बीज ग्राम योजना 2022 | BEEJ GRAM SCHEME : ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

|| Beej Gram Yojana | PM बीज ग्राम योजना | Beej Gram Scheme Online Registration | Application Form Download ||

बीज ग्राम योजना को देश के किसानो की भलाई के लिए सरकार दवारा लागु किया गया है| जिसके अंतर्गत किसानो को अपने क्षेत्र मे ही अच्छी क्वालिटी के बीज उपलब्ध करवाए जाते हैं, ताकि बीज बोने से फसलों का उत्पादन बढाया जा सके और इन गुणवत्तापूर्ण बीजों का उत्पादन करके उन्हे बेचकर किसानो को अतिरिक्त लाभ मिल सके| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – बीज ग्राम योजना के वारे मे|

Beej Gram Yojana

Beej Gram Yojana

देश के किसानो की आय को दोगुना करने और उन्हे आत्म-निर्भर वनाने के लिए केंद्र सरकार दवारा बीज ग्राम योजना को शुरू किया गया है| जिसके जरिये किसानों को सरकार की तरफ से उच्चकोटि के बीज उपलब्ध करवाए जाते हैं| ताकि किसानो की फसलों का सही तरीके से विकास हो सके और कृषकों को बीज उत्पादन में सहायता मिल सके| किसानो को इस योजना का लाभ देने के लिए आस-पास के 2-3 गांवों के किसानों को मिलाकर 02 से 03 समूह तैयार किये जाते है | प्रत्येक समूह में लगभग 60 से 100 कृषकों को शामिल किया जाता है | जिसमे किसानों को बीज की बुवाई से लेकर उसकी कटाई करने तक कृषि विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षित किया जाता है।

योजना के मुख्य पहलु  

फसलों के बीजों को जिले के कृषि विज्ञान केंद्रों में रोपित किया जाता है। इन बीजों को ब्रीडर बीज कहा जाता है। अगले वर्ष ब्रीडर बीज से जो फसल का उत्पादन होता है उस बीज को फाउंडेशन बीज कहते हैं| जिसमे से यह बीज समूह में शामिल किसानों को खेत के 0.1 हैक्टेयर क्षेत्र में बुवाई करने के लिए दिए जाते हैं। 01 साल बाद किसानों के खेतों में जो बीज तैयार होते है उसे प्रमाणिक (सर्टिफाइड) बीज कहा जाता है। इन बीजों को दुबारा बुबाई के लिए काम में लाया जाता है| इस पूरी प्रक्रिया से किसानो की फसलो को सुरक्षित रखने मे मदद मिलती है| इस योजना से अपने क्षेत्र में बीज उत्पादन करने के बाद किसानों को अन्य राज्यों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा और उनके लिए आसानी से बीज उपलब्ध हो जाएंगे।

बीज ग्राम योजना का मुख्य उद्देश्य

बीज ग्राम योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को उनके ही क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता वाले बीज उपलब्ध करवाना है, ताकि उन्हे आत्मनिर्भर बनाना जा सके|

गुणवत्तापूर्ण बीजों से होगा फसलों का उत्पादन

फसलों के बेहतर उत्पादन के लिए गुणवत्तापूर्ण बीजों का होना अति आवश्यक है | जिसमे से खेतों में गुणवत्तापूर्ण बीज की बुवाई करने पर फसल की उत्पादन क्षमता को वढाया जाता है| उत्पादन क्षमता वढने से फसलो की पैदावार मे वढ़ोतरी देखने को मिलती है और किसानो की आय मे भी इजाफा आता है| अब किसानो की सीथति का ध्यान रखते हुए सरकार दवारा अपने क्षेत्र मे ही गुणवत्तापूर्ण बीज को उपलव्ध करवाएगी, ताकि किसानो को इसकी प्रापित के लिए दूसरे राज्यों मे न जाना पडे|

प्रामाणिक बीज के उत्पादन से किसानो को किया जाएगा प्रेरित

प्रामाणिक बीजों के उत्पादन के लिए किसानो को प्रेरित करने हेतु किसी खास तरह की नहीं बल्कि सामान्य तरीके से ही खेती करने के लिए वताया जाता है। जिसमे से किसानो दवारा कृषि विज्ञान केंद्र से फाउंडेशन बीज लाने के बाद उन्हें साधारण तरीके से ही खेतों में बोया जाता है, सिर्फ किसानों को इस बात का ध्यान रखना होता है, कि उन बीजों में किसी अन्य फसल का बीज मिश्रित ना हों। उदाहरण के रूप में यदि कोई किसान गेंहू के बीज को तैयार करना चाहता है, तो इसके लिए सभी कार्य साधारण तरीके से ही किए जाने चाहिए और किसानो को केवल इस बात का ध्यान रखना होगा कि उनमें किसी अन्य फसल का बीज न मिल पाए| इसके अलावा उन्हें फसल के रोग से भी वचाना होगा| यदि फसल में कोई रोग लग जाता है, तो ऐसे मे प्रामाणिक बीज नहीं बन पायेगा और किसानो दवारा फसल बोने पर की गई मेहनत वेकार चली जाएगी| इसलिए किसानो को प्रामाणिक बीजों के उत्पादन का पता होना चाहिए| जिन किसानो को प्रामाणिक बीजों के उत्पादन के लिए खेती करने पर किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड रहा है, तो वे अपने क्षेत्र मे कृषि विशेषज्ञों से सलाह ले सकते हैं|  

योजना के तहत किसानो को मिलने वाली सब्सिडी 

किसानों को फसल के उत्पादन के लिए उच्च कोटि एवं गुणवत्ता पूर्वक बीज मुहैया करवाए जाते हैं। इन बीजों के साथ ही साथ किसानों को उत्पादन के लिए सरकार दवारा सब्सिडी भी प्रदान की जाती है। यह सब्सिडी पात्र लाभार्थीयों को 25% की दर से प्रदान की जाती है। इसके आलावा उन्नत प्रकार के बीजों के उत्पादन के लिए खाद, दवा और उपयोग में आने वाले कृषि यंत्रों पर भी सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता हैं।

BEEJ GRAM SCHEME

बीज ग्राम योजना के प्रमुख लाभ

  • बीज ग्राम योजना का लाभ देश के किसान भाइयो को प्रदान किया जाएगा|
  • योजना के तहत देश के किसानों को सरकार दवारा अच्छी क्वालिटी के बीज प्रदान किए जाते हैं।
  • कृषकों को उच्चकोटि के गुणवत्तापूर्ण बीज अब उन्हे अपने क्षेत्र मे ही उपलब्ध करवाए जाएंगे|
  • इन बीजों की मदद से किसानो को खेती करने मे सहायता मिलेगी ।
  • योजना से जुड़ने के लिए 60 से 100 किसानों का एक समूह तैयार किया जाता है।
  • सरकार द्वारा बीजों के साथ-साथ किसानो को 25% की सब्सिडी भी प्रदान की जाती है|
  • कृषि विशेषज्ञों द्वारा कृषकों को बीज बोनें से लेकर उनकी देख-रेख के साथ ही उन्हें प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है|
  • कृषि विशेषज्ञों से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद किसान अपने आप गुणवत्तापूर्ण बीज उत्पादित कर सकेंगे|
  • उच्चकोटि के बीज बोने से फसलों का उत्पादन बढनें के साथ ही उनकी गुणवत्ता बेहतर हो जाएगी|
  • किसान इन गुणवत्तापूर्ण बीजों का उत्पादन करके उन्हें बेचकर अतिरिक्त लाभ भी प्राप्त कर सकेंगे|
  • इसके अलावा किसान फाउंडेशन बीज तैयार करके उसे डायरेक्ट कृषि विज्ञान केंद्र या राज्य बीज निगम को विक्रय भी कर सकते है ।
  • इस योजना का लाभ किसान अपने नजदीकी‌ कृषि कार्यालय में जाकर प्राप्त कर सकेंगे|

Beej Gram Yojana की मुख्य विशेषताएँ

  • सरकार दवारा किसानो को गुणवत्तापूर्ण बीज उपलव्ध करवाना
  • किसानो को प्रशिक्षित कर उन्हे हर प्रकार की जानकारी कृषि विशेषज्ञों दवारा उपलव्ध करवाना|
  • 50% सब्सिडी पर बीज मुहैया करवाना|
  • किसानो को 25% अनुदान पर बीज उपलव्ध करवाना|
  • राज्यों के अनुसार खाद, दवा और कृषि यंत्र पर भी अलग-अलग अनुदान प्रदान करना।
  • किसानो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • किसानो की आय मे सुधार लाना
  • फसलो की पैदावार मे वढ़ोतरी लाना|
बीज ग्राम योजना के लिए पात्रता
  • देश के स्थायी निवासी
  • किसान भाई
Beej Gram Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर
बीज ग्राम योजना 2022 के अंतर्गत जुड़ने की प्रक्रिया

योजना के अंतर्गत जुड़ने के लिए लाभार्थी को दिए गए चरणों का पालन करना होगा :-

  • बीज ग्राम योजना से जुड़ने के लिए लाभार्थी को सवसे पहले अपने क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले कार्यालय में जाना होगा।
  • उसके बाद लाभार्थी को वहाँ से आवेदन फार्म प्राप्त करना है|
  • अब आपको इस फार्म मे दी गई सारी जानकारी ध्यान पूर्वक भरनी होगी और आवश्यक दस्तावेजों को भी फार्म के साथ अटैच करना होगा|
  • उसके बाद आपको अंत मे ये फार्म वहीं पर जमा करवा देना है, जहाँ से आपने फार्म लिया था|
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करें|  

error: Content is protected !!