Sep 10, 2020 Yojana

एकीकृत छात्रावास योजना | पूरी जानकारी | कैसे मिलेगा लाभ  

मध्य प्रदेश एकीकृत छात्रावास योजना | MP Akikrit Chhatrawas Yojana | एकीकृत छात्रावास योजना | Akikrit Chhatrawas Scheme | लाभ / पात्रता / उद्देश्य / विशेषताएं | How will get Benefits

 

मध्य प्रदेश मे छात्रावासों के संचालन करने के लिए विभाग दवारा राशि का भुगतान छात्रावासो के बैंक खातो मे पहुंचाने के लिए एकीकृत छात्रावास योजना को लागु किया गया है। जिसके जरिए प्रदेश मे छात्रावासो का संचालन कर छात्रो को प्रवेश लेने मे सहायता मिलेगी। क्या है ये योजना और कैसे मिलेगा योजना का लाभ्। इसके लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढना होगा। तो आइए जानते हैं – एकीकृत छात्रावास योजना के वारे मे।  

एकीकृत छात्रावास योजना | MP Akikrit Chhatrawas Yojana

 

मध्य प्रदेश मे आदिम-जाति कल्याण विभाग में छात्रावासों के संचालन को सुविधाजनक वनाने के लिए एकीकृत छात्रावास योजना को शुरु किया गया है। जिसके तहत विभाग द्वारा प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में छात्रावास और उत्कृष्ट छात्रावास संचालित किये गए हैं और छात्रावासों में स्वीकृत सीटें भी रखी गई हैं। जिनमे अलग-अलग छात्रावासों में बजट की गणना, बजट का प्रावधान, स्वीकृति एवं देयकों के माध्यम से राशि का आहरण आदि कार्यों को सुविधाजनक और आसान वनाने के लिए विभाग के सॉफ्टवेयर (MPTAAS) परियोजना के माध्यम से एक ही पूल एकाउंट में सभी राशियों का आहरण के बाद जमा किये जाने से छात्रावासों को सीधे बैंक खाते में राशि को जारी किया गया है। इसके साथ ही छात्रावासों में विभिन्न वर्गों के विद्यार्थियों को प्रवेश देने के लिये नवीन नियम भी बनाये गये हैं, जिसमें अनुसूचित-जनजाति, अनुसूचित-जाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक कल्याण और घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ जनजाति के विद्यार्थियों को छात्रावासों में प्रवेश मिलेगा। इस नियम के बनने से छात्रावासो में रिक्त रहने वाली सभी सीटों को भरा जाएगा । इससे पहले प्रत्येक छात्रावास के लिये प्रत्येक योजना क्रमांक एवं व्यय के अन्य मद प्रचलित होते थे। जिसमे इस व्यवस्था से छात्रावासों के बैंक खातों में राशि पहुँचने में देरी आती थी और छात्रो को प्रवेश लेने मे भी दिक्कतो का सामना करना पडता था। इन दिक्कतों को दूर करने के लिये इस वित्तीय वर्ष से विभाग एकीकृत छात्रावास योजना क्रमांक 9673 के नाम से परिवर्तित की गई है। ताकि छात्रावासों के संचालन को आसान वनाकर छात्रो के भविष्य का ध्यान रखा जाए।

उद्देश्य | An Objective

एकीकृत छात्रावास योजना का मुख्य उद्देश्य छात्रावासों के संचालन को आसान वनाने के लिए राशि का भुगतान छात्रावासों के बैंक खाते मे पहुंचाना है, ताकि विद्यार्थियों को छात्रावासों में आसानी से प्रवेश मिल सके।   

पात्रता | Eligibility

  • मध्य प्रदेश के आदिवासी क्षेत्र
  • छात्रावासो मे प्रवेश लेने वाले छात्र

संचालित किए गए छात्रावासो की संख्या | Number of hostels operated

  • जूनियर छात्रावास – 199,
  • सीनियर छात्रावास – 979,
  • महाविद्यालयीन छात्रावास – 152  
  • उत्कृष्ट छात्रावास – 218

छात्रावासों में स्वीकृत सीटों की संख्या | Number of approved seats in hostels

  • 81 हजार 804

लाभ | Benefits

  • एकीकृत छात्रावास योजना का लाभ प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में छात्रावासो को उपलव्ध होगा।
  • योजना के जरिए प्रदेश मे विभिन्न प्रकार के छात्रावास संचालित किए गए हैं।
  • विभाग के सॉफ्टवेयर (MPTAAS) परियोजना के माध्यम से एक ही पूल एकाउंट में सभी राशियों का आहरण के बाद जमा किये जाने से छात्रावासों को सीधे बैंक खाते में राशि को स्थानातरित किया जाएगा।
  • इस योजना से छात्रावासों के बैंक खातों में अब राशि पहुँचने में देरी नहीं आएगी।
  • इससे छात्रो को प्रवेश लेने के साथ-साथ होस्टल मे सुविधाएं उपलव्ध होगी।
  • छात्रावासों में विभिन्न वर्गों के विद्यार्थियों को प्रवेश देने के लिये नए नियम भी बनाये गये हैं, जिसमें अनुसूचित-जनजाति, अनुसूचित-जाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक कल्याण और घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ जनजाति के विद्यार्थियों को छात्रावासों में प्रवेश मिलेगा।
  • इस नियम के बनने से छात्रावासो में रिक्त रहने वाली सभी सीटों को भरा जाएगा ।

विशेषताएं | Features

  • छात्रावासो को संचालन करने के लिए विभाग दवारा मिलेगी आर्थिक सहायता
  • छात्रो को प्रवेश लेने मे आसानी होगी।
  • छात्र आत्म-निर्भर वनेगें।
  • खाली रिक्तयों को भरने से छात्रो के भविष्य को संवरेगा।

आशा करता हूं आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी। आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेंट और लाइक जरुर करें।          

error: Content is protected !!