Updated : Oct 17, 2020 in Yojana

स्टार्स योजना 2020 | STARS Scheme | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ

स्टार्स स्कीम | STARS Yojana | पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | Stars Yojana in Hindi |  योजना के तहत शामिल राज्य | How to get benefits

 

स्कूली शिक्षा व्यवस्था को मजबूत करने और छात्रों को पढाई के प्रति जागरुक करने के लिए स्टार्स योजना 2020 को लागु किया गया है। जिसके जरिए स्कूलो को वेहतर वनाने के लिए शिक्षा स्तर का विकास और विस्तार किया जाएगा। योजना के संवध मे सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। कि क्या है ये योजना और कैसे मिलेगा योजना का लाभ। तो आइए जानते हैं – स्टार्स योजना 2020 के वारे मे।

स्टार्स योजना | STARS Yojana

 

केंद्र सरकार दवारा शिक्षा के स्तर को आगे वढाने के साथ-साथ टीचिंग-लर्निंग तथा राज्यों में स्कूल एजुकेशन सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए स्टार्स योजना 2020 को शुरु किया गया है। जिसके तहत स्कूलों को बेहतर वनाने के लिए राज्यों को प्रत्यक्ष लिंकेज के साथ हस्तक्षेप का विकास, कार्यान्वयन, मूल्यांकन आदि में सहायता की जाएगी। इसके लिए एक स्वतंत्र और स्वायत्त संस्थान के रूप में एक राष्ट्रीय मूल्यांकन केंद्र, PARAKH की स्थापना भी की जाएगी। इस योजना का कार्यान्वयन शिक्षा मंत्रालय के पास होगा। जिसमे योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए केंद्र सरकार दवारा 5717 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। इसके अलावा इस राशि में विश्व बैंक भी 3700 करोड़ रुपए की सहायता प्रदान करेगा। इस योजना को नई शिक्षा निति के तहत आरंभ किया गया है। जिसके माध्यम से शिक्षण मूल्यांकन प्रणाली में सुधार आएगा और बच्चे की पढ़ाई में कोई भी बाधा नहीं आएगी।

उद्देश्य | An Objective

स्टार्स योजना का मुख्य उद्देश्य स्कूली वच्चों के भविष्य को सफल वनाने के लिए टीचिंग-लर्निंग और परिमाण को मजबूत वनाना है। ताकि शिक्षा के क्षेत्र को आगे वढाया जा सके।

पात्रता | Eligibility

  • भारत के स्थायी निवासी
  • स्कूलों मे पढने वाले छात्र-छात्राएं
  • सभी वर्ग के लाभार्थी

योजना के अंतर्गत आने वाले राज्य | States covered under the scheme

  • हिमाचल प्रदेश
  • राजस्थान
  • महाराष्ट्र
  • मध्य प्रदेश
  • केरला
  • ओडीशा

इसके बाद यह पांच अन्य राज्यों में लागू होगी। जिन राज्यों में यह योजना बाद में लागू होगी उनमें गुजरात, झारखंड, उत्तराखंड, असम और तमिलनाडु  शामिल हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत राज्यों को एजुकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार के साथ स्कूलों के डेवलपमेंट और उनके मूल्यांकन में सहायता की जाएगी।

योजना के कार्यक्षेत्र | Scope of work Of the Scheme

  • पहुँच और प्रतिधारण
  • शिक्षा के अधिकार का अधिकारिता
  • लिंग और इक्विटी
  • समावेशी शिक्षा
  • गुणवत्ता में हस्तक्षेप
  • एंटाइटेलमेंट/अधिकारिता (वर्दी, पाठ्य-पुस्तकें, छात्रवृत्ति आदि)
  • सीखने के परिवेश का उन्नयन।
  • शिक्षक की शिक्षा

योजना को गति देने के लिए अलग बोर्ड गठन होगा | Separate board will be formed to speed up the Scheme

STARS योजना सुनिश्चित करेगी कि अब शिक्षा का मतलब रट्टा लगाकर पढ़ाई करना नहीं है, बल्कि समझ कर सीखना होगा। इस फैसले से राज्यों के बीच सहयोग बढ़ेगा, शिक्षकों को उचित प्रशिक्षण दिया जाएगा और परीक्षा में सुधार के साथ अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भारत तैयारी के साथ भाग ले सकेगा। जिसके लिए अलग से एक बोर्ड या संस्थान का गठन किया जाएगा। जिससे शैक्षिक स्तर मे सुधार आएगा और वच्चो को पढाई का सही मतलव समझ आएगा।

