कृषि अवसंरचना कोष योजना 2022 | AIF Scheme : Online Registration | Application Form

|| Agriculture Infrastructure Fund Yojana | Beneficiary List | Apply Online | Application Form | Helpline Number ||

 

कृषि क्षेत्र को विभिन्न प्रकार के लाभ प्रदान करने के लिए, भारत सरकार दवारा कई प्रकार की कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गई हैं। जिनके माध्यम से किसानों को वित्तीय और बुनियादी सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। हाल ही में भारत सरकार दवारा किसानो को आत्म-निर्भर वनाने के लिए कृषि अवसंरचना कोष योजना को लागू किया गया है। इस योजना के जरिये कृषि क्षेत्र के बुनियादी ढांचे में सुधार किया जाएगा। इन बुनियादी सुविधाओं के जरिये किसानो की आय मे वढ़ोतरी व उनके जीवन स्तर को वेहतर वनाया जाएगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – कृषि अवसंरचना कोष योजना के वारे मे|

Agriculture Infrastructure Fund

Agriculture Infrastructure Fund Yojana

भारत मे लगभग 85% किसान छोटे जोत वाले हैं जिनके पास खेती के लिए 2 हेक्टेयर से कम भूमि है और जिनकी आय भी बहुत कम है। ऐसे मे इन किसानो को लाभ पहुचाने के लिए ही सरकार दवारा कृषि अवसंरचना कोष योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के तहत फसल के उपरांत कृषि उत्पादन के उचित प्रबंधन, बुनियादी ढांचे, सामुदायिक कृषि संपत्तियों के विकास एवं फार्म गेट की अवसंरचना के निर्माण के लिए किसानों को ब्याज पर छूट के साथ ऋण दिया जाता है। ताकि देश के कृषि क्षेत्र मे सुधार लाया जा सके और किसानो को आर्थिक रूप से सशक्त वनाया जा सके| योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी ऑनलाइन मोड के जरिये आवेदन कर सकते हैं|

योजना का उद्देश्य

कृषि अवसंरचना निधि योजना का मुख्य उद्देश्य फसल कटाई उपरांत प्रबंधन अवसंरचना और सामुदायिक कृषि परिसंपत्तियों के लिए व्यवहार्य परियोजनाओं में निवेश के लिए दीर्घकालिक ऋण सुविधा प्रदान करना है। ताकि देश के कृषि तंत्र को मजबूत बनाया जा सके। योजना का लाभ किसानों, कृषि उद्यमियों, स्टार्टअप आदि के लिए प्रदान किया जाएगा। इस योजना के लागू होने से किसानों के जीवन स्तर में सुधार आएगा और किसान आत्मनिर्भर वनेगे । बुनियादी सुविधाओं में सुधार से किसानों की आय में भी वृद्धि होगी और देश की समग्र अर्थव्यवस्था में सुधार करने में भी मदद करेगी |

कृषि अवसंरचना कोष योजना का अवलोकन

योजना का नाम कृषि अवसंरचना कोष योजना
किसके दवारा शुरू की गई भारत सरकार दवारा
लाभार्थी देश के नागरिक
प्रदान की जाने वाली सहायता  कृषि और संबद्ध गतिविधियों के लिए सरकार दवारा आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाना|
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट agriinfra.dac.gov.in

योजना के मुख्य पहलु

  • कृषि अवसंरचना कोष योजना केंद्र और राज्य सरकार की सभी योजनाओं के अनुरूप होगी|
  • योजना के तहत वित्तीय सुविधा का आकार 1 लाख करोड़ होगा|
  • 2 करोड़ रुपये तक के ऋण के लिए ऋण गारंटी प्रदान की जाएगी|
  • सरकार दवारा प्रति परियोजना 2 करोड़ रुपये तक सीमित 3% प्रति वर्ष का ब्याज सबवेंशन प्रदान करेगी|
  • ब्याज सबवेंशन अधिकतम 7 वर्षों की अवधि के लिए उपलब्ध होगा|
  • वित्तपोषण सुविधा के तहत भुगतान के लिए अधिस्थगन न्यूनतम 6 महीने और अधिकतम 2 वर्ष के अधीन भिन्न हो सकता है
  • उधार दर पर एक कैप होगी ताकि ब्याज सब्सिडी को लाभार्थी तक पहुंचाया जा सके|
  • यदि एक पात्र संस्था किसी परियोजना को दूसरे स्थान पर लगाती है तो योजना के तहत 2 करोड़ तक के ऋण तक सभी परियोजनाएँ पात्र हैं|
  • ऐसी प्रत्येक परियोजना एक अलग स्थानीय सरकारी निर्देशिका कोड वाले स्थान पर होनी चाहिए

