Marriage Registration 2024 : ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन स्टेटस

Marriage Registration : भारतीय कल्चर में विवाह को पवित्र  माना गया है। यह दो लोगों के बीच एक पवित्र बंधन है, जिसके तहत पति-पत्नी अपने जीवन के बाकी हिस्सों को एक साथ बिताने के लिए राजी होते है । भारत में विवाह पंजीकरण कानून वनाया गया है। जिसके तहत आप लीगल तरीके से अपना विवाह कर सकते है | उसके लिए पात्र लाभार्थी को शादी प्रमाण पत्र बनाना आवश्यक होता है| जिसके लिए आवेदन ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड के जरिये किया जा सकता है| आवेदन के बाद लाभार्थी को शादी प्रमाण पत्र जारी किया जाता है| जो उसके अनेक कामो मे सहायता पहुचाता है| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ़ना होगा|    

Marriage Registration 2024

Marriage Registration 2024

देश में अब शादी प्रमाण पत्र बनाना भारत सरकार दवारा अनिवार्य कर दिया गया है। जिसके जरिये अब भारत के हर नागरिक दवारा शादी के उपरांत विवाह प्रमाण पत्र बनवाया जाएगा । इस प्रमाण पत्र को विवाह रजिस्ट्रेशन के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है। लोगो को इस सुविधा का लाभ देने के लिए सरकार दवारा विवाह पंजीकरण के लिए राज्यवार आधिकारिक वेबसाइट को भी लांच किया गया है। अत: अब नागरिक अपने राज्य का चुनाव कर विवाह पंजीकरण के लिए आवेदन कर सकेगें|

About of Marriage Registration

आर्टीकल का नामविवाह पंजीकरण
किसके दवारा शुरू की गईभारत सरकार दवारा
लाभार्थीदेश के नागरिक 
प्रदान की जाने वाली सहायता विवाह के लिए पंजीकरण की सुविधा 
आवेदन प्रक्रिया

आधिकारिक वेवसाइट 

ऑनलाइन/ ऑफलाइन 

राज्यवार आलग-आलग है 

विवाह पंजीकरण का उद्देश्य

सभी विवाहित जोड़ों का शादी के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन के जरिये पंजीकरण करवाना है, ताकि उनका विवाह धूमधाम से किया जा सके |

शादी प्रमाण पत्र

शादी के लिए रजिस्ट्रेशन सभी विवाहित जोड़ों को करवानी होती है| रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद ही सरकार द्वारा लाभार्थी को विवाह प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है। यह प्रमाण पत्र पति-पत्नी के सबंध को प्रमाणित करता है।

विवाह प्रमाण पत्र की आवश्यकता

शादी प्रमाण पत्र विवाह के पंजीकरण का एक प्रमाण होता है। इसकी आवश्यकता तब होती है जब आपको यह साबित करना हो कि आपका विवाह किसी के साथ कानून संपन्न हुआ है| इसके अलावा इसकी आवश्यकता पासपोर्ट प्राप्त करने, गौत्र परिवर्तन करने, देश की नागरिकता दिलाने, महिलाओं को उनके अधिकार दिलाने आदि मे होती है।

विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन (ऑनलाइन व ऑफलाइन)

  • अगर लाभार्थी विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना चाहते हैं तो उन्हे अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इससे उनके समय और पैसे दोनों की बचत होगी और प्रणाली में पारदर्शिता भी आएगी।
  • लाभार्थी दवारा विवाह प्रमाण पत्र के लिए ऑफलाइन आवेदन भी किया जा सकता है| इसके लिए उन्हे फार्म भरने के लिए दिया जाता है और एक निर्धारित शुल्क का भी उन्हे भुगतान करना होता है। ये शुल्क अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग निर्धारित किया गया है।

विवाह पंजीयन की अवधि

शादी की तारीख से 30 दिन के अंदर विवाह का पंजीयन करना अनिवार्य है, यदि कोई व्यक्ति इस समय सीमा में विवाह का पंजीयन नहीं कराता है तब उस पर 500 रुपये का अर्थ दंड आरोपित किया जा सकता है और प्रत्येक दिन के विलम्ब के लिए 2 रुपये विलम्ब शुल्क लाभार्थी से वसूल किया जाएगा। राज्य सरकार विवाह पंजीयन अधिकारी को नियुक्त करेगा।

