प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

 

 

| हिमाचल प्रदेश प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना | HP Prakritik Kheti Khushal Kisan Yojana | मुख्यमंत्री प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना | Online Registration | Application Form || हिमाचल प्रदेश के किसानो को आत्म-निर्भर वनाने और उनकी आय मे सुधार करने के लिए राज्य में प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए किसानों को योजना से जोडने के लिए प्राकृतिक खेती करने की ट्रेनिग दी जाएगी और किसानों को जागरुक किया जाएगा। जिससे उनका आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के वारे में।

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना 

 

हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा राज्य के किसानों की सिथति को वेहतर वनाने और उनकी आय में वढोतरी करने के लिए प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना को शुरु किया गया है। जिसके तहत प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों को उनके उत्पादों के बेहतर दाम मिलेंगे। इन उप्तादों को बेचने के लिए ब्लाक स्तर पर दुकान मुहैया करवाई जाएगी। किसानों को योजना का लाभ देने के लिए प्रदेश की 3226 में से 2934 पंचायतों के 72,193 किसान परिवारों को प्राकृतिक खेती के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिसमें 2022 तक प्रदेश के 9.61 लाख किसान परिवारों को प्राकृतिक खेती के अंतर्गत लाया जाएगा। इस योजना में रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों का उपयोग किए बिना प्राकृतिक के साथ कृषि आय में वृद्धि की परिकल्पना की गई है। इस योजना से जुड़ने वाले किसानों को देसी नस्ल की गाय खरीदने के लिए 25000 रुपये की राशि और गौशाला के नालीकरण, खेती में प्रयोग होने वाले घनजीवामृत, जीवामृत को तैयार करने के लिए ड्रम आदि दिए जाएगें। इस योजना के लिए 25 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान रखा गया है।

 

प्राकृतिक खेती कैसे की जाती है 

प्राकृतिक खेती में देसी गाय के गोबर, गोमूत्र व कुछ घरेत्रू सामग्री के प्रयोग से ही खेती को किया जाता है। जिसमें प्रकृतिक खेती में पहले ही वर्ष में किसानों को लाभ पहुंचने लगता है और साल दर साल मिट्टी की उर्वरा क्षमता बढने के साथ-साथ उप्तादन में भी बढोतरी अधिक होती है। ऐसे में कृषि की लागत शून्य के बराबर रहती है और फसलों की पैदावार वढती है। जिससे किसानों को अधिक मुनाफा मिलता है और उनकी आय में भी सुधार होता है।

योजना का अवलोकन

योजना का नाम प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना
किसके दवारा शुरू की गई हिमाचल प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के किसान 
प्रदान की जाने वाली सहायता प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों को उनके उत्पादों के अच्छे दाम मुहैया करवाना 
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन/ ऑफ़लाइन 
आधिकारिक वेबसाइट himachal.nic.in

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना का उद्देश्य 

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों में खेती-बाड़ी के प्रति रूचि को बढाने और कृषि लागत को कम कर उनकी आर्थिक स्थिति को बेहतर करना है।

Prakritik Kheti Khushal Kisan Yojana के लिए पात्रता 

  • हिमाचल प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • किसान वर्ग 

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज 

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के लाभ

  • प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना का लाभ हिमाचल प्रदेश के किसान भाइयों को मिलेगा।
  • इस योजना के जरिए किसानों को प्राकृतिक खेती करने के लिए जागरुक किया जाएगा।
  • राज्य के सभी किसानों को इस योजना से जोडा जाएगा।
  • इस योजना से प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों को उनके उत्पादों के अच्छे दाम मुहैया करवाने के लिए ब्लाक स्तर पर दुकाने उपलव्ध करवाई जाएगी।
  • इस योजना से खेती की लागत को कम किया जाएगा।
  • मृदा स्वास्थ्य और जैव विविधता में सुधार होगा।
  • उर्वरकों और कीटनाशकों जैसे कृषि-रसायनों के उपयोग को हतोत्साहित किया जाएगा।
  • प्राकृतिक खेती और पर्यावरण के अनुकूल दृष्टिकोण को प्रोत्साहान मिलेगा।
  • इस योजना में रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों का उपयोग किए बिना फसलों की पैदावार मे वढोतरी होगी।
  • इससे किसानों की सिथति मजबूत वनेगी।

665-3

HP प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के जरिए किसानों को मिलने वाली प्रोत्साहन सहायता 

  • मवेशियों के शेड की लाइनिंग के लिए 80% सहायता उपलव्ध होगी। 
  • किसानों को प्लास्टिक ड्रम प्रदान करने के लिए 75% मिलेगी सहायता। प्रति किसान अधिकतम तीन ड्रम उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • भौतिक और जैविक कीट नियंत्रण उपायों के लिए 75% दी जाएगी सहायता।
  • ZBNF (Zero Budget Natural Farming) के कुशल विपणन के लिए थर्ड पार्टी प्रमाणन प्रक्रिया
  • गाँव में प्राकृतिक संसाधन की दुकान खोलने के लिए 50,000 रुपये तक की वित्तीय सहायता मिलेगी।
  • क्षमता निर्माण और किसान गोशालाओं में शामिल संसाधन व्यक्तियों और विशेषज्ञों के लिए मानदेय प्रदान होगा।

 

Prakritik Kheti Khushal Kisan Yojana की मुख्य विशेषताएं 

  • राज्य सरकार दवारा मिलेगी सहायता
  • किसानों की आय में होगा सुधार
  • किसानों को आत्म-निर्भर वनाया जाएगा
  • फसलों पैदावार वढेगी
  • जैविक खेती के अलावा प्राकृतिक खेती करने के लिए अधिक महत्व दिया जाएगा

प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के लिए कैसे करें आवेदन 

  • प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को योजना संवधित कार्यालय में जाना है।
  • अब आपको आवेदन फार्म भरने के लिए दिया जाएगा।
  • लाभार्थी को इस फार्म में दी गई सारी जानकारी भरने के साथ आव्श्यक दस्तावेज अटैच करने हैं।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको इस फार्म को जमा करवा देना है।
  • फार्म जमा करवाने और जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको योजना का लाभ मिल जाएगा।

महत्वपूर्ण डाउनलोड

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरुर करें।

Last Updated on October 16, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!