राजस्थान तारबंदी योजना 2022 | Tarbandi Yojana : आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म | पात्रता व उद्देश्य

 

Rajasthan Tarbandi yojana | Tarbandi Yojana Registration | Application Form | राजस्थान सरकार दवारा राज्य मे किसानो को आत्म-निर्भर वनाने और उनकी सिथति को मजबूत करने के लिए तारबंदी योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए किसानो को अपने खेत में तारबंदी करने के लिए सरकार द्वारा  वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। ताकि आवारा पशु किसानो के खेतो को नुकसान न पहुंचा सके। योजना का लाभ कैसे मिलेगा, और इसके लिए आवेदन कैसे किया जाएगा। ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – राजस्थान तारबंदी योजना 2022 के वारे मे।

logo

Rajasthan Tarbandi yojana

 

राजस्थान सरकार ने किसानों के हितों का ध्यान रखते हुए राज्य में तारबंदी योजना को शुरु किया गया है। इस योजना के तहत किसानो को अपने खेत मे बाढ़ वनाने या तारबंदी करने के लिए राज्य सरकार दवारा आर्थिक सहयोग दिया जाता है| जिससे प्रोत्साहित होकर किसान अपने खेतो की सुरक्षा जंगली जानवरो से कर सकेंगे| तारबंदी करने से कोई भी जंगली जानवर किसानो के खेतो मे नही घुस पाएगा, और न ही खेतो को कोई नुकसान पहुचा पाएगा| इस योजना से अब किसानो को रात-रात भर अपने खेतो की निगरानी करने की समस्या से भी निजात मिलेगी| Rajasthan Tarbandi yojana राज्य के किसानो को खेती के लिए प्रेरित करेगी और उन किसानो को भी योजना से जोड़ा जाएगा, जो आर्थिक तंगी के चलते तारबंदी करवाने मे असमर्थ हैं| अब राज्य के हर किसान इस योजना का लाभ ले सकेंगे| आपको वता दे कि तारबंदी योजना का लाभ लाभार्थी दवारा पूरे जीवन काल मे एक वार ही उठाया जा सकेगा| जो आवेदक इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उन्हे आधिकारिक वेबसाइट पे जाकर ऑफलाइन मोड के जरिये आवेदन करना होगा| आवेदन के बाद ही लाभार्थीयों को योजना का लाभ मिलेगा|

योजना के तहत प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता 

सरकार द्वारा तारबंदी के लिए सीमांत किसानों को ₹48000 की राशि तथा अन्य किसानों को ₹40000 की राशि प्रदान की जाएगी। काम पूरा होने के बाद जियो टैगिंग करना अनिवार्य होगा। लाभ की राशि को सीधे किसानों के खाते में हस्तांतरित किया जाएगा|

 

tarbandi

 

मुख्यमंत्री तारबंदी योजना के मुख्य पहलु

राज्य के किसानो के खेतो की  फसलों को आवारा पशु नुकसान पहुंचाते हैं। जिससे किसानों की फसलें बर्बाद हो जाती है। जिसके चलते अधिकतर किसान अपने खेतों के चारों तरफ तारबंदी कर देते हैं। ताकि उनकी फसलो को आवारा पशुओ से वचाया जा सके। परंतु सभी किसान पैसों की कमी के कारण ऐसा नहीं कर पाते। राज्य मे ऐसे किसानो को सहायता प्रदान करने के लिए ही तारबंदी योजना को शुरु किया गया है। ताकि आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के किसानो को सरकार दवारा तारवंदी लगाने के लिए वित्तिय सहायता प्रदान की जा सके| जिससे उनकी फसलों को आवारा पशुओं द्वारा होने वाले नुकसान से बचाया जा सकेगा।

