Updated : Apr 24, 2020 in Yojana

विद्यादान 2.0 योजना | vdn.diksha.gov.in | पंजीकरण कैसे करें | पूरी जानकारी

विद्यादान 2.0 योजना | Vidyadaan 2.0 Scheme

 

कोरोना वायरस के चलते स्कूल और कॉलेज बंद होने से छात्रों की शिक्षा पर बुरा असर पड रहा है। ऐसे में छात्रों की पढ़ाई खराब ना हो इसके लिए 22.04.2020 को केंद्रीय मानव संधान विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक दवारा ऑनलाइन शिक्षा को बिना किसी अवरोध के जारी रखने के लिए ‘विद्यादान-2.0’ की शुरुआत की गई है। इस योजना से विभिन्न ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफॉर्म पर गुणवत्तापूर्ण डिजिटल पाठ्य सामग्री उपलब्ध करवाने में मदद मिलेगी।          

क्या है विद्यादान | What is Vidyadaan

विद्यादान ई-लर्निंग सामग्री को विकसित करने और राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त करने के लिए एक सामान्य राष्ट्रीय कार्यक्रम है। जिसके तहत विभिन्न शिक्षाविदों और संगठनों को पाठ्यक्रम के अनुसार ई-लर्निंग सामग्री दवारा विकसित करने और इसमें योगदान देने के लिए जोड़ा गया है। जो भी ई-लर्निंग सामग्री विकसित करने में अपना योगदान देगा, उसके लिए वो व्याख्यात्मक वीडियो, एनीमेशन, पथ योजनाओं, मूल्यांकन और प्रश्न बैंक के रूप में अपना योगदान दर्ज करवा सकते हैं। फिर समस्त सामग्री की समीक्षा विशेषज्ञों द्वारा की जाएगी और उसके बाद इसे दीक्षा एप पर उपयोग के लिए जारी किया जायेगा जिससे देश भर के लाखों करोड़ों छात्रों को कहीं भी और कभी भी पढाई करने में सुविधा उपलब्ध होगी। VidyaDaan 2.0 में एक कंटेंट योगदान टूल है। इससे किसी भी ग्रेड के लिए योगदानकर्ताओं के लिए विभिन्न प्रकार की ई-लर्निंग सामग्री जैसे, स्पष्टीकरण वीडियो, प्रस्तुतियाँ, योग्यता आधारित आइटम, क्विज़, आदि को पंजीकृत करने और योगदान करने के लिए ग्रेड 1 से 12 तक एक संरचित इंटरफ़ेस प्रदान करता है। इसे इंटीग्रेटेड डिजिटल एजुकेशन के मॉडल पर शुरू किया गया है, जिसके जरिए हर तरह के स्टडी मैटीरियल्स को स्टूडेंट्स तक पहुंचाया जाएगा। जिससे देश के छात्र-छात्राएं कहीं भी पढाई कर सकते हैं।

उद्देश्य | An Objective

विद्यादान 2.0 योजना का मुख्य उद्देश्य कोरोना वायरस के चलते देश के विदार्थीयों को कहीं भी ऑनलाइन शिक्षा उपलव्ध करवाना है।

पात्रता | Eligibility

  • देश के सभी छात्र-छात्राएं
  • सभी वर्ग के विदार्थी
  • कक्षा 1 से 12 तक के छात्र-छात्राएं
  • कोरोना वायरस के चलते पढाई में वाधा उत्पन्न होना

