण दिए जाएगें। कैसे मिलेगा योजना का लाभ और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना के वारे मे।

logo

निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना | Nishulk Tractor evam krishi yantra yojana

राजस्थान सरकार दवारा राज्य के किसानो के हितो का ध्यान रखने और उन्हे आत्म-निर्भर वनाने के लिए निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना को शुरु किया गया है। जिसके जरिए राज्य के जरूरतमंद छोटे कर सीमांत किसानो को अपने खेतो में फसल कटाई, थ्रेसिंग एवं अन्य कृषि गतिविधियों के लिए निशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र किराये पर उपलब्ध कराए जाएगें। लाभार्थीयो को योजना का लाभ देने के लिए अब तक करीब 4000 किसानों को 8 हजार घंटे से अधिक की सेवा दी गई है | जिसके लिए राजस्थान के जरूरतमंद पात्र किसानों की ओर से मांग आने पर कम्पनी के रजिस्टर्ड ट्रेक्टर एवं थ्रेसर के माध्यम से सेवा दी जाती है। अभी तक करीब 10000 किसानों ने योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए इस सुविधा की मांग की है, जिसमे ऑर्डर मिल चुके किसानों को निरन्तर सेवा उपलब्ध करवाई जा रही है | इस योजना से किसानो को खेती करने मे आसानी होगी, और उनकी आर्थिक दिक्कतो को दूर करने मे भी मदद मिलेगी। योजना का लाभ लाभार्थीयो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके प्राप्त होगा।

योजना को क्यों शुरु किया गया | Why was the Scheme launched

जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि देश मे एक वार फिर से कोरोना महामारी पनपनी शुरु हो गई है। अब अधिकारिक जानकारी निकल कर ये आ रही है, कि अगर कोरोना के मामलो ने दुवारा से तेजी पकडी, और लोग इस बिमारी को अनदेखा करते रहे तो एक बार फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है। लॉकडाउन लगने से कोई भी व्यकित विना किसी उद्देश्य से घर से वाहर नहीं निकल सकता। अगर ऐसा हुआ तो इसका सवसे बुरा असर किसान वर्ग को पहुंचेगा। अगर किसान खेतो मे नहीं जाएगा, तो ह्मे खाने के लिए उपलव्ध सामान नहीं मिलेगा। इस समस्या का हल निकालने के लिए राजस्थान सरकार दवारा निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना को शुरु किया गया है। ताकि राज्य मे आर्थिक रूप से कमजोर लघु एवं सीमांत किसानों को आर्थिक परेशानियो का सामना न करना पडे। योजना के जरिए लाभार्थी किसानो को फसली कार्यो के लिए उपकरण किराए पर उपलब्ध कराए जाएगें | जिससे उनकी कृषि और आय में वृद्धि करके राज्य के किसानो की परेशानी को कम किया जाएगा|  

उद्देश्य | An Objective

योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो को निशुल्क टेक्टर और कृषि यंत्र किराए पर उपलब्ध कराना है, ताकि उन्हे उपकरण खरीदने के लिए आर्थिक दिक्कतो का सामना न करना पडे।

पात्रता | Eligibility

  • राजस्थान राज्य के स्थायी निवासी
  • आर्थिक रूप से कमज़ोर छोटे और सीमांत किसान
  • वे किसान पात्र होगें जिनके पास खेती करने योग्य भूमि होगी।

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

665

लाभ | Benefits

  • योजना का लाभ राजस्थान राज्य के किसान वर्ग को प्राप्त होगा।
  • योजना के जरिए राजस्थान राज्य के आर्थिक रूप से कमज़ोर छोटे और सीमांत किसानो को कोरोना महामारी/ लॉक डाउन की वजह से कृषि कार्य करने में दिक्क्त आ रही थी, उन लाभार्थीयो को फसल कटाई, थ्रेसिंग एवं अन्य कृषि गतिविधियों के लिए निशुल्क उपकरण राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराये जायेगे |
  • राज्य के किसानो को सरकार दवारा निशुल्क सेवा मिलने से खेती मे आ रही अडचनो को कम करने मे मदद मिलेगी।
  • इस योजना से किसानो पर अतिरिक्त धन का बोझ नहीं पडेगा।
  • योजना का लाभ लाभार्थीयो को ऑनलाइन आवेदन करके प्राप्त होगा।
  • इस योजना से अब तक राज्य के 4000 किसानों को 8 हजार घंटे से अधिक की सेवा दी जा चुकी है |

