बिहार राहत सह बचत योजना | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन फॉर्म | पात्रता व विशेषताएं

 

|| Rahat Sah Bachat Yojana | बिहार मुख्यमंत्री राहत सह बचत योजना | Bihar Rahat Sah Bachat  Scheme Application Process | Benefits & Objective || बिहार सरकार दवारा राज्य मे मछुआरों के कल्याण के लिए राहत सह बचत योजना को लागु किया गया है| इस योजना के जरिए गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले मछुआरों को हर महीने सरकार दवारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है| इसके साथ ही योजना के सफल क्रियान्वयन होने पर एक समयावधि में मछलियों को प्रजनन करने का अवसर मिलेगा। जिससे नदियों में मछलियों की संख्या एवं उत्पादकता में भी वृद्धि होगी। कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – बिहार राहत सह बचत योजना के वारे मे|

Rahat Sah Bachat Yojana

Bihar Rahat Sah Bachat Yojana

बिहार के मछुआरों के लिए राज्य सरकार दवारा राहत सह बचत योजना को शुरू किया गया है| इस योजना के अंतर्गत मत्स्य का शिकार करने वाले व्यक्तियों को हर महीने राहत पहुंचाने का कार्य किया जाएगा, जिसके लिए मछुआरों से वार्षिक 1500 रुपए का अंशदान प्राप्त किया जाएगा। इसके साथ ही केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा भी 1500-1500/- रुपए का वार्षिक अंशदान मछुआरो को प्रदान होगा। जिससे प्रत्येक मछुआरों को न्यूनतम ₹4500 रुपए की वित्तीय सहायता प्रतिबंधित माह में प्रदान की जाएगी| इस तरह पूरी तरह से मछली शिकार पर निर्भर करने वाले गरीब मछुआरों को आर्थिक सहायता राशि मिलती रहेगी| जिससे उनकी आर्थिक जरुरतों को पूरा किया जा सकेगा| योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए स्वीकार किए जा सकेंगे|

राहतसहबचत योजना को शुरू करने का मुख्य पर्पज

जून से लेकर अगस्त तक नदियों में शिकारमाही करने वाले मछुआरों को जान-माल का खतरा बना रहता है, साथ ही बाढ़ आने से तालाब की मछलियां पानी के साथ बह जाती हैं| ऐसे में किसानों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ता है| यही वजह है कि मछुआरों को राहत प्रदान करने के लिए बिहार राज्य सरकार ने राहत-सह-बचत योजना को चलाया है|

योजना का अवलोकन

योजना का नाम राहत-सह-बचत योजना 
किसके दवारा शुरू की गई बिहार सरकार दवारा
विभाग पशु एवं मत्स्य पालन विभाग
लाभार्थी मछुआरे
प्रदान की जाने वाली सहायता

नदियों से मछली का शिकार करने वाले मछुआरों को प्रतिबंधित महीनो में वित्तीय राहत पहुंचाना है|

आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन / ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइट fisheries.bihar.gov.in

राहत सह बचत योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य नदियों में शिकारमाही करने वाले गरीबी रेखा से नीचे के मछुआरों को प्रतिबंधित महीनों में 4,500 रुपये का सहायतानुदान प्रदान करना है|

बिहार राहत सह बचत योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को बिहार राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • मछुआरा जो पूर्णकालिक मछली का शिकार करते हैं, वे योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र हैं|
  • आवेदक की न्यूनतमआयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 60 वर्ष होनी चाहिए।
  • लाभार्थी का परिवार गरीबी रेखा नीचे जीवन यापन कर रहा होना चाहिए|
  • मछुआरे को मत्स्य जीवी सहयोग समिति, निबंधित फेडरेशन, निबंधित वेलफेयर सोसाइटी समूह का सदस्य होना चाहिए|

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड 
  • स्थायी प्रमाण पत्र 
  • आय प्रमाण पत्र 
  • बैंक खाता
  • निशुल्क मत्स्य शिकारमाही प्रमाण पत्र 
  • मत्स्यजीवी सहयोगी समिति अथवा निबंधन फेडरेशन के किसी सदस्य की अनुशंसा।
  • 02 पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

