Updated : Mar 10, 2020 in Yojana

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना | पूरी जानकारी | कैसे करें आवेदन

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना | Chief Minister Solar Pump Yojana

 

मध्य प्रदेश सरकार दवारा किसानों के लिए सब्सिडी दर पर सोलर पम्प लगाने के लिए मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार एवं मध्य प्रदेश सरकार द्वारा सोलर पम्प की स्थापना करने पर 90% तक का अनुदान किया जाएगा। इस योजना से राज्य के किसानो को खेत में सिंचाई करने के लिए सोलर पम्प वितरित किये जायेगे, जिससे किसान अपने खेतो में आसानी से सिंचाई कर सकते है। राज्य के 2 लाख से अधिक किसानों को इस योजना का लाभ देने का प्रावधान है। ये योजना उन लाभार्थीयों के लिए शुरु की गई है जहां पर बिजली की पहुंच नहीं है और कृषी पंपो हेतु स्थायी कनेक्शन की सुविधा नही है। जहाँ खेत की दूरी बिजली की लाईन से 300 मीटर से अधिक है और नदी, बाँध के समीप ऐसे स्थान हैं जहा पर पानी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो, एवं फसलों के चयन के कारण जहाँ वाटर पंपिंग की आवश्यकता ज्यादा रहती है। इस सिथति को देखते हुए सरकार दवारा इस योजना को शुरु किया गया है, ताकि किसानों को किसी प्रकार की दिक्क्त का सामना न करना पडे। इस योजना से अब डीज़ल पम्प के स्थान पर सरकार द्वारा खेत की सिंचाई के लिए सोलर पंप लगाए जा रहे हैं। जिससे सिचित भूमि का क्षेत्रफल बढेगा और कृषी उत्पादन में वढोतरी होगी। 

 

उद्देश्य | An Objective

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य सरकार दवारा किसानो को खेत में सिंचाई करने के लिए सोलर पम्प उपलव्ध करवाना है, जिसके लिए सरकार दवारा 90% तक का अनुदान किया जाएगा।

पात्रता | Eligibility

  • मध्य प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • किसान वर्ग

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

मुख्यमंत्री सोलर पंप के प्रकार और राशी का विवरण | Description of type and amount of CM solar pump

लाभ | Benefits

  • मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना का लाभ मध्य प्रदेश के स्थायी किसानों को मिलेगा।
  • इस योजना के लिए जिन स्थानों पर बिजली की व्यवस्था नहीं है, उन क्षेत्रों के किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पम्प उपलब्ध करवाए जाएगें।
  • इस योजना से सिंचाई द्वारा भूजल संरक्षण किया जाएगा और डीजल के उपयोग से पम्प द्वारा सिंचाई करने से होने वाले प्रदूषण को कम होगा।
  • किसानों को 90% सब्सिडी दर पर सोलर पम्प उपलब्ध करवाए जाएगें, जिससे राज्य में बागवानी की फसलों को बढ़ावा मिलेगा।
  • ये सोलर पम्प नि:शुल्क प्रदान किये जायेंगे।
  • सोलर पम्प संयंत्र का उपयोग केवल सिंचाई के लिए किया जाएगा।
  • इस योजना के लिए आवश्‍यक जल भण्‍डारण की आवश्यकता अनुसार ही उपयोग किया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ उन किसानों को मिलेगा, जहाँ बिजली की पहुँच तो है किन्तु विद्युत लाइन से कम से कम वहां 300 मीटर की दूरी है।
  • इस योजना से राज्य के किसानों को सिंचाई में होने वाले खर्च को कम करने में मदद मिलेगी।
  • इस योजना से प्रदेश विद्युत कंपनियों द्वारा बिजली की अस्थाई कनेक्शन को कम किया जाएगा।
  • इस योजना से कृषि योग्य भूमि में सोलर पम्प द्वारा सिंचाई की व्यवस्था उपलब्ध करवाकर कृषि क्षेत्र का विस्तार होगा।

सोलर पंप के आवेदन हेतु निम्नलिखित नियम, शर्ते एवं दिशा-निर्देश | Following rules, conditions and guidelines for application of solar pump