योजना की कार्यान्वयन अवधि

  • कृषि अवसंरचना कोष योजना की लागू अवधि 2020-21 से 2032-33 तक रहेगी|
  • योजना के तहत ऋण वितरण 6 वर्षों में पूरा किया जाएगा
  • वित्तीय वर्ष 2020 में लगभग ₹4000 करोड़ की परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है
  • सरकार आने वाले वर्षों में ₹96000 करोड़ की शेष राशि का वितरण करेगी|
  • 2021-22 में ₹16000 करोड़ और अगले 4 वर्षों में 2022-23 से 2025-26 तक ₹20000 करोड़ वितरित किए जाएंगे।
  • वित्तपोषण सुविधा का पुनर्भुगतान अधिकतम 7 वर्षों की अवधि के लिए होगा जिसमें 2 वर्ष की अधिस्थगन अवधि शामिल होगी|

योजना के प्रमुख घटक

  • ब्याज सबवेंशन लागत इस घटक के तहत प्रति वर्ष 3% ब्याज सबवेंशन 2 करोड़ की सीमा तक प्रदान किया जाएगा। सरकार दवारा अधिकतम 7 साल की अवधि के लिए सबवेंशन दी जाएगी और राष्ट्रीय निगरानी समिति निजी उद्यमियों को वित्त पोषण की सीमा प्रतिशत तय करेगी|
  • क्रेडिट गारंटी लागत सूक्ष्म और लघु उद्यम के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट के तहत पात्र उधारकर्ता को अधिकतम 2 करोड़ रुपये की क्रेडिट गारंटी कवरेज प्रदान की जाएगी। इस कवरेज के लिए शुल्क का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा
  • केंद्र और राज्य स्तर पर योजना के लिए PMU -PMU सहायता की प्रशासन लागत DSCFW के तहत किसान कल्याण कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति द्वारा प्रदान की जाएगी। लाभार्थियों का समर्थन करने के लिए आपूर्ति श्रृंखला में अंतराल को लक्षित परियोजनाओं और व्यवहार्य परियोजना की रिपोर्ट तैयार करने के लिए भरा जाएगा|

कृषि अधोसंरचना निधि योजना के अंतर्गत पात्र परियोजनाएं

  1. कटाई उपरांत प्रबंधन परियोजना
  • आपूर्ति श्रृंखला सेवाएं जिनमें ई-मार्केटिंग प्लेटफॉर्म शामिल हैं
  • गोदाम
  • भूमिगत कक्ष
  • पैक हाउस
  • परख इकाइयाँ
  • छँटाई और ग्रेडिंग इकाइयाँ
  • कोल्ड चेन
  • रसद सुविधाएं
  • प्राथमिक प्रसंस्करण केंद्र
  • पकने वाले कक्ष
  1. सामुदायिक कृषि परिसम्पत्तियों के निर्माण के लिए व्यवहार्य परियोजनाएं
  • जैविक आदानों का उत्पादन
  • बायोस्टिमुलेंट उत्पादन इकाइयां
  • स्मार्ट और सटीक कृषि के लिए बुनियादी ढांचा
  • निर्यात समूहों सहित फसलों के समूह के लिए आपूर्ति श्रृंखला अवसंरचना प्रदान करने के लिए पहचान की गई परियोजना
  • सामुदायिक कृषि संपत्तियों और फसल कटाई के बाद प्रबंधन परियोजनाओं में PPP के तहत केंद्र/राज्य/स्थानीय सरकारों और उनकी एजेंसियों द्वारा प्रचारित परियोजनाएं

