डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना | Air Conditioner Scheme | ऑनलाइन पंजीकरण

|| Haryana Demand Side Management-AC Scheme | डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना | Demand Side Management-AC Subsidy Yojana | हरियाणा AC योजना | Online Registration ||

 

हरियाणा सरकार दवारा घरेलू ग्राहकों के लिए डिमांड साइड मैनेजमेंट AC स्कीम 2021 शुरू की गई है। जिसके माध्यम से लोगों को न्यूनतम खुदरा मूल्य (MRP) के 59% तक की छूट पर लगभग 1.05 लाख एयर कंडीशनर उपलब्ध कराए जाएंगे। लोगो को योजना का लाभ देने के लिए बिजली विभाग दवारा डेक्कन, ब्लू स्टार और वोल्टास समेत तीन नामी कंपनियों से करार किया गया है। योजना का लाभ लेने के लिए इच्छुक लाभार्थी 24 अगस्त 2021 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। कैसे मिलेगा योजना का लाभ, योजना के लिए कौन-कौन पात्र हैं और योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना के वारे मे।

Haryana Air Conditioner Scheme

 

Demand Side Management-AC Scheme

हरियाणा सरकार दवारा ऊर्जा बचत को प्रोत्साहन देने हेतु शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के घरेलू उपभोक्ताओं के लिए डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना को शुरु किया गया है। जिसके तहत प्रदेशभर में लोगों को 1.05 लाख ए.सी. न्यूनतम खुदरा मूल्य (MRP) के 59% तक छूट पर उपलब्ध करवाएं जाएंगे| प्रदेश के नागरिको को योजना का लाभ देने के लिए बिजली विभाग दवारा डैकन, ब्लू स्टार तथा वोल्टाज सहित तीन नामी कम्पनियों के साथ समझौता किया गया है। जिसके जरिए लोगों की मांग पर 1.5 टन क्षमता का बिजली खर्च की बचत करने वाले स्प्लिट एसी कम मूल्य पर उपलब्ध करवाएं जाएंगे। इसके अलावा घरेलू उपभोक्ता अपने पुराने AC को भी बदलवा सकेंगे। इस प्रकार जहां उक्त कम्पनियां नए ए.सी. खरीदने और पुराने ए.सी बदलवाने पर उपभोक्ताओं को MRP पर छूट देंगी वहीं हरियाणा सरकार द्वारा भी इन लाभार्थीयो को सब्सिडी देगी। इस योजना से उपभोक्ताओं को अतिरिक्त धन खर्च करने की आव्श्यकता नहीं होगी। लोग योजना के प्रति प्रोत्साहित होगें और बिजली की बचत होगी। योजना का लाभ लाभार्थी ऑनलाइन पंजीकरण करके प्राप्त कर सकेगें।

डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना रजिस्ट्रेशन

जो इच्छुक लाभार्थी योजना का लाभ लेना चाहते हैं, वे बिजली विभाग की अधिकारिक वेब्साइट पे जाकर पंजीकरण कर सकते हैं। https://acreplacementscheme.uhbvn.org.in/  पंजीकरण के बाद ही लाभार्थीयो को योजना का लाभ मिलेगा।

योजना के अंतर्गत मिलने वाली सब्सिडी

  • शहरी क्षेत्रों में नया एसी खरीदने पर 2000/- रुपये और पुराना एसी बदलवाने पर 4000/- रुपये की सब्सिडी दी जाएगी। जिसमे से शहरी उपभोक्ताओं को नये एसी के लिए 37548 रुपए देने होंगे। वहीं पुराने एसी को बदलने पर उन्हें नया एसी 32413 रुपए में मिलेगा।
  • इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्रों में नया एसी खरीदने पर 4000/- रुपये व पुराना एसी बदलवाने पर 8000 रुपये की सब्सिडी मिलेगी। ग्रामीण उपभोक्ता अगर नया एसी लेते हैं तो उन्हें सबसिडी के बाद 35548 रुपए में डेढ़ टन का एसी मिलेगा। वहीं अगर पुराने एसी की एक्सचेंज ऑफर उपभोक्ता लेते हैं तो उन्हें सबसिडी के बाद एसी 28413 रुपए में दिया जाएगा।

