उत्तर प्रदेश गोपालक योजना : Gopalak Yojana | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

|| मुख्यमंत्री गोपालक योजना | Uttar Pradesh Gopalak Yojana | गोपालक योजना | UP Gopalak Scheme | Application Form | Apply Online | Full Information || उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी दवारा वेरोजगार युवाओ को रोजगार उपलव्ध करवाने और वेरोजगारी दर को कम करने के लिए उत्तर प्रदेश गोपालक योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए लाभार्थीयो को डेयरी फार्म के माध्यम से बिजनेस शुरु करने के लिए बैंको से लोन दिया जाएगा। कैसे मिलेगा योजना का लाभ और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – उत्तर प्रदेश गोपालक योजना के वारे में।    

gopalak logo

Uttar Pradesh Gopalak Yojana

 

उत्तर प्रदेश सरकार दवारा राज्य के बेरोजगार युवाओ को रोजगार से जोडने और उन्हे आत्म-निर्भर वनाने के लिए गोपालक योजना को शुरु किया गया है। योजना के तहत राज्य सरकार बेरोजगार युवाओं को डेयरी फार्म के दवारा रोजगार/ व्यवसाय शुरू करने में मदद करेगी। जिसमे लाभार्थीयो को पांच साल के लिए बैंक से 02 किस्तों में 40,000 रुपये का ऋण दिया जाएगा। लाभार्थीयो को दी जाने वाली धनराशि उनके बैंक खाते मे ट्रांसफर की जाएगी। जिससे लाभार्थीयो का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा और उनकी आय मे भी वढोतरी होगी। योजना का लाभ 10 -20 गाय रखने वाले पशुपालकों को मिलेगा। जिसमे कम से कम 5 पशु रखे जा सकते हैं। योजना के लिए कुल 9 लाख रुपये दिए जाने का प्रावधान है। जो लाभार्थी योजना का लाभ लेना चाहता है, वे ऑनलाइन / ऑफलाइन के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।  

क्यों शुरु की गई योजना 

राज्य मे लोगो को रोजगार न मिल पाने से बेरोजगारी दर मे इजाफा हुआ है। ऐसे मे शिक्षित व अनुभवी युवाओं को भी नौकरी की तलाश के लिए भटकना पड रहा है। उनकी इस समस्या का समाधान करने हेतु राज्य सरकार दवारा गोपालक योजना को शुरु किया गया है। ताकि वेरोजगार व शिक्षित युवाओ को योजना के जरिए मुनाफा मिल सके। इस योजना को शुरु करने के लिए लाभार्थीयो को बैंको से लोन दिया जाता है, ताकि वे खुद का व्यवसाय शुरु करने मे सक्षम वन सके। सरकार दवारा चलाई गई इस नई योजना से राज्य मे वेरोजगारी दर मे कमी आएगी, और युवाओ को रोजगार पाने के लिए दूसरे राज्य का रुख नहीं करना पडेगा।

गोपालक योजना के लिए पशुओं की चयन प्रक्रिया

  • गोपालक योजना के तहत पशुओं को पशु मेले से खरीदा जाएगा।
  • जो भी पशु खरीदे जाएंगे ,वह दूध देने वाले होने चाहिए |
  • पशु बिल्कुल स्वस्थ होने चाहिए उनको कोई भी बीमारी नहीं होनी चाहिए|
  • योजना के जरिए पशुओं का बीमा करवाया जाना चाहिए।
  • पशुपालक मे रुचि रखने वाले / बेरोजगार लाभार्थी गोपालक योजना में हिस्सा ले सकते हैं।

योजना के तहत महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश 

  • गोपालक योजना में पशुपालक को 10 पशुओं के हिसाब से डेढ़ लाख की लागत से पशुशाला का खुद निर्माण करना होगा।
  • गोपालक योजना के तहत बैंक लोन तभी देगा यदि लाभार्थी कम से कम 5 पशु रखता है। इससे कम पशु होने पर बैंक दवारा ऋण नहीं दिया जाएगा।
  • योजना में गाय या भैंस रखने का विकल्प खुला है। गोपालक योजना के तहत पशु दूध देने वाला होना चाहिए।
  • योजना के जरिए यदि लाभार्थी केवल पांच पशु ही पालन चाहता है, तो ऐसी सिथति मे उनको दूसरी किस्त नहीं दी जाएगी। अगर लाभार्थी और पशु पालना चाहते हैं तो उन्हे 3.50 लाख रूपए की दूसरी किस्त उपलब्ध करवाई जाएगी|
  • गोपालक योजना में कुल 9लाख रुपए दिए जाएंगे | इसमें आपको कम से कम 1.80 लाख रूपये खुद लगाने होंगे।

