राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना 2022 | NTMH Yojana : डिजिटल रजिस्ट्रेशन

|| नेशनल-टेली मेंटल हेल्थ प्रोग्राम | National Tele Mental Health Scheme | राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना | National Tele Mental Health Scheme Online Registration ||

देश के नागरिको के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए सरकार दवारा राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना को लागू करने की घोषणा की गई है| जिसके अंतर्गत नागरिको को मानसिक बीमारियों मे राहत प्रदान करने के लिए टेली मेंटल सेंटर बनाए जाएंगे| उसके आधार पर ही इन नागरिको का इलाज किया जाएगा| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइस जानते हैं – राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना के वारे मे|

National Tele Mental Health Scheme

 

National Tele Mental Health Scheme

भारत सरकार दवारा देश के नागरिको को मानसिक बीमारियों मे राहत प्रदान करने के लिए नेशनल टेली मेंटल हेल्थ योजना को शुरू किया गया है| इस योजना के तहत देश के नागरिको की मानसिक बीमारियों से निपटने और लोगों को इस क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य़ सेवाएं उपलव्ध करवाई जाएगी| उसके लिए देश भर में 23 टेली मेंटल सेंटर बनाए जाएंगे। जिसके लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेज (निमहांस) को नोडल सेंटर बनाया जाएगा। इन केन्द्रों को विकसित करने के लिए ITI बेंगलुरू दवारा तकनीकी मदद दी जाएगी|

बित्त मन्त्री निर्मला सीतारमण जी दवारा बजट मे की गई योजना को शुरू करने की घोषणा

“देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने वर्ष 2022-23 का बजट (Budget) पेश किया है| वित्त मंत्री ने बजट पेश करते समय हेल्थ सेक्टर को लेकर एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात कही है| उन्होंने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण लोगों का मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ा है| इसको देखते हुए सरकार दवारा मानसिक स्वास्थ्य परामर्श के लिए नेशनल टेली मेंटल हेल्थ प्रोग्राम को लॉन्च किया जाएगा|” 

योजना के मुख्य पहलु

कोरोना काल में मानसिक परेशानियों के मरीज बढ़े हैं, लेकिन वह अस्पताल आने से कतरा रहे हैं| इसका सबसे बड़ा कारण संक्रमण का डर है| मानसिक समस्याओं के गंभीर मरीज ही अस्पताल आते हैं जबकि कई लोग समाज के डर और अन्य कारणों से भी अस्पताल आने से कतराते हैं| समय पर इलाज ना मिलने से लोगों की मानसिक सेहत और बिगड़ रही है| पिछले 2 सालों से हम देख रहे हैं कि जब भी कोरोना के केस बढ़ने लगते हैं, तब OPD में मानसिक रोगियों की संख्या में कमी आने लगती है|

जबकि सच्चाई यह है कि मानसिक परेशानियों के नए रोगियों की संख्या काफी बढ़ी है| ऐसे में नेशनल टेली-मेंटल हेल्थ प्रोग्राम काफी फायदेमंद साबित होगा| कोविड महामारी के कारण इसकी जरूरत और अधिक बढ़ गई है| जिसके माध्यम से वीडियो कांफ्रेंसिंग तकनीक की मदद से दूर दराज के इलाकों में रहने वाले लोगों का इलाज किया जा सकेगा| जो मरीज अस्पताल नहीं पहुंच पा रहे हैं, वह टेली-प्रोग्राम के माध्यम से अपना इलाज करवा सकेंगे|

Highlights Of National Tele Mental Health Scheme

योजना का नाम राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना
किसके दवारा शुरू की गई वित्त मन्त्री निर्मला सीतारमण
लाभार्थी देश के मानसिक रूप से बीमार रोगी
वर्ष 2022
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन

राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य देश के उन रोगियों का इलाज करना है, जो मानसिक रूप से बीमार हैं|

योजना के लिए पात्रता

  • देश के स्थायी निवासी
  • मानसिक रूप से ग्रसित लाभार्थी

योजना के तहत स्वास्थ्य केंद्रों का एक नेटवर्क होगा शामिल

इस प्रोग्राम में 23 टेली मानसिक स्वास्थ्य केंद्रों का एक नेटवर्क शामिल होगा, जिसमें से निम्हांस नोडल केंद्र होंगे और IIIT बैंगलोर प्रौद्योगिकी दवारा सहायता प्रदान की जाएगी| जिसमे से बड़े शहरों में काम करने वाले मनोचिकित्सक अन्य राज्यों और शहरों के डॉक्टर भी गाइड करेंगे| इस प्रक्रिया से लोगों को मानसिक स्वास्थ्य के बारे में जागरुक करने में भी आसानी होगी| जो लोग किसी कारण वश अपनी परेशानियां नहीं बता पाते थे| अब वह भी टेली प्रोग्राम के माध्यम से डॉक्टरों से संपर्क कर सकेंगे|