Agriculture Infrastructure Fund scheme

वित्तपोषण सुविधा का आकार और पात्र लाभार्थी

  • बैंक प्राथमिक कृषि ऋण समिति, विपणन सहकारी समिति, किसान उत्पादक संगठन, स्वयं सहायता समूह, किसान संयुक्त दायित्व समूह, बहुउद्देशीय सहकारी समिति, कृषि उद्यमी, स्टार्टअप और केंद्रीय या राज्य एजेंसी या स्थानीय निकाय प्रायोजित सार्वजनिक-निजी भागीदारी परियोजना, राज्य एजेंसियां, कृषि उपज बाजार समितियां, राष्ट्रीय और राज्य सहकारी संघ आदि
  • मत्स्य पालन सहित उत्पादित कृषि और संबद्ध क्षेत्र के लिए APMC का संचालन नियमित बाजार |
  • पैक्स जिन्होंने अपने संचालन को संभालने के लिए डिजिटलीकरण अपनाया है, उन्हें भी इस योजना के तहत वरीयता दी जाएगी|
योजना के तहत पात्र प्रति इकाई परियोजनाओं की संख्या
  • सरकार एक स्थान पर 2 करोड़ तक के ऋण के लिए ब्याज सबवेंशन प्रदान करेगी|
  • यदि एक पात्र संस्था किसी परियोजना को दूसरे स्थान पर रखती है तो वे सभी परियोजनाएँ योजना के तहत 2 करोड़ रुपये के ऋण के लिए पात्र होंगी।
  • निजी क्षेत्र की संस्थाओं के लिए ऐसी अधिकतम 25 परियोजनाओं की सीमा होगी
  • 25 परियोजनाओं की यह सीमा राज्य एजेंसियों, सहकारी के प्राकृतिक और राज्य संघों, FPO के संघ और SHGS के संघ पर लागू नहीं होगी।
  • APMC अपने निर्दिष्ट बाजार क्षेत्र के भीतर कई परियोजनाओं के लिए पात्र होगी
  • ऐसे मामलों के लिए, निर्दिष्ट बाजार क्षेत्र के भीतर विभिन्न बुनियादी ढांचे की प्रत्येक परियोजना के लिए 2 करोड़ रुपये तक के ऋण के लिए ब्याज सबवेंशन प्रदान किया जाएगा।
योजना के तहत भाग लेने वाली संस्थाए
  • वाणिज्यिक बैंक
  • अनुसूची सहकारी बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • लघु वित्त बैंक
  • गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां
  • राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम
योजना का कार्यान्वयन व रूपरेखा
  • राष्ट्रीय, राज्य और जिला स्तर की निगरानी समिति योजना के कार्यान्वयन के बारे में वास्तविक समय की निगरानी और प्रभावी प्रतिक्रिया सुनिश्चित की जाएगी।
  • सरकार दवारा एक राष्ट्रीय, राज्य और जिला स्तरीय समिति गठित करेगी|
  • वित्तपोषण सुविधा के तहत बनाई जाने वाली संपत्तियों को जियोटैग किया जाएगा
  • जिला निगरानी समिति और संबंधित ऋण देने वाली संस्था यह सुनिश्चित करेगी कि जियोटैग की गई संपत्ति ऑनलाइन पोर्टल पर उपलब्ध हो
  • मूल्यांकन के लिए 20000 करोड़ रुपये का संवितरण पूरा होने और आवश्यकता पड़ने पर मध्यावधि सुधार के बाद व्यय विभाग दवारा इस योजना पर विचार किया जाएगा|
कृषि अधोसंरचना निधि योजना के लिए कौन आवेदन कर सकता है
  • कृषि उपज मंडी समिति
  • कृषि-उद्यमी
  • केंद्रीय प्रायोजित सार्वजनिक-निजी भागीदारी परियोजना
  • किसान
  • किसान उत्पादक संगठन
  • किसान उपज संगठनों का संघ
  • संयुक्त देयता समूह
  • स्थानीय निकाय प्रायोजित सार्वजनिक-निजी भागीदारी परियोजना
  • विपणन सहकारी समिति
  • बहुउद्देशीय सहकारी समिति
  • सहकारी समितियों के राष्ट्रीय संघ
  • प्राथमिक कृषि ऋण समिति
  • स्वयं सहायता समूह
  • स्वयं सहायता समूहों के संघ
  • राज्य की एजेन्सियां
  • सहकारी समितियों के राज्य संघ
  • राज्य प्रायोजित सार्वजनिक-निजी भागीदारी परियोजनाएं
कृषि अधोसंरचना निधि योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज
  • पहचान प्रमाण पत्र
