राजस्थान उष्ट्र संरक्षण योजना 2022 | आवेदन प्रक्रिया | पात्रता व विशेषताऐं

 

|| Usth Sanrakshan Yojana | मुख्यमंत्री उष्ट्र संरक्षण योजना | Usth Sanrakshan Scheme Registration | Application Form || राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी दवारा राज्य मे ऊंट पालकों के कल्याण के लिए उष्ट्र संरक्षण योजना को लागु किया गया है| इस योजना के जरिए राज्य सरकार ऊंटों के संरक्षण की दिशा में कार्य करेगी| ऊंटों की कम होती संख्या को देखते हुए राज्य सरकार ने इनके संरक्षण के लिए विशेष कार्य योजना तैयार की है| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – उष्ट्र संरक्षण योजना के वारे मे|

Rajasthan Usth Sanrakshan Yojana

Rajasthan  Usth Sanrakshan Yojana

राजस्थान सरकार दवारा राज्य मे ऊंट पालकों को आर्थिक सहायता प्रदान करने और ऊंटों को सरक्षण देने के लिए उष्ट्र संरक्षण योजना को शुरू किया गया है| इस योजना के अंतर्गत पशु चिकित्सक द्वारा मादा ऊंट एवं उसके बच्चे को टैग लगाकर पहचानपत्र देने के बाद ऊंट पालक को आर्थिक सहायता और प्रत्येक पहचान पत्र के लिए पशु चिकित्सक को सरकार दवारा मानदेय दिया जायेगा। इस योजना से राज्य मे ऊंट पालकों की आय मे सुधार आएगा और ऊंटों की देखभाल अच्छे से हो सकेगी|

उष्ट्र संरक्षण योजना के तहत प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता

  • योजना के अंतर्गत पशु चिकित्सक द्वारा मादा ऊंट एवं उसके बच्चे को टैग लगाकर पहचानपत्र देने के बाद ऊंट पालक को सरकार दवारा 5000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी| 
  • प्रत्येक पहचानपत्र के लिए पशु चिकित्सक को 50 रुपये का मानदेय भी दिया जायेगा।
  • इसी तरह ऊंट के बच्चे के 01 वर्ष पूर्ण होने पर दूसरी किश्त के रूप में 5000 रुपये दिए जाएंगे। 

योजना का अवलोकन

योजना का नाम उष्ट्र संरक्षण योजना
किसके दवारा शुरू की गई राजस्थान सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के ऊंट पालक
योजना के तहत प्रदान की जाने वाली सहायता आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन / ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइट जल्द शुरू की जाएगी|

Rajasthan Usth Sanrakshan Yojana

उष्ट्र संरक्षण योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के ऊंट पालको को सरकार दवारा आर्थिक सहायता प्रदान करना है और साथ मे ऊंटों को सरक्षण भी देना है|

राजस्थान उष्ट्र संरक्षण योजना के लिए वित्तीय प्रावधान

CM गहलोत ने उष्ट्र संरक्षण योजना का अनुमोदन किया है। इसके लिए 2.60 करोड़ रूपए के वित्तीय प्रावधान को भी स्वीकृति दी है। 

उष्ट्र संरक्षण योजना के लिए 2022-23 के लिए बजट

वर्ष 2022-23 के बजट में ऊंट संरक्षण एवं विकास नीति लागू करने के लिए राज्य सरकार दवार 10 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया था। जिसमे से राज्य सरकार ने ऊंटों के संरक्षण की दिशा में निरंतर कार्य किया है। इसी क्रम को आगे वढाते हुए CM गहलोत ने इस योजना को स्वीकृति प्रदान की है। बता दें राजस्थान का जहाज कहलाने वाले ऊंटों की संख्या दिनों दिन कम होती जा रही है। इसी वात को ध्यान मे रखते हुए गहलोत ने ऊंटों के विकास के लिए इस बजट में निर्धारित धनराशि का प्रावधान किया था। 

राजस्थान उष्ट्र संरक्षण योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को राजस्थान राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • ऊंट पालक इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं|

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • मोबाइल नम्वर

उष्ट्र संरक्षण योजना के लाभ

  • उष्ट्र संरक्षण योजना का लाभ राजस्थान राज्य के ऊंट पालको को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के जरिए राज्य मे ऊंटों को सरक्षण मिलेगा|
  • पशु चिकित्सक द्वारा मादा ऊंट एवं उसके बच्चे को टैग लगाकर पहचान पत्र देने के बाद ऊंट पालक को सरकार दवारा 5000 रुपये की आर्थिक सहायता देगी| 
  • इसके अलावा प्रत्येक पहचान पत्र के लिए पशु चिकित्सक को 50 रुपये का मानदेय भी दिया जायेगा।
  • ऊंट के बच्चे के 01 वर्ष पूरे होने पर आवेदक को दूसरी किश्त के रूप में 5000 रुपये दिए जाएंगे
  • लाभार्थीयों को दी जाने वाली ये आर्थिक सहायता की राशि सीधे उनके बैंक खाते मे जमा की जाएगी|
  • इस योजना से ऊंटों पालको की सिथति मे सुधार लाया जाएगा|
  • योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए स्वीकार किए जा सकेंगे|

राजस्थान उष्ट्र संरक्षण योजना की मुख्य विशेषताऐं

  • राज्य मे ऊंटों पालको को सरकार दवार आर्थिक सहायता प्रदान करना
  • ऊंटों की देखभाल करना
  • पात्र लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर व सशकत वनाना|

उष्ट्र संरक्षण योजना के लिए कैसे करे आवेदन

जो आवेदक योजना के अंतर्गत ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे अभी थोड़ा इंतजार करना होगा, क्योंकि अभी योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है| योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया जल्द शुरू की जाएगी| आवेदन प्रक्रिया जैसे ही शुरू होगी, तो आवेदक ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए आवेदन कर सकेंगे|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

error: Content is protected !!