जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम 2022 | JSSK : रजिस्ट्रेशन | आवेदन फॉर्म | पात्रता व उद्देश्य

|| Janani Shishu Suraksha Karyakram | जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम JSSK | Online Registration | Application Form ||

 

गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए भारत सरकार दवारा जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम को लागू किया गया है| इस कार्यक्रम के जरिये देश की गर्भवती महिलाओं व शिशुओं को स्वास्थ्य स्वन्धित सुविधाओं का लाभ प्रदान किया जाता है| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के वारे मे|

Janani Shishu Suraksha Karyakram

Janani Shishu Suraksha Karyakram

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम को भारत सरकार दवारा गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य की देखभाल करने के लिए शुरू किया गया है| इस कार्यक्रम के अंतर्गत महिलाओं व नवजात शिशुओं को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी। इन सेवाओं में निशुल्क प्रसव, निशुल्क जांच, भोजन आदि जैसी सेवाएं शामिल होंगी। योजना के लाभार्थियों को प्रसव के दौरान संपूर्ण व्यय एवं नवजात शिशु को 1 माह तक होने वाले किसी भी प्रकार की बीमारी में होने वाले व्यय का भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा। क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा अपने प्रमंडल में जननी सुरक्षा योजना का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा। हर महीने सिविल सर्जन के साथ कार्यक्रम में भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की जाएगी। इसके अलावा अपने क्षेत्र के भ्रमण के दौरान विशेष रूप से जननी सुरक्षा कार्यक्रम में निर्धारित दिशा-निर्देश का पालन भी क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा किया जाएगा।

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के मुख्य पहलु

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम प्रसव के समय महिलाओं को विभिन्न प्रकार की निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करता है और नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखा जाता है। इन सेवाओं में निशुल्क प्रसव, दवाएं, जांच, भोजन, रक्त की व्यवस्था, रेफरल जैसी सुविधाओं को शामिल किया गया है। इस कार्यक्रम के जरिये अब देश की महिलाओं को प्रसव के समय आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि सरकार द्वारा विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं के लिए आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी, ताकि लाभार्थी को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाया जा सके और उसके जीवन स्तर मे सुधार लाया जा सके|

PM जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का अवलोकन

योजना का नाम जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम
किसके दवारा शुरू की गई भारत सरकार दवारा
लाभार्थी देश की महिलाएँ व बच्चे
प्रदान की जाने वाली सहायता गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं को स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट nhm.gov.in

 

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का उद्देश्य

प्रसव के समय महिलाओं व नवजात शिशुओं को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए सरकार दवारा आर्थिक सहायता उपलव्ध करवाना है|

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के जरिये प्रदान की जाने वाली सेवाएं (गर्भवती महिला के लिए)

  • निशुल्क प्रसव
  • निशुल्क सिजेरियन प्रसव
  • निशुल्क दवाएं
  • निशुल्क जांच
  • निशुल्क भोजन
  • निशुल्क रक्त की व्यवस्था
  • निशुल्क रेफरल सुविधा
  • सभी प्रकार के यूजर चार्ज में छूट

30 दिन तक नवजात शिशुओं मिलने वाली सुविधाएं

  • निशुल्क उपचार
  • निशुल्क दवा
  • निशुल्क जांच
  • मिशन ब्लड की व्यवस्था
  • निशुल्क रेफरल सुविधा
  • सभी प्रकार के यूजर चार्जेस में छूट आदि

कार्यक्रम अंतर्गत जिला स्तर पर प्रदान की जाने वाली राशि

1.रेफरल सुविधा

  • महिला के प्रसव व प्रसव उपरांत आने जाने के लिए 1000/- रुपए प्रदान किए जाएंगे।
  • यदि नवजात शिशु गंभीर रूप से बीमार है तब उपचार के लिए आने जाने के लिए भी 1000/- रूपए की राशि प्रदान किए जाने की व्यवस्था है|

2.भोजन की व्यवस्था

  • सामान्य प्रसव की स्थिति में गर्भवती महिला को 3 दिन तक 50/- रूपए प्रतिदिन भोजन के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • सिजेरियन प्रसव की स्थिति में लाभार्थी महिला को अधिकतम 7 दिन तक 50/- रूपए भोजन के लिए प्रदान किए जाएंगे।

3.दवा की उपलब्धता

  • सामान्य प्रसव की स्थिति में 300/- रूपए दवाई के लिए प्रदान किए जाएंगे एवं सिजेरियन प्रसव की स्थिति में लाभार्थी को 1600/- रुपए दवाई के लिए दिए जाएंगे।
  • नवजात शिशु के उपचार के लिए 200/- रूपए प्रदान होंगे|