UP Gopalak Scheme

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना का मुख्य उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के वेरोजगार युवाओ को खुद का व्यवसाय चलाने के लिए राज्य सरकार दवारा आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाना है।

Uttar Pradesh Gopalak Yojana के लिए पात्रता 

  • उत्तर प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • वेरोजगार लाभार्थी
  • लाभार्थी के परिवार की आय 1लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना के लाभ 

  • योजना का लाभ उत्तर प्रदेश राज्य के बेरोजगार युवाओ को मिलेगा।
  • योजना के जरिए लाभार्थीयो को डेयरी फार्म चलाने के लिए बैंको से ऋण दिया जाएगा।
  • पशुओं को पालने पर लाभार्थीयो को आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाई जाएगी।
  • लाभार्थी अपनी इच्छा से (गाय/भैंस) पशु पाल सकते हैं, जिसके लिए शर्त यह है कि पशु दुध देने वाला होना चाहिए।
  • 10 -20 गाय रखने वाले लाभार्थीयो को योजना का लाभ मिलेगा।
  • योजना के माध्यम से दस मवेशियों को पालने के लिए 1.80 लाख रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी।
  • पांच पशु पालने पर लाभार्थी को दूसरी किस्त नहीं मिलेगी।
  • गोपालक योजना के तहत 05 साल के लिए लोगों को 3 लाख 60 हजार रुपये प्रदान किए जाएगें।
  • बैंक हर साल 07 लाख 20,000 रुपये पर 40 हजार रुपये का अनुदान देगा।
  • इस योजना से लाभार्थी का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • लाभार्थी की आय मे सुधार होगा।
  • अब बेरोजगार युवाओ को नौकरी की तलाश के लिए भटकना नहीं पडेगा।
  • इस योजना को पूरे राज्य मे शुरु कर दिया गया है, ताकि राज्य मे हर वेरोजगार को रोजगार मिल सके।

UP Gopalak Yojana की मुख्य विशेषताएं 

  • खुद का डेयरी फार्म खोलने के लिए राज्य सरकार दवारा आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाई जाएगी।  
  • वेरोजगारी दर मे कमी लाना
  • वेरोजगार युवाओ को रोजगार से जोडना
  • लाभार्थीयो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • लाभार्थीयो को मिलेगा अधिक मुनाफा
  • लाभार्थीयो की आर्थिक सिथति मजबूत वनेगी।
  • पारिवारिक सिथति मे भी सुधार होगा।

उत्तर प्रदेश गोपालक योजना के लिए कैसे करें आवेदन 

ऑनलाइन आवेदन 

  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को सवसे पहले अधिकारिक वेब्साइट पे जाना है।
  • अब आपको योजना के लिंक की खोजकर उसपे किल्क करना है।
  • उसके बाद आप अगले पेज मे आ जाओगे।
  • यहां आपको योजना का आवेदन फार्म भरना होगा।
  • आपको इस फार्म मे दी गई सारी जानकारी भरने के साथ आव्श्यक दस्तावेज भी अटैच करने होगें।
  • सारी प्रक्रिया होनेके बाद आपको अंत मे सबमिट बटन पे किल्क कर देना है।
  • यहां किल्क करते ही आपका योजना के लिए सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा।

ऑफलाइन आवेदन 

  • गोपालक योजना में भाग लेने के लिए व्यक्ति को अपने नजदीकी चिकित्सा अधिकारी के पास आवेदन करना होगा|
  • उसके लिए लाभार्थी को योजना का आवेदन फार्म भरना होगा, फिर आव्श्यक दस्तावेजो को फार्म के साथ अटैच करना होगा। सारी प्रक्रिया होने पर लाभार्थी को ये फार्म जमा करवा देना है।

आशा करता हूं आपको आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

error: Content is protected !!