इ-उपार्जन योजना 2021-22 | mpeuparjan.nic.in | ऑनलाइन आवेदन | पूरी जानकारी

|| MP किसान ऑनलाइन पंजीकरण | E Uparjan Portal | मध्य प्रदेश इ-उपार्जन योजना | Apply Online | Application Status | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | How to apply Online ||

 

मध्य प्रदेश सरकार दवारा किसानो के हितो का ध्यान रखने और उनकी आय मे बढोतरी करने के लिए इ-उपार्जन योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए किसानो को ऑनलाइन सुविधा उपलव्ध करवाई गई है। ऑनलाइन सुविधा मिलने से किसानो के समय की बचत होगी और प्रणाली मे पारदर्शिता आएगी। कैसे मिलेगा योजना का लाभ, आवेदन के लिए कौन-कौन पात्र होगें और योजना का लाभ लेने हेतु आवेदन कैसे किया जाएगा । ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – मध्य प्रदेश इ-उपार्जन योजना के वारे मे।

 

 E Uparjan Yojana

 

मध्य प्रदेश सरकार दवारा रबी सीजन के दौरान सभी किसानों को अपनी फसलों को तय समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए इ-उपार्जन योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत राज्य के किसान समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर अपनी फसल वेच सकते हैं। इसके लिए राज्य सरकार दवारा इ-उपार्जन पोर्टल की शुरुआत की गई है। जहां पर किसान ऑनलाइन फार्म भरकर इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है।

मुख्य तथ्य

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा MP ई उपार्जन के अंतर्गत प्रदेश को कवर करने किया जाएगा। जिसके लिए मध्य प्रदेश के प्रत्येक जिले की अनाज, गेहूं और धान की मॉनिटरिंग की गई है। इस मॉनिटरिंग प्रणाली से मध्य प्रदेश में गेहूं खरीद में 2830 खरीद केंद्र हैं, 708 रनर एवं 2830 डाटा एंट्री ऑपरेटर हैं तथा 12834 किसान अपनी गेहूं की फसल को हर रोज बेचते हैं। इसके अलावा मध्य प्रदेश में धान खरीद प्रणाली में 795 खरीद केंद्र हैं, 199 रनर्स एवं 795 डाटा एंट्री ऑपरेटर हैं एवं 4250 किसान हर रोज अपनी फसल बेचते हैं।

MP इ-उपार्जन योजना किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 

किसानो को योजना का लाभ देने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया है और इस बार पंजीकरण प्रक्रिया में कुछ बदलाव भी किए गए हैं। पिछले वर्ष MP ई उपार्जन ऑनलाइन पंजीकरण केवल कृषि उपज मंडी के माध्यम से होता था जिसकी वजह से किसानों को कई दिक्कतो का सामना करना पड़ता था। लेकिन इस वर्ष मध्य प्रदेश सरकार दवारा सभी किसानों को घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है। अब किसान समर्थन मुल्य पर फसल वेचने के लिए घर बैठे ही आवेदन कर सकेगे। जो दिक्कते पिछ्ले वर्ष किसानो को आई थी, अब उन कमियो को दूर किया जाएगा। ताकि राज्य मे किसानो की सिथति को वेहतर वनाया जा सके।

इ-उपार्जन योजना का मुख्य उद्देश्य

इ-उपार्जन योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के उन किसानों को अपनी फसलों को तय समर्थन मूल्य का लाभ पहुंचाना है, जिन्होने ऑनलाइन आवेदन किया है।

E Uparjan Yojana के लिए पात्रता

  • मध्य प्रदेश राज्य के स्थायी निवासी
  • सभी किसान

मध्य प्रदेश इ-उपार्जन योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज 

  • आधार कार्ड
  • समग्र आई डी
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • ऋण-पुस्तिका
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

