उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन | पात्रता व विशेषताऐं

 

|| Uttar Pradesh Saur Urja Yojana | उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा योजना | UP Saur Urja Scheme Online Registration || उत्तर प्रदेश सरकार दवारा राज्य मे पंजीकृत श्रमिक एवं उनके परिवारों के कल्याण के लिए सौर ऊर्जा योजना को लागु किया गया है| इस योजना के जरिए पंजीकृत श्रमिकों एवं उनके परिवार वालों को ऊर्जा/प्रकाश/बिजली से संबनधित सभी आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा| जिससे उनके घर मे बिजली पहुचेगी| बिजली मिलने से बच्चे रात को पढाई कर सकेगे और वडे घर के काम काज आसानी से कर सकेंगे| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री सौर ऊर्जा योजना के वारे मे|      

Uttar Pradesh Saur Urja Yojana

Uttar Pradesh Saur Urja Yojana

उत्तर प्रदेश सरकार दवारा राज्य के निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों, कामगारों और उनके परिवारों के लिए सौर ऊर्जा योजना का शुभारंभ किया गया हैं। इस योजना का लाभ केवल रजिस्टर्ड श्रमिक और उनके परिवार ही उठा सकेंगे। सौर ऊर्जा योजना के अंतर्गत पात्र लाभार्थीयों की ऊर्जा संबंधी सभी आवश्यकताओं को पूरा किया जाता है। जिससे उनके घर में रोशनी हो सकेगी और उनके बच्चे बिना किसी परेशानी के पढाई कर सकेंगे|

योजना का अवलोकन

योजना का नाम उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना
किसके दवारा शुरू की गई उत्तर प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के श्रमिक व उसका परिवार  
योजना के तहत प्रदान की जाने वाली सहायता फ्री मे बिजली कनेक्शन उपलव्ध कराना |
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन/ ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइट www.upbocw.in

उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना का मुख्य उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य पंजीकृत लाभार्थी श्रमिकों एवं उनके परिवार की ऊर्जा ⁄ प्रकाश सम्बन्धी आवश्यकता पूर्ण करना है, जिससे उनकी कार्यकुशलता में वृद्धि होगी एवं आश्रित बच्चों को अध्ययन में सहायता भी मिलेगी।

UP सौर ऊर्जा योजना के मुख्य पहलु

सौर ऊर्जा वह ऊर्जा है जो सीधे सूर्य से प्राप्त की जाती है । सूर्य की ऊर्जा को विद्युत उर्जा में बदलने को ही मुख्य रूप से सौर उर्जा के रूप में जाना जाता है। सूर्य की ऊर्जा को दो प्रकार से विद्युत ऊर्जा में बदला जा सकता है। पहला प्रकाश-विद्युत सेल की सहायता से उष्मा से गर्म करने के बाद इससे विद्युत जनित्र चलाकर सौर ऊर्जा सबसे अच्छा ऊर्जा है। यह भविष्य में उपयोग करने वाली ऊर्जा है। बिजली के मुकाबले ये सौर ऊर्जा काफी सस्ती पड़ती है। ऐसे में सरकार भी इसके इस्तेमाल करने के लिए नागरिको को प्रोत्साहित करती है। कई व्यावसायिक संस्थानों को मंजूरी दिए जाने के दौरान वहां इस ऊर्जा के इस्तेमाल का भी ध्यान रखा जाता है। पहाड़ों पर खास तौर पर सौर ऊर्जा घरों में रोशनी का एक प्रमुख विकल्प बना हुआ है|

उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • श्रमिकऔर उसके परिवार योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं|
  • अगर किसी परिवार के पास पहले से ही सोलर लाइट/ लालटेन ली हुई है, तो ऐसे परिवार इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नही हैं|

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • श्रमिक कार्ड
  • मोबाइल नम्वर
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • हस्ताक्षर/अंगूठे का निशान

योजना के मुख्य दिशा-निर्देश

  • उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना का लाभ पंजीकृत श्रमिक को केवल एक बार ही मिलेगा।
  • नेडा दवारा भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की ओर से नामित श्रमिकों को ही सोलर लाइट प्रदान की जाएगी|
  • सोलर लाइट के रख-रखाव का सारा जिम्मा संबंधित श्रमिक का होगा।
  • अगर पति-पत्नी दोनों बोर्ड के पंजीकृत श्रमिक हैं तो ऐसे मे केवल एक को ही इस योजना का लाभ दिया जाएगा|
  • श्रमिक के बजाए सीधे नेडा को सोलर लाइट LED CFL के लिए अनुदान का भुगतान किया जाएगा। 
  • आवश्यक दस्तावेज संलग्न न किए जाने की स्थिति में आवेदन नामंजूर किए जा सकेंगे|

उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना के लाभ

  • उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना का लाभ पंजीकृत श्रमिको को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के जरिए श्रमिकों को राज्य सरकार दवारा फ्री मे बिजली कनेक्शन की सुविधा दी जाएगी|
  • सौर ऊर्जा के जरिए पात्र लाभार्थीयों के घर मे बिजली की पहुंच हो जाएगी|
  • बिजली मिलने से श्रमिकों के परिवारवालों को बिजली की समस्या उतपन्न नही होगी|
  • बिजली 24 घंटे तक रहेगी|
  • अब श्रमिकों के बच्चे रात मे आसानी से पढाई कर सकेंगे|
  • इसके अलावा घर मे अन्य काम भी किए जा सकेंगे|
  • इस योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए स्वीकार किए जाएंगे|

UP सौर ऊर्जा योजना की मुख्य विशेषताएं

  • पात्र परिवारों की बिजली, ऊर्जा और रोशनी संबंधी दिक्कतों को दूर करना 
  • इस योजना सेकार्यकुशलता में वृद्धि होगी। 
  • ये योजना पर्यावरणसंरक्षण को वढावा देगी। 
  • ग्रीन हाउस इफेक्ट को कम किया जाएगा 
  • सौर ऊर्जा पर लोगों का ध्यान केंद्रित रहेगा|
  • इस योजना से पात्र लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाया जाएगा|

उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा योजना के लिए कैसे करे ऑनलाइन आवेदन

Uttar Pradesh Saur Urja Yojana online

  • उसके बाद आपको योजना आवेदन करे के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस आप्शन पर क्लिक करते ही आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।

Uttar Pradesh Saur Urja Yojana online registration

  • आपको इस पेज में पंजीकृत मंडल का चयन करना है। 
  • उसके बाद आपको अपनी आधार संख्या भरनी है और अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भी दर्ज करना है|
  • अब आपको आवेदन पत्र खोलें के विकल्प पर क्लिक करना है। 
  • उसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • अब आपको इस फॉर्म मे पुछी गई सारी जानकारी भरनी होगी।
  • फिर आपको जरूरी दस्तावेज अपलोड करने होंगे। 
  • अब आपको अंत मे Submit के बटन पे किलक कर देना है|
  • इस तरह आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक ऑनलाइन आवेदन कर दिया जाएगा|

सौर ऊर्जा योजना के लिए ऑफ़लाइन आवेदन

  • सवसे पहले आवेदक को अपने नजदीकी श्रम कार्यालय/तहसील/विकास खंड अधिकारी/तहसील के तहसीलदार के पास जाना होगा।
  • अब आपको बहाँ से उतर प्रदेश सौर ऊर्जा सहायता योजना का आवेदन फॉर्म लेना होगा।
  • आवेदन फार्म लेने के बाद आपको उसमे सारी जानकारी भरनी है और जरूरी दस्तावेज फॉर्म के साथ अटैच कर देने हैं| 
  • और श्रमिक को अपने पंजीयन के प्रमाण पत्र की सत्यापित प्रति भी संलग्न करनी होगी।
  • सारी प्रक्रिया हो जाने के बाद आपको ये फॉर्म वहाँ पे जमा करवा देना है, जहाँ से आपने फॉर्म लिया था|
  • अब संबंधित अधिकारी फार्म लेकर प्राप्ति की तिथि अंकित करके आपको इसकी रसीद दे देगा|
  • इस तरह आपके दवारा योजना के अंतर्गत ऑफ़लाइन मोड के जरिए सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

आवेदन करने के बाद मंजूरी की सूचना जिला श्रम कार्यालय से जाएगी

आपके दवारा आवेदन करने के बाद तहसील कार्यालय या विकास खंड अधिकारी कार्यालय से 03 दिन के भीतर आपका आवेदन जिला श्रम कार्यालय को भेजेगा। उसके बाद बहाँ से चेक लिस्ट के अनुसार चेक किया जाएगा, फिर इसे सप्ताह के भीतर क्षेत्रीय उप/अपर श्रमायुक्त कार्यालय को भेज दिया जाएगा। उसके बाद फार्म को चेक/सत्यापित करके फार्म की स्वीकृति/अस्वीकृति की सूचना जिला श्रम कार्यालय को भेजी जाएगी। फिर इसकी सूचना पात्र लाभार्थी को उपलव्ध करवा दी जाएगी।

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे| 

error: Content is protected !!