आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2022 | Aatmnirbhar Bharat Rozgar : ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

 

|| प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना | Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana | PM Aatmnirbhar Bharat Rozgar Scheme | Aatmnirbhar Bharat Rozgar Online Registration || कोरोना काल के दौरान नौकरी खो चुके लोगो को अपनी अजीविका चलाने के लिए सरकार दवारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना से रोजगार के अवसर वढेगें और वेरोजगार लोगो को रोजगार मिलेगा। कैसे मिलेगा योजना का लाभ और आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2022 के बारे मे।

Aatmnirbhar Bharat Rozgar

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana

 

देश के युवाओ को रोजगार के अवसर प्रदान करने और उन्हे आत्म-निर्भर वनाने के लिए वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण दवारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत कोरोना महामारी के कारण अपना रोजगार गवा चुके लोगों को पुनः नए रोजगार के अवसर प्रदान करवाकर उनकी आर्थिक दशा मे सुधार किया जाएगा । इस योजना से कर्मचारी और संस्था दोनों को ही लाभ प्रदान किया जाएगा। जो कंपनियां नये लोगों को रोजगार दे रही हैं, या जो लोग EPFO में शामिल नहीं हैं, उन्हें योजना का लाभ मिलेगा। इसके साथ ही प्रति माह 15,000 रुपये से कम सैलरी वालों या 1 मार्च 2020 से लेकर 31 सितंबर 2020 के बीच नौकरी गंवाने वाले लोग भी योजना का लाभ उठाएगें।  इससे देश की अर्थव्यवस्था मे सुधार आएगा। इस योजना से नयी भर्ती के लिए 02 साल तक सरकार की ओर से भविषय निधि कोष में योगदान दिया जाएगा। ताकि नये रोजगार के सृजन को प्रोत्साहन ​दिया जा सके।

योजना के मुख्य तथ्य

  • योजना के माध्यम से EPFO के साथ पंजीकृत पात्र प्रतिष्ठानों के नियुक्तओ और नए कर्मचारियों को प्रोत्साहन मिलेगा|
  • यह प्रोत्साहन पंजीकरण के पश्चात 2 साल तक प्रदान किया जाएगा|
  • 1 अक्टूबर 2020 के बाद EPFO में पंजीकृत प्रतिष्ठानों के सभी नए कर्मचारियों को लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • वह सभी नए कर्मचारी जिनका वेतन ₹15000 से कम है उनको इस योजना का लाभ पंजीकरण की तिथि से 24 महीनों तक प्रदान होगा।
  • योजना का लाभ संस्थान को केवल तभी प्रदान किया जाएगा जब वह निर्धारित न्यूनतम संख्या में नए कर्मचारियों की नियुक्ति करता है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के बजट को बढ़ाकर 6400 करोड़ किया गया

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को रोजगार प्रदान करने के लिए नियोक्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया गया है। जिसके अंतर्गत वित्त मंत्रालय द्वारा वर्ष 2022-23 के बजट को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। पहले इस योजना का बजट 3130 करोड़ रुपए था जिसे अब बढ़ाकर 6400 करोड रुपये कर दिया गया है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा EPF में कर्मचारी शेयर का भुगतान किया जाता है। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ वह सभी कर्मचारी उठा सकेंगे जिनकी वेतन ₹15000 या फिर इससे कम है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा लेबर एंड एंप्लॉयमेंट मिनिस्ट्री एक्सपेंडिचर को 13306.50 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 16893.68 करोड़ रुपए कर दिया गया है। मिनिस्ट्री द्वारा सभी असंगठित क्षेत्र के कामगारों को श्रम पोर्टल पर रजिस्टर किया जाएगा। पहले यह कार्य करने के लिए 150 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया था, अब इसे बढ़ाकर 500 करोड़ रुपए कर दिया गया है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के माध्यम से प्रदान की गई है 40 लाख नौकरियां

