Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana 2024 : आवेदन, Mobile Veterinary Units MVU

Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana : उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के पशुओं के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना को लागु करने की घोषणा की है| इस योजना के जरिए किसानों व पशुपालको के पशुओं के बिमार होने पर उन्हे एंबुलेंस की सेवा प्रदान की जाएगी, ताकि किसानों को पशुओं के उपचार के लिए पशु अस्पताल जाने की आवश्यकता न पडे| कैसे मिलेगा Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana का लाभ और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा|

Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana 2024

PASHU UPCHAR PASHUPALKO KE DWAR YOJANA 2024

पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश सरकार दवारा की गई है| इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के पशुपालको व किसानों के पशुऑन के बिमार होने की सिथति मे उनके उपचार के लिए मोबाइल वेटरनरी यूनिट के जरिए एंबुलेंस सेवा उपलवध करवाई जाएगी| इस सुविधा से पशुपालको को अपने पशुओं का उपचार करने हेतु पशु अस्पताल नही जाना पडेगा| बल्कि उनके घर पर ही पशुओं का इलाज किया जा सकेगा|

About of Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana

योजना का नामपशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना
किसके दवारा शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार दवारा
लाभार्थीबिमार पशु
प्रदान की जाने वाली सहायतापशुओं के उपचार के लिए घर पर इलाज प्रदान करना
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन
हेल्पलाइन नम्वर  1962

Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana 2024

उत्तर प्रदेश पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के बिमार पशुओं का उपचार करने के लिए घर पर एंबुलेंस भेजना है|

Mobile Veterinary Unit के लिए निर्धारित वजट

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने Mobile Veterinary Unit (MVUs) के लिए 201 करोड़ रुपए का निवेश किया है। जिसके आधार पर ही पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना का विस्तार किया जाएगा|

पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना – आवेदन फीस

  • गाय भैस के लिए 5 रुपए 
  • पालतू बिल्ली और कुत्ते के लिए 10 रुपए 

UP पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना – एंबुलेंस की उपलवधता

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने मोबाइल वेटरनरी यूनिट (MVUs) के जरिए 520 एंबुलेंस को पूरे प्रदेश में शुरू किया है। जिस जोन का क्षेत्र बड़ा होगा वहां पर ज्यादा एंबुलेंस और छोटे क्षेत्र के लिए कम एंबुलेंस भेजी जाएगी|

Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana – प्रदेश को 5 जोन में बांटा गया है

एंबुलेंस सेवा किसानों को उपलब्ध करवाने के लिए पूरे प्रदेश को 5 जोन के तहत बांटा गया है। जिसके लिए इन 5 जोनों में अलग-अलग 05 निजी कंपनियां मोबाइल वेटरनरी यूनिट का संचालन करेगी। इन 5 जोन के नाम क्रमशः लखनऊ, मेरठ, वाराणसी, आगरा एवं गोरखपुर है।

यूपी के 75 जनपदों को इन 5 जोन में समान तरीके से बांटा गया है। अगर कोई भी आवेदक अपने पशुओं के इलाज के लिए 1962 टोल फ्री नंबर पर कॉल करेगा तो उस क्षेत्र से किए गए कॉल के आधार पर वहाँ पे एंबुलेंस भेजी जाएगी।

पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • पशुपालक व किसानों के बिमार पशु

Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Scheme के लिए जरूरी दस्तावेज

  1. स्थायी पता
  2. मोबाइल नम्वर

UP पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना के लाभ

  • पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के पशुओं को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के जरिए जो पशु बिमार होंगे उनका इलाज करने के लिए एंबुलेंसको भेजा जाएगा|
  • एंबुलेंस सेवा का लाभ लेने के लिए पशुपालक या किसान को 1962 नम्वर पर फोन करना होगा और अपना पता होगा| उसके बाद वताए गए पते पर एंबुलेंस भेजी जाएगी|
  • इस एंबुलेंस मे डाक्टर की टीम मौजदू होगी, जो समय पर पशुओं का उपचार करेगी|
  • पशु की हालत ज्यादा गंभीर होने की सिथति मे उसे पशु अस्पताल पहुचाया जाएगा| जहाँ पर बिमार पशु का अच्छे से इलाज किया जा सकेगा|
  • इस सुविधा के मिलने से पशुओं का सही समय पर त्वरित इलाज संभव हो सकेगा।
  • जो आवेदक इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हे मात्र 5 या 10 रूपए आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा|

उत्तर प्रदेश पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना की मुख्य विशेषताएं

  1. पशुओं के स्वास्थ्य का ध्यान रखना
  2. बिमार पशुओं को उपचार की सुविधा प्रदान करना
  3. पशुओं का उपचार लाभार्थी के घर पर होगा
  4. अब पशुपालको को अपने बिमार पशुओं को अस्पताल ले जाने के चककर से मुकित मिलेगी|

Pashu Upchar Pashupalko ke Dwar Yojana Registration

  • पशुओं के बिमार होने की सिथति मे पशुपालको को 1962 नम्वर पर फोन करना है और पता वताना है|
  • फोन करने के बाद आवेदक के वताए गए पते पर एंबुलेंसभेजी जाएगी|
  • फिर आवेदक को निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा|
  • उसके बाद एंबुलेंस मे मौजूद डॉक्टर की टीम होगी, जो बिमार पशु का उपचार करेगी|
  • इस तरह बिमार पशु का उपचार सही समय पर हो सकेगा| इस सुविधा के मिलने से पशुपालको के समय की बचत होगी|

Website

Mobile Veterinary Units MVU Helpline Number

जो नागरिक पशु उपचार पशुपालकों के द्वार योजना के लिए मदद पाना चाहते हैं, तो उन्हे हेल्पलाइन नम्वर पे संपर्क करना होगा| जिन पात्र नागरिको को योजना के वारे मे फिर भी किसी परेशानी का सामना करना पड रहा है तो वे इस नम्वर पे 1962 संपर्क कर सकते हैं|

UP Police Character Certificate

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on February 9, 2024 by Abinash