मुख्यमंत्री बालाश्रय योजना 2022 | Balashray Scheme : आवेदन प्रक्रिया | पात्रता व विशेषताऐं

 

|| Mukhyamantri Balashray Yojana | उत्तराखंड बालाश्रय योजना | Balashray Scheme Application Process || उत्तराखंड सरकार दवारा राज्य के अनाथ बच्चों के कल्याण के लिए बालाश्रय योजना को लागु किया गया है| जिसके जरिए प्रदेश के जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है, ऐसे बच्चों के लिए सरकार दवारा शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी और इनकी फीस से लेकर पढाई मे होने वाले खर्चे का भुगतान सरकार दवारा किया जाएगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – मुख्यमंत्री बालाश्रय योजना के वारे मे|

Mukhyamantri Balashray Yojana

Mukhyamantri Balashray Yojana

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री जी दवारा राज्य मे बालाश्रय योजना को शुरू किया गया है| इस योजना का लाभ प्रदेश के अनाथ हुए बच्चों को प्रदान किया जाएगा| इस योजना के अंतर्गत किसी भी प्रकार की आपदा, महामारी एवं दुर्घटना के कारण अनाथ हुए बच्चों की स्कूली शिक्षा का सारा खर्च सरकार दवारा उठाया जाएगा। जिसमे से इन बच्चों को पुस्तकें, यूनिफॉर्म, बैग, जूते, लेखन सामग्री आदि निशुल्क मे दी जायेगी। बालाश्रय योजना से बच्चों के भविष्य को उज्जवल वनाने मे मदद मिलेगी और ये बच्चे बिना किसी आर्थिक तंगी के अपनी पढाई पूरी कर सकेंगे|  

उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना

बालाश्रय योजना के प्रमुख बिन्दु

  • माता-पिता की मृत्यु होने के बाद जो बच्चे अनाथ हो गए हैं| ऐसे बच्चे अब जिनका कोई सहारा नही है| जिन बच्चों की देखरेख करने वाला कोई नही है| उन सभी बच्चों को सरकार दवारा मदद प्रदान की जाएगी|
  • ऐसे सभी बच्चों को योजना से जोड़ा जाएगा|
  • ये योजना पूरे राज्य मे चलाई जाएगी|
  • अनाथ बच्चों के लिए सरकार शिक्षा मे होने वाले खर्चे का भुगतान करेगी|
  • कक्षा 01 से 12 वीं तक की शिक्षा प्राप्त करने के लिए सरकार दवारा मदद प्रदान की जाएगी|
  • बच्चों को पढाई से सवनधित सभी सामग्री निशुल्क दी जायेगी।

योजना का अवलोकन

योजना का नाम मुख्यमंत्री बालाश्रय योजना
किसके दवारा शुरू की गई उत्तराखंड सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के अनाथ बच्चे  
प्रदान की जाने वाली सहायता सरकार दवारा सहायता प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन / ऑफ़लाइन

Balashray Yojana

 

बालाश्रय योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश मे अनाथ बच्चों की पहचान करके उनके लिए सरकार दवारा शिक्षा की व्यवस्था करना है|

उत्तराखंड वृद्धा पेंशन योजना

मुख्यमंत्री बालाश्रय योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को उत्तराखंड राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • आपदा, महामारी एवं दुर्घटना के कारण अनाथ बच्चे योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं|

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • मोबाइल नम्वर

बालाश्रय योजना के लाभ

  • बालाश्रय योजना की शुरुआत उत्तराखंड सरकार दवारा राज्य के अनाथ बच्चों के लिए की गई है|
  • इस योजना के जरिए जो बच्चे अनाथ हो गए हैं, उनकी सहायता सरकार दवारा की जाएगी|
  • ऐसे बच्चों के लिए सरकार शिक्षा की व्यवस्था करेगी|
  • इस योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों को पुस्तकें, यूनिफॉर्म, बैग, जूते, लेखन सामग्री आदि चीजे फ्री मे प्रदान की जाएगी |
  • इस योजना से पात्र लाभार्थीयों को समाजिक और आर्थिक सुरक्षा प्रदान होगी।
  • ये योजना विना किसी भेदभाव के पूरे राज्य मे लागु रहेगी|
  • इस योजना से लाभार्थीयो को इस संकट की घडी के दौरान दूसरों पर निर्भर नहीं रहना पडेगा।
  • बालाश्रय योजना से पात्र बच्चे अपनी पढाई पूरी कर सकेंगे|
  • ये वित्त पोषित योजना है, जो राज्य मे अनाथ हुए बच्चो को लाभ पहुंचाने के लिए शुरु की गई है।

योजना की मुख्य विशेषताएं

  • ये योजना अनाथ बच्चों को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाएगी|
  • इस योजना से पात्र लाभार्थीयो को आर्थिक दिक्कतों का सामना नहीं करना पडेगा।
  • योजना के अंतर्गत पात्र लाभार्थीयों की पहचान कर उन्हे सहायता पहुंचाई जाएगी।
  • इस योजना से शिक्षा के स्तर मे वढोतरी लाई जाएगी|

मुख्यमंत्री बालाश्रय योजना के लिए कैसे करे आवेदन

जो आवेदक योजना के अंतर्गत ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे थोड़ा इंतजार करना होगा| क्योंकि अभी योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है| योजना के लिए आवेदन के लिए अभी आधिकारिक रूप से कोई पुषिट नही हुई है| जैसे ही हमे आवेदन करने हेतु कोई भी जानकारी मिलेगी, तो हम आपको इस आर्टीकल के जरिए सूचित कर देंगे|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी,आर्टीकल अच्छागे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on October 13, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!