राजस्थान पशुपालक आवासीय योजना 2022 | ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म | पात्रता व उद्देश्य

 

|| Rajasthan Pashu Palak Awas Yojana | पशुपालक आवासीय योजना | Mukhyamantri Pashu Palak Awas Scheme | देवनारायण पशुपालक आवासीय योजना | Pashupalak Awasiya Yojana Online Registration | Application Form || राजस्थान सरकार दवारा राज्य मे पशुपालको की सिथती मे सुधार करने के लिए पशुपालक आवासीय योजना को लागु किया गया है| जिसके माध्यम से पशुपालको को रहने के लिए आवास की सुविधा दी जाती है, जिससे उनके जीवन स्तर को वेहतर वनाया जाता है| कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ और इसके अंतर्गत आवेदन कैसे किया जाएगा| ये सारी जानकारी लेने के लिए आपको ये आर्टीकल अंत तक पढ्ना होगा| तो आइए जानते हैं – राजस्थान पशुपालक आवासीय योजना के वारे मे| 

  Pashupalak Awasiya Yojana

 

Rajasthan Pashupalak Awasiya Yojana

पशुपालक आवासीय योजना को राजस्थान सरकार दवारा पशुपालको के कल्याण के लिए शुरू किया गया है| इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के पशुपालको को आवासीय सुविधा का लाभ दिया जाता है| जिसमें से पशुपालकों के लिए 738 आवासीय जमीन पर आवास बनाए गए हैं और लगभग 501 पशुपालकों को आवास आवंटित की सुविधा दी गई है| इसके अलावा मवेशियों के लिए शेड का भी निर्माण किया गया है और पशुओं के लिए चारा रखने के लिए स्टोर भी बनाए गए हैं| इस योजना में जिस प्रकार आधुनिक सुविधाओं का समावेश किया गया है उसको देखने के लिए देश-दुनिया के शिल्पकार आयेंगे। जिससे पशुपालकों के जीवन स्तर में सुधार आएगा, और पशु दुर्घटना मे भी कमी आएगी।

योजना के मुख्य पहलु

  • योजना में पशुपालकों के लिए 1227 बड़े आवासीय भूखंडों का प्रावधान किया गया है।
  • जिनमे से 738 आवासों का निर्माण पूर्णकर 501 पशुपालकों को आवंटन की सुविधा दी गई है। इन भूखंडों के पिछले भाग में लगभग 40 वर्ग मीटर क्षेत्र में 02 कमरे, रसोईघर, शौचालय, स्नानघर, बरामदा, चारा भंडारण की आदि की भी सुविधा दी जाएगी|
  • भूखंड के अग्रभाग में पशुओं के लिए शेड का निर्माण किया गया है। जिसमें भूखंड के क्षेत्रफल के अनुसार 18 से 28 पशुओं के पालने की क्षमता होगी।
  • इस योजना में आवासीय भूखंडों के अलावा डेयरी उद्योग के लिए 50, भूसे गोदाम के 14, खलचुरी व सामान्य व्यवसाय के लिए 112 भूखंडों का आवंटन किया गया है।
  • शहरो की कॉलोनियों और मुख्य सडक़ों के किनारे बसे 900 पशुपालकों को शिफ्ट किया जाएगा।
  • यह राजस्थान की पहली ऐसी योजना है, जिसमें पशुपालकों को उनकी मूलभूत सुविधाओं का लाभ मिल रहा है|

योजना का अवलोकन

योजना का नाम राजस्थान पशुपालक आवासीय योजना
किसके दवारा शुरू की गई राजस्थान सरकार दवारा
लाभार्थी राज्य के नागरिक
प्रदान की जाने वाली सहायता रहने के लिए आवास की सुविधा प्रदान करना
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट jda.urban.rajasthan.gov.in

पशुपालक आवासीय योजना के तहत मिलने वाली सुविधाएं

  • राजस्थान सरकार ने राज्य के पशु पालकों के लिए एक अनूठी योजना शुरू की थी जिसके तहत पशुपालकों के लिए एक अलग से कस्बा बनाया गया है। इस कस्बे में पशुपालकों को घर वितरित किए जाते हैं।
  • देशभर में अनूठी एवं आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित पशुपालकों के लिए पहली बार तैयार की गई देवनारायण एकीकृत आवासीय योजना को स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने कब्जा सौंपकर लाभार्थियों को गृह प्रवेश कराया।
  • पशुपालकों के लिए दुनिया में पहली हाईटेक आवासीय योजना है|
  • राजस्थान के स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि देश ही नहीं विदेशों में भी पशुपालकों के लिए सभी सुविधाओं से सुसज्जित ऐसी कोई योजना देखने को नहीं मिलेगी, जहां एक साथ पशुपालकों को बसा कर उनका शैक्षणिक, आर्थिक और सामाजिक विकास किया जाता है।
  • वर्तमान पीढ़ी के विकास के साथ-साथ पशुपालकों के बच्चों के भविष्य के लिए भी प्रावधान किए गए हैं। जिसमे से पशु पालकों के लिए बनाई गई इस परियोजना में अंग्रेजी माध्यम स्कूल, चिकित्सालय, दुग्ध मंडी, हाट बाजार, मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट, बायोगैस प्लांट, आवागमन के लिए बसों का संचालन जैसी सुविधाओं से पशुपालकों के जीवन में सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक विकास को पूरा किया जा सकेगा।
  • वहीं पशुपालकों को आवास के साथ पशुबाड़े, भूसा कक्ष, बिजली, पानी, चौड़ी सडक़े, सीवरेज जैसी मूलभूत सुविधाएं मिलेंगी।