विशेषताएं | Features

  • राज्य के किसानो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • राज्य सरकार दवारा किसानो के हितो का ध्यान रखने के लिए उन्हे निशुल्क खेती करने के लिए उपकरण उपलव्ध करवाना  
  • किसानो की खेती से संवधित दिक्कतो का समाधान करना
  • किसानो की आय मे सुधार करना
  • राज्य मे उनकी सिथति को वेहतर वनाना

महत्वपूर्ण जानकारी एवं शर्ते | Important information and conditions

  • समस्‍त श्रेणी के कृषकों को लाभान्वित किया जाएगा।
  • अनुसूचित जाति/जनजाति, महिलाओं, बी.पी.एल., सीमान्‍त, लघु एवं अर्धमध्‍यम कृषकों को प्राथमिकता दी जायेगी।
  • ‘’पहले आओ पहले पाओ’’ के आधार पर वरीयता निर्धारित कर पात्र कृषकों को अनुदान दिया जायेगा।
  • कृषकों की श्रेणी के अनुसार 40 से 50% तक अनुदान प्राप्त होगा।
  • एक कृषक को एक वित्‍तीय वर्ष में समस्‍त योजनाओं में अलग प्रकार के अधिकतम 3 कृषि यंत्रों पर अनुदान दिया जाएगा।
  • कृषकों को चिन्हित करके कृषि यंत्रों पर भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप निर्धारित सीमा तक अनुदान देय होगा।
  • कृषक किसी भी श्रेणी का यंत्र सम्‍बन्धित जिले के कृषि कार्यालय में ई-मित्र के माध्‍यम से ऑनलाईन आवेदन करने के पश्‍चात् जारी प्रशासनिक स्‍वीकृति के 45 दिवस के भीतर अधिकृत/पंजीकृत क्रय-विक्रय सहकारी समिति/ग्राम सेवा सहकारी समिति/निर्माता/विक्रेता से मोल भाव पश्‍चात् पूरी कीमत चुकाकर सीधे ही क्रय कर सकेंगें।
  • ऐसे कृषकों को प्राथमिकता दी जायेगी, जिन्‍हें आज तक विभाग की किसी भी योजना में कोई लाभ नहीं दिया गया हो।
  • एक कृषक को विभाग की किसी भी योजना में एक प्रकार के कृषि यंत्र (उदाहरणार्थ-सीड कम फर्टीलाईजर ड्रिल, प्‍लाउ, थ्रेसर इत्‍यादि) पर 03 वर्ष की अवधि में केवल एक बार ही अनुदान देय होगा।
  • सभी श्रेणी के कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिये आवेदन पत्र के साथ कृषक को जनाधार कार्ड/आधार कार्ड की प्रति, अनुदान क्‍लेम विभाग के स्‍थानीय कर्मियों/अधिकारियों के द्वारा प्रमाणित होना, बचत खाते की पास बुक की फोटो प्रति तथा अन्‍य वांछनीय दस्‍तावेजों की स्‍केण्‍ड प्रतियां लगाया जाना अनिवार्य होगी।
  • कृषकों के अनुदान क्‍लेम का भुगतान उनके बैंक खाते में ऑनलाइन ही देय किया जाएगा।
  • अन्‍य जिले के पंजीकृत स्‍त्रोत से कृषकों द्वारा सीधी खरीद के क्‍लेम का भुगतान उपरोक्‍त प्रक्रिया के अनुरूप ही किया जाएगा।
  • पंजीकृत निर्माताओं /विक्रेताओं को सीधे अनुदान राशि का भुगतान नहीं किया जायेगा।

निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Nishulk Tractor evam krishi yantra yojana

  • सबसे पहले लाभार्थी को टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 9282222885 पर कॉल अथवा SMS के माध्यम से जेफार्म सर्विसेज से संपर्क करना होगा।
  • अगर लाभार्थी पहले से ही जेफार्म सर्विसेज मे पंजीकृत है तब आप SMS के माध्यम से मुफ्त में किराए पर ट्रैक्टर एवं अन्य उपकरण के लिए ऑर्डर कर सकते हैं, उसके लिए आपको A लिखकर संदेश भेजना है।
  • अगर आप पंजीकृत नहीं हैं तब आपको जेफार्म सर्विसेज को SMS में B लिखकर भेजना है।
  • इस प्रकार आपका राजस्थान की निःशुल्क ट्रेक्टर एवं कृषि यंत्र योजना में पंजीकरण पूरा हो जायेगा।
  • पंजीकरण पूरा हो जाने के बाद आप को निशुल्क कृषि उपकरण एवं ट्रैक्टर किराए पर भेज दिए जाएगें।
  • आगे की प्रकिया आपको मोबाइल फ़ोन पर अवगत कराई जाएगी।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!