कोरोना महामारी के कारण कई लोगों की नौकरियां चली गई है। इस स्थिति से निपटने के लिए लोगों को राहत पहुंचाने हेतु सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसके माध्यम से करीब 40 लाख लोगों को नौकरियां प्रदान की गई है। इन सभी नागरिकों को 1.16 लाख प्रतिष्ठानों के माध्यम से जॉब प्रदान की गई है। वह सभी कंपनियां इस योजना का लाभ उठा सकेंगी, जो EPFO के अंतर्गत रजिस्टर्ड हैं।

योजना के तहत 1000 से अधिक कर्मचारियों को प्रदान होगी दोहरी सब्सिडी

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ उठाने के लिए 50 कर्मचारियों से कम वाली कंपनियों को कम से कम 2 नए कर्मचारियों को नौकरी प्रदान की जाएगी। इसी तरह 50 से अधिक कर्मचारी वाली कंपनियों को सब्सिडी देने के लिए 5 नए नागरिकों को नौकरी प्रदान करनी होगी। यदि प्रतिष्ठान में कर्मचारियों की संख्या 1000 तक है तो उनको दोहरी सब्सिडी प्रदान की जाएगी। ऐसी सभी कंपनियों के कर्मचारियों को वेतन का 24% हिस्सा सब्सिडी के रूप में प्रदान होगा। जिसमें से कंपनी एवं कर्मचारी दोनों के हिस्से का 12-12% PAF कंट्रीब्यूशन शामिल होगा। सभी 1000 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों को 12% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। यह सब्सिडी 2 वर्ष तक मिलती रहेगी|

रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि का किया जाएगा विस्तार

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के जरिये नियोक्ताओं को रोजगार सृजित करने मे सहायता मिलेगी। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को आत्मनिर्भर भारत 3.0 पैकेज के अंतर्गत घोषित किया गया है। जिसके अंतर्गत पंजीकरण की अंतिम तिथि 30 जून 2021 निर्धारित की गई थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 31 मार्च 2022 कर बढा दिया गया है। EPF and MP अधिनियम 1952 के अंतर्गत पंजीकृत होने वाले नए कर्मचारी व नए प्रतिष्ठान 31 मार्च 2022 तक इस योजना के लिए पंजीकरण कर सकेंगे|

71.80 लाख कर्मचारियों को पहुंचाया जाएगा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को रोजगार के अवसरों में वढ़ोतरी लाने के लिए शुरू किया गया था। इस योजना को शुरू करते समय लगभग 58.5 लाख लाभार्थियों को कवर करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। अब इस लक्ष्य को बढ़ाकर 71.80 लाख लाभार्थी तक कर दिया गया है।

30 मार्च 2022 तक मिलेगा योजना का लाभ

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का दायरा 30 मार्च 2022 तक बढ़ा दिया गया है। इस योजना को 1 अक्टूबर 2020 से 30 जून 2021 तक के लिए आरंभ किया गया था। लेकिन अब यह योजना 30 मार्च 2022 तक संचालित की जाएगी।

21 लाख कर्मचारियों को प्राप्त हुए हैं नए रोजगार

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत अब तक 22810 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। जिससे कि 21 लाख नए कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है। यदि किसी कर्मचारी का वेतन ₹15000 से कम है और वह EPFO का मेंबर है तो उसे इस योजना का लाभ तभी प्रदान किया जाएगा जब उसकी 1 मई 2020 से 30 सितंबर 2020 के बीच नौकरी चली गई हो।

Aatmnirbhar Bharat Rozgar scheme
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का सर्वेक्षण

श्रम मंत्री संतोष गंगवार द्वारा नीति निर्माण के लिए आंकड़ों के महत्व पर जोर देते हुए प्रवासी एवं घरेलू श्रमिकों सहित पांच अखिल भारतीय सर्वेक्षण के लिए सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन को लॉन्च करने का निर्णय लिया गया है। जिसमे से श्रम मंत्री द्वारा सर्वेक्षण के लिए दिशा निर्देश एवं प्रश्नावली भी प्रदान कि गई है। सटीक आंकड़ों के आधार पर सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं बनाई जाती हैं। यदि सरकार के पास सटीक डाटा उपलब्ध नहीं होगा तो सरकार द्वारा सटीक योजनाएं नहीं बनाई जा सकेंगी। इसी बात का ध्यान रखते हुए सरकार द्वारा सर्वक्षण आयोजित किया गया है। इस सर्वक्षण के माध्यम से जो डाटा कलेक्ट किया जाएगा उसके आधार पर ही योजनाएं बनाई जाएंगी। श्रम मंत्रालय द्वारा 05 सर्वक्षण किए गए हैं, जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • All India Survey on Migrant Workers
  • All India Survey on Domestic Workers
  • The All India Survey on Employment Generated by Professionals
  • All India Survey on Employment Generated in Transport Sector
  • All India Quarterly Establishment Based Employee Survey

