PM डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना | DBU Scheme : आवेदन प्रोसेस | पात्रता व विशेषताऐं

 

|| Digital Banking Unit | Pradhan Mantri Digital Banking Unit Scheme | features & Objective || देश मे डिजिटलीकरण को वढावा देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी जी दवारा डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना को लयहू किया जा रहा है| इस योजना के जरिए PM दवारा 75 डिजिटल बैंकिंग इकाइयां (DBU) राष्ट्र को समर्पित की जाएगी| जिससे डिजिटल बैंकिंग का विस्तार किया जाएगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे होगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना के वारे मे|

Digital Banking Unit Scheme

PM Digital Banking Unit Scheme

देश में डिजिटल बैंकिंग को लेकर मोदी सरकार ने काफी तेजी से काम किया है, जिससे लोगों डिजिटल रूप से बैंकिंग सुविधाएं पहुचाई गई है| इसी दिशा मे काम करते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों को योजना का लाभ मिले, उसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी दवारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 75 डिजिटल बैंकिंग इकाइयां (DBU) राष्ट्र को समर्पित करने जा रहे हैं| आपको बता दें कि वर्ष 2022-23 के बजट के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन ने DBU की घोषणा की थी| उन्होंने कहा था कि देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर देश के 75 जिलों में 75 DBU की स्थापना की जाएगी| इसी वात का ध्यान रखते हुए Digital Banking Unit को प्रधानमंत्री जी दवारा शुरू किया जा रहा है| इसमें कम से कम 10 प्रोडक्ट और सर्विसेज भी शामिल होंगी| इसके अलावा DBU में एसेट और डेट दोनों को कवर किया जाएगा|

डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना का अवलोकन

योजना का नाम डिजिटल बैंकिंग यूनिट
किसके दवारा शुरू की गई प्रधानमंत्री मोदी जी दवारा
लाभार्थी देश के नागरिक
प्रदान की जाने वाली सहायता नागरिको तक डिजिटल रुप से सेवाओं को पहुचाना
डिजिटल बैंकिंग इकाइयां 75
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट जल्द शुरू की जाएगी

DBU का मुख्य उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य देश के नागरिको को डिजिटल रुप से बैंकिंग सुविधाओं को पहुचाना है |

Digital Banking Unit

योजना के तहत मिलने वाली सुविधाएं

  • DBU में खाते खोलने, जमा राशि की जांच, पास बुक प्रिंट, धन का स्‍थानांतरण, सावधि जमा, ऋण आवेदन, जारी चेक का भुगतान रोकने संबंधी निर्देश, क्रेडिट या डेबिट कार्ड के लिए आवेदन, खाता विवरण, कर भुगतान, बिल भुगतान, नामांकन जैसी डिजिटल बैंकिंग सुविधाएं उपलब्‍ध होंगी।
  • शुरुआत में कम से कम 10 सर्विस की सुविधा लाभार्थी को मिलेगी| उसके बाद यह संख्या बढ़ाकर 30 कर दी जाएगी|
  • ग्राहकों के पास मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, मास ट्रांजिट सिस्टम कार्ड, यूपीआई क्यूआर कोड, भीम आधार और प्वाइंट ऑफ सेल के लिए डिजटल किट होगी|

Digital Banking Unit पेपरलेस होंगे 

सामान्य बैंक शाखाओं से उलट DBU पेपरलेस होंगे| इन्हें बैंक की शाखा नहीं बल्कि स्पेशल digital entities के रूप में गिना जाएगा|

कैश मशीन में जमा किया जाएगा

DBU में जमा के लिए नकद राशि स्वीकार नहीं की जाएगी| ATM और कैश डिपॉजिट मशीनों की मदद से निकासी और को जमा किया जाएगा| इसके अलावा इंटरनेट बैंकिंग कियोस्क, NEFT, immediate payment service यानी IMPS, KYC, शिकायत दर्ज करने और खाता खोलने वाले कियोस्क जैसी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी|

पात्र लाभार्थीयों को मिलेगा इन योजनाओं का लाभ

  • अटल पेंशन योजना,
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना 
  • प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना सहित कई अन्य सरकारी योजनाएं

बैंको को DBU करने होंगे स्थापित 

  • सभी सरकारी और प्राइवेट सेक्टर के 10 बैंकों और स्माल फाइनेंस बैंक ने DBU के संचालन के लिए काम शुरू कर दिया है| 
  • जिनमे से भारतीय स्टेट बैंक (SBI) दवारा सबसे अधिक 12 DBU स्थापित किए जाएंगे|
  • इसके बाद पंजाब नेशनल बैंक (PNB) और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 8-8,
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) 7,
  • कैनरा बैंक 6
  • इंडियन बैंक 3  
  • ICICI Bank और एक्सिस बैंक 3-3
  • HDFC बैंक – 2 DBU स्थापित करेगा 

