उद्योगिनी योजना | Udyogini Loan Scheme : ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

 

|| Udyogini Yojana | महिला उद्योगिनी योजना | Udyogini Loan Scheme | ब्याज दर | Application Process || देश की महिलाओं को रोजगार से जोड़ने और उन्हे आत्म-निर्भर वनाने के लिए उद्योगिनी योजना को लागु किया गया है| इस योजना के जरिए महिलाओं को खुद का रोजगार चलाने या व्यवसाय को वढावा देने के लिए सरकार दवारा ऋण के जरिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, ताकि महिलाओं की स्थिति को वेहतर वनाया जा सके| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा| तो आइए जानते हैं – उद्योगिनी योजना के वारे मे |   

Udyogini Yojana

Udyogini Yojana

उद्योगिनी योजना की शुरुआत देश की महिलाओं के कल्याण के लिए की गई है| इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को खुद का व्यवसाय चलाने के लिए बैंको के जरिए उनकी पात्रता के आधार पर ऋण दिया जाता है| लाभार्थीयों को मिलने वाली अधिकतम ऋण की राशि 3 लाख रुपए है| योजना के जरिए पात्र महिलाओं को मिलने वाली ऋण की राशि उनके बैंक खाते मे सीधे जमा की जाएगी| इस राशि का उपयोग करके लाभार्थी महिलाएं खुद का व्यवसाय शुरू कर सकेगी| जिससे उनकी आय मे वढोतरी होगी| उद्योगिनी योजना का लाभ पात्र महिलाओं को ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए रजिस्ट्रेशन करके प्राप्त होगा|  

योजना के अंतर्गत आने वाले बैंको की सूची

  • पंजाब बैंक,
  • सिंध बैंक,
  • सारस्वत बैंक 
  • कमर्शियल बैंक,
  • सहकारी बैंक 
  • सभी क्षेत्र ग्रामीण बैंक

योजना का अवलोकन

योजना का नाम उद्योगिनी योजना
किसके दवारा शुरू की गई भारत सरकार द्वारा
लाभार्थी देश की महिलाएं
प्रदान की जाने वाली सहायता

महिलाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए ऋण उपलवध करवाना

ऋण राशि 3 लाख रुपए
ब्याज दर

विशेष मामलों के लिए प्रतिस्पर्धी, रियायती या मुफ्त

प्रोसेसिंग फीस शून्य
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन / ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइट udyogini.org

उद्योगिनी योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य देश की महिलाओं को रोजगार उपलवध करवाने व व्यवसाय को वढावा देने के लिए बैंकों के माध्यम से अधिकतम 3 लाख रुपए का ऋण उपलवध करवाना है|

उद्योगिनी योजना के तहत समर्थित व्यवसायों की सूची

  1. रिबन मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  2. साड़ी पर कढ़ाई का काम
  3. सिक्योरिटी सर्विस का काम
  4. नालीदार बॉक्स बनाने का उद्योग
  5. कॉटन थ्रेड मैन्युफैक्चरिंग
  6. पौधों की नर्सरी का कारोबार
  7. ब्यूटी पार्लर का बिजनेस
  8. बेडशीटऔर टॉवल बनाने का कारोबार
  9. ड्राईक्लीनिंग का बिजनेस
  10. ड्राईफिश ट्रेड कारोबार
  11. ईट–आउट का बिजनेस
  12. मात बुनाई का बिजनेस
  13. मैच बॉक्स मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  14. मिल्कबूथ की दुकान
  15. मटन स्टॉल का बिजनेस
  16. मसालें बनाने का कारोबार
  17. कट पीस कपड़ा का बिजनेस
  18. डेयरीऔर पोल्ट्री से जुड़े कारोबार
  19. चूड़ियाँ बनाने का कारोबार
  20. बुक बाइंडिंग एंड नोट बुक्स बनाने का कारोबार
  21. कॉफीऔर चाय पाउडर बनाने का बिजनेस
  22. डायग्नोस्टिक लैब का बिजनेस
  23. खाद्य तेल की दुकान
  24. एनर्जी फूड का बिजनेस
  25. उचित मूल्य वाली राशन की दुकान
  26. फैक्स पेपर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  27. फिश स्टॉल का कारोबार
  28. अगरबत्ती मैन्युफैक्चरिंग का उद्योग
  29. ऑडियोऔर वीडियो कैसेट की दुकान
  30. बेकरी का कारोबार
  31. बनाना टेंडर लीफ का बिजनेस
  32. आटा चक्की की दुकान
  33. फूलों का कारोबार
  34. फुटवियर मैन्युफैक्चरिंग का उद्योग
  35. ईंधन की लकड़ी का बिजनेस
  36. गिफ्ट आर्टिकल की दुकान
  37. हैंडिक्राफ्ट मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  38. हाउस होल्डआर्टिकल रिटेल की दुकान
  39. आइसक्रीम का बिजनेस
  40. इंकमैन्युफैक्चर उद्योग
  41. जैम, जेली और अचार बनाने का बिजनेस
  42. टाइपिंगऔर फोटोकॉपी की दुकान
  43. जूट कालीन का कारोबार
  44. लीफ कप उत्पादन मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  45. सामुदायिक लाइब्रेरी का बिजनेस
  46. समाचार पत्र, साप्ताहिक और मासिक मैगजीन वेंडिंग की दुकान
  47. नायलॉन बटन मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  48. पुराने कागज मार्ट का कारोबार
  49. स्टेशनरी की दुकान
  50. STD – PCO बूथ
  51. मिठाई की दुकान
  52. सिलाई– कढ़ाई – बुनाई का कारोबार
  53. चायकी दूकान
  54. कच्चा नारियल का बिजनेस
  55. ट्रेवेल एजेंसी
  56. ट्यूटोरियल का बिजनेस
  57. टाइपिंग इंस्टीट्यूट खोलने पर
  58. वेजिटेबल एंड फ्रूट वेंडिंग (सब्जी की दुकान)
  59. सिंदूर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  60. वेट ग्रिडिंग का कारोबार
  61. ऊनी वस्त्र मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  62. पान और सिगरेट की दुकान
  63. पान लीफ या च्विइंगम की दूकान
  64. पापड़ बनाने का काम
  65. फेनिल और नेफ़थलीन बॉल मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  66. फोटो स्टूडियो खोलने का बिजनेस
  67. प्लास्टिक के सामान बनाने का कारोबार
  68. मिट्टी के बर्तन बनाने का बिजनेस
  69. बोतल कैप मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  70. कैन और बंबू मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  71. कैंटीन और कैटरिंग का बिजनेस
  72. चॉक क्रेयोन मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  73. चप्पल मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  74. सफाई पाउडर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  75. क्लिनिक खोलने का बिजनेस
  76. कपड़े की छपाई और रंगाई करने का काम
  77. रज़ाई और बिस्तर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  78. रेडियो और टीवी सर्विसिंग स्टेशन बिजनेस
  79. रागी पाउडर का बिजनेस
  80. रेडी मेडगारमेंट्स कारोबार
  81. रेशम की बुनाई का बिजनेस
  82. रेशम की कृमि पालन का कारोबार
  83. साबुन का तेल, साबुन पाउडर और डिटर्जेंट केक मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  84. रियल इस्टेट का बिजनेस
  85. शिकाकाई पाउडर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  86. दुकानें
  87. रेशम धागा मैन्युफैक्चरिंग उद्योग
  88. लकड़ी का सामान बनाने का कारोबार

