माइग्रेशन प्रमाण पत्र | Migration Certificate : ऑनलाइन आवेदन | आवेदन शुल्क

|| Migration Certificate | प्रवासन प्रमाण पत्र | Migration Certificate Online Registration & Application form | माइग्रेशन प्रमाण पत्र कैसे वनाएं | Benefits & Objective || माइग्रेशन सर्टिफिकेट को हिंदी में प्रवासन प्रमाण पत्र कहा जाता है| इस सर्टिफिकेट का उपयोग स्कूल या कॉलेज मे दाखिला लेने के लिए किया जाता है| इस सर्टिफिकेट को आवेदक ऑनलाइन या ऑफ़लाइन मोड के जरिए वनवा सकते हैं| जिसके लिए आवेदक छात्र को निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होता है| तो आइए जानते हैं कि ऑनलाइन और ऑफ़लाइन मोड के जरिए कैसे वनता है – माइग्रेशन प्रमाण पत्र|

Migration Certificate

Table of Contents

प्रवासन प्रमाण पत्र | Migration Certificate

जब आप एक स्कूल से दूसरे स्कूल मे एडमिशन लेते है या एक यूनिवर्सिटी के बाद जिस भी यूनिवर्सिटी में दाखिला लेते हैं, तब आपको प्रवासन प्रमाण पत्र यानि Migration Certificate की आवश्यकता पडती है| उसके लिए आपको अपने सभी एजुकेशनल दस्तावेज के साथ माइग्रेशन सर्टिफिकेट जमा कराना पडता है। उसे ही माइग्रेशन सर्टिफिकेट कहा जाता है।

HP Startup Yojana के लिए अधिक जानकारी के लिए —  यहाँ किलक करें

Migration Certificate का अवलोकन 

आर्टीकल का नाममाइग्रेशन प्रमाण पत्र कैसे बनाएं
लाभार्थीदेश के छात्र-छात्राएं
प्रदान की जाने वाली सहायता

माइग्रेशन प्रमाण पत्र वनाने के लिए ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए सुविधा उपलव्ध करवाना  

आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन / ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइटराज्यवार के अनुसार अलग-अलग है|

Migration Certificate का उद्देश्य

माइग्रेशन प्रमाण पत्र को वनाने का मुख्य उद्देश्य छात्रों को एक जगह से दूसरी जगह दाखिला लेने के लिए ऑनलाइन या ऑफ़लाइन मोड के जरिए सुविधा प्रदान करना है|

Migration Certificate App

माइग्रेशन प्रमाण पत्र कैसे वनाएं | How to make migration certificate

माइग्रेशन प्रमाण पत्र वनाने के 02 तरीके हैं – ऑनलाइन और ऑफ़लाइन

How to Apply for Migration Certificate through Online Mode 

  • सवसे पहले आवेदक को सबंधित संस्थान की आधिकारिक वेबसाईट पर जाना होगा|
  • उसके बाद आपको Login के सेक्शन पर जाकर Login ID/ Password / capcha Code दर्ज करके Login प्रक्रिया को पूरा कर लेना है|
  • अगर आप पहले से पंजीकृत नहीं हैं तो आपको पहले अपना पंजीकरण करना होगा|
  • उसके लिए आपको Registration Form के विकल्प पे किलक करना है|
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी ध्यानपूर्वक भरनी है और पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा कर लेना है|
  • उसके बाद आपको Login ID and Password का इस्तेमाल करके Login बटन पे किलक कर देना है|
  • अब आपको Dashboard पर Online Migration Certificate के विकल्प पर क्लिक कर देना है|
  • फिर आपको सारी जानकारी भरनी है और Apply कर देना है|
  • उसके बाद आपको फीस का भुगतान करना होगा| फिर आपको रसीद डाउनलोड करके प्रिंट आउट निकाल लेना है|
  • अब आपको निर्धारित समय के बाद अपना सर्टिफिकेट डाउनलोड कर लेना है|

How to Apply for Migration Certificate through Offline Mode 

  • आवेदक को अपने शिक्षन संस्थान से Migration Certificateका आवेदन फॉर्म प्राप्त करना है|
  • उसके बाद आपको इस फॉर्म को ध्यानपूर्वक भरना होगा|
  • फिर आपको इस फॉर्म के साथ आवश्यक दस्तावेज अटैच करने हैं|
  • उसके बाद आपको फीस का भुगतान करना है और रसीद प्राप्त कर लेनी है|
  • सारी प्रक्रिया हो जाने के बाद आपको ये फॉर्म वहाँ पे जमा करवा देना है, जहाँ से आपने Migration Form लिया था|
  • फॉर्म जमा करवाने के बाद 10-15 दिन के भीतर Migration Certificate आपको प्रदान कर दिया जाएगा|

