स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना 2022 | Free NEET & JEE Coaching Classes | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

|| Swarna Jayanti Anushikshan Yojana | HP स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना | Swarna Jayanti Anushikshan Free NEET & JEE Coaching Scheme | Online Registration & Application Form ||

 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी दवारा राज्य मे शिक्षा का विस्तार करने के लिए स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना को शुरू किया गया है| जिसके जरिये सरकारी स्कूलो मे पढ्ने वाले वच्चों को NEET & JEE की मुफ्त मे कोचिंग दी जाएगी| कैसे मिलेगा योजना का लाभ, योजना के लिए कौन-कौन पात्र होंगे और इसकेर अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के वारे मे|  

Swarna Jayanti Anushikshan Scheme

Swarna Jayanti Anushikshan Scheme

हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा राज्य के छात्रों के भविष्य को उज्जवल वनाने और उन्हे सशक्त करने के लिए स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना को शुरू किया गया है| जिसके जरिये प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए NEET & JEE की मुफ्त मे कोचिंग दी जाएगी। छात्रों को मुफ्त मे कोचिंग मिलने से उनके अभिभावकों को किसी भी प्रकार का अतिरिक्त खर्च या फिर कोचिंग सेंटर की फीस जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी। इसका भुगतान सरकार दवारा किया जाएगा| स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना का लाभ 9वी से 12वीं कक्षा के छात्रो को प्राप्त होगा| इस योजना के लिए शिक्षा विभाग द्वारा तैयार किए गए प्लेटफार्म पर हर घर पाठशाला के माध्यम से लाभार्थीयों को निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी। शनिवार और रविवार को कक्षा 9 से 12 वीं तक के छात्र कोचिंग में भाग लेगें। यह कोचिंग वीडियो शिक्षा विभाग के राज्य संसाधन समूह द्वारा तैयार की जाएगी। इसके अलावा सरकार द्वारा गैर सरकारी संस्था से भी मदद ली जाएगी।

स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के मुख्य पहलु

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना का शुभारंभ 15 सितंबर 2021 को किया गया है। ये योजना प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को शिक्षा की नई तकनीक से जोड़ेगी| जिसमे से 9बी से 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं को NEET & JEE के लिए निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी। जिसके लिए शनिवार एवं रविवार को कोचिंग क्लास लगेगी। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए विस्तृत गाइडलाइन निर्देशक उच्चतर शिक्षा विभाग डॉ अमरजीत शर्मा द्वारा जारी कर दी गई है कि इस योजना की मॉनिटरिंग की जाए एवं स्कूलों से फीडबैक लिए जाएं और ये सुनिशिचित किया जा सके कि योजना का लाभ पात्र छात्रों तक पहुच रहा है या नहीं| इसके अलावा योजना की अध्ययन सामग्री हर घर पाठशाला के पोर्टल पर उपलब्ध करवाई जाएगी| Swarna Jayanti Anushikshan Scheme का लाभ राज्य मे लगभग 2 लाख विद्यार्थी उठा सकेंगे।

योजना के मुख्य बिन्दु

स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना का लाभ छात्रों तक पहुंचाने के लिए शिक्षकों द्वारा छात्रों के मोबाइल पर लिंक भेजा जाएगा| यह लिंक YouTube का होगा। इस लिंक के जरिये ही विद्यार्थी कोचिंग प्राप्त कर सकेंगे। हर घर पाठशाला अभियान के अंतर्गत वीडियो के लिंक को शिक्षकों तक भेजने का कार्य शुरू कर दिया गया है और शनिवार को यह लिंक विद्यार्थियों को Whatsapp ग्रुप के माध्यम से प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों को उच्च गुणवत्ता की गणित और विज्ञान की सामग्री भी उपलब्ध करवाई जाएगी। हर सप्ताह 15 से 18 घंटे की कक्षाएं एवं सांध्य समाधान भी किया जाएगा, ताकि राज्य के छात्रो को अनुभवी वनाकर उनका शैक्षिक विकास किया जा सके|

योजना के विस्तार के लिए जिला स्तर पर होगा कमेटी का गठन

योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा जिला स्तर पर कमेटी का गठन किया जाएगा। इस कमेटी में स्कूल के प्रधानाचार्य, उच्च शिक्षा के उपनिदेशक और स्कूलों के विज्ञान गणित के पर्यवेक्षक शामिल किए जाएंगे। यह कमेटी मेधावी छात्रों की पहचान करेगी। इस योजना से उन छात्रो को आगे पढाई करने का मौका मिलेगा, जो आर्थिक तंगी के चलते अपनी पढाई अधूरी छोड देते थे|

HP स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के चरण

  • स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना 02 चरण हैं। पहले चरण में हर घर पाठशाला के माध्यम से छात्रों को उच्च गुणवत्ता वाली गणित और विज्ञान की सामग्री उपलब्ध करवाई जाएगी|
  • दूसरे चरण में 100 उच्च प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं की पहचान करने के लिए चयन परीक्षा होगी।