उद्योगिनी योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को देश का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • लाभार्थी महिला होनी चाहिए  
  • बिजनेस करने वाली महिलाएं योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगी|
  • लाभार्थी महिला की आयु 18 वर्ष से लेकर 45 वर्ष के वीच होनी चाहिए|
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 5 लाख रुपए या इससे कम होनी चाहिए|

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • मोबाइल नम्वर

उद्योगिनी योजना के लाभ

  • उद्योगिनी योजना का लाभ देश की महिलाओं को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के जरिए महिलाओं को खुद का बिजनेस करने के लिए बैंकों से लोन दिलवाना है|
  • ऋण की अधिकतम राशि 3 लाख रुपए निर्धारित की गई है|
  • लोन की राशि का भुगतान लाभार्थी को निर्धारीत तिथि से पहले करना होगा|
  • लाभार्थीयों को मिलने वाली लोन की राशि सीधे उनके बैंक अकाउंट मे स्थानातरित की जाएगी|
  • लोन की राशि बैंक खाते मे आने से लाभार्थी महिलाएं खुद का व्यवसाय या विजनेस चला सकेंगी|
  • इस योजना का लाभ खुद का व्यवसाय करने वाली महिलाएं ही उठा सकेंगी|
  • उद्योगिनी योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन व ऑफ़लाइन मोड के जरिए स्वीकार किए जा सकेंगे|

उद्योगिनी लोन योजना की मुख्य विशेषताएं

  • महिलाओं को व्यवसाय या रोजगार के लिए ऋण प्रदान करना
  • लाभार्थी महिलाओं को रोजगार से जोड़ना
  • महिला सशकितकरण को वढावा देना
  • पात्र लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर व सशकत वनाना|

उद्योगिनी योजना के लिए कैसे करे ऑनलाइन आवेदन

  • सवसे पहले पात्र लाभार्थी को अधिकारिक वेबसाइट पे जाना होगा| 
  • अब आपको Udyogini Yojana के लिंक पे किलक करना है|
  • उसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा|
  • इस फॉर्म मे आपको पूछी गई सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरनी है|
  • फिर आपको जरूरी दस्तावेज अपलोड करने होंगे|
  • सारी प्रक्रिया हो जाने के बाद आपको अंत मे Submit के बटन पे किलक कर देना है|
  • इस बटन पे किलक करते ही आपके दवारा योजना के अंतर्गत ऑनलाइन मोड के जरिए सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

उद्योगिनी योजना के लिए ऑफ़लाइन आवेदन प्रक्रिया

  • सवसे पहले पात्र लाभार्थी को योजना से सवनधित बैंक मे जाना होगा|
  • उसके बाद आपको वहाँ के अधिकारी से आवेदन फॉर्म प्राप्त करना है|
  • फॉर्म लेने के बाद आपको इसमे दी गई सारी जानकारी भरनी है, और आवश्यक दस्तावेज भी फॉर्म के साथ अटैच करने हैं|
  • उसके बाद आपको ये फॉर्म वहाँ पे जमा करवा देना है, जहाँ से आपने फॉर्म लिया था|
  • इस तरह आपके दवारा योजना के अंतर्गत ऑफ़लाइन मोड के जरिए सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कॉमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on January 26, 2023 by Abinash

error: Content is protected !!