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • दस्तावेजों की चेकलिस्ट
  • एआईएफ ऋण के लिए बैंक का ऋण आवेदन पत्र / ग्राहक अनुरोध पत्र विधिवत भरा और हस्ताक्षरित
  • पंजीकरण का साक्ष्य
  • पिछले 03 वर्षों के लिए आयकर रिटर्न, यदि उपलब्ध हो।
  • पिछले 3 वर्षों की ऑडिटेड बैलेंस शीट, यदि उपलब्ध हो।
  • GST प्रमाणपत्र, यदि लागू हो।
  • कंपनी की ROC खोज रिपोर्ट
  • प्रमोटर के नेट वर्थ स्टेटमेंट
  • विस्तृत परियोजना रिपोर्ट – जैसा कि – स्थानीय प्राधिकरण की अनुमति, लेआउट योजना / अनुमान, भवन स्वीकृति आदि अगर लागू हो|
कृषि अधोसंरचना निधि योजना के लाभ
  • कृषि क्षेत्र में आधारिक तंत्र को मज़बूत किया जाएगा, जिससे देश के बड़े बाज़ारों तक किसानों की पहुंच सुनिश्चित की जा सकेगी और साथ ही नवीन तकनीकों के माध्यम से फाइटोसैनेटिक मानडंडों को पूरा करते हुए अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों तक भारतीय किसानों की पहुँच को बढ़ाया जा सकेगा|
  • फसलों की कटाई के बाद अनाज के प्रबंधन हेतु अवसंरचना का विकास किया जाएगा|
  • उपज को बढ़ाने के लिए सामुदायिक कृषि परिसंपत्तियों हेतु धन की उपलब्ध को सुनिश्चित किया जाएगा|
  • योजना के तहत ऋण पर ब्याज में 3% की छूट प्रदान की जाएगी साथ ही ऋण जारी करने वाली संस्था को 02 करोड़ तक के ऋण पर बैंक गारंटी सरकार द्वारा दी जाएगी|
  • इस योजना से उद्योगों एवं आधारभूत सुविधाओं के विकास हेतु लिए गए ऋण पर सब्सिडी और बैंक गारंटी के माध्यम से किसानों और कृषि क्षेत्र से जुड़े उद्यमों को निवेश बढ़ाने और आधुनिक तकनीकों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा|
  • इस योजना से फसलों की कटाई के बाद अनाज के प्रबंधन हेतु अवसंरचना का विकास किया जाएगा|
  • इस योजना के तहत टॉप-अप प्रणाली के तहत दोहरे लाभ की सुविधा प्राप्त की जा सकेगी|
  • नाबार्ड द्वारा वित्तीय सहायता देने के लिए किसान उत्पादक संगठन जुड़ी परियोजनाओं के चयन के पश्चात पोर्टल पर इसकी जानकारी साझा की जाएगी और नाबार्ड द्वारा धनराशि जारी करने के बाद ‘सार्वजनिक वित्त प्रबंधन प्रणाली’ (Public Financial Management System-PFMS) के माध्यम से सब्सिडी सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में भेज दी जाएगी|
कृषि अवसंरचना कोष योजना के लिए कैसे करे आवेदन

  • अब आपको Registration के विकल्प पे किलक करना होगा| 

  AIF Scheme online

  • उसके बाद आपके सामने अगला पेज खुलके आएगा|
  • इस पेज मे आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर और आधार नंबर डालना है
  • फिर आपको Send OTP के बटन पर क्लिक कर देना है|
  • अब आपको एक OTP प्राप्त होगा
  • जिसे आपको ओटीपी बॉक्स में दर्ज करना है और Verify के बटन पर क्लिक कर देना है|
  • अब आपके सामने आवेदन फार्म खुलके आएगा|
  • जिसमे आपको दी गई सारी जानकारी दर्ज करनी होगी|
  • उसके बाद आपको Submit के बटन पे क्लिक कर देना है|
  • इस प्रक्रिया का पालन करके आप योजना के तहत सफलतापूर्वक पंजीकरण कर सकोगे|
Login कैसे करे

AIF Scheme login

  • उसके बाद आपके सामने Login form खुलके आएगा|
  • जिसमे आपको User ID / Password / capcha Code दर्ज करने के बाद Login कर देना है|
  • इस तरह आप पोर्टल पर लॉगिन हो जाओगे|
Important Download

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on July 10, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!