प्रवासन प्रमाण पत्र के लिए पात्रता | Eligibility

  • आवेदक को देश का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • सभी वर्ग के छात्र-छात्राएँ जो एक स्कूल से दूसरे स्कूल या एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज मे दाखिला लेने जाते हैं, वे सभी Migration Certificate प्राप्त करने के लिए पात्र हैं|

माइग्रेशन सर्टिफिकेट क्यों जरूरी है | Why migration certificate is necessary

  • अगरआप छात्र दवारा यूनिवर्सिटी या एजुकेशन बोर्ड को बदला जा रहा है, तब इसकी आवश्यकता पडती है। 
  • ये सर्टिफिकेट से ये पता चलता है, कि  विद्यार्थी अपनी पिछली यूनिवर्सिटी से पूरी तरह पास हो चुका है। 
  • बिना माइग्रेशन सर्टिफिकेट के किसी भी कॉलेज एडमिशन नहीं मिलती है। इसलिए ये एक महत्वपूर्ण प्रमाण पत्र होता है। 
  • यह अन्य आवश्यक दस्तावेजों के साथ पाठ्यक्रम के पूरा होने पर जारी किया जाता है।
  • इस सर्टिफिकेट को एडमिशन के समय दिखाना होता है। कुछ यूनिवर्सिटी एडमिशन के 15 दिन बाद माइग्रेशन सर्टिफिकेट जमा करने का समय भी देती है ।

माइग्रेशन सर्टिफिकेट कितने प्रकार के होते हैं | How many types of migration certificate are there

माइग्रेशन सर्टिफिकेट यानि पवासन पमाण पत्र के 02 प्रकार के होते है।

  1. Inter College Migration Certificate :- यह एक ऐसा सर्टिफिकेट होता है। जब आप कभी एक school या college से दूसरे school या college में दाखिल लें जाते हैं, तब उसमे जो सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है। तो उसे हम Inter College Migration Certificate कहते है।
  2. Inter University Migration Certificate:-  यह एक ऐसा सार्टिफिकेट होता है जब आप एक University से दूसरी University में एडमिशन लेते हैं, तो उस समय जो सार्टिफिकेट इस्तेमाल होता है उसे हम Inter University Migration Certificate कहते हैं|

माइग्रेशन सर्टिफिकेट के लिए  आवश्यक दस्तावेज | Important Documents

  • ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन की आखरी मार्कशीटकी फोटोकॉपी 
  • प्रोविज़नल सर्टिफिकेट 
  • फीस की रसीद
  • आधार कार्ड या कोई भी ID प्रूफ

प्रवासन प्रमाण पत्र के लिए आवेदन शुल्क | Application Fees

  • 200/- से 500/- रुपए तक (अलग-अलग विश्वविद्यालय या बोर्ड के अनुसार)

माइग्रेशन सर्टिफिकेट वनाने मे कितना समय लगता है | How long does it take to get a migration certificate

हर यूनिवर्सिटी की माइग्रेशन सर्टिफिकेट को वनाने की प्रक्रिया आलग-अलग होती है, लेकिन ज्यादा तर यूनिवर्सिटी में माइग्रेशन सर्टिफिकेट 10 से 15 दिनों में बन जाता है। कभी-कभी एक महीना का समय भी लग जाता है। अगर आपको ये  सर्टिफिकेट जल्द प्राप्त करना है तो आपको इसे तत्काल बनवाना होगा। जिसके लिए यूनिवर्सिटी दवारा Extra फीस ली जाती है| उसके बाद माइग्रेशन सर्टिफिकेट सिर्फ 2 से 3 दिन के अंदर बना दिया जाता है|

माइग्रेशन सर्टिफिकेट की वैधता कब तक होती है | What is the validity of migration certificate?

एक बार सर्टिफिकेट बनने के बाद यह तब तक Valid होता है जब तक आप दूसरी यूनिवर्सिटी या कॉलेज में अपनी पढ़ाई Complete नहीं कर लेते हैं।

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on November 19, 2023 by Abinash