नेशनल पेंशन योजना | NPS : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन स्टेटस | Open NPS Account

|| National Pension Scheme | राष्ट्रीय पेंशन योजना NPS | National Pension Scheme Online Registration | Application Form | Open NPS Account | Application Status | Helpline Number ||

रिटायरमेंट के बाद निवेशको को पेंशन  प्रदान करने के लिए भारत सरकार दवारा नेशनल पेंशन योजना को लागू किया गया है| जिसके माध्यम से देश के नागरिको के लिए सरकार दवारा एक निश्चित पेंशन रिटायरमेंट के बाद दी जाती है| इस योजना का लाभ सभी कैटगरी के लोग उठा सकते हैं| पेंशन मिलने से नागरिको का आने वाला समय खुशी से व्यतीत होता है और उन्हे दूसरो पर निर्भर नही रहना पडता है| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – नेशनल पेंशन योजना के वारे मे|

National Pension Scheme

National Pension Scheme [NPS]

राष्ट्रीय पेंशन योजना को NPS के नाम से भी जाना जाता है| ये एक सरकारी निवेश योजना है। जिसके माध्यम से लोगो को रिटायरमेंट के बाद पेंशन दी जाती है । इस योजना को 2004 में सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए शुरू किया गया था। उसके बाद इसे 2009 से सभी कैटेगरी के लोगों के लिए आरंभ कर दिया गया है। अब कोई भी व्यक्ति अपने कामकाजी जीवन में पेंशन खाते में योगदान देकर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। NPS के तहत कर्मचारी रिटायरमेंट के समय कुल जमा राशि का 60% निकाल सकते हैं और बची हुई 40% राशि पेंशन योजना के तहत प्रदान की जाती है। इस योजना में नियोक्ता और कर्मचारी दोनों निवेश करते हैं और योजना का लाभ प्राप्त करते हैं|   

योजना के मुख्य पहलु

नेशनल पेंशन योजना NPS को भारत के सभी नागरिकों के लिए आरंभ कर दिया गया है। जिसके माध्यम से निवेश पर 60 वर्ष की आयु होने के बाद लाभार्थी दवारा पेंशन प्राप्त की जाती है। इस योजना के अंतर्गत प्रबंधन के तहत पेंशन संपत्ति (Asset Under Management) ने 13 साल के अंतराल के बाद राष्ट्रीय पेंशन एवं अटल पेंशन योजना के अंतर्गत 6 लाख करोड़ का आंकड़ा पार किया है।

हाल ही मे वित्त मंत्रालय द्वारा बताया गया है कि पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा घोषणा की गई है, जिसके पिछले 7 महीने में 1 लाख करोड़ की वृद्धि प्रबंधन के तहत पेंशन संपत्ति (Asset Under Management) में दर्ज की गई है। पिछले वर्षों में इस योजना के अंतर्गत लगभग 74.40 लाख सरकारी  कर्मचारियों दवारा सदस्यता ली गई है और 28.37 लाख गैर सरकारी कर्मचारियों ने इस योजना की सदस्यता ली है|

जिसमे से लगभग 4.28 करोड़ ग्राहको की पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण में वृद्धि हुई है। नेशनल पेंशन तथा अटल पेंशन योजना के अंतर्गत प्रबंधन के तहत संपत्ति बढ़कर ₹603667.02 करोड़ निर्धारित की गई है, जो इस वात का प्रमाण है, कि नेशनल पेंशन योजना NPS का लाभ लाभार्थीयों तक समय पर पहुंच रहा है, और आवेदक इसका लाभ ले रहे हैं|      

नेशनल पेंशन योजना NPS का अवलोकन

योजना का नाम नेशनल पेंशन योजना
किसके दवारा शुरू की गई भारत सरकार दवारा
लाभार्थी भारत के नागरिक
प्रदान की जाने वाली सहायता रिटायरमेंट के बाद निवेशको को पेंशन प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन / ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट www.npscra.nsdl.co.in

नेशनल पेंशन योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य 60 वर्ष की आयु होने वाले नागरिक को रिटायरमेंट के बाद निश्चित पेंशन प्रदान करना है|    

नेशनल पेंशन योजना लेटेस्ट अपडेट

अब तक सरकारी कर्मचारियों को राष्ट्रीय पेंशन योजना यानि NPS के अंतर्गत भौतिक रूप में पंजीकृत किया जाता था। जो कि केंद्रीय रिकॉर्ड कंपनी एजेंसी या फिर सरकार के नोडल कार्यालयों द्वारा अपनाई गई ऑनलाइन मॉड्यूल के माध्यम लाभार्थीयों को मिलता था।