राजस्थान पशुपालक आवासीय योजना का बजट

इस योजना पर 300 करोड़ रूपए खर्च किए गए हैं। जिसके आधार पर लाभार्थीयों को योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा|

पशुपालक आवासीय योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य पशुपालकों की आय बढ़ाने के लिए उन्हें आवासीय सुविधाएं उपलब्ध कराना है, ताकि उनके जीवन स्तर मे वदलाव लाया जा सके|

Rajasthan Pashupalak Awasiya Yojana

राजस्थान पशुपालक आवास योजना के लिए पात्रता

  • आवेदक को राजस्थान राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए|
  • लाभार्थी पशुपालक होना चाहिए|

मुख्यमंत्री पशुपालक आवासीय योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर

पशुपालक आवासीय योजना के लाभ

  • पशुपालक आवासीय योजना का लाभ राजस्थान के पशुपालको को प्रदान किया जाएगा|
  • इस योजना के जरिये पशुपालको को रहने के लिए आवास प्रदान किए जाते हैं|
  • इस योजना से आधुनिक सुविधाओं के साथ पशुपालको का विकास किया जाएगा|
  • योजना में पशुपालकों के लिए 1227 बड़े आवासीय भूखंडों का प्रावधान किया गया है। इनमें से 738 आवासों का निर्माण पूर्णकर 501 पशुपालकों को आवंटन कर दिया गया है।
  • इसके अलावा दो कमरे, रसोईघर, शौचालय, स्नानघर, बरामदा, चारा भण्डारण की सुविधा भी दी गई है।
  • भूखंड के अग्रभाग में पशुओं के लिए शेड का निर्माण किया गया है। जिसमें भूखंड के क्षेत्रफल के अनुसार 18 से 28 पशुओं के पालने की क्षमता होगी।
  • इस योजना में आवासीय भूखंडों के अतिरिक्त डेयरी उद्योग, भूसे गोदाम, खलचुरी व सामान्य व्यवसाय के लिए भूखण्डों का आवंटन किया गया है।
  • पशुपालकों की सुविधा के लिए योजना में विद्यालय भवन, पशु चिकित्सालय, सोसाइटी कार्यालय, पुलिस चौकी विद्युत सब स्टेशन, पेयजल के लिए उच्च जलाशय, सीवर लाइन, पार्क, नाली, सड़कें, एसटीपी, पशुमेला मैदान एवं दुग्ध मण्डी का भी निर्माण किया गया है।
  • इसके अतिरिक्त भविष्य की आवश्यकता के अनुसार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक भवन, रंगमंच का भी निर्माण किया गया है।
  • योजना में पशुओं से प्राप्त गोबर के निस्तारण के लिए नगर विकास न्यास द्वारा बायोगैस संयंत्र की स्थापना की गई है।
  • बायोगैस संयंत्र की स्थापना से इस योजना को गोबर की दुर्गंध से मुक्ति मिलेगी तथा पशुपालकों से 1 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बायोगैस संयंत्र के लिए गोबर को खरीदा जाएगा।
  • बायोगैस से उत्पन्न गैस को पाइप लाइन के माध्यम से घरों में सप्लाई किया जायेगा। बायोगैस संयंत्र से गोबर के निस्तारण के साथ-साथ जैविक खाद का भी उत्पादन होगा।
  • इस योजना के तहत 15 हजार पशुओं को रखने की व्यवस्था की गई है।
  • इस योजना से शहर में जगह-जगह लगने वाले गोबर के ढरों से लोगों को मुक्ति मिलेगी।
  • खुले में पशुओं को छोडऩे पर होने वाली दुर्घटनाओं पर भी लगाम लगेगी।
पशुपालक आवासीय योजना की मुख्य विशेषताएँ
  • पशुपालको को आवास की सुविधा देना
  • पशुओं के लिए शेडो का निर्माण करना
  • बायोगैस संयंत्र की स्थापना करना
  • पशुपालको की आय मे सुधार लाना
  • पात्र लाभार्थीयों को आत्म-निर्भर व सशक्त वनाना|
राजस्थान पशुपालक आवासीय योजना के लिए कैसे करे आवेदन

Pashupalak Awasiya Yojana online

  • अब आपको आवेदन करे के विकल्प पे किलक करना होगा|
  • उसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलके आएगा|
  • इस फॉर्म मे आपको पूछी गई सारी जानकारी भरनी होगी|
  • फिर आपको जरूरी दस्तावेज भी अपलोड करने होंगे|
  • सारी प्रक्रिया होने के बाद आपको अंत मे Submit वटन पे किलक कर देना है|
  • Submit वटन पे किलक करने के बाद आपके दवारा योजना के अंतर्गत सफलतापूर्वक आवेदन कर दिया जाएगा|

आशा करता हूँ आपको इस आर्टीकल के दवारा सारी जानकारी मिल गई होगी| आर्टीकल अच्छा लगे तो कोमेट और लाइक जरूर करे|

Last Updated on November 7, 2022 by Abinash

error: Content is protected !!