विद्यादान की 5 खास बातें | 5 special things Of VidyaDaan

  1. विद्यादान एक राष्ट्रीय कार्यक्रम है जिसके जरिए विभिन्न शिक्षाविदों और संगठनों को पाठ्यक्रम के अनुसार ई-लर्निंग सामग्री विकसित करने में मदद मिलती है। जो भी ई-लर्निंग सामग्री विकसित करने में अपना योगदान देगा वे व्याख्यात्मक वीडियो, एनिमेशन, पथ योजनाओं, मूल्यांकन और प्रश्न बैंक के रूप में अपना योगदान दर्ज करवा सकते हैं।’
  2. मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा शुरू किए गए इस कार्यक्रम के तहत समस्त सामग्री की समीक्षा विशेषज्ञों द्वारा होगी और उसके बाद उसको दीक्षा एप पर उपयोग के लिए जारी किया जायेगा। जिससे देश भर के लाखों करोड़ों छात्रों को कहीं भी और कभी भी पढाई करने में मदद मिलेगी।
  3. राज्य और केंद्र शासित प्रदेश अपने हिसाब से विद्यादान कार्यक्रम शुरू कर सकते हैं, जिसमें व्यक्तियों, संगठनों, शैक्षणिक संस्थानों, एडटेक संगठनों और शिक्षकों आदि को इससे जोड़ कर इसमें पाठ्य सामग्री क्षेत्रीय भाषा और अपने-अपने क्षेत्रों के सन्दर्भ में भी उपलब्ध करवा सकते हैं।
  4. पाठ्य सामग्री योगदान उपकरण के माध्यम से विद्यादान पर उपलब्ध एक मानकीकृत टेम्पलेट एक समान संरचना बनाने में भी मदद करता है।
  5. इस पर उपलब्ध सभी पाठ्य सामग्री को शिक्षा विभागों जैसे कि सरकारी विभाग, राज्य एवं केंद्रीय शिक्षा बोर्ड, सरकारी एवं निजी विद्यालय आदि के उपयोग के लिए उपलब्ध किया जाएगा। जिससे इसका लाभ उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को मिलेगा।

ई-लर्निंग संसाधनों के प्रकार जहां आप योगदान कर सकते हैं | Types of e-learning resources where you can contribute

  • स्पष्टीकरण वीडियो
  • अभ्यास प्रश्न
  • शिक्षण वीडियो
  • प्रायोगिक शिक्षण वीडियो
  • पाठ योजनाएं

लाभ | Benefits

  • विद्यादान 0 योजना का लाभ देश के सभी छात्र-छात्राएं उठा सकते हैं।
  • कक्षा 1 से 12 वीं तक के विदार्थी इस योजना से जुड सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ उन छात्र-छात्राओं को मिलेगा जिनकी पढाई कोरोना वायरस के चलते अवरुद् हो गई है।
  • इस योजना के जरिए छात्र-छात्राएं कहीं भी ऑनलाइन पढाई कर सकते हैं।
  • इसके जरिए विभिन्न शिक्षाविदों और संगठनों को पाठ्यक्रम के अनुसार ई-लर्निंग सामग्री दवारा विकसित करने में मदद मिलेगी।
  • इसे इंटीग्रेटेड डिजिटल एजुकेशन के मॉडल पर तैयार किया गया है, जिसके दवारा हर तरह के स्टडी मैटीरियल्स को विदार्थीयों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी।   
  • जिन व्यक्तियों या संगठनों के पास अच्छी गुणवत्ता वाले ई-लर्निंग संसाधन हैं, वे विद्यादान कार्यक्रम में योगदान कर सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए दिक्षा वेव पोर्टल शुरु किया गया है।

विद्यादान 2.0 योजना के लिए कैसे करें आवेदन | How to apply for Vidyadaan 2.0 scheme

  • विद्यादान 2.0 योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी अधिकारिक वेव्साइट पे जाएं। 
  • अब आपको योगदान देने के लिए अच्छी गुणवत्ता की सामग्री के लिए नीचे दिए गए लिंक पर किल्क करना है।

  • यहां किल्क करते ही आप अगले पेज में आ जाएगें।
  • अब आपको इस योजना के लिए लॉगिन करना होगा।

  • आपको E-mail/ mobile number / password भरने के बाद Login वटन पे किल्क करना है।
  • अगर आप इस पेज में पहली वार आए हैं तो आपको Register here बटन पे किल्क करना है।

  • यहां किल्क करने के बाद आपके सामने नया पेज ऑपन होगा।

  • अब आपको इसमें दी गई सारी जानकारी भरनी है।
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको Register बटन पे किल्क करना है।
  • यहां किल्क करते ही आपके दवारा सफलतापूर्वक पंजीकरण कर दिया जाएगा।

महत्वपूर्ण डाउनलोड | Important Downloads

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी । आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!