इन सर्वक्षण के जरिये ही यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि सरकार द्वारा संचालित की जाने वाली योजनाएं सटीक ढंग से कार्यरत की जा रही हैं या नहीं। सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को शुरू किया गया है। जिसके जरिये सरकार दवारा 25000 करोड रुपए का 2 साल के लिए बजट निर्धारित किया गया । जिसके लिए 54 लाख नए कर्मचारियों को रोजगार प्रदान किया जाएगा। इन सर्वे के माध्यम से ही आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की भी समीक्षा की जा सकेगी और यह पता लगाया जाएगा, कि यह योजना सही से चल रही है, या नहीं।

योजना को मिली है केंद्रीय मंत्रिमंडल से मंजूरी

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को कंपनियों को नियुक्तियां करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए चलाया गया है। जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा 2 साल तक कंपनियों और अन्य इकाइयों द्वारा की गई नई भर्तियों के लिए EPF में कर्मचारी तथा नियुक्त दोनों का अंशदान सरकार द्वारा किया जाएगा। जिसके लिए  केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 1585 करोड़ रुपए की मौजूदा वित्त वर्ष के लिए मंजूरी दे दी गई है और योजना की पूरी अवधि जो कि 2020 से 2023 तक है के लिए 22,810 करोड़ रुपए की मंजूरी मिल चुकी है। जिसके अंतर्गत इस योजना के लिए 58.5 लाख कर्मचारियों को सीधा लाभ पहुंचेगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लिए रखा है10 लाख नौकरियों का लक्ष्य

इस योजना के अंतर्गत यदि कंपनियां लॉकडाउन के दौरान नौकरी से निकाले गए कर्मचारियों को वापस लेती हैं तो उन्हें 12% से लेकर 24% तक की EPFO  द्वारा वेतन सब्सिडी प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के माध्यम से अगले 2 साल में 10 लाख नौकरियां पैदा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसके लिए लगभग ₹6000 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य कोरोना महामारी के कारण अपनी नौकरी गंवा चुके लोगो को रोजगार के नए अवसर प्रदान करना है।

 

