मध्य प्रदेश देवारण्य योजना 2022 | आवेदन प्रक्रिया | एप्लीकेशन फॉर्म | पात्रता व उद्देश्य

 

|| MP Devaranya Yojana | मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री देवारण्य योजना | Devaranya Scheme Registration | Application Form || मध्य प्रदेश सरकार दवारा राज्य मे आयुष क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए देवारण्य योजना को लागू किया गया है| इस योजना के जरिये आयुष औषधियों के उत्पादन की एक पूरी वैल्यू चेन को विकसित किया जाएगा। जिससे राज्य मे रोजगार के अवसर को वढावा मिलेगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – देवारण्य योजना के वारे मे|

Devaranya Yojana

Madhya Pradesh Devaranya Yojana

देवारण्य योजना मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री जी दवारा शुरू की गई विशेष कल्याणकारी योजना है| जिसके अंतर्गत प्रदेश के लोगों को आयुर्वेद के माध्यम से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने और जनजातीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को रोजगार से जोडा जाएगा| इस योजना से जंगलों में मौजूद औषधियों को जनजाति तथा आदिवासी समाज की मदद से लोगों तक पहुंचाया जाएगा। इसके अलावा इंदौर शहर में आयुष सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल तैयार करके उसमें आयुर्वेदिक और यूनानी औषधि के विकास को बढ़ावा दिया जाएगा। जो लोगों को अंग्रेजी दवाइयों की जगह आयुर्वेदिक औषधियों से इलाज उपलब्ध करवाने मे मदद करेगा। जनजातीय इलाकों में स्वयं सहायता समूह का निर्माण किया जाएगा जिस कारण आदिवासी लोग सस्ते दरों पर स्वयं सहायता समूह से लोन भी ले सकेंगे और अपना कोई भी रोजगार शुरू कर सकेंगे।

योजना के मुख्य पहलु

प्रदेश में देवारण्य योजना के माध्यम से आयुष औषधियों के उत्पादन की एक पूरी वैल्यू चेन का विकास किया जाएगा| इस काम में स्व-सहायता समूहों की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी| इस योजना मे कृषि उत्पादक संगठन, आयुष विभाग, वन विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, उद्यानिकी विभाग, पर्यटन विभाग, कृषि विभाग, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग एवं जनजातीय कार्य विभाग मिलकर मिशन मोड में काम करेंगे| इस योजना से राज्य मे वैलनेस टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा| जिसके लिए गांवों की सुंदर वादियों में औषधीय पौधों की खेती की जाएगी | जिससे आयुष एवं पर्यटन को साथ-साथ लाया जाएगा|

MP देवारण्य योजना का अवलोकन

योजना का नाम देवारण्य योजना
किसके दवारा शुरू की गई मध्य प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के नागरिक
योजना से सवंधित विभाग कृषि उत्पादक संगठन, आयुष विभाग, वन विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, उद्यानिकी विभाग, पर्यटन विभाग, कृषि विभाग, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग एवं जनजातीय कार्य विभाग
प्रदान की जाने वाली सहायता आदिवासी और जनजातीय बहुलता वाले इलाकों में रोजगार और आजीविका के अवसरों को वढावा देना|
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट mp.gov.in

MP Devaranya Yojana

मुख्यमंत्री देवारण्य योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद के माध्यम से लोगो को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करना और जनजातीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को रोजगार से जोड़ना है|

मध्य प्रदेश पशुपालन लोन योजना

देवारण्य योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को मध्य प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • राज्य के आदिवासी और जनजाति के लोग इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं|
  • खेती से संबंधित काम करने वाले लाभार्थी इस योजना का लाभ ले सेकेंग|
  • किसी भी स्वयं सहायता समूह का सदस्य होना चाहिए, जो मध्य प्रदेश में कार्यरत हो।
  • व्यक्ति को सुगंधित पौधों और औषधियों के बारे में जानकारी होनी चाहिए|

मध्य प्रदेश देवारण्य योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मनरेगा कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नम्वर
 Devaranya Scheme
मध्य प्रदेश देवारण्य योजना के लाभ
  • देवारण्य योजना का लाभ मध्य प्रदेश के आदिवासी और जनजाति के लोगो को मिलेगा|
  • देवारण्य योजना के अंतर्गत प्रदेश के अनुसूचित जनजातीय क्षेत्रों के निवासियों के लिए रोजगार सृजन और आजीविका के संसाधनों को मजबूती दी जाएगी|
  • इस योजना से औषधीय एवं सुगंधित पौधों तथा उनसे बनाई जाने वाली दवाओं की डिमांड एवं सप्लाई चेन को मजबूत किया जाएगा|
  • गांवों की सुंदर वादियों में औषधीय पौधों की खेती की जाएगी।
  • इंदौर और भोपाल में आयुष सुपर स्पेशिलिटी अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा| जिसके लिए प्रदेश में 360 से अधिक नए आयुष हेल्थ और वेलनेस सेंटर्स की स्थापना भी की जा रही है।
  • इसके साथ प्रदेश के आयुर्वेदिक और यूनानी औषधालयों का उन्नयन किया जाएगा।
  • जनजातीय वर्ग के लोगों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान किए जाएंगे|
  • लोगों का इलाज आयुर्वेदिक औषधियों से किया जाएगा।
  • प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को रोजगार और आजीविका से जोड़ा जाएगा|
  • इस योजना के जरिये जनजातीय इलाकों में स्वयं सहायता समूह का निर्माण किया जा सकेगा, जिससे आदिवासी लोग सस्ते दरों पर स्वयं सहायता समूह से लोन भी ले सकेंगे और अपना कोई भी रोजगार चला सकेंगे|
  • आदिवासी बहुल इलाकों में नर्सरी स्थापित की जाएगी|
  • इसके अलावा आदिवासी इलाकों में ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा भी मिलेगा|
MP देवारण्य योजना की मुख्य विशेषताएँ
  • आदिवासी बहुल इलाकों में सुगंधित और औषधि गुण वाले पौधों की खेती करना
  • आयुष क्षेत्र को बढ़ावा देना
  • आदिवासी इलाकों में पर्यटन को बढ़ावा देना
  • नर्सरी स्थापित करना
  • अनुसूचित जनजाति वर्ग का उत्थान करना
  • आदिवासी इलाकों में नरेगा और अन्य योजनाओं का लाभ प्रदान करना
  • रोजगार और आजीविका के अवसरों को वढावा देना|
  • स्वयं सहायता समूह को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
मध्य प्रदेश देवारण्य योजना के लिए कैसे करे आवेदन
  • जो लाभार्थी योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे सवंधित विभाग के कार्यालय मे जाना होगा|
  • उसके बाद आपको वहाँ से आवेदन फॉर्म प्राप्त करना है|
  • अब आपको इस फॉर्म मे वताई गई सारी जानकारी ध्यान पूर्वक भरनी है|
  • फिर आपको फॉर्म के साथ आवश्यक दस्तावेज अटैच करने होंगे|
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको अंत मे ये फॉर्म वहाँ पे जमा करवाना है, जहाँ से आपने आवेदन फॉर्म लिया हुआ था|
  • इस प्रक्रिया के बाद विभाग दवारा आपके भरे हुए फॉर्म की जांच की जाएगी| उसके बाद ही आपको योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

error: Content is protected !!