संत रविदास शिक्षा सहायता योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म | पूरी जानकारी

|| उत्तर प्रदेश शिक्षा सहायता स्कॉलरशिप योजना | Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana | संत रविदास शिक्षा सहायता योजना | UP Sant Ravidas Shiksha Sahayata Scheme | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | Apply Online | Application Form | Helpline Number ||

 

श्रमिको के बच्चो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाने के लिए संत रविदास शिक्षा सहायता योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए उत्तर प्रदेश के श्रमिको के बच्चो को शिक्षा उपलव्ध करवाने हेतु आर्थिक सहायता दी जाती है। कैसे मिलेगा योजना का लाभ और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – संत रविदास शिक्षा सहायता योजना 2022 के वारे मे।

logo  

Sant Ravidas Shiksha Sahayata Yojana

उत्तर प्रदेश सरकार दवारा राज्य मे श्रमिको के बच्चो को शिक्षा से जोडने और उन्हे आत्म-निर्भर वनाने के लिए संत रविदास शिक्षा सहायता योजना को शुरु किया गया है। जिसके जरिए श्रमिको के बच्चो को 100/- रुपये से लेकर 5000/- रुपये तक की आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाने के लिए स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है। जिससे श्रमिको के बच्चो को शिक्षा प्राप्त करने मे कोई रुकावट नहीं आएगी। योजना का लाभ लाभार्थीयो को कक्षा 01 से लेकर विश्वविद्दालय तक पढाई पूरी करने पर मिलेगा। योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों को तिमाही आधार पर भुगतान किया जाएगा। जिसमे पहली किस्त का भुगतान कक्षा में प्रवेश लेते ही किया जाएगा। योजना का लाभ लाभार्थीयो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके प्राप्त होगा।         

उद्देश्य 

योजना का मुख्य उद्देश्य श्रमिको के बच्चो को शिक्षा प्राप्त करने के लिए राज्य सरकार दवारा आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाना है।

पात्रता

  • उत्तर प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • श्रमिको के बच्चे
  • योजना के अंतर्गत केवल वही विद्यार्थी आवेदन कर सकेगें, जिनके माता पिता बोर्ड में पंजीकृत निर्माण कामगार है।
  • एक परिवार के दो विद्यार्थी योजना के लिए पात्र होगें।
  • पात्र लाभार्थी को केंद्र या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान में अध्ययन होना चाहिए।

आयु सीमा 

  • आवेदन करने की अधिकतम आयु 25 वर्ष है।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • स्कूल का प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर  

667

महत्वपूर्ण तथ्य 

पहले संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ केवल 01 कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक उपलव्ध करवाया जाता था। लेकिन अब उत्तर प्रदेश सरकार दवारा इस योजना का लाभ महाविद्यालय तक पहुंचाया जा रहा है। जिसमें अब स्नातक और स्नातकोत्तर के छात्र व छात्राओं को भी शामिल किया गया है। ये योजना विशेष तोर पर श्रमिको के बच्चो के उत्थान हेतु चलाई गई है, ताकि इन बच्चो का भविष्य उज्जवल वन सके और उन्हे शिक्षा प्राप्ति हेतु आर्थिक परेशानी का सामना न करना पडे।  

योजना के अंतर्गत दी जाने वाली आर्थिक सहायता 

कक्षा आर्थिक सहायता राशि
कक्षा 1 से 5 तक 100/- रुपये प्रतिमाह
कक्षा 6 से 8 तक 150/- रुपये प्रतिमाह
कक्षा 9 से 10 तक 200/- रुपये प्रतिमाह
कक्षा 11 से 12 तक 250/- रुपये प्रतिमाह 
आईटीआई एवं समक्ष परीक्षण से संबंधित पाठ्यक्रम के लिए 500/- रुपये प्रतिमाह
पॉलिटेक्निक एवं समक्ष पाठ्यक्रमों के लिए 800/- रुपये प्रतिमाह
इंजीनियरिंग एवं समक्ष पाठ्यक्रमों के लिए 3000/- रुपये प्रतिमाह
मेडिकल पाठ्यक्रमों के लिए 5000/- रुपये प्रतिमाह

