खाद के साथ बीमा योजना 2020 | फ्री दुर्घटना बीमा | पूरी जानकारी | कैसे करें आवेदन

खाद के साथ बीमा योजना | Khad ke Sath Bima Scheme | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | How to Registration


किसानो को बीमा कवरेज प्रदान करने और उन्हे आर्थिक रुप से मजबूत वनाने के लिए IFFCO दवारा खाद के साथ बीमा योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए किसानो को खाद की खरीद पर मिलेगा 1 लाख रूपये का दुर्घटना बीमा। कैसे मिलेगा लाभ और आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – खाद के साथ बीमा योजना 2020 के वारे मे।

 

खाद के साथ बीमा योजना | Khad ke Sath Bima Yojana

 

भारतीय किसान उर्वरक सह संचालक लिमिटेड (IFFCO) दवारा किसानो की सिथति को वेहतर वनाने और उन्हे बीमा कवरेज प्रदान करने के लिए खाद के साथ बीमा योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत किसानों को खाद की खरीद पर अधिकतम 1 लाख रूपये तक का बीमा कवरेज प्रदान किया जाएगा। जिसमे इफको खाद (फर्टिलाइजर) के प्रत्येक कट्टे पर किसानो को 4000 रूपये का दुर्घटना बीमा दिया जाएगा और एक किसान को अधिकतम 25 कट्टों पर 1,00,000 रूपये का इंश्योरेंस कवर उपलव्ध करवाया जाएगा।

फ्री दुर्घटना बीमा | Free accident insurance

खाद के साथ बीमा योजना का लाभ देने के लिए किसानो का मुफ्त मे दुर्घटना बीमा करवाया जाएगा। जिसमे उर्वरक खाद के कट्टों पर मिलने वाले दुर्घटना बीमा के तहत दुर्घटना में मृत्यु (accidental death) होने पर किसान के परिजनों को 1 लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा दुर्घटना में आंशिक रुप से घायल होने या दो अंग क्षतिग्रस्त होने पर लाभार्थी को 2000 रुपये प्रति कट्टा के हिसाब से अधिकतम 50,000 रुपये तक की  बीमा राशि का भुगतान और एक अंग क्षतिग्रस्त होने की दशा में 1000 रुपये प्रति कट्टा के हिसाब से बीमा कवरेज कंपनी द्वारा लाभार्थी के परिवार के बैंक खाते में ट्रांसफर किए जाने का प्रावधान है। इस इंश्योरेंस प्रीमियम का पूरा भुगतान इफको द्वारा किया जाएगा।

खाद के साथ बीमा योजना के लिए किसान कैसे कर सकते हैं दावा | How can farmers claim for Khad ke Sath Bima Yojana

खाद के साथ बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए किसान के पास उर्वरक की खरीद की रसीद का होना जरूरी है| किसान के पास जितने भी कट्टों की रसीद होगी किसान उसी के हिसाब से योजना का लाभ ले सकेंगे। किसानों को कट्टों की खरीद के हिसाब के दुर्घटना राशि का भुगतान किया जाएगा। किसी भी दुर्घटना में किसान की मृत्यु होने पर उसके परिवार का सदस्य योजना का लाभ उठाने के लिए दावा पेश  कर सकते हैं। इसके लिए उनके पास पोस्टमार्टम की रिपोर्ट और पंचनामा का होना जरुरी है। इसके अलावा आंशिक रुप से घायल होने पर लाभार्थी के पास एक्सीडेंट की पुलिस रिपोर्ट का होना आव्श्यक है।

उद्देश्य | An Objective

योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को खाद की खरीद पर अधिकतम 1 लाख रूपये तक का बीमा कवरेज प्रदान कर उन्हे जागरुक व आत्म-निर्भर वनाना है।

पात्रता | Eligibility

  • देश के स्थायी निवासी
  • किसान वर्ग

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents 

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • उर्वरक की खरीद की रसीद
  • मृत्यु होने की दशा मे FIR, पोस्टमार्टम, पंजीयन प्रमाण पत्र, पंचनामा आदि दस्तावेज
  • आंशिक रुप से घायल या अंपग होने पर मेडिकल सर्टीफिकेट, पुलिस रिपोर्ट आदि दस्तावेज      
  • बैंक खाता
  • मोबाइल नम्वर

लाभ | Benefits

  • खाद के साथ बीमा योजना का लाभ किसान भाइयों को मिलेगा।
  • योजना के जरिए किसानों को खाद की खरीद पर अधिकतम 1 लाख रूपये तक का बीमा कवरेज प्रदान किया जाएगा।
  • आंशिक रुप से घायल होने पर लाभार्थी को 2000 रुपये प्रति कट्टा के हिसाब से अधिकतम 50,000 रुपये मिलेगें।  
  • एक अंग क्षतिग्रस्त होने की दशा में लाभार्थी को 1000 रुपये प्रति कट्टा के हिसाब से बीमा कवरेज कंपनी द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • लाभार्थीयो को दी जाने वाली धनराशि का भुगतान सीधे उनके बैंक खाते मे किया जाएगा।
  • इस योजना से लाभार्थीयो का फ्री दुर्घटना बीमा करवाया जाएगा।
  • योजना के जरिए प्रीमियम का पूरा भुगतान इफको द्वारा किया जाएगा।
  • इस योजना से लाभार्थी का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • पारिवारिक सिथति मे सुधार होगा।    

विशेषताएं | Features

  • बीमा कवरेज प्रदान करना
  • आंशिक रुप से घायल होने और मृत्यु उपरांत के दौरान मिलेगी आर्थिक सहायता
  • लाभार्थीयो को आत्म-निर्भर व जागरुक वनाया जाएगा

खाद के साथ बीमा योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Khad ke Sath Bima Yojana

  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को योजना संवधित बीमा कंपनी कार्यालय मे जाना है।
  • यहां आपको आवेदन फार्म भरने के लिए दिया जाएगा।
  • इस फार्म मे लाभार्थी को दी गई सारी जानकारी सही-सही भरनी होगी।
  • उसके बाद आपको आव्श्यक दस्तावेज अटैच करने होगें। जैसे -अगर लाभार्थी की मृत्यु हो गई है तो उसके परिवारवालो को पोस्टमार्टम की रिपोर्ट और पंचनामा आदि देने होगें। अगर लाभार्थी आंशिक रुप से घायल हुआ है तो उसे एक्सीडेंट की पुलिस रिपोर्ट, आधार कार्ड, स्थायी प्रमाण पत्र, उर्वरक की खरीद की रसीद आदि दस्तावेज जमा करवाने होगें।
  • सारी जानकारी भरने के बाद लाभार्थी को आवेदन फार्म कार्यालय मे जमा करवा देना है।
  • फार्म जमा करवाने के बाद लाभार्थी के बैंक खाते मे राशि को स्थानातरित कर दिया जाएगा।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें। 

error: Content is protected !!