लेकिन अब इस योजना का लाभ देने के लिए लाभार्थीयों के लिए पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा पंजीकरण करने के लिए ऑनलाइन सुविधा को जारी किया गया है। जिसके अंतर्गत अब कर्मचारी अपना NPS अकाउंट ऑनलाइन खोल सकेंगे। इसके अलावा ऑनलाइन प्रक्रिया को अब eNPS के नाम से जाना जाएगा। eNPS को CRA द्वारा होस्ट किया जाएगा। जिसके अंतर्गत सब्सक्राइबर अपना पंजीकरण आसानी से कर सकेंगे और NPS के अंतर्गत अपना योगदान भी दे सकेंगे|

eNPS रजिस्ट्रेशन

eNPS के अंतर्गत सब्सक्राइबर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं और PRAN नंबर भी जनरेट करवा सकते हैं। वे सभी सब्सक्राइबर जिनका NPS अकाउंट पहले से खुला हुआ है, तो वे eNPS के माध्यम से भी अपना योगदान दे सकते हैं और अपना tier-2 अकाउंट भी खुलवा सकते हैं। प्राइवेट सेक्टर के करमचारी आधार ऑफलाइन e KYC के माध्यम से या पैन तथा बैंक अकाउंट के माध्यम से पंजीकरण करा सकेंगे। eNPS के माध्यम से योगदान देने के जो लाभ होंगे, वे इस प्रकार हैं –

  • अकाउंट ओपन करने पर होने वाला खर्च नहीं होगा क्योंकि पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी।
  • ऑनलाइन सुविधा से नोडल अधिकारियों का काम आसान हो जाएगा।
  • नामांकन की पूरी प्रक्रिया पेपरलेस होगी।
  • इस सुविधा से फॉर्म भरने में गलती होने की संभावना कम होगी क्योंकि कर्मचारियो दवारा खुद अपना फॉर्म भरा जाएगा|
  • ज्यादा से ज्यादा NPS अकाउंट आसानी से खुलेंगे।

NPS

योजना के तहत लाभार्थीयों को मिलेगी e-KYC की सुविधा

नेशनल पेंशन योजना संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों की जरूरतों को पूरा करने के लिए चलाई गई है। पात्र लाभार्थीयों को योजना का लाभ देने के लिए नेशनल पेंशन स्कीम तथा अटल पेंशन योजना पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण की दो प्रमुख योजनाएं हैं। इन योजनाओं के जरिये असंगठित क्षेत्र तथा संगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों की जरूरतों को पूरा किया जाता है। लोगो को योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा मिले इसके लिए e-KYC सेवा को शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

यह सेवा शुरू करने की मंजूरी राजस्व विभाग से प्राप्त कर ली गई है। ऑनलाइन e-KYC के माध्यम से NPS खाता खोलने की प्रक्रिया को और सरल वनाया जाएगा। अब नागरिकों को इस योजना के अंतर्गत आवेदन करवाने के लिए व प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता होगी। अव सरकार द्वारा e-KYC को आरंभ किया गया है, जिससे कि आवेदन प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल होगी|

इस प्रक्रिया से समय और पैसे दोनों की बचत होगी और प्रणाली में पारदर्शिता आएगी। अब नागरिक कागजी कार्रवाई की लंबी प्रक्रिया से बच सकेंगे जिससे कि ज्यादा से ज्यादा लोग योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे|

PFRDA द्वारा ओटीपी आधारित प्रमाणीकरण, पेपरलेस ऑनबोर्डिंग, ईसाइन आधारित प्रमाणीकरण, वीडियो ग्राहक पहचान को सुगम बनाने के लिए दुरुस्त ऑनबोर्डिंग, ऑनलाइन निकास उपकरण, सरकारी क्षेत्र के ग्राहकों के लिए ऑनलाइन नामांकन आदि जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। NSDL e-governance इंफ्रास्ट्रक्चर को केंद्रीय रिकॉर्ड रखने वाली एजेंसी बनाया गया है। जिसका काम ग्लोबल आधार यूजर एजेंसी के रूप में कार्य करना है|

