Oct 26, 2019 Yojana

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना | गोल्डकन हैंडशेक | पूरी जानकारी

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना | Voluntary Retirement Scheme

 

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना की घोषणा उन कर्मचारियों के लिए की गई है जो संगठन के भीतर 31 वर्ष और 55 वर्ष की आयु प्राप्त कर चुके हैं और जिन्होने 10 वर्ष की सेवा पूरी कर ली है, वे स्‍वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना का लाभ उठा सकते हैं। ये योजना वर्तमान में 15000 के आसपास कार्यबल को कम करेगी। इस योजना के तहत 3 लाख कर्मचारियों में से लगभग 1 लाख कर्मचारियों को लाभ प्रदान किया जाएगा। यह योजना कामगारों और कार्यपालकों सहित सभी कर्मचारियों पर लागू होती है। इस योजना के तहत BSNL और MTNL 15,000 करोड़ का संप्रभु बांड जुटाएगी और अगले चार वर्षों में 38,000 करोड़ रुपये की संपत्ति का अधिग्रहण किया जाएगा। सरकार MTNL के लिए 23600 करोड़ रुपये और BSNL स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना पर 20000 करोड़ रुपये खर्च करेगी। यह योजना केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा अनुमोदित है। कैबिनेट ने प्रशासनिक आवंटन पर 4 जी स्पेक्ट्रम को भी मंजूरी दे दी है। इस योजना को सरकारी और निजी क्षेत्र में लागू किया गया है।

महत्वपूर्ण डाउनलोड | Important Download

उद्देश्य | An Objective

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना का मुख्य उद्देश्य वर्तमान में 15000 के आसपास कार्यबल को कम करना है और 3 लाख कर्मचारियों में से लगभग 1 लाख कर्मचारियों को लाभ पहुंचाना है।

पात्रता | Eligibility

  • आवेदक भारत देश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत वे आवेद्क पात्र हैं जिन्होने 40 वर्ष की आयु पार कर ली है।
  • वे आवेद्क पात्र होगें जो 10 वर्ष की सेवा कर चुके हैं।
  • यह योजना कंपनी के निदेशकों के अतिरिक्‍त कंपनी के कामगारों और कार्यपालकों सहित सभी कर्मचारियों पर लागू है।
  • यह ‘गोल्‍डन हैंडशेक’ नाम से भी जानी जाती है क्‍योंकि यह छंटनी का एक स्‍वर्णिम माध्‍यम है।

आयु सीमा | Age limit

  • न्यूनतम 31 वर्ष
  • अधिकतम 55 वर्ष

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important document

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो

लाभ | Benefits

  • ये योजना को सरकारी और निजी क्षेत्र में लागू की गई है।
  • ये योजना 15000 के आसपास कार्यबल को कम करती है।
  • इस योजना का लाभ 31 वर्ष से लेकर 55 वर्ष की आयु वाले आवेदकों को मिलेगा।
  • इस योजना के लिए अगले चार वर्षों में 38,000 करोड़ रुपये की संपत्ति का अधिग्रहण किया जाएगा।
  • इस योजना से 1 लाख कर्मचारियों को लाभ प्राप्त होगा।
  • VRS नियोक्ता और कर्मचारियों के बीच आपसी समझौते पर आधारित है, जिसके तहत एक कर्मचारी नियोक्ता द्वारा सहमत मुआवजे के भुगतान पर संगठन से स्वेच्छा से अलग होने के लिए सहमत होता है।
  • यह औद्योगिक इकाई में कार्यरत कर्मचारियों को ट्रिम करने के लिए कंपनियों द्वारा उपयोग की जाने वाली तकनीक है।
  • स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना कंपनियों द्वारा अधिशेष कर्मचारियों को कम करने के लिए उपयोग की जाने वाली एक विधि है।
  • अर्थव्यवस्था में मंदी संगठन को जीवित रहने के लिए VRS का विकल्प को चुना गया है।
  • सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भारी मुआवजे का भुगतान उनकी ओर से नाराजगी को रोकता है।
  • ट्रेड यूनियनों को भी VRS पर आपत्ति नहीं है क्योंकि यह प्रकृति में स्वैच्छिक है।
  • भारी क्षतिपूर्ति पैकेज के रूप में शुरुआती लागतों के बावजूद, VRS समय के साथ पेरोल लागत या मजदूरी बिलों को काफी कम कर देता है। फर्म को VRS लेने वाले कर्मचारियों को मासिक वेतन या वेतन देने से बचाया जाता है।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!