इ-उपार्जन पर पंजीकरण करने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश 

  • आधार नंबर एवं समग्र आई डी के आधार पर किसान का पंजीयन किया जाएगा।
  • इस योजना के लिए आधार नंबर एवं समग्र आई डी अनिवार्य है| यदि दोनों उपलब्ध नहीं है, तो आपको अपने नजदीकी ग्राम पंचायत से संपर्क करना है|
  • ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने पर आपको दर्ज की गई बैंक खाता जानकारी की जांच करनी चाहिए।
  • पंजीयन के लिए आवेदक का रजिस्टड मोबाइल नंबर चाहिए| आपका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ा होना चाहिए।
  • पंजीकरण करने के लिए आपको दी गई जानकारी ध्यान पूर्वक भरनी है|
  • आपके द्वारा दी गयी सारी जानकारी सही होनी चाहिए|
  • पंजीकरण के बाद आपको एक रसीद दी जाएगी, आपको उसे संभल कर रखना है।
  • पंजीकरण के बाद आप प्रिंट लेना न भूले।

MP इ-उपार्जन योजना के लाभ 

  • इ-उपार्जन योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक मध्य राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ राज्य के सभी किसानों को प्राप्त होगा।
  • इ-उपार्जन योजना का लाभ लेने के लिए किसान भाइयों को इ-उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना है।
  • इस योजना से किसान समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर अपनी फसल खरीद या वेच सकते हैं।
  • इस योजना से राज्य के किसानों की सिथति में सुधार होगा।
  • इस योजना से किसानों की फसले खराव नहीं होगी।
  • समय रहते किसानों की फसलों को वेचा जाएगा।

E Uparjan Yojana की मुख्य विशेषताएं

  • किसानो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • किसानों को अपनी फसलों को तय समर्थन मूल्य प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन सुविधा उपलव्ध करवाना
  • ऑनलाइन सुविधा मिलने से लाभार्थीयो के समय की होगि वचत
  • फसलो को खराव होने से वचाना
  • किसानो की आय मे वढोतरी लाना

 E Uparjan process

  • मध्य प्रदेश ई उपार्जन के अंतर्गत 6 स्टेप दिए गए हैं। इन 6 स्टेप में किसान द्वारा माल खरीदने, बेचने और परिवहन आदि शामिल हैं। इन 6 स्टेप का विवरण इस प्रकार है –
  • सवसे पहले किसान को खरीद केंद्र पर जाना होगा, और वहां पे उन्हे अपना पंजीकरण करवाना होगा।
  • पंजीकरण के बाद किसान को एक रजिस्ट्रेशन कोड दिया जाएगा।
  • उसके बाद किसान को गेहूं की खरीद की तिथि की जानकारी प्रदान करने के लिए मोबाइल नम्वर पर SMS भेजा जाएगा।
  • अब किसान को खरीद केंद्र पर SMS के माध्यम से दी गई तिथि पर जाना होगा।
  • फिर किसान से गेहूं की खरीद कर ली जाएगी और इस खरीद के प्रमाण के तौर पर एक Receipt प्रदान की जाएगी।
  • उसके बाद किसान के खाते में गेहूं खरीद की राशि को वितरित कर दिया जाएगा।

मध्य प्रदेश इ-उपार्जन योजना पंजीकरण के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश 

मध्य प्रदेश के जो किसान ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करेगें, तो उन्हें कुछ बातो का विशेष ध्यान देना होगा –

  • इस वर्ष मध्य प्रदेश के सभी किसान अपने आधार कार्ड नंबर और समग्र आईडी के माध्यम से पंजीकरण कर सकेगें।
  • अगर लाभार्थी के पास समग्र आईडी नहीं है तो आपके दवारा इस पोर्टल पर पंजीकरण नहीं किया जा सकेगा। पंजीकरण करने हेतु आपके पास समग्र आईडी और आधार का होना आव्श्यक होगा।
  • लाभार्थी को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन  कते समय अपने द्वारा दर्ज की गई बैंक खाता जानकारी की जांच करनी होगी।
  • लाभार्थी को रजिस्ट्रेशन करते समय अपना रजिस्टड मोबाइल नंबर होना अनिवार्य होना चाहिए। जिसके लिए पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए, आपका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ा होना चाहिए।
  • पंजीकरण के बाद आपको एक रसीद दी जाएगी इसको आपको संभाल के रखना होगा ।
  • पंजीयन के बाद, पावती को प्रिंट करना होगा और खरीदी के समय पावती ले जाना अनिवार्य होगा।