PM डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश

भारतीय रिजर्व बैंक ने भारतीय बैंक संघ के एक कार्यकारी समूह की रिपोर्ट के बाद डिजिटल बैंकिंग इकाइयों के लिए दिशा-निर्देशों की घोषणा की है-

  • एक डिजिटल बैंकिंग इकाई एक विशेष निश्चित बिंदु व्यवसाय इकाई हब होती है, जिसमें डिजिटल बैंकिंग उत्पादों और सेवाओं को प्रदान करने के साथ-साथ मौजूदा वित्तीय उत्पादों और सेवाओं को किसी भी समय स्वयं-सेवा मोड में डिजिटल रूप से उपलब्ध करने के लिए कुछ न्यूनतम डिजिटल आधारभूत अवसंरचनायेँ मौजूद होती हैं।
  • जब तक RBI द्वारा विशेष रूप से प्रतिबंधित न किया गया हो, पिछले डिजिटल बैंकिंग अनुभव वाले वाणिज्यिक बैंकों (क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, भुगतान बैंकों और स्थानीय क्षेत्र के बैंकों के अलावा) को टियर 1 से टियर 6 केंद्रों में डिजिटल बैंकिंग इकाई खोलने की अनुमति है।
  • इसके अलावा निर्दिष्ट बैंकों के लिए ‘डिजिटल बैंकिंग इकाईयां’ खोलने के लिए RBI से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं है।
  • RBI के अनुसार, प्रत्येक डिजिटल बैंकिंग इकाई के लिए कुछ न्यूनतम डिजिटल बैंकिंग उत्पादों और सेवाओं की पेशकश करना अनिवार्य होगा। ऐसे उत्पाद ‘डिजिटल बैंकिंग सेगमेंट’ की बैलेंस शीट की देनदारियों और परिसंपत्ति दोनों पक्षों से संबंधित होनी चाहिए।

77

यहाँ खुलेंगे डिजिटल बैंकिंग यूनिट DBU

  • वाराणसी और कानुपर देहात : बैंक आफ बड़ौदा
  • झांसी: पंजाब नेशनल बैंक
  • लखनऊ: इंडियन बैंक
  • मध्य प्रदेश: इटारसी, इंदौर,सागर, नागपुर
  • राजस्थान: बुंदी, भिलवारा, कोटा, करोली
  • गुजरात: वड़ोदरा, मैसाना, सूरत
  • पश्चिम बंगाल : नार्थ 24 परगना, साउथ 24 परगना
  • ददारा नगर हवेली : सिलवासा
  • लद्दाख: लेह
  • महाराष्ट्र: औरंगाबाद, सतारा, नागपुर
  • ओडिशा: खुर्दा, केंओंझर, कटक, पुरी
  • पंजाब: फरीदकोट, लुधियाना,जालंधर
  • कर्नाटक: बेंगलुरू, रैचूर, मंगलुरू, मैसूर
  • झारखंड: ईस्ट सिंहभूमि, रांची
  • केरला: ऐरनाकुलम, थ्रीशुर, पलक्कड़
  • लक्ष्यदीप: लक्ष्यदीप, पोर्टब्लेयर
  • तमिलनाडु: विरुद्धनगर, थानजावुर, करूर, चेंगलपट्टू
  • तेलांगाना: खम्माम, जनगांव, राज्जन्ना
  • हरियाणा: फरीदाबाद
  • उत्तराखंड: देहरादून, हरिद्वार
  • नागालैंड: कोहिमा, दीमापुर
  • गोवा: साउथ गोवा  

डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना के लाभ

  • डिजिटल बैंक आम बैंक शाखाओं की तरह ही होंगे| इनकी ये खासियत है, कि – ये सेविंग अकाउंट खोलने, बैलेंस चेक करने, पासबुक प्रिंट करने, फंड ट्रांसफर, एफडी खोलने, धन निकासी और जमा करने, स्टॉप पेमेंट  से लेकर होम लोन, ऑटो लोन और पर्सनल लोन संबंधित सभी कार्यवाही को ऑनलाइन पूरा करेंगे| सारा काम ऑनलाइन होगा, जिसमे कागजी काम कुछ भी नहीं होगा|
  • डिजिटल बैंकों में बैंक उपभोक्ताओं को ऑनलाइन पेमेंट से लेकर सभी बैंकिंग सुविधाओं की जानकारी भी प्रदान की जाएगी| 
  • लाभार्थी के लिए सभी बैंकिंग सुविधाएं 24 घंटे सातों दिन मुहैया कराई जाएंगी|
  • बैंक उपभोक्ताओं को साइबर क्राइम, बैंकिंग धोखाधड़ी से बचने के वारे मे ऑनलाइन सिखाएगा|
  • रिजर्व बैंक के अनुसार, ऐसे डिजिटल बैंकिंग की निगरानी एक चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसरके हाथों में होगी|
  • DBU की पहुंच बढ़ाने के लिए डिजिटल बिजनेस फैसिलटेटर औऱ बिजनेस करेस्पांडेंट की नियुक्ति भी की जाएगी| (आवश्यकता पडने पर)
  • डिजिटल बैंकिंग यूनिट में ग्राहकों और बैंक के बीच लेनदेन से लेकर सभी प्रक्रिया ऑनलाइन पूरी होगी|
  • RBI के अनुसार,ऐसे बैंकों में नए पुराने ग्राहकों की वीडियो KYC होगी और सारे डॉक्यूमेंट ऑनलाइन ही अपलोड होंगे|
  • बैंक में इंटरैक्टिव बैंकर्स, जमा-निकासी की ऑटोमैटिक मशीन, कान्फ्रेंस यूनिट, डिजिटल वॉल जैसी जुरुरतो को समय रहते पुररा किया जाएगा|
  • ग्रामीण बैंक, पेमेंट बैंक और स्थानीय बैंक को छोड़कर अन्य सभी कामर्शियल बैंक ऐसी डिजिटल बैंक यूनिट टायर 1 से 6 सिटी में RBI की मंजूरी के बिना खोले जा सकेंगे|

DBU की मुख्य विशेषताएँ

  • प्रधानमंत्री मोदी जी दवारा 75 जिलों में 75 डिजिटल बैंकिंग इकाइयां राष्ट्र को समर्पित की गई हैं|
  • DBU के जरिए देशमें वित्तीय समावेशन को और गहरा करने मे मदद मिलेगी|
  • ये डिजिटल वित्तीय साक्षरता का प्रसार करेगा| 
  • साइबर सुरक्षा जागरूकता और सुरक्षा उपायों पर ग्राहकों को शिक्षित किया जाएगा|
  • DBU ग्राहकों को पूरे वर्ष बैंकिंग उत्पादों और सेवाओं का किफायती, सुविधाजनक पहुंच और बेहतर डिजिटल अनुभव प्रदान करने में सक्षम बनाएगा। 
  • DBU द्वारा सीधे या बिजनेस फैसिलिटेटर्स/संवाददाताओं के माध्यम से पेश किए जाने वाले व्यवसाय और सेवाओं से उत्पन्न होने वाली वास्तविक समय सहायता और ग्राहकों की शिकायतों का निवारण करने के लिए पर्याप्त डिजिटल तंत्र होंगे।
  • DBU से 24*7 बैंकिंग कार्यों तक पहुंच की उपलब्धता को सुनिश्चित किया जाएगा|
  • नियमित उपयोगिता बिलों के लिए स्वचालित भुगतान की स्थापना को सक्षम किया जाएगा|
  • ऑनलाइन शॉपिंग आदि के लिए ऑनलाइन भुगतान की सुविधा भी मिलेगी|
  • दूरस्थ क्षेत्रों में बैंकिंग सेवाओं का विस्तार किया जाएगा|
  • डिजिटल फंड ट्रांसफर के साथ नकली मुद्रा के जोखिम को कम करने मे मदद मिलेगी|
  • ग्राहकों के लिए गोपनीयता और सुरक्षा को मजबूती मिलेगी|
  • कालेधन के संचलन को प्रतिबंधित किया जाएगा|
  • मुद्रा की ढलाई की मांग को कम करने मे मदद मिलेगी|
  • बैंक और गरीबों के बीच की दूरी खत्म होगी|

डिजिटल बैंकिंग यूनिट योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को देश का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • सभी वर्ग के लोग सेवाओं का लाभ लेने के लिए पात्र हैं|

डिजिटल बैंकिंग यूनिट DBU योजना के लिए कैसे करे आवेदन

जो आवेदक योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं, उन्हे अभी थोड़ा इंतजार करना होगा| क्योंकि अभी योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है| जल्द ही सरकार दवारा योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी| जैसे ही हमे आवेदन करने हेतु जानकारी मिलेगी, तो हम आपको तुरंत सूचित कर देंगे|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on November 28, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!