बिहार राहत सह बचत योजना के लाभ

  • बिहार राहत सह बचत योजना का लाभ राज्य के मछुआरों को प्रदान किया जाएगा|
  • योजना के जरिए मछली पालन करने वाले किसान व मछली का शिकार करने वाले मछुआरों को सरकार प्रतिबंधित महीनों में 4500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी|
  • प्रत्येक मछुआरों व मछली पालक किसानों से 1500 रुपये का वार्षिक अनुदान किस्तों में लिया जाएगा। 
  • इसके साथ ही केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा भी 1,500-1,500 रुपए का अंशदान प्रत्येक मछुआरों को प्रतिबंधित महीनों के दौरान मिलेगा|
  • लाभार्थीयों को प्रदान की जाने राशि सीधे उनके बैंक खाते मे भेजी जाएगी|
  • इस योजना से नदियों में मछली की सँख्या पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो सकेगी|
  • मछली की सही उपस्तिथि से नदियों का इकोसिस्टम बना रहेगा। 
  • नदियों में मछलियों और मछुआरों की आर्थिक स्तिथि अच्छी रहेगी|
  • बिहार के नदियों किनारे बसने वाले वैसे सभी मछुआरे जो गरीबी रेखा से निचे हैं और मछली ही उनकी जीविका का मुख्य साधन है ऐसे 50,000 मछुआरों को लाभ प्रदान किया जाएगा|
  • योजना का लाभ पात्र लाभार्थीयों को ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए प्राप्त होगा|

राहत सह बचत योजना की मुख्य विशेषताएं

  • जून से अगस्त महीने तक नदियों में शिकार पर प्रतिबंध लगाया जायेगा।
  • नदियों में मछली की संख्या में वृद्धि आयेगी।
  • मछुआरों को जीविका चलाने के लिए प्रतिबंधित महीनो में वित्तीय लाभ मिलेगा|
  • बाढ़ के समय मछुआरों को आर्थिक मदद मिलेगी|  

बिहार राहत सह बचत योजना के लिए कैसे करे ऑनलाइन आवेदन

Rahat Sah Bachat Yojana online

Rahat Sah Bachat Yojana online registration

  • इस फॉर्म मे आपको पूछी गई सारी जानकारी दर्ज करनी है|
  • सारी प्रक्रिया हो जाने के वाद आपको अंत मे Submit के बटन पे किलक कर देना है|
  • इस तरह आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक ऑनलाइन मोड के जरिए आवेदन कर दिया जाएगा|

लॉगिन कैसे करे

Rahat Sah Bachat Yojana login

  • अब आपको मतस्य योजनाओं हेतु आवेदन वाले सेकशन मे जाना होगा| फिर आपको पहले से पंजीकृत हैं, तो लॉगिन करे वाले विकल्प पे किलक करना है|
  • इस विकल्प पे किलक करते ही आपके सामने Login form खुल जाएगा| 

Rahat Sah Bachat Yojana login form

  • इस फॉर्म मे आपको User Name / Password दर्ज करके लॉगिन कर देना है|
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आप पोर्टल पर लॉगिन हो जाओगे|

बिहार राहत सह बचत योजना के लिए ऑफ़लाइन आवेदन कैसे करे

  • सवसे पहले आवेदक को मत्स्य पालन विभाग के कार्यालय मे जाना होगा|
  • उसके बाद आपको वहाँ से योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना है|
  • अब आपको इस फॉर्म मे सारी जानकारी भरनी है, फिर आपको जरूरी दस्तावेज फॉर्म के साथ अटैच करने हैं|
  • सारी प्रक्रिया हो जाने के बाद आपको ये फॉर्म वहाँ पे जमा करवा देना है, जहाँ से आपने फॉर्म लिया हुआ था|
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक ऑफ़लाइन आवेदन कर दिया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

error: Content is protected !!