नेशनल पेंशन योजना के लाभ

  • नेशनल पेंशन योजना का लाभ देश के नागरिको को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के माध्यम से निदेशकों को रिटायरमेंट के बाद पेंशन प्रदान की जाती है।
  • अगर लाभार्थी दवारा Annuity की खरीद में निवेश किया गया है तो उसे कर में पूरी तरह से छूट दी जाएगी|
  • ₹50000 तक की अतिरिक्त डिडक्शन सेक्शन 80CCE के तहत क्लेम किया जा सकेगा|
  • NPS का ग्राहक रुपए की कुल सीमा में इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80CCD(1) के तहत ग्रॉस इनकम का 10 फ़ीसदी का टैक्स में डिडक्शन क्लेम कर सकता है। सेक्शन 80 CCE के तहत यह लिमिट 1.5 लाख तय की गई है।
  • नेशनल पेंशन स्कीम के अंतर्गत न्यूनतम निवेश की सीमा 6000/- रूपए है।
  • अगर आप नेशनल पेंशन योजना के अंतर्गत न्यूनतम सीमा मे जो निवेश करना चाहते हैं, वह नहीं कर पा रहे हैं तो आपका अकाउंट फ्रीज कर दिया जाएगा और आपको अकाउंट अनफ्रीज करवाने के लिए ₹100 की पेनल्टी भरनी होगी।
  • पहले इस सीमा में योगदान 10 फ़ीसदी हुआ करता था, जिसे अब वढाकर 14 फ़ीसदी कर दिया गया है।
  • योजना का लाभ लाभार्थीयों को 60 वर्ष की आयु के बाद प्रदान किया जाता है|
  • अगर निवेशक की मृत्यु 60 वर्ष से पहले हो जाती है तो पेंशन की राशि नॉमिनी को दी जाएगी।
  • आवेदक रिटायरमेंट के समय कुल जमा राशि का 60% निकाल सकते हैं और बची हुई 40% राशि पेंशन योजना के तहत प्रदान की जाती है।
  • पेंशन की राशि पात्र लाभार्थी के बैंक खाते मे जमा की जाएगी|
  • नेशनल पेंशन योजना के निदेशकों को एक परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर उपलब्ध कराया जाता है जो 12 अंकों का होता है। इस नंबर से निवेशक लेन देन कर सकते हैं।
  • योजना के अंतर्गत एक से ज्यादा अकाउंट नहीं खुलवाया जा सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ पात्र लाभार्थी ऑनलाइन मोड के जरिये प्राप्त कर सकते हैं|

NPS के लिए आधार सीडिंग को अनिवार्य किया गया है

भारत सरकार द्वारा नेशनल पेंशन योजना से देश के नागरिक लाभ प्राप्त कर रहे हैं और सब्सक्राइब योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के निवेश कर सकते हैं । अब सरकार द्वारा NPS सब्सक्राइबर की वित्तीय लेनदेन को ट्रैक करने के लिए एवं करदाताओं को छूट प्रदान करने के लिए NPS खाते को आधार से जोड़ने के दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। आधार सीडिंग के माध्यम से अब सब्सक्राइब तुरंत e-KYC मानदंडों को पूरा कर सकते हैं। आधार संख्या के माध्यम से e-KYC की जाती है। जिससे कि ग्राहक अत्याधिक कागजी कार्रवाई से बच जाते हैं। जिससे आधार ओटीपी के माध्यम से सत्यापन प्रक्रिया को तुरंत किया जा सकता है|

नेशनल पेंशन योजना के खाते के प्रकार

NPS में 02 तरह के खाते होते हैं –

  • टायर 1- इस अकाउंट में जो भी पैसे जमा करवाए जाएंगे, वे उसे वक्त से पहले नही निकाल सकेंगे। इस अकाउंट को खुलवाने के लिए आपको टायर टू का अकाउंट होल्डर होना अनिवार्य नहीं है। जब आप योजना से बाहर हो जाएंगे तब ही इसके पैसे आप निकाल सकेंगे|
  • टायर 2 इस अकाउंट को खोलने के लिए आपको टायर 1 का अकाउंट होल्डर होना अनिवार्य है। आप इसमें अपनी इच्छा के अनुसार पैसे जमा या निकाल सकते हैं। यह अकाउंट सभी को खुलवाना अनिवार्य नहीं है।

योजना के लिए पात्रता मापदंड

  • आवेदक देश का नागरिक होना चाहिए|
  • रेजिडेंट नॉनरेजिडेंट दोनों नागरिक योजना में निवेश कर सकते हैं।
  • योजना में निवेश करने के लिए निवेशक की आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • e-KYC प्रक्रिया के बाद ही नागरिक इस योजना में शामिल हो सकेंगे|

नेशनल पेंशन योजना NPS के लाभार्थी

  • केंद्रीय सरकार के कर्मचारी
  • राज्य सरकार के कर्मचारी
  • निजी क्षेत्र के कर्मचारी
  • आम नागरिक