इ-उपार्जन योजना के लिए कैसे करें आवेदन 

  • इ-उपार्जन योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक अधिकारिक वेव्साइट पे जाएं।
  • अब आपको “wheat section” में “Rabi 2021-22” वाले ऑपशन पे किल्क करना है।

1

 

  • अब कंप्यूटर की स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा जहाँ से आपको रवि खरीद वर्ष 2021-22 के लिए “किसान पंजीकरण आवेदन” वाले वटन पे किल्क करना है।

2

 

  • यहां किल्क करते ही आप अगले पेज मे आ जाएगें।
  • अब आपको जानकारी भरने के लिए सभी निर्देशों का पालन करना है।

3

 

  • अब आपको दी गई जानकारी भरने के वाद “Search” वटन पे किल्क करना है।
  • उसके बाद पंजीकरण फॉर्म स्क्रीन पर दिखाई देगा जहां आपको फॉर्म में सारी जानकारी भरनी है।
  • सारी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट वटन पे किल्क करना है।
  • आवेदन जमा करने के बाद, आपको आवेदन संख्या और पावती नंबर मिल जाएगा।
  • इसके माध्यम से ही आप उत्पाद को खरीद या वेच सकते हैं।
  • इसलिए आपको आवेदन संख्या और पावती नंबर की रिस्पट संभाल कर रखनी है।
  • इस तरह आपके दवारा इ-उपार्जन योजना के लिए सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा।

आवेदन की सिथति की जांच कैसे करें 

  • सवसे पहले लाभार्थी को आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इस होम पेज पर आपको रवि फसल 2021-22 के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • उसके बाद आपको Farmer registration / application search के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आपको एप्लीकेशन नंबर दर्ज करने के वाद Search के बटन पर क्लिक कर देना है ।
  • Search के बटन पर क्लिक करते ही आवेदन की स्थिति आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर आ जाएगी।

पावती पर्ची प्राप्त कैसे करे 

  • सवसे पहले लाभार्थी को आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। 
  • इस होम पेज पर आपको रवि फसल 2021-22 के लिंक पर क्लिक करना होगा। 
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • उसके बाद आपको Farmer registration / application search के लिंक पर क्लिक करना होगा। 
  • यहां आपको दी गई जानकारी भरने के वाद Search के बटन पर क्लिक कर देना है ।
  • उसके बाद आपके पेज पर पावती पर्ची प्राप्त होगी। जिसका आपको प्रिंट ले लेना है।
  • इस तरह आपके दवारा पावती पर्ची प्राप्त कर ली जाएगी।

पंजीयन केंद लॉग इन करने की प्रोसेस 

  • सवसे पहले लाभार्थी को अधिकारिक वेब्साइट पे जाना होगा। 
  • अब आपको रबि 2021-22 के लिंक पे किल्क करना होगा। 
  • उसके बाद आपको Other User वाले ऑप्शन मे जाकर पंजीकरण केंद्र वाले विकल्प पे किल्क करना होगा। 
  • जैसे ही आप इस विकल्प पे क्लिक करोगे तो आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको District, Registration Center, Operator, OTP, Password and Captcha Code दर्ज करने के वाद लॉगिन के बटन पर क्लिक कर देना है ।
  • इस तरह आपके दवारा पंजीयन केंद्र लॉगइन कर दिया जाएगा।

मोबाइल ऐप कैसे डाउनलोड करें 

  • सवसे पहले लाभार्थी को अधिकारिक वेब्साइट पे जाना होगा। 
  • अब आपको दिए गए लिंक पे किल्क कर मोबाइल ऐप को डाउनलोड करना होगा। 
  • इस तरह आपके दवारा मोबाइल ऐप सफलतापूर्वक डाउनलोड हो जाएगी।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!