योजना का कार्यान्वयन

योजना के कार्यावयन के लिए उक्त एसी ईकाइयों के उपयोग से राज्य में 68 एमयू ऊर्जा की बचत होगी तथा बिजली की मांग में 75.6 मेगावाट की कमी आएगी। इससे पहले 2016 में एक योजना के तहत बिजली विभाग ने राज्य में 1.56 करोड़ एलईडी बल्ब व 2.30 लाख टयूब लगवाई हैं। उससे भी राज्य को 232.42 मेगावाट बिजली की बचत हुई है, जो अपने आप में ऐतिहासिक व बदलाव का सूचक है।

योजना के तहत तीन ब्रांडों पर मिलेगी छूट  

  1. Daikin
  2. Blue star
  3. Voltas

बिजली के बिल में भी होगी बचत

उपभोक्ताओं को नए एसी से बिजली के बिल में भी बचत होगी। इन ऊर्जा बचत करने वाले नए एसी लगाने से 3 स्टार क्षमता तक के पुराने एसी की तुलना में 657 बिजली की यूनिट और करीब 5000/- रुपये तक वार्षिक बचत होगी। इनके साथ ही कम्प्रैसर की 10 वर्ष तक तथा अन्य सभी उपकरणों पर 01 वर्ष तक की वारंटी मिलेगी। इस योजना के तहत उपभोक्ता के घरों में नि:शुल्क एसी फिट करने की पूरी जिम्मेदारी अधिकृत डीलर की ही होगी। 

डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश मे बिजली की खपत को कम करने के लिए लोगो को सस्ती दरों पर AC उपलव्ध करवाना है।

Demand Side Management-AC Yojana के लिए पात्रता

  • हरियाणा राज्य के स्थायी निवासी
  • ग्रामीण व शहरी इलाको के नागरिक
  • उपभोक्ता का UHBVN/DHBVN से घरेलू कनेक्शन होना चाहिए
  • उपभोक्ता डिफॉल्टर नहीं होना चाहिए।

हरियाणा डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • मोबाइल नम्वर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना के लाभ

  • डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना का लाभ हरियाणा राज्य के स्थायी निवासियों को मिलेगा।
  • योजना के जरिए लोगो को AC खरीदने पर छूट दी जाएगी।
  • लोगो को सस्ती दरों पर AC उपलव्ध करवाए जाएगें।
  • लाभार्थी अपने पुराने AC को भी बदलवा सकेंगे।
  • उक्त कम्पनियों दवारा नए AC खरीदने और पुराने AC बदलवाने पर उपभोक्ताओं को MRP पर छूट दी जाएगी। जिसमे हरियाणा सरकार द्वारा भी इन लाभार्थीयो को सब्सिडी मिलेगी।
  • शहरी क्षेत्रों में नया AC खरीदने पर लाभार्थीयो को 2000/- रुपये और पुराना एसी बदलवाने पर 4000/- रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में नया एसी खरीदने पर 4000/- रुपये व पुराना AC बदलवाने पर उन्हे 8000 रुपये की सब्सिडी मिलेगी।
  • कम्प्रैसर की 10 वर्ष तक तथा अन्य सभी उपकरणों पर 01 वर्ष तक की वारंटी भी दी गई है।
  • इस योजना से 657 बिजली की यूनिट और करीब 5000/- रुपये तक वार्षिक बचत होगी।