विवाह के लिए आयु सीमा

भारतीय कानून के अंतर्गत आयु बिल में निर्धारित किया गया है की पत्नी की आयु विवाह के लिए 18 वर्ष या उससे अधिक और पति की आयु 21 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए|

Marriage Registration के लिए पात्रता

  • देश के स्थायी निवासी
  • आवेदक पुरुष की आयु 21 वर्ष तथा महिला की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।
  • विवाह पंजीकरण शादी के 1 महीने के अंदर किया जाना चाहिए|
  • यदि वर या वधू में से किसी का तलाक हुआ है तो उनको तलाक प्रमाण पत्र जमा करना होगा।
  • विवाह पंजीकरण के लिए वर-वधु को शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • जिस क्षेत्र में आवेदक विवाह के लिए आवेदन करेंगे उस क्षेत्र में वर या वधु को निवास करते हुए 6 महीने से अधिक होने चाहिए।

विवाह पंजीकरण के लिए जरुरी दस्तावेज  

  1. वर एवं वधू का आधार कार्ड
  2. शादी के समय की फोटो
  3. आवासीय प्रमाण पत्र
  4. शादी का निमंत्रण कार्ड
  5. वर वधु का आयु प्रमाण पत्र
  6. वर-वधु की पासपोर्ट साइज फोटो
  7. शादी के समय 02 गवाह के बारे में पूरी जानकारी एवं उनका प्रमाण पत्र।
  8. यदि अगर शादी विदेश में हुयी हो तो वहां के अधिकारी द्वारा नो ऑब्जेक्शन का प्रमाण पत्र।

marriage certificate 1

विवाह पंजीकरण के लाभ

  • विवाह प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए लाभार्थी दवारा विवाह पंजीकरण करवाया जाता है।
  • यह पंजीकरण करवाना सभी विवाहित जोड़ों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है।
  • विवाह पंजीकरण करवाने के लिए लाभार्थी को एक निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होता है।
  • भारतीय कानून के अनुसार यह एक प्रकार का कानूनी प्रमाण है।
  • नागरिकता प्राप्त करने के लिए इस प्रमाण पत्र का उपयोग किया जाता है।
  • जीवन बीमा के फायदे लेने के लिए ये प्रमाण पत्र काम आता है|
  • भारत मे स्थित विदेशी दूतावासो या विदेश मे किसी को पत्नी साबित करने के लिए विवाह प्रमाणपत्र देना अनिवार्य है |
  • पति पत्नी के बीच किसी तरह का विवाद ( दहेज, तलाक गुजाराभत्ता लेने आदि ) होने की स्थिति मे विवाह प्रमाणपत्र काफी मददगार साबित होता है |
  • बाल विवाह पर लगाम लगाने मे भी मदद मिलती है क्योकि अगर आपकी उम्र शादी की नहीं है तो विवाह का रजिस्ट्रेशन नहीं होगा |
  • शादीशुदा हो या तलाकशुदा दोनों सूरत मे विवाह प्रमाणपत्र काम आता है | महिलाओ के लिए यह दस्तावेज़ ज्यादा उपयोगी है क्योकि तलाक के बाद महिलाओ को आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा की जरूरत पुरुषो की तुलना मे ज्यादा होती है |
  • विवाह प्रमाण पत्र के माध्यम से महिलाओं के अधिकारों की रक्षा की जा सकती है।
  • यदि पति की मृत्यु हो जाती है तो पत्नी को विवाह प्रमाण पत्र के माध्यम से सारे अधिकार प्राप्त होते हैं।
  • हर धर्म के नागरिकों के लिए विवाह प्रमाण पत्र बनवाना अनिवार्य कर दिया गया है।
  • इस प्रमाण पत्र के माध्यम से कई अन्य दस्तावेज भी बनवाए जा सकते हैं।
  • विवाह पंजीकरण के लिए लाभार्थी ऑनलाइन व ऑफलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं|