योजना से होने वाले सुधार | Scheme Reforms

स्टार्स योजना मे PM ई विद्या, फाउंडेशन लिटरेसी एंड नुमरेसी मिशन, नेशनल करिकुलार एंड पाएडगोगिकल फ्रेम वर्क फॉर अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन जैसे आत्मनिर्भर भारत अभियान के हिस्से कवर किए जाएंगे। जिनके माध्यम से मध्यमिक विद्यालय पूर्णता दर में सुधार, शासन सूचकांक अंकों में सुधार आदि जैसे परिमाण सामने आने से शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्दार्थीयो का शैक्षिक विकास होगा।

योजना के जरिए शिक्षा के क्षेत्र मे आने वाली बाधाओं को दूर किया जाएगा | Obstacles in education will be removed through the scheme

स्टार्स योजना के माध्यम से स्कूल के बंद होने की वजह से पढ़ाई का होने वाला नुकसान, इंफ्रास्ट्रक्चर के नुकसान से पढ़ाई में बाधा पढ़ना, स्कूल में अपर्याप्त सुविधाएं, दूरस्थ शिक्षा की सुविधा के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग जैसी बाधाओं को दूर करने में मदद मिलेगी। इससे आने वाले समय मे पढाई कर रहे छात्रो को पढाई करना आसान हो जाएगा और वे रट्टा लगाकर नहीं पढेगें।

लाभ | Benefits

  • स्टार्स योजना के माध्यम से टीचिंग-लर्निंग को मजबूत बनाने मे मदद मिलेगी।
  • इस योजना से स्कूल एजुकेशन सिस्टम को वेहतर वनाया जाएगा।
  • इसके जरिए एक स्वतंत्र और स्वायत्त संस्थान के रूप में एक राष्ट्रीय मूल्यांकन केंद्र को स्थापित किया जाएगा।
  • स्टार्स योजना का संचालन शिक्षा मंत्रालय के पास होगा।
  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा ₹5717 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है। जिसमें से ₹3700 करोड रुपए विश्व बैंक दवारा प्रदान किए जाएगें।
  • शिक्षा का विस्तार होगा।
  • स्कूलों को बेहतर बनाया जाएगा।
  • इस योजना से विद्दार्थीयों की शिक्षा के प्रति रुचि वढेगी।
  • विद्दार्थी अब रट्टा लगाकर नहीं पढेगें।
  • ये योजना 6 राज्यों हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, केरला तथा उड़ीसा मे लागु की गई है।
  • योजना का विस्तार करने के लिए बाद मे इसे पूरे देश मे लागु किया जाएगा।
  • ये योजना नई शिक्षा नीति के अंतर्गत शुरु की गई है।
  • इस योजना के तहत पढ़ाई में आने वाली बाधाओं को दूर किया जाएगा।

विशेषताएं | Features

  • विद्दार्थीयों को शिक्षा ग्रहण करने मे आसानी होगी।
  • विदार्थीयों का शैक्षिक विकास होगा
  • इससे राज्यों के टीचिंग लर्निंग और परिमाण को मजबूत बनाया जाएगा।
  • पढाई के दौरान आने वाली सारी रुकावटो को दूर करने मे मदद मिलेगी।

योजना के परिणाम | Scheme results

  • शासन सूचकांक में सुधार
  • सुदृढ़ अधिगम मूल्यांकन प्रणाली
  • राज्यों के बीच क्रॉस-लर्निंग की सुविधा के लिये साझेदारी विकसित करना
  • चयनित राज्यों में ग्रेड 3 में  भाषा में न्यूनतम प्रवीणता प्राप्त करने वाले छात्रों में वृद्धि
  • माध्यमिक विद्यालय तक शिक्षा पूर्ण करने की दर में सुधार
  • राज्य स्तरीय सेवा वितरण में सुधार जैसे- प्रमुख शिक्षकों और प्रधानाचार्यों के प्रशिक्षण द्वारा स्कूल प्रबंधन को मज़बूत करना।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें। 

error: Content is protected !!