Swarna Jayanti Anushikshan Scheme HP

चयन प्रक्रिया

NEET में किस तरह के प्रश्न आते हैं, और JEE का पेपर कैसा होता है, तैयारी करने के लिए कौन सी किताबें होनी चाहिए, सिलेबस आदि से संबंधित सारी जानकारी लाभार्थीयों को प्रदान की जाएगी। 11 वीं कक्षा पास करने के बाद जब छात्र 12वीं कक्षा में प्रवेश करेगा तो उसका टेस्ट लिया जाएगा। इस टेस्ट को उत्तीर्ण करने के बाद ही 10% छात्रों का चयन फाइनल कोचिंग के लिए किया जाएगा। स्कूल शिक्षकों की भी Swarna Jayanti Anushikshan Scheme के संचालन के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। जिसमे विभाग द्वारा सभी शिक्षकों को यह निर्देश दिए गए हैं कि वे इन विषयों को लेकर पूरी तरह से अपडेटेड रहे, ताकि वीडियो देखने के बाद बच्चों के मन में उत्पन्न हुए सवालों के जवाब स्कूली शिक्षक दे सकें|

योजना का कुल बजट

सरकार द्वारा स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के संचालन के लिए 5 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। ये योजना राज्य के वच्चों के हितो को ध्यान मे रखकर ही शुरू की गई है ताकि राज्य मे ज्यादा से ज्यादा छात्र शिक्षा प्राप्त करने में सक्षम बन सकें। ये योजना उन छात्रो को शिक्षा से जोड़ेगी, जो आर्थिक तंगी के चलते कोंचिग लेने मे असमर्थ हैं| अब इस योजना से छात्रो को आगे वढ्ने का अवसर मिलेगा| इसके अलावा यह योजना रोजगार को बढ़ाने में भी कारगर साबित होगी। अब प्रदेश का प्रत्येक छात्र कोचिंग प्राप्त करके इंजीनियरिंग एवं मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए सक्षम बन सकेगा।  

स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना का मुख्य उद्देश्य

JEE & NEET की परीक्षा के लिए राज्य के छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान करना है, ताकि सरकारी स्कूल में शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों को मेडिकल और इंजीनियरिंग में प्रवेश लेने के लिए तैयार किया जा सके|

Swarna Jayanti Anushikshan Scheme के लिए पात्रता
  • हिमाचल प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • योजना का लाभ केवल सरकारी स्कूलो में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओ को मिलेगा|
  • केवल 9 से 12 वीं तक के छात्र ही इस योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र होंगे|
स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के लिए जरूरी दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • मार्कशीट
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के लाभ
  • स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना का लाभ हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलो मे पढ्ने वाले छात्र-छात्राओ को मिलेगा|
  • योजना के माध्यम से बच्चों को मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए नीट और जेईई की मुफ्त कोचिंग उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • कक्षा 9 से 12 वीं तक पढ़ने वाले छात्र योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे|
  • इस योजना से अब छात्रों के अभिभावकों को किसी भी प्रकार का अतिरिक्त खर्च या फिर कोचिंग सेंटर की फीस जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी|
  • शिक्षा विभाग द्वारा तैयार किए गए प्लेटफार्म हर घर पाठशाला के माध्यम से लाभार्थीयों को कोचिंग प्रदान की जाएगी।
  • यह कोचिंग शनिवार और रविवार को दी जाएगी।
  • इस कोचिंग में 9वी से 11वीं तक के छात्र-छात्राएँ भाग लेंगे|
  • कोचिंग के लिए वीडियो शिक्षा विभाग के राज्य संसाधन समूह द्वारा तैयार की जाएगी।
  • ये कोचिंग 02 चरणो मे लाभार्थीयों को दी जाएगी| पहले चरण में विज्ञान और गणित की कोचिंग प्रदान की जाएगी। दूसरे चरण में 100 उच्च प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं की पहचान करने के लिए चयन परीक्षा होगी।
  • 11वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद जब छात्र 12वीं कक्षा में प्रवेश करेंगे तो उनका टेस्ट लिया जाएगा।
  • इस टेस्ट को उत्तीर्ण करने वाले 10% छात्रों का चयन फाइनल कोचिंग के लिए किया जाएगा।
Swarna Jayanti Anushikshan Scheme की मुख्य विषेशताएँ
  • छात्र-छात्राओ को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • राज्य सरकार दवारा JEE & NEET की परीक्षा के लिए छात्रों को निशुल्क कोचिंग प्रदान करना
  • अब छात्र फीस की चिंता किए विना अपनी पढाई जारी रख सकेगें|
  • इस योजना से छात्रो को रोजगार प्राप्त करने मे मदद मिलेगी|
  • इस योजना से छात्रों को शिक्षा के प्रति जागरुक किया जाएगा|
स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के लिए कैसे करें आवेदन

जो लाभार्थी योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हे थोडा इंतजार करना होगा। अभी योजना की शुरुआत की गई है, जैसे ही योजना के संवध मे आवेदन प्रक्रिया शुरु होगी, तभी लाभार्थीयो को योजना का लाभ मिल पाएगा। योजना के संवध मे जैसे ही ह्मे कोई अपडेट मिलेगी, तो ह्म आपको जल्द सूचित कर देगे।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करे।

error: Content is protected !!