4.चिकित्सा जांच एवं आवश्यकता अनुसार ब्लड सुविधा की उपलब्धता

  • सामान्य प्रसव की स्थिति में 200/- रूपए एवं सिजेरियन प्रसव की स्थिति में 500/- रूपए जांच के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • ब्लड सुविधा के लिए अधिकतम 300/- रूपए की राशि दी जाएगी|
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम को चलाने का दायित्व

इस कार्यक्रम की देखरेख करने के लिए सरकार दवारा अधिकारियों को नियुक्त किया गया है| इस अधिकारियों का दायित्व पात्र लाभार्थीयों को योजना का लाभ प्रदान करने का होगा|    

1.जिला सरैया प्रखंड स्तरीय नामक नोडल पाधिकारी का दायित्व

  • इस कार्यक्रम के लिए नोडल अधिकारी जिला स्तर पर सिविल सर्जन एवं प्रखंड स्तर पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी होंगे।
  • कार्यक्रम के दिशा-निर्देशों से संबंधित जानकारी नोडल अधिकारियों को दी जाएगी।
  • लोन अधिकारियों द्वारा इस कार्यक्रम का संचालन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • मेडिकल कॉलेजों के माध्यम से भी योजना का लाभ लाभार्थियों को प्रदान किया जाएगा|
  • नोडल अधिकारियों द्वारा भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की जाएगी।
  • योजना के अंतर्गत शिकायत निवारण तंत्र का भी गठन किया गया है, जिसकी प्रतिदिन निगरानी की जाएगी।
  • नोडल अधिकारियों द्वारा योजना के प्रचार-प्रसार कोई भी सुनिश्चित किया गया है।
  • कार्यक्रम की प्रगति को राज्य मुख्यालय में उपलब्ध करवाई जाएगी।

2.उपाधियक्ष/अस्पताल प्रबंधक/प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक का दायित्व

  • अस्पताल एवं स्वास्थ्य केंद्र के जरिये जननी सुरक्षा कार्यक्रम का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • अधिकारियों द्वारा योजना के दिशा निर्देशों का पालन किया जाएगा।
  • प्रत्येक सप्ताह इस कार्यक्रम की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की जाएगी।

3.प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक/प्रखंड लेखा प्रबंधक का दायित्व

  • प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक या लेख प्रबंधक द्वारा अपने प्रखंड में जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • कार्यक्रम के प्रचार-प्रसार करने का दायित्व अपने प्रखंड में प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक या लेख प्रबंधक का होगा।
  • प्रत्येक सप्ताह कार्यक्रम के भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की जाएगी।
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लिए पात्रता
  • आवेदक को देश का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • गर्भवती महिलाओं व शिशु योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगे|
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लिए आवश्यक दस्तावेज़
  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लाभ
  • जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का लाभ देश की गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं को प्रदान किया जाएगा|
  • इस कार्यक्रम का लाभ लाभार्थीयों दवारा राष्ट्रीय स्तर पर प्राप्त किया जा सकेगा|
  • इस कार्यक्रम के जरिये पात्र लाभार्थीयों को स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान की जाएंगी|
  • इसके अलावा लाभार्थीयों को आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी|
  • क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा अपने प्रमंडल में जननी सुरक्षा योजना का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • अब आर्थिक रूप से कमज़ोर लाभार्थीयों को आर्थिक तंगी का सामना नही करना पडेगा|
  • इस कार्यक्रम से लाभार्थीयों के स्वास्थ्य की समय-समय पर जांच की जा सकेगी|
  • गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं को पोष्टिक युक्त आहार दिया जाएगा, ताकि उनके स्वास्थ्य मे सुधार लाया जा सके|
  • जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम से मृत्यु दर मे भी कमी आएगी|
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम की मुख्य विशेषताएँ
  • गर्भवती महिलाओं व नवजात शिशुओं को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना
  • पात्र लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना|
  • देश मे कुपोषण जैसी बीमारी पर लगाम लगाने के लिए लाभार्थीयों को पोषिट्क आहार प्रदान करना
जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लिए कैसे करे आवेदन

Janani Shishu Suraksha Karyakram online

Janani Shishu Suraksha Karyakram

  • उसके बाद आपके सामने Download PDF मे खुलके आएगा|

Janani Shishu Suraksha Karyakram form

  • अब आपको ये फार्म डाउनलोड करना है और इसका प्रिंट आउट लेना होगा|
  • फिर आपको इस फार्म मे पूछी गई जानकारी दर्ज करनी है, और जरूरी दस्तावेज फार्म के साथ अटैच करने हैं|
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको ये फार्म सवन्धित कार्यालय मे जाकर जमा करवा देना है|
  • इस तरह आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

error: Content is protected !!