Demand Side Management-AC Scheme की मुख्य विशेषताएं

  • प्रमुख एसी ब्रांडों से आकर्षक buy-back ऑफर
  • MRP पर 59 फीसदी तक की छूट
  • सुपर-कुशल एसी बनाम 3-स्टार एसी का उपयोग करके अनुमानित वार्षिक बचत
  • बिजली की बचत – 657 यूनिट
  • बिजली बिल में कमी- 4664 रुपये लगभग।
  • वारंटी: पूरे उपकरण के लिए 1 वर्ष कंप्रेसर के लिए 10 वर्ष
  • अधिकृत डीलर उपभोक्ता के परिसर में एसी लगवाए जाएगें।

उपभोक्ताओं के लिए दर और डिस्कॉम द्वारा डीलर को दी जाने वाली सब्सिडी

Demand Side Management-AC scheme

उपभोक्ता द्वारा वहन किया जाने वाला स्थापना शुल्क

Air Conditioner Scheme

AC की मानक स्थापना निम्नलिखित दायरे को कवर करती है:

  • कॉपर पाइपिंग 3 मीटर लंबाई।
  • बिजली की आपूर्ति केबल 3 मीटर लंबाई।
  • तांबे की पाइपिंग का इन्सुलेशन।
  • आवश्यक सामान और ब्रैकेट (स्टैंड) के साथ इंडोर और आउटडोर इकाइयों की माउंटिंग।
  • तांबे की पाइपिंग के साथ इनडोर और आउटडोर इकाइयों को जोड़ना।
  • बिजली की आपूर्ति के साथ एयर कंडीशनर का कनेक्शन।
  • 3 मीटर लंबाई के ड्रेन पाइप उपलब्ध कराना।
  • मामूली सिविल कार्य।
  • 10 साल की कंप्रेसर वारंटी।

Demand Side Management-AC योजना के लिए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश

  • डिमांड साइड Management-AC योजना पंजीकरण के समय, उपभोक्ता को अपनी पसंद के आधार पर निर्माता का चयन करना होगा|
  • पंजीकरण पूरा होने और अद्वितीय पंजीकरण संख्या जारी करने के बाद किसी भी समय चयन नहीं बदला जाएगा।
  • वही पंजीकरण संख्या कार्यान्वयन एजेंसी द्वारा चयनित निर्माता के साथ साझा की जाएगी।
  • उपभोक्ता को आवेदन प्रक्रिया के प्रत्येक चरण में SMS प्राप्त होगा ।
  • उपभोक्ता को उस डीलर का संपर्क नंबर प्राप्त होगा जो एसी की जगह लेगा, इसके लिए उपभोक्ता को बुकिंग के संदर्भ में उस ओईएम / निर्माता को कॉल करना होगा, और फिर डीलर उपभोक्ता परिसर में पुराने स्थापित एसी का भौतिक सत्यापन करेगा।
  • अगर सब कुछ ठीक हो जाता है, तो उपभोक्ता को नया एनर्जी एफिशिएंट AC दिया जाएगा।

डिमांड साइड मैनेजमेंट-एसी योजना के लिए कैसे करें आवेदन

Demand Side Management-AC scheme apply online

  • उसके बाद आप अगले पेज मे आ जाओगे।

Demand Side Management-AC scheme online registration

  • इस पेज मे आपको दिए गए ऑप्शन पे किल्क करने के बाद दी गई जानकारी भरनी है।

Demand Side Management-AC scheme online registration 2

 

  • उसके बाद आपको update बटन पे किल्क कर देना है।
  • इस तरह आपके दवारा योजना के अंतर्गत आवेदन कर दिया जाएगा।

लॉगिन कैसे करें

  • लॉगिन करने के लिए लाभार्थी को सवसे पहले अधिकारिक वेब्साइट पे जाना होगा। 
  • उसके बाद आपको Customer Login वाले ऑप्शन पे किल्क करना होगा।

Demand Side Management-AC scheme login

  • अब आपके सामने अगला पेज खुलके आएगा।

Demand Side Management-AC scheme login 2

  • इस पेज मे आपको दी गई जानकारी भरने के बाद login बटन पे किल्क कर देना है।
  • इस तरह आपके दवारा लॉगिन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!