सभी मानसिक रोगियों को मिलेगी इलाज की सुविधा

इस बार के बजट में हेल्थ सेक्टर पर काफी ध्यान दिया गया है| जिसमे कोरोना महामारी को देखते हुए नेशनल टेली मेंटल हेल्थ प्रोग्राम को शुरू करना एक सराहनीय कदम है| इससे समाज के सभी तबकों के मानसिक रोगियों को इलाज मिल सकेगा|

योजना का कुल बजट

नेशनल हेल्थ स्कीम का बजट इस बार 34,947 से बढ़ाकर 37,800 करोड़ किया गया है| हालांकि बजट में किसी नए अस्पताल या एम्स का जिक्र नहीं किया गया है| जबिक इस समय मरीज काफी बढ़ रहे हैं| ऐसे में जिला स्तरों पर ट्रामा सेंटरों और हेल्थ सेक्टर को थोड़ा और बूस्ट किया जाएगा| ताकि मानसिक रोगियों का इलाज समय पर किया जा सके|

टेली हेल्थ प्रोग्राम के मिलेगे अच्छे परिणाम

मानसिक बीमारियों के इलाज के लिए फोन पर बातचीत या वीडियो कांफ्रेंसिंग तकनीक का उपयोग करना ही टेलीमेंटल हेल्थ है| इसे टेलीसाइकियाट्री या टेलीसाइकोलॉजी भी कहा जाता है| मानसिक रोगियों के लिए टेलीमेंटल हेल्थ काफी फायदेमद होगा| जिसमे से मानसिक लक्षणों की शुरुआत के समय टेली प्रोग्राम के माध्यम से कई मरीजों का इलाज भी किया गया है और इसके काफी अच्छे परिणाम भी देखे गए हैं| 

15 करोड़ लोगों को मिलेगी मेंटल हेल्थ एक्सपर्ट से सहायता

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंस (निम्हंस) ने 2016 में देश के 12 राज्यों में एक सर्वे किया गया था| इसके मुताबिक, देश की कुल आबादी का 2.7 फ़ीसदी हिस्सा मेंटल डिसऑर्डर से ग्रसित है| जबकि 5.2 प्रतिशत आबादी कभी न कभी इस तरह की समस्या से ग्रसित हुई है| इसी सर्वेक्षण से एक अंदाजा ये भी निकाला गया कि भारत के 15 करोड़ लोगों को किसी न किसी मानसिक समस्या की वजह से तत्काल डॉक्टरी मदद की ज़रूरत होती है| साइंस मेडिकल जर्नल लैनसेट की 2016 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 10 ज़रूरतमंद लोगों में से सिर्फ़ एक व्यक्ति को डॉक्टरी मदद मिलती है| 

National Tele Mental Health Yojana
राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना के लिए जरूरी दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नम्वर
राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना के लाभ
  • राष्ट्रीय टेली मानसिक स्वास्थ्य योजना देश के नागरिको के स्वास्थ्य को ध्यान मे रखकर चलाई गई है|
  • इस योजना के अंतर्गत देश मे मानसिक रूप से बीमार रोगियों की जांचकर उनका उपचार किया जाएगा|
  • देश भर में 23 टेली मेंटल सेंटर बनाए जाएंगे।
  • योजना का लाभ पात्र लाभार्थी तक पहुचाने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरो साइंसेज (निमहांस) को नोडल सेंटर बनाया जाएगा।
  • इन केन्द्रों को विकसित करने के लिए ITI बेंगलुरू दवारा तकनीकी मदद दी जाएगी|
  • देश भर के प्रमुख डाक्ट्ररों दवारा इस बीमारी के इलाज के लिए सहायता ली जाएगी|
  • बड़े शहरों में काम करने वाले मनोचिकित्सक व अन्य राज्यों और शहरों के डॉक्टरों दवारा अपनी राय रखी जाएगी और उस पर विचार किया जाएगा|
  • लोगों को मानसिक स्वास्थ्य के बारे में जागरुक किया जाएगा|
  • जो लोग किसी कारण वश अपनी परेशानियां नहीं बता पाते थे| अब वह भी टेली प्रोग्राम के माध्यम से डॉक्टरों से संपर्क कर सकेंगे और समय रहते अपनी बीमारी का इलाज करवा सकेंगे|
योजना की मुख्य विशेषताएँ
  • मानसिक रूप से बीमार रोगियों का इलाज करना
  • लोगो को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना|
  • देश भर में टेली मेंटल सेंटर की स्थापना करना|
National Tele Mental Health Scheme डिजिटल रजिस्ट्रेशन

राष्‍ट्रीय डिजिटल स्‍वास्‍थ्‍य परितंत्र के लिए एक नए खुले प्‍लेटफॉर्म का शुभारंभ किया जाएगा| इसमें व्‍यापक रूप से स्‍वास्‍थ्‍य प्रदाताओं और स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के डिजिटल पंजीयन, विशिष्‍ट स्‍वास्‍थ्‍य पहचान, संयुक्‍त फ्रेमवर्क शामिल होंगे और यह स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं तक सार्वभौ‍मिक पहुंच प्रदान की जाएगी| डिजिटल रजिस्ट्रेशन होने से मानसिक रोगियों की बीमारियो का समाधान होगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करें|

error: Content is protected !!