PM आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लिए पात्रता 
  • देश के स्थायी निवासी
  • कोरोना महामारी के चलते अपनी नौकरी गंवा चुके लाभार्थी
  • नए कर्मचारी जो भविष्य निधि में पंजीकृत नहीं हैं
  • 15,000 रुपये से कम वेतन लेने वाले लाभार्थी
  • वह व्यक्ति जिन की नौकरी 1 मार्च 2020 से लेकर 30 सितंबर 2020 के बीच चली गई है और 1 अक्टूबर 2020 के पश्चात उन्हें कोई नई नौकरी नहीं मिली है वह भविष्य निधि के अंतर्गत पंजीकृत शामिल किए जाएगें।
PM Aatmnirbhar Bharat Rozgar scheme
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का फायदा कैसे उठाएं 
  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत कर्मचारी और संस्था दोनों को ही लाभ प्रदान किया जाएगा |
  • EPFO के अंतर्गत रजिस्टर्ड संस्था यदि नए रोजगार के अवसर प्रदान करती है तो उन संस्थाओं को इस योजना के लाभ दिया जाएगा|
  • ऐसी संस्थाएं जिनकी कर्मचारी क्षमता 50 से कम है और वह संस्थाएं 02 या 02 से अधिक कर्मचारियों को रोजगार उपलव्ध करवाती हैं और उन कर्मचारियों को भविष्य निधि के तहत पंजीकृत करती है । तो इस सिथति मे संस्था व कर्मचारी दोनों को योजना का लाभ मिलेगा।
  • इसी तरह जिन संस्थाओं की कर्मचारी क्षमता 50 से अधिक है तो उन्हे न्यूनतम 5 नए कर्मचारियों को रोजगार उपलव्ध करवाने के लिए EPFO के अंतर्गत पंजीकृत करना होगा ।
  • जिन संस्थाओं की कर्मचारी क्षमता 1000 से कम है उन संस्थाओं में कर्मचारी के वेतन के अनुसार उसके हिस्से का 12% तथा काम देने वाली संस्था के हिस्से का 12% जो कि कुल 24% होगा, उसे केंद्र सरकार द्वारा भविष्य निधि EPFO के अंतर्गत जमा कराया जाएगा|
  • इसी प्रकार जिन संस्थाओं की कर्मचारी क्षमता 1000 से अधिक है तो इन संस्थाओं में कार्यरत कर्मचारियों के वेतन के अनुसार कर्मचारी के हिस्से का 12% ही केंद्र सरकार द्वारा भविष्य निधि में जमा किया जाएगा।
  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत 1.59 लाख संस्थाओं को 8300 करोड़ रुपये का लाभ दिया गया । इससे 1 करोड़ 21 लाख से ज्यादा लोग लाभान्वित हुए हैं।
  • योजना का 95 फीसदी कर्मचारियों को फायदा होगा।
  • योजना के जरिए नए कर्मचारियों और कंपनियों को PF contribution पर सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के लिए आधार के साथ कर्मचारियों को EPFO अकाउंट खुलेगा। जिसके जरिए 2 साल तक पैसा आएगा।
  • योजना का लाभ अगले 2 वर्ष तक प्रदान किया जा सकता है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना की मुख्य विशेषताएं
  • नौकरी गंवा चुके लोगो को रोजगार उपलव्ध करवाना
  • बेरोजगार लोगो को रोजगार मिलेगा
  • देश के संगठित क्षेत्र में ज्यादा रोजगार उत्पन्न होंगे
  • नई भर्तियां करने वाले प्रतिष्ठानों को सब्सिडी दी जाएगी
  • लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर वनाना
  • आर्थिक पक्ष को मजबूत करना
  • देश की अर्थव्यवस्था मे सुधार होगा
PM आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज 
  • कर्मचारी का ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकरण
  • आधार कार्ड
  • कर्मचारी का वेतन ₹15000 प्रति माह तक होना चाहिए|
आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लिए आवेदन कैसे करें 

For Employers

PM Aatmnirbhar Bharat Rozgar scheme online

  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • उसके बाद आपको Services के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आपको Employers tab पर क्लिक करना होगा। 

PM Aatmnirbhar Bharat Rozgar scheme employer

Aatmnirbhar Bharat Rozgar scheme sign in

  • यदि आप श्रम सुविधा पोर्टल पर पंजीकृत है तो आपको यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करके Login करना होगा
  • अगर आप पंजीकृत नहीं है तो आपको Sign up के लिंक पर क्लिक करना है। 
  • उसके बाद आपके सामने Registration Form खुलके आएगा| जिसमें आपको अपना नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर बता वेरीफिकेशन कोड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको Sign Up के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आपके दवारा आवेदन प्रक्रिया सफलतापूर्वक हो जाएगी।

 

For Employee

Aatmnirbhar Bharat Rozgar scheme employees

  • अब आपको रजिस्टर हेयर के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने Registration Form खुलकर आएगा।
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गई सारी जानकारी जैसे कि नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करनी होगी।
  • उसके बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक कर देना है|

EPFO ऑफिस लोकेट करने की प्रोसेस

  • सवसे पहले आपको EPFO की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • उसके बाद आपको Services के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • उसके बाद आपको Locate NEPFO Office के विकल्प पर क्लिक करना होगा। 

locate

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • जिसमे आपको अपने राज्य तथा जिले का चयन करना होगा।
  • उसके बाद आपको Submit के विकल्प पर क्लिक कर देना है|
  • इस प्रक्रिया का पालन करके EPFO ऑफिस से सवंधित जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आ जाएगी|
Helpline Number
  • 1800118005

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!