  • इस योजना को सम्पूर्ण प्रदेश में जिलेवार निर्धारित लक्ष्य के अनुसार समस्त कृषकों के लिए लागू किया गया है।
  • निर्धारित आवेदन के साथ निर्धारित राशि रू. 5,000/- ‘‘मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड, भोपाल’’ के पक्ष में ऑनलाईन माध्यम से ‘‘मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड, भोपाल’’ को आवेदन के साथ प्राप्त होना अनिवार्य है, अन्यथा आवेदन निरस्त किया जाएगा।
  • सोलर पम्प स्थल उपयुक्त/चयन न होने पर पंजीयन राशि. 5,000/- रुपये निगम द्वारा आवेदक को वापिस दी जाएगी, लेकिन उसे कोई ब्‍याज देय नहीं होगा।
  • निर्धारित लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने की स्थिति में प्राप्त हुए समस्त आवेदनों का निर्धारित प्रक्रिया के माध्यम से ही लाभार्थी का चयन किया जाएगा।
  • चयन की सूचना मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड द्वारा दिये जाने पर लाभार्थी को शेष राशि ऑनलाईन के माध्यम से मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड भोपाल को देनी होगी।
  • राशि प्राप्त होने के पश्‍चात् लगभग 120 दिवस में सोलर पम्पों की स्थापना का कार्य पूर्ण किया जाएगा। जिससे विशेष परिस्थितियों में समयावधि को बढ़ाई जा सकता है। स्थापना का कार्य पूर्ण करने में देरी होने पर म.प्र. ऊर्जा विकास निगम का किसी भी प्रकार का कोई दायित्व नहीं होगा।
  • सोलर पम्प की स्थापना एवं संतोषप्रद प्रदर्शन उपरांत समस्त संयंत्र लाभार्थी को सौंप दिया जाएगा।
  • इस योजना के लिए स्थापित सोलर पम्प की जानकारी वाला बोर्ड सोलर पम्प पर लगाया जाएगा।
  • हितग्राहियों द्वारा आवश्यकता पड़ने पर मुख्य रोड से साईट (जहाँ पर सोलर पम्प की स्थापना की जानी है) वहाँ तक के ट्रान्सपोर्टेशन व स्थापना में सहयोग दिया जाना अनिवार्य होगा।
  • किसी भी प्रकार की टूट-फूट/चेारी या क्षतिग्रस्‍त होने की स्थिति में तीन दिन में पुलिस में एफ.आई.आर. करवाई जा सकती है। इसके अलावा स्‍थापनाकर्ता इकाई एवं जिला कार्यालय को भी तत्‍काल सूचित किया जा सकता है। ताकि स्‍थापनाकर्ता इकाई Insurance Claim हेतु कार्यवाही की जा सके। Insurance Company द्वारा मान्‍य होने पर ही टूट-फूट / चोरी या क्षतिग्रस्‍त हेतु सुधार का कार्य मान्‍य माना जाएगा।
  • पम्‍प की स्‍थापना के उपरांत लाभार्थी को स्‍थापनाकर्ता इकाई से उनके कम्‍पनी के कार्यालय का मोबाइल नम्‍बर, प्रदेश स्‍तर का सर्विस सेन्‍टर का मोबाइल नम्‍बर एवं जिला स्‍तर के प्रतिनिधि का फोन नम्‍बर अवश्‍य प्राप्‍त करना चाहिए। ताकि आवश्यकता पडने पर इन्हें फोन किया जा सके।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के लिए आवेदन कैसे करें | How to apply for Chief Minister Solar Pump Scheme

पहला कदम | First Step 

  • मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक सवसे पहले अधिकारिक वेव्साइट पे जाएं। 
  • अब आपको आवेदन करने के लिए “नवीन आवेदन करें” वाले ऑपशन पे किल्क करना है।

  • यहां किल्क करते ही आप अगले पेज में आ जाएगें।
  • यहां आपको अपना मोबाइल नम्वर भरने के बाद OTP भेजे वाले वटन पे किल्क करना है।
  • उसके बाद आपके मोबाइल पर OTP भेजा जाएगा।
  • अब आपको OTP सत्यापन के उपरांत लाभार्थी को सारी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • उसक आवेदक का नाम, जिला, तहसील, गांव आदि सभी जानकारी भरकर आपको “Next” बटन पर क्लिक करना है।
  • अब आप अगले पेज में आ जाएगें। यहॉं आपको आधार eKYC, बैंक अकाउंट संबंधी जानकारी, जाति स्वा-घोषणा, जमीन से संबंधित जानकारी और सोलर पंप की जानकारी दर्ज करनी होगी। जिसके लिए चरण प्रक्रिया नीचे दी गई है।

अगला कदम | Next Step

  • अब आपको आधार eKYC का फॉर्म भरना होगा। उसके बाद आपको “Next”के बटन पर क्लिक करना है।
  • यहां किल्क करते ही आप अगले पेज में आ जाएगें। यहां आपको Bank Account Details भरनी होगी। इसके बाद, आपको समग्र की जानकारी भरनी है।
  • उसके बाद आपको जाति, खसरा मैपिंग की जानकारी भरने के लिए आपको दो ऑप्शन दिखाई देंगे। आपको आधार से जुडे खसरे प्राप्त करना वाले वटन पर क्लिक करना है।
  • अब आपको आधार से जुडे खसरे लिंक करने के लिए “लिंक करें” बटन पर क्लिक करना है। उसके बाद Khasra Application के लिए सूचीबद्ध तैयार हो जाएगी।
  • अगर लाभार्थी का खसरा संवधित जानकारी आधार से संलग्न नही हैं, तो अन्य खसरे लिंक करने के लिए “Click Here” बटन पर क्लिक करना है।
  • अब आप अगले पेज में आ जाएगें, यहां आपको अपना जिला, तहसील, खसरे आदि का चयन करना है। अब चुने गए खसरे को जोडने के लि‍ए आपको Khasra Link बटन में क्लिक करना होगा।
  • अंत में मैं प्रमाणित करता/ करती हूँ कि मेरे द्वारा दी जा रही उपरोक्त जानकारी पूर्णत: सत्य है, के चेकबाक्स को चुनकर आपको सारा प्रमाण देते हुए खसरे चुनकर ‘सुरक्षिरत करें’ बटन पर क्लिक करना है। यहां पर किल्क करते ही आपका इस योजना के लिए आवेदन कर दिया जाएगा।

महत्वपूर्ण डाउनलोड | Important Downloads

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!