अधिकतम 400 मीटर तक की तारबंदी के लिए किसानो को दी जाएगी सब्सिडी

तारबंदी योजना का लाभ राजस्थान राज्य के छोटे कर सीमांत किसानो को प्रदान किया जाएगा । जिसमे लाभार्थीयो को योजना के अंतर्गत अधिकतम 400 मीटर तक की तारबंदी के लिए सरकार दवारा सब्सिडी दी जाएगी। योजना मे आने वाले खर्चे के लिए सरकार दवारा 50% का भुगतान किया जाएगा, जविक 50 % का भुगतान किसानो को खुद करना होगा । इसके लिए सरकार दवारा कम से कम 3 लाख 96 हजार रुपए तक की राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। लाभार्थीयो को योजना का लाभ देने के लिए 8 करोड़ रूपये की वित्तीय सहायता देने का लक्ष्य रखा गया है । इससे किसानो पर योजना के तहत होने वाले खर्चे का आर्थिक बोझ नहीं पडेगा, और उनकी फसलें भी सुरक्षित रहेगीं।

तारबंदी योजना का अवलोकन 

योजना का नाम

मुख्यमंत्री तारबंदी योजना
किसके दवारा शुरू की गई राजस्थान सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के किसान
प्रदान की जाने वाली सहायता किसानों को अपने खेतो की सुरक्षा के लिए तारबंदी करने पर सरकार दवारा वित्तिय सहायता उपलव्ध करवाना है|
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट Click Here

तारबंदी योजना का उद्देश्य 

राजस्थान तारबंदी योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को अपने खेत की सुरक्षा के लिए बाड़ बनाने/तारबंदी करने के लिए सरकार दवारा वित्तिय सहायता उपलव्ध करवाना है।

राजस्थान तारबंदी योजना के लिए पात्रता 

  • आवेदक को राजस्थान राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • आवेदक किसान होना चाहिए|
  • किसान के पास कम से कम 0.5 हेक्टेयर की कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए|
  • आवेदक कृषक का बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है।
योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • जमीन की जमाबंदी
  • एक हलफनामा
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

Tarbandi Scheme

तारबंदी योजना के प्रमुख लाभ 
  • तारबंदी योजना का लाभ राजस्थान के किसानों को प्राप्त होगा।
  • राज्य सरकार दवारा इस योजना के लिए खेत मे बाड़ बनाने/तारबंदी करने के लिए किसानो को 48,000/- रूपए से 40,000/- रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को केवल 50% का ही भुगतान करना होगा, वाकि 50% का भुगतान राज्य सरकार दवारा किया जाएगा|
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास कम से कम 5 हेक्टेयर की कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए|
  • इस योजन आके लिए अधिकतम 400 मीटर तक की तारबंदी के लिए लाभार्थी को सब्सिडी दी जाएगी।
  • इस योजना से किसानों के फसलों की रक्षा होगी।
  • फसलों की पैदावार वढेगी।
  • पैदावार अच्छी होने से किसानों का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।
  • इस योजना से आवारा पशुओं द्वारा किसानों की फसलें वर्वाद नही होगीं।
तारबंदी योजना की मुख्य विशेषताएं
  • किसानो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना
  • किसानो की फसलो को आवारा पशुओ से वचाना
  • किसानो के खेतो मे तारवंदी करने के लिए सरकार दवारा वित्तिय सहायता उपलव्ध करना
  • किसानो के आर्थिक पक्ष को मजबूती प्रदान करना
  • लाभार्थीयो की सिथति मे सुधार लाना
राजस्थान तारबंदी योजना के लिए आवेदन कैसे करे 
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए सवसे पहले लाभार्थी को अधिकारिक वेव्साइट पे जाना है|
  • अव आपको “राजस्थान तारबंदी योजना” के लिए आवेदन फार्म को डॉउनलोड करना होगा। 

66

  • अब आपके सामने आवेदन फार्म PDF मे खुलके आएगा| जिसे आपको डाउनलोड कर लेना है|
  • फिर आपको इस आवेदन फार्म का प्रिंट आउट लेना होगा|।
  • उसके बाद आपको इस फार्म में सारी जानकारी भरनी है।
  • अब आपको वताए गए दस्तावेज इस फार्म के साथ अटैच करने हैं।
  • उसके बाद आपको ये फार्म कृषि विभाग में जाकर जमा करवाना है।
  • फार्म जमा करवाने के बाद आवेदक को विभाग दवारा फोन के माध्यम से सूचित किया जाएगा कि आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।     

Leave a Comment

error: Content is protected !!