Updated : Nov 21, 2020 in Yojana

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना 2020 | PLI Scheme | पूरी जानकारी | ऑनलाइन आवेदन

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना | Production Linked Incentives Scheme | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | PLI Scheme Apply Online | Application Form

 

मेक इन इंडिया को गति प्रदान करने और देश को आत्म-निर्भर वनाने के लिए उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए देश मे घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा मिलेगा,  रोजगार उपलव्ध होगें, विदेशी कंपनिया भारत मे निर्यात करेंगी। कैसे मिलेगा लाभ और आवेदन कैसे किया जाएगा। इसके लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के वारे मे।       

 

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना | Utpadan Adharit Protsahan Yojana

 

घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए और देश को आत्म-निर्भर वनाने के लिए उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना (PLI) को शुरु किया गया है। जिसके तहत देश के विभिन्न उत्पादन सेक्टरों को धनराशि उपलव्ध करवाने के लिए अगले 5 सालो में 02 लाख करोड़ रुपए 10 प्रमुख क्षेत्रों पर खर्च किए जाएंगे, ताकि वे अपने कारोबार को आगे बढ़ा सके। इस योजना के जरिए देश मे रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे, विदेशी कंपनियां भी भारत में उत्पादन करने के लिए प्रोत्साहित होंगी। इससे निर्यात बढ़ेगा, आयात में कमी आएगी और देश की इकोनॉमी बेहतर होगी। योजना को गति प्रदान करने के लिए 1,45,980 करोड़ रुपए खर्च किए जाएगें। जिससे आत्मनिर्भर भारत अभियान को भी बढ़ावा मिलेगा और 25 फ़ीसदी कॉरपोरेट टैक्स रेट में भी कटौती की जाएगी।

उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन | Production Linked Incentives (PLI Scheme)

केंद्रीय मंत्रिमंडल दवारा भारत की विनिर्माण क्षमताओं को बढ़ाने और निर्यात मे वढोतरी करने के लिए 11 नवंबर 2020 को उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन (Production Linked Incentives) योजना को मंजूरी दी गई है। जिससे भारतीय निर्माताओं को वैश्विक रूप से प्रतिस्पर्धी बनाया जाएगा। इस योजना से आत्मनिर्भर भारत अभियान को बढ़ोतरी मिलेगी और वेरोजगारी दर मे भी गिरावट आएगी।    

उद्देश्य | An Objective  

योजना का मुख्य उद्देश्य घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देकर वेरोजगारी दर को कम कर देश की इकोनॉमी को बेहतर वनाना है।

योजना के अंतर्गत शामिल किए गए सेक्टर | Sectors Included under the scheme

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के तहत 10 सेक्टर शामिल किए गए हैं जो इस प्रकार है:-

  1. एडवांस केमिकल सेल बैटरी
  2. इलेक्ट्रॉनिक एंड टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट्स
  3. ऑटोमोबाइल और ऑटो कॉम्पोनेंट्स
  4. फार्मास्यूटिकल ड्रग्स
  5. टेलीकॉम एंड नेटवर्किंग प्रोडक्ट
  6. टेक्सटाइल उत्पादन
  7. फूड प्रोडक्ट्स
  8. सोलर पीवी माड्यूल
  9. व्हाइट गुड्स
  10. स्पेशलिटी स्टील

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत प्रत्येक क्षेत्र के बजट का विवरण | Budget of each region under production based incentive scheme

योजना के अंतर्गत जो 10 क्षेत्र शामिल किए गए हैं, जिनमे प्रत्येक क्षेत्र के बजट का विवरण इस प्रकार है –

क्षेत्र बजट
एडवांस केमिस्ट्री सेल बैटरी 18,100 करोड़ रुपये
इलेक्ट्रॉनिक एंड टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट 5000 करोड़ रुपये
ऑटोमोबाइल और ऑटो कॉम्पोनेंट्स 57,042 करोड़ रुपये
फार्मास्यूटिकल ड्रग्स 15000 करोड़ रुपये
टेलीकॉम एंड नेटवर्किंग प्रोडक्ट 12,195 करोड़ रुपये
टेक्सटाइल उत्पाद 10,683 करोड़ रुपये
फूड प्रोडक्ट्स 10,900 करोड़ रुपये
सोलर पीवी माड्यूल 4500 करोड़ रुपये
व्हाइट गुड्स 6,238 करोड़ रुपये
स्पेशलिटी स्टील 6,322 करोड़ रुपये

लाभ | Benefits

  • उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के माध्यम से घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा मिलेगा।
  • योजना का लाभ रेफ्रजरेटर, वाशिंग मशीन जैसे उत्पाद, औषधि, विशेष प्रकार के इस्पात, वाहन, दूरसंचार, कपड़ा, खाद्य उत्पाद, सौर फोटोवोल्टिक और मोबाइल फोन बैटरी जैसे उद्योगों में निवेशकों को प्राप्त होगा।
  • इस योजना से मेक इन इंडिया को गति प्रदान होगी।
  • योजना का बजट अगले 5 साल के लिए 2 लाख करोड़ रुपए तय किया गया है।
  • इस योजना के जरिए 10 प्रमुख क्षेत्रों पर यह धनराशि खर्च की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत आने वाले सेक्टरों को आगे बढ़ाने के लिए धन राशि भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना से आयात में कमी आएगी और निर्यात मे वढोतरी देखने को मिलेगी।
  • इक्नॉमी बेहतर बनेगी।
  • इस योजना से बेरोजगारी दर में गिरावट आएगी, तथा रोजगार के अवसर सृजित होगें।
  • योजना के माध्यम से 25 फ़ीसदी कॉरपोरेट टैक्स रेट में भी कटौती आएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत GDP का 16 फ़ीसदी योगदान होगा।
  • इस योजना के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत अभियान को भी गति मिलेगी।
  • भारत एशिया का वैकल्पिक वैश्विक मैन्युफैक्चरिंग केंद्र बन जाएगा ।

विशेषताएं | Features

  • उत्पादन मे वढोतरी होगी
  • देश मे रोजगार सृजित होगें।
  • भारत की इकोनॉमी मजबूत वनेगी।
  • विदेशी कंपनियां भारत में उत्पादन करेगीं
  • निर्यात वढेगा

पात्रता | Eligibility

  • देश के स्थायी निवासी
  • सभी वर्ग के लोग
  • वेरोजगार युवा

महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Documents

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • विनिर्माण प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Utpadan Adharit Protsahan Yojana

  • अभी योजना की शुरुआत की गई है।
  • योजना के लिए आवेदन करने के लिए लाभार्थीयो को थोडा इंतजार करना होगा।
  • जैसे ही आधिकारिक वेबसाइट लांच की जाएगी, तो लाभार्थी घर बैठे योजना के लिए आवेदन कर सकेगें।
  • योजना के संवध मे हमे कोई जानकारी मिलती है तो ह्म आपको जल्द ही सूचित कर देगें।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!