योजना के अंतर्गत आने वाले सेक्टर

  • केंद्र सरकार
  • राज्य सरकार
  • कॉर्पोरेट
  • देश के सभी नागरिक
  • NPS का लाभ R.I. द्वारा भी प्राप्त किया जा सकता है।

NPS में निवेश करने पर प्राप्त होने वाले लाभ

  • आकर्षक बाजार से जुड़े रिटर्न
  • पेशेवर रूप से अनुभवी पेंशन फंड द्वारा प्रबंधित
  • आसानी से पोर्टेबल
  • कम लागत में लाभ
  • नौकरी या पता बदलने पर दूसरा NPS अकाउंट खोलने की आवश्यकता नहीं है।
  • नागरिक, कर्मचारियों एवं नियोक्ताओं के लिए टैक्स ब्रेक की सुविधा
  • विभाग द्वारा Net Asset Value प्रतिदिन कैलकुलेट की जाती है।

नेशनल पेंशन योजना में फंड का कहां किया जाएगा निवेश

  • इक्विटी
  • कॉर्पोरेट ऋण
  • सरकारी सुरक्षा
  • वैकल्पिक निवेश कोष
NPS के अंतर्गत निवेश विकल्प
  • सक्रिय विकल्प – इस विकल्प के अंतर्गत लाभार्थी द्वारा खुद निवेश की राशि चुनी जाती है।
  • ऑटो चॉइस इस विकल्प के अंतर्गत निवेश की राशि पूर्व निर्धारित मैट्रिक्स के आधार पर चुनी जाती है।
National Pension Scheme
नेशनल पेंशन योजना के अंतर्गत कर लाभ
  • आयकर अधिनियम के सेक्शन 80CCD (1) के अंतर्गत खाताधारक को कर लाभ प्रदान किया जाएगा। जिस की सीमा सेक्शन 80 CCE के अंतर्गत 1.5 लाख रुपए निर्धारित है|
  • अगर लाभार्थी द्वारा ₹50000 तक का निवेश किया जाता है तो इस स्थिति में अतिरिक्त कटौती का विकल्प उपलब्ध होगा। यह विकल्प आयकर अधिनियम के सेक्शन 80CCD (1B) के अंतर्गत उपलब्ध है।
  • यह कर लाभ प्राप्त करने के लिए खाताधारक द्वारा ट्रांजैक्शन स्टेटमेंट प्रस्तुत की जाएगी|
NPS के लिए जरूरी दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • शैक्षिक योग्यता दस्तावेज
  • बैंक खाता
  • सब्सक्राइबर रजिस्ट्रेशन फॉर्म
  • मोबाइल नम्वर
योजना के तहत प्रदान किया जाने वाला योगदान
  • पहले नेशनल पेंशन योजना में कर्मचारियों को 10% का योगदान करना होता था, जिसे अब बढ़ाकर 14% कर दिया गया है।
  • 60% राशि को कर मुक्त कर दिया गया है।
  • अब कर्मचारियों को पूर्ण स्वतंत्रता दी गई है कि उनके द्वारा पेंशन में योगदान किया गया पैसा किस फंड में निवेश किया जाएगा।
  • केंद्रीय कर्मचारी वर्ष में 01 बार पेंशन फंड को अपनी मर्जी के अनुसार बदल सकते हैं।
National Pension Scheme से विड्रोल करने की प्रक्रिया

अगर आप National Pension Scheme से विड्रॉल करना चाहते हैं तो आपको विड्रोल एप्लीकेशन POP को सारे जरूरी दस्तावेजों के साथ सबमिट करना होगा। विड्रॉल करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की जरूरत होगी।

  • PRAN CARD
  • आधार कार्ड की कॉपी
  • निवास प्रमाण पत्र की कॉपी
  • एक कैंसिल चेक
नेशनल पेंशन योजना के लिए कैसे खुलवाए ऑनलाइन खाता

NPS Online

National Pension Yojana

  • अब आपके सामने अगला पेज खुलके आएगा|
  • जिसमे आपको Registration के लिंक पे किलक करना है| 

NPS registration

  • उसके बाद आपके सामने आवेदन फार्म खुलके आएगा|
  • जिसमे आपको दी गई सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरनी है|
  • फिर आपको Continue के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • अब आपके सामने Complete Pending Registration Form खुलकर आएगा|