लाभ 

  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना का लाभ उत्तर प्रदेश राज्य के श्रमिको के बच्चो को मिलेगा।
  • योजना के जरिए बच्चो के भविष्य को उज्जवल वनाने हेतु राज्य सरकार दवारा कक्षा 01 से लेकर स्नातक और स्नातकोत्तर तक पढाई के दौरान आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाई जाएगी।
  • लाभार्थीयो को योजना का लाभ देने के लिए 500 रुपये से लेकर 5000/- रुपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  • लाभार्थीयो को मिलने वाली सहायता राशि सीधे उनके बैंक खाते मे ट्रांसफर की जाती है।
  • योजना का लाभ प्रदान करने के लिए बच्चों की आयु प्रति वर्ष 1 जुलाई को 25 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ एक परिवार के अधिकतम दो बच्चो को मिलेगा।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने वाले छात्रों की न्यूनतम उपस्थिति कम से कम 60% होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ केवल उन्ही छात्रो को प्राप्त होगा, जो किसी अन्य सरकारी छात्रवृत्ति योजना का लाभ नहीं ले रहे हो। इसके लिए विद्यार्थियों से घोषणा पत्र भी प्राप्त किया जाएगा।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने वाले लाभार्थी को केंद्र या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से जुडा होना चाहिए।
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अंतर्गत यदि कोई विद्यार्थी परीक्षा में फेल हो गया है तो उस सिथति मे लाभार्थी को योजना का लाभ प्रदान नहीं किया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत लाभार्थीयो को तिमाही आधार पर भुगतान किया जाएगा।
  • योजना की पहली किस्त का भुगतान कक्षा में प्रवेश लेने पर मिलेगा।
  • इसके अलावा लाभार्थीयो को इंजीनियरिंग तथा मेडिकल के लिए स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त करने के लिए 8000/- रुपये व किसी अन्य विषय में खोज करने के लिए 12000/- रुपये प्रति माह आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके लिए लाभार्थी की अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ उस लाभार्थी को मिलेगा जो ऑनलाइन और ऑफलाइन के जरिए आवेदन करेंगे।

विशेषताएं 

  • श्रमिको के बच्चो को शिक्षा से जोडना
  • राज्य सरकार दवारा इन बच्चो का उत्थान करने के लिए इन्हे आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाना
  • लाभार्थीयो को दी जाने वाली आर्थिक सहायता सीधे उनके बैंक खाते मे स्थानातरित करना
  • ये योजना लाभार्थीयो को आगे पढाई जारी रखने मे सहायता प्रदान करती है।
  • इस योजना से लाभार्थी का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • राज्य मे बच्चो का शैक्षिक विकास होगा।
  • अब आर्थिक तंगी के चलते कोई भी लाभार्थी अपनी पढाई अधूरी नहीं छोडेगा।
  • योजना का लाभ कक्षा 01 से लेकर विश्वविद्दालय तक उपलव्ध होगा।

संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के लिए आवेदन कैसे करें 

1

  • उसके बाद आपको योजना के लिंक की खोज करनी होगी।
  • अब आपको दिए गए लिंक पे किल्क करना है।
  • उसके बाद आप अगले पेज मे आ जाओगे।
  • इस पेज मे आवेदन फार्म खुलके आएगा।

application form

  • आपको इस फार्म को सवसे पहले डाउनलोड करना होगा।
  • उसके बाद आपको इसका प्रिंट आउट लेना है।
  • अब आपको इस फार्म मे दी गई सारी जानकारी भरने के वाद आव्श्यक दस्तावेज भी अटैच करने होगें।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको ये फार्म संवधित कार्यालय मे जमा करवा देना है।
  • इस तरह आपका योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा।

हेल्पलाइन नंबर 

  • 18001805412

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।    

error: Content is protected !!