Marriage Registration की मुख्य विशेषताएँ

  1. तलाक की कार्यवाही के दौरान,
  2. बच्चे की वैधता का निर्धारण करने में,
  3. साक्ष्य के एक टुकड़े के रूप में अगर पति या पत्नी शादी के बाद अपना नाम बदलना चाहती है,
  4. मामले में एक पति या पत्नी की संपत्ति का दावा करते समय, जब कोई इसमें नामित नहीं होता है,
  5. एक वंशावली इतिहास के भाग के रूप में,
  6. शादी के बाद पासपोर्ट के लिए आवेदन करने या बैंक खाता खोलने के लिए
  7. पति और पत्नी दोनों के लिए वीजा प्राप्त करने में,
  8. धोखाधड़ी होने पर दोषी को पकड़ने में मददगार

Application for Marriage Registration

जो आवेदक विवाह के लिए पंजीकरण करना चाहते हैं तो वे ऑनलाइन व ऑफलाइन मोड के जरिए आवेदन कर सकते हैं –

  1. (A) ऑनलाइन आवेदन

  • सवसे पहले लाभार्थी को अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • जिसमे आपको Apply Now के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गई सारी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करना होगा|
  • उसके बाद आपको जरूरी दस्तावेजों को भी अपलोड करना होगा।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको अंत मे Submit के विकल्प पर क्लिक कर देना है|
  • इस तरह आपके दवारा विवाह के लिए सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन कर दिया जाएगा|

(B) एप्लीकेशन स्टेटस कैसे चेक करें

  • सवसे पहले लाभार्थी को अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • अब आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • अब आपको Track Application Online वाले विकल्प पे किलक करना होगा| 

track application marriage certificate

  • उसके बाद आपको Service Name और Application Number दर्ज करना होगा|
  • फिर आपको Search के ऑप्शन पे किलक कर देना है|
  • Search के ऑप्शन पे किलक करते ही सवन्धित जानकारी आपकी कम्प्यूटर स्क्रीन पे आ जाएगी|
  1. ऑफलाइन आवेदन

  • सवसे पहले लाभार्थी को Sub-Registrar के ऑफिस जाना होगा।

marriage certificate form

  • उसके बाद आपको वहां से विवाह पंजीकरण फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • फिर आपको इस फॉर्म में पूछी गई सारी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करनी होगी|
  • उसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों फार्म के साथ अटैच करना होगा।
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आपको यह फॉर्म Sub-Registrar के ऑफिस में जमा करवा देना है|
  • उसके बाद आपको एक Reference Number प्रदान किया जाएगा।
  • जिसके माध्यम से आप अपनी पंजीकरण की स्थिति देख सकेगें|

विवाह पंजीकरण करने के लिए राज्यवार आधिकारिक वेबसाइट

आंध्र प्रदेशClick Here 
अरुणाचल प्रदेशClick Here
असमClick Here 
बिहारClick Here 
छत्तीसगढ़Click Here 
गोवाClick Here 
गुजरातClick Here 
हरियाणाClick Here 
हिमाचल प्रदेशClick Here 
झारखंडClick Here 
कर्नाटकClick Here 
केरलClick Here 
मध्य प्रदेशClick Here 
महाराष्ट्रClick Here 
मणिपुरClick Here 
मेघालयClick Here
नागालैंडClick Here 
ओड़िशाClick Here 
पंजाबClick Here 
राजस्थानClick Here
सिक्किमClick Here 
तमिलनाडुClick Here 
तेलंगानाClick Here 
त्रिपुराClick Here 
उत्तराखंडClick Here 
उत्तर प्रदेशClick Here 
वेस्ट बंगालClick Here 
पुडुचेरीClick Here
जम्मू एंड कश्मीरClick Here 
दिल्लीClick Here 
चंडीगढ़Click Here 
अंडमान निकोबारClick Here 

 

Online Bijli ka Bill Kaise Bhare

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करें|