NPS pending form

  • इस फार्म मे आपको जरूरी जानकारियां जैसे कि Acknowledgment Number, Acknowledgment Date, First Name, Date of Birth, Email Address आदि भरनी होगी।
  • उसके बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक कर देना है|
  • फिर आपके सामने एक e-sign form खुलकर आएगा इसमें सभी जरूरी जानकारियां भरनी है और आपको Submit पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आपके दवारा रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।  
नेशनल पेंशन योजना के लिए खाता खुलवाने की ऑफलाइन प्रक्रिया

National Pension Yojana registation form

  • जैसे ही आप इस लिंक पे किलक करोगे तो आपके सामने आवेदन फार्म PDF मे खुलके आएगा|
  • अब आपको ये फार्म डाउनलोड करना है, उसके बाद इसका प्रिंट आउट ले लेना है|
  • फिर आपको इस फार्म मे पुछी गई सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरनी है, और जरूरी दस्तावेज भी फार्म के साथ अटैच करने हैं|
  • उसके बाद आपको इस फॉर्म को POP- Point Of Presence मे सबमिट करवा देना है। ये फॉर्म आपको KYC Papers के साथ जमा करवाना होगा|
  • फिर आपको POP से एक रेफरेंस नंबर मिलेगा जिसके माध्यम से आप अपनी एप्लीकेशन को ट्रैक कर सकोगे|
  • जब आपने आवेदन किया है, तो आपको अपनी पहली कंट्रीब्यूशन जमा करनी होगी। इसके लिए आपको इंस्ट्रक्शन स्लिप भी सबमिट करनी होगी जिसमें आपकी पेमेंट की डिटेल्स की जानकारी होगी|
टायर 1 और टायर 2 के तहत आवेदन
  • सवसे पहले पात्र लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पे जाना होगा| 
  • उसके बाद आपको “Open Your NPS Account / Contribute Online” के लिंक पे किलक करना है| 
  • इसके पश्चात आपको National Pension System पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आपको Registration के लिंक पर क्लिक करना होगा। 

NPS registration

  • अब आपके सामने Registration Form खुलकर आएगा।
  • इस फॉर्म में आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारियां दर्ज जैसे की Application Type, Status of Applicant, Register With, Aadhar Number, Mobile Number आदि भरनी है, और अकाउंट टाइप में टायर 1 और टायर 2 सिलेक्ट कर देना है|
  • फिर आपको Continue के बटन पर क्लिक कर देना है|

NPS pending form

 

  • अब आपके सामने Complete Pending Registration Form खुलकर आएगा, जिसमे सभी जरूरी जानकारियां जैसे कि – Acknowledgment Number, Acknowledgment Date, First Name, Date of Birth, Email Address आदि भरनी होगी|
  • उसके बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • फिर आपके सामने एक e-sign form खुलकर आएगा, जिसमे आपको पुछी गई सारी जरूरी जानकारियां भरनी हैं और सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है|
  • इस तरह आपके दवारा टायर 1 और टायर 2 के तहत सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन कर दी जाएगी|
नेशनल पेंशन योजना के अंतर्गत कंट्रीब्यूशन करने की प्रोसेस
  • सवसे पहले पात्र लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पे जाना होगा| 
  • उसके बाद आपको National Pension System के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Contribution के लिंक पे किलक करना है| 

National Pension Yojana contibiution

  • फिर आपके सामने Contribution Form खुलकर आएगा जिसमें आपको अपना PRAN number, date of birth, captcha code आदि दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद आपको Verify PRAN के लिंक पर क्लिक कर देना है|
  • अब आपको पेमेंट करने के लिए मांगी गई जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इस प्रकार आप Contribution कर पाएंगे।
NPS के अंतर्गत NPS अकाउंट को आधार से लिंक करने की प्रोसेस
  • सवसे पहले पात्र लाभार्थी को आधिकारिक वेबसाइट पे जाना होगा| 
  • अब आपको लॉगिन के सेकशन मे जाकर लॉगइन आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगइन करना होगा।
  • फिर आपको Update Details के सेक्शन में जाना होगा।
  • उसके बाद आपको Update Aadhar/Address Details के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा और Generate OTP के बटन पर क्लिक कर देना है|
  • इस प्रक्रिया के बाद आपको Proceed के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप के आधार कार्ड पर पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
  • अब आपको यह ओटीपी, ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना होगा।
  • फिर आपको continue के बटन पर क्लिक कर देना है|
  • इस प्रकार आपका आधार आपके NPS अकाउंट से लिंक हो जाएगा।
Helpline Number
  • 1800110069
Important Download

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

error: Content is protected !!