Jun 28, 2020 Yojana

कृषि इनपुट अनुदान योजना | पूरी जानकारी | कैसे करें आवेदन

कृषि इनपुट अनुदान योजना | Agricultural input grant scheme

 

मार्च 2020 में हुई भारी बारिश और ओलावृष्टि से फसलों की बर्बादी को देखते हुए बिहार सरकार दवारा कृषि इनपुट अनुदान योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत असिंचित क्षेत्र के लिए 6800/- रुपये और सिंचित क्षेत्र के लिए 13500/- प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान देने की घोषणा की है। इसके अलावा कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक होता है वहां 12,200/- रु प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जायेगा। इस योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया 28 मार्च से शुरु की गई है और आवेदन करने की अंतिम तिथि 18 अप्रैल 2020 रखी गई है। जिन जिलों में फसलों का नुकसान अधिक हुआ है उन जिलों को रबी इनपुट के लिए शामिल किया गया है। जिसमें बिहार सरकार दवारा अभी तक कुल 11 जिलों को चिन्हित किया गया है। यह अनुदान प्रति किसान को 02 हैक्टेयर के हिसाब से दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्रभावित किसानों को कम से कम 1000/- रुपए का अनुदान मिलेगा। जिससे किसानों की आर्थिक दशा में सुधार होगा और फसलों की पैदावार में वढोतरी होगी।

                    

उद्देश्य | An Objective

कृषि इनपुट अनुदान योजना का मुख्य उद्देश्य प्राक्रितिक आपदा से फसलों की बर्बादी की भरपाई करना है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना में शामिल जिलों की सूची | List of Districts included in Agricultural Input Grant Scheme

इस योजना के तहत 11 जिलों को शामिल किया गया है। जिनका विवरण नीचे दिया गया है।     

  • औरंगाबाद
  • भागलपुर
  • बक्सर
  • गया
  • जहानाबाद
  • कैमूर
  • मुजफ्फरपुर
  • पटना
  • पूर्वी चंपारण
  • समस्तीपुर
  • वैशाली

पात्रता | Eligibility

  • बिहार राज्य के स्थायी निवासी
  • किसान वर्ग
  • खेती योग्य भूमि

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • जमीन के दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

लाभ | Benefits

  • कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ बिहार राज्य के लोगों को मिलेगा।
  • इस योजना से बारिश और ओलावृष्टि से फसलों की होने वाली बर्बादी से भरपाई की जाएगी।
  • इस योजना से किसानों की फसलों की समय-समय पर देखभाल की जाएगी।
  • इस योजना से किसानों की आर्थिक दशा में सुधार होगा।
  • इस योजना के लिए प्रभावित किसानों को राज्य सरकार दवारा आर्थिक सहायता की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ बिहार के 11 जिलों को मिलेगा।
  • इस योजना के लिए असिंचित क्षेत्र के लिए 6800/- रुपये और सिंचित क्षेत्र के लिए 13500/- प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाएगा।

कृषि इनपुट अनुदान योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for agricultural input grant scheme

  • अब आपको “ऑनलाइन आवेदन करें” वाले बटन पर किल्क करना है। 
  • यहां किल्क करते ही आपको किसान पंजीकरण संख्या भरनी है । पंजीकरण संख्या भरने के बाद आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना है ।

  • सर्च बटन पर क्लिक करते ही आप अगले पेज में आ जाएगें। यहां आपको आवेदन फॉर्म भरना है।
  • आपको इस आवेदन फॉर्म में दी गयी सारी जानकारी भरनी है जैसे कि नाम, आयु, पता, आधार संख्या, पंचायत, किसान की श्रेणी, डीओबी, पिता का नाम, आदि ।
  • दूसरे भाग में अब किसानों को अपनी भूमि की जानकारी देनी है जैसे कि भूमि का क्षेत्रफल, किसान का प्रकार, और फसल के नुकसान का कारण आदि भरने हैं।
  • फार्म के तीसरे भाग में, किसानों को उपलब्ध करवाने के लिए खेती योग्य भूमि का विवरण भरना होगा। उसके बाद लाभार्थी को घोषणा भाग भरना है और “OTP” बटन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद लाभार्थी को पंजीकृत मोबाइल नंबर पर OTP भेजा जाएगा । आपको इस OTP को आवेदन फॉर्म में भरना है । अब किसानों को स्व-घोषणा पत्र का चयन करना है और यह जांच करनी है कि उन्होंने सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड किए हैं या नहीं।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको आवेदन फॉर्म ऑनलाइन जमा करना है । उसके बाद फिर आपको पंजीकरण संख्या मिलेगी। इस संख्या को